myUpchar प्लस+ के साथ पूरेे परिवार के हेल्थ खर्च पर भारी बचत

गाजर का वैज्ञानिक नाम डॉकस कैरोटा (Daucus carota) है। यह मूल रूप से यूरोप और दक्षिणपश्चिम एशिया में उगाई जाने वाली सब्जी है। पर अब यह पूरी दुनिया भर में उगाई जाने लगी है। भारत में इसे अनेक नामों से जाना जाता है। इसे हिंदी में 'गजारा', तेलुगू में 'गजारा गड्डा', मलयालम में 'मंगल मुलुंगी', कन्नड़ में 'गजारी', मराठी में 'गाजर', पंजाबी में 'गजर' और ' बंगाली में गुजर / गजर' कहा जाता है। स्वास्थ्य विशेषज्ञों की माने तो गाजर स्वास्थ्य के लिए सर्वोत्तम आहार में से एक है। गाजर अनेक पौष्टिक गुणों से भरपूर है। इसमें विटामिन ए, विटामिन सी, विटामिन के और विटामिन बी8, पैंटोथेनिक एसिड, फोलेट, पोटेशियम, आयरन, तांबा और मैंगनीज जैसे और भी कई मिनिरलविटामिन्स पाए जाते हैं। गाजर में अधिक मात्रा फाइबर और बीटा-कैरोटीन पाया जाता है जो स्वास्थ्य के लिए इसे अत्यंत उपयोगी बनाता है। और अच्छी बात तो यह है कि गाजर पुरे वर्ष बाजार में आसानी से उपलब्ध होती है। यह विटामिन और मिनिरल का एक अच्छा स्त्रोत है। गाजर कोलेस्ट्रॉल, हृदय रोग और कैंसर के खतरों को कम करता है। यह बेहतर दृष्टि और समय से पहले उम्र बढ़ने के संकेतों को भी कम करता है। इसके अलावा, गाजर में त्वचा को सुधारने, प्रतिरक्षा प्रणाली को बढ़ाने, पाचन में सुधार करने और मौखिक स्वास्थ्य को अच्छा करने के भी गुण होते हैं।

(और पढ़ें - गाजर का जूस)

  1. गाजर के फायदे - Gajar ke Fayde in Hindi
  2. गाजर के नुकसान - Gajar ke Nuksan in Hindi
  3. गाजर के अन्य फायदे - Other benefits of Carrot in Hindi
  4. गाजर खाने का सही तरीका - Right way to eat Carrot in Hindi
  5. गाजर खाने का सही समय - Right time to eat Carrot in Hindi
  6. गाजर का हलवा कैसे बनता है

गाजर के फायदे स्वस्थ आँखों के लिए - Carrots for Eyes in Hindi

स्वस्थ दृष्टि गाजर के सबसे उत्तम स्वास्थ्य गुणों में से एक है। गाजर में विटामिन ए की अधिक मात्रा पाई जाती है जो आँखों के स्वास्थ्य के लिए बहुत ही लाभदायक होता है। इसके अलावा, गाजर में उपस्थित बीटा कैरोटीन मोतियाबिंद और उम्र से संबंधित मोतियाबिंद से आँखों की रक्षा करता है।

(और पढ़ें-  मोतियाबिंद के घरेलू उपाय)

गाजर में बीटा कैरोटीन (beta-carotene), ल्यूटिन (lutein) और ज़ेक्सैंथिन (zeaxanthin) मौजूद हैं, जो आंखों के स्वास्थ्य के लिए आवश्यक घटक हैं। इनमें से केवल एक की कमी ही आंखों की समस्या का कारण बन सकती है। बीटा कैरोटीन की कमी के कारण मैकुलर डिजनरेशन (macular degeneration) और अंधापन हो सकता है। जबकि गाजर में शामिल अन्य पोषक तत्व बुढ़ापे के दौरान दृष्टि के किसी भी नुकसान को रोकने के लिए आवश्यक होते हैं। एक अध्ययन से पता चला है कि बीटा कैरोटीन का सेवन करने से मैकुलर डिजनरेशन का खतरा 40% तक कम हो सकता है।

(और पढ़ें- आँखों के लिए क्या खाये)

तो आज ही से गाजर खाना आरम्भ करें और अपने आँख के स्वास्थ्य में सकारात्मक प्रभाव महसूस करें।

(और पढ़ें – आँखों के सूखेपन के घरेलू उपाय)

गाजर के रस के फायदे करें कैंसर के खतरे को कम - Gajar for Cancer in Hindi

गाजर के कैंसर-विरोधी गुण इसके स्वास्थ्य लाभ की अन्य उपलब्धि है। गाजर में अधिक मात्रा में पाया जाने वाला कैरोटिनॉइड (carotenoid) एंटी-ऑक्सीडेंट गुणों से भरा हुआ है जो शरीर को फ्री-रेडिकल क्षति से बचाता है और शरीर की इम्युनिटी को बढ़ाकर बिमारियों से लड़ने की क्षमता प्रदान करता है। 

अनुशंधानों में यह साबित किया गया है कि गाजर में उपस्थित फायटोनुट्रिएंट्स और अन्य घटक कैंसर के विकास को रोकने में सक्षम हैं। ज्यादातर अध्ययनों के अनुसार गाजर के रस का एक से डेढ़ कप कुछ हफ्तों के लिए दैनिक रूप से पीने से कैंसर पर महत्वपूर्ण सकारात्मक प्रभाव पड़ता है। इसके अलावा, गाजर का नियमित सेवन फेफड़ों के कैंसर, कोलोरेक्टल कैंसर और प्रोस्टेट कैंसर के खतरे को कम करने में भी उपयोगी है। 

(और पढ़ें – कैंसर से लड़ने वाले आहार)

गाजर के लाभ रखें ब्लड-प्रेशर को सामान्य - Carrot for High Blood Pressure in Hindi

गाजर दिल और ब्लड प्रेशर के रोगियों के लिए अत्यंत फायदेमंद है। यह बीटा-कैरोटीन, अल्फा-कैरोटीन और लुटेइन से भरपूर है, जो काफी अच्छे एंटीऑक्सीडेंट हैं और कोलेस्ट्रॉल और दिल का दौरा पड़ने के खतरे को कम करने में भी मददगार हैं। 

(और पढ़ें - लो बीपी के लक्षण)

इसके अलावा, गाजर में पोटेशियम आपके रक्त वाहिकाओं और धमनियों को फैलाकर रक्त-प्रवाह और परिसंचरण को बढ़ाता है जिससे हृदय प्रणाली पर कम तनाव पड़ता है। तो अगली बार जब भी आपको तनाव महसूस हो और आपका ब्लड-प्रेशर बढ़ने लगे तो फटाफट एक गाजर का सेवन करें।

(और पढ़ें – रक्तचाप के लिए घरेलू उपचार)

गाजर खाने के फायदे लाएं मौखिक स्वास्थ्य में सुधार - Carrots for Oral Health in Hindi

गाजर आपके मौखिक स्वास्थ्य के लिए बहुत ही फायदेमंद है। इस स्वास्थ्य-वर्धक एवं स्वादिष्ट सब्ज़ी को चबाकर कर खाने से दाँत के मैल एवं उसमें फसे भोजन के कण दूर हो जाते हैं जो आपके दांत व मसूड़ों को साफ रखने में मदद करते हैं।

(और पढ़ें- दांत सफेद करने के लिए क्या खाएं)

इसके अलावा, गाजर सलाइवा (लार) के उत्पादन को बढ़ाता है और स्वाभाविक रूप से यह क्षारीय होने की वजह से मुंह में एसिड के प्रभाव को संतुलित करता है। इसका क्षारीय प्रभाव मुंह में बैक्टीरिया के विकास पर भी रोक लगाता है जो कैविटी, मुंह की बदबू और अन्य मौखिक स्वास्थ्य समस्याओं को दूर रखता है। गाजर विटामिन सी का भी एक अच्छा स्रोत है जो योजी-तंतु (connective tissues), दांत व मसूड़े के स्वास्थ्य को अच्छा रखता है।

(और पढ़ें- मुंह की बदबू के घरेलू उपाय)

तो सालों-साल अपने दांत व मसूड़ों को स्वस्थ रखने के लिए गाजर को मजे से चबा-चबा कर खाएं।

गाजर के गुण बचाएं दिल की बीमारियों से - Gajar ke Fayde for Heart in Hindi

हार्वर्ड विश्वविद्यालय के वैज्ञानिकों द्वारा किए गए शोध के अनुसार, जो लोग रोज़ाना गाजर का सेवन करते हैं उनमें 68 प्रतिशत तक स्ट्रोक से ग्रस्त होने की संभावना कम हो जाती है। 

(और पढ़ें - ब्रेन स्ट्रोक का इलाज)

इसके अतिरिक्त, दैनिक रूप से एक गाजर खाने से 68 प्रतिशत तक दिल के दौरे के खतरे को कम किया जा सकता है। क्योंकि इसमें बीटा कैरोटीन अच्छी मात्रा में पाया जाता है जो दिल के दौरे के खतरे को कम करने में हमारी मदद करता है। इसके अतिरिक्त स्ट्रोक के होने के खतरे को कम करने के लिए, कम से कम एक हफ्ते में पांच बार गाजर खाना शुरू कर दें।

गाजर खाने के लाभ निखारें त्वचा को - Carrot for Skin in Hindi

एंटी-ऑक्सीडेंट और विटामिन ए का एक प्रचुर स्रोत होने की वजह से गाजर आपके त्वचा के निखारने और स्वास्थ्य के लिए भी बहुत उपयोगी है। गाजर सूर्य की हानिकारक अल्ट्रावायलेट किरणों से त्वचा की रक्षा करती है और क्षतिग्रस्त त्वचा के ऊतकों के सुधार में भी मदद करती है।

गर्मियों में गाजर का रस पीने से, गाजर त्वचा के लिए एक शक्तिशाली प्राकृतिक सूर्य ब्लॉक के रूप में कार्य करती है। यह त्वचा को नम रखती है और मुँहासे, रंजकता (pigmentation), धब्बे और असमान त्वचा टोन से त्वचा का बचाव करती है।
इसके अलावा, गाजर त्वचा को स्वस्थ और चमकदार रखने के लिए भी उपयोगी है। त्वचा को एक नया निखार देने के लिए, आप गाजर से चेहरे के लिए एक सरल और आसान सा फेस मास्क बना सकते हैं। थोड़े से शहद में दो बड़े चम्मच कसे हुए गाजर को मिक्स करें और चेहरे और गर्दन के क्षेत्र पर लगाएं। मास्क के अच्छी तरह से सूखने पर इसे गर्म पानी से अच्छे से धो लें।

(और पढ़ें – खूबसूरत त्वचा के लिए आहार)

गाजर से लाभ उठाएं पाचन स्वास्थ्य के लिए - Gajar ke Labh for Digestion in Hindi

गाजर में पर्याप्त मात्रा में फाइबर होता है जो पाचन स्वास्थ्य को बनाये रखने में अत्यंत महत्वपर्ण भूमिका निभाता है। गाजर में उपस्थित फाइबर मल-त्यागने की क्रिया को नियमित एवं उत्तेजित तो करता ही है परंतु साथ ही में यह मल को पाचन तंत्र के माध्यम से आसानी से पारित करने के लिए भी मददगार है। इसके अलावा,यह आमाशय रस के स्राव को उत्तेजित करता है।

(और पढ़ें – पाचन तंत्र मजबूत करने के उपाय)

गाजर का उपयोग लिवर रक्षा के लिए - Carrot for Liver in Hindi

गाजर आपके लिवर की पर्यावरण रसायन के विषाक्त प्रभावों से रक्षा करती है। इसमें अधिक मात्रा में विटामिन ए पाया जाता है जो शरीर से विषाक्त पदार्थों को निकालने में एक अहम भूमिका निभाती है। इसके अतिरिक्त यह लिवर में पित्त एवं जमे हुए वसा (फैट) को कम करने में सहायक है। इसमें घुलनशील फाइबर भी अच्छी मात्रा में पाया जाता है जो मल-त्यागने की क्रिया को उत्तेजित कर आपके लिवर और कोलन को स्वच्छ रखने में मदद करता है।

नियमित रूप से गाजर का सेवन लिवर में जलन, सूजनसंक्रमण को कम करता है जिससे हेपेटाइटिस, सिरोसिस और पित्तस्थिरता जैसी लिवर समस्याओं से लिवर को संरक्षण मिलता है।

(और पढ़ें – लिवर को साफ रखने के लिए आहार)

गाजर के फायदे करें मधुमेह को नियंत्रित - Carrot for Diabetes in Hindi

गाजर में भले ही चीनी की अधिक मात्रा पायी जाती है, लेकिन जो लोग शुगर रोगी है, उनके लिए यह एक स्वस्थ विकल्प है, क्योंकि गाजर में उपस्थित प्राकृतिक चीनी शरीर द्वारा आसानी से ग्रहण की जा सकती है। हालांकि गाजर एक अपेक्षाकृत उच्च ग्लाइसेमिक सूचकांक हैं, परंतु इसका ग्लाइसेमिक लोड बहुत ही कम है।

इसके अलावा, गाजर में निहित कैरोटेनॉयड्स रक्त-शर्करा के स्तर को नियंत्रित कर उसे कम करने में मदद करते हैं। यह इन्सुलिन प्रतिरोध को भी प्रभावित कर मधुमेह रोगियों को मधुमेह से लड़ने में मदद करते हैं। गाजर में मौजूद महत्वपूर्ण जैविक क्षारीय तत्व रक्त शर्करा के स्तर को संतुलित करने में मददगार हैं। स्वस्थ जीवन जीने के लिए मधुमेह से पीड़ित लोग, रोजाना एक कप पके हुए गाजर का सेवन कर सकते हैं।

(और पढ़ें – शुगर के लिए आयुर्वेदिक इलाज)

गाजर के रस के फायदे रोके बढ़ती उम्र को - Carrots for Anti-Aging in Hindi

यदि आप आगे आने वाले कई सालों तक खूबसूरत और जवान दिखाना चाहते हैं तो अभी से ही रोजाना गाजर खाना शुरू कर दीजिये। गाजर के उम्र छुपाने और बढ़ापे से लड़ने के गुणों की वजह से इसे बुढ़ापे को कम करने वाली सब्जी की भी उपाधि दी गई है। यह मुख्य रूप से गाजर में बीटा कैरोटीन की उपस्थिति के कारण है जो मेटाबोलिज्म को संचालित कर कोशिकाओं के स्वास्थ्य को सुनिश्चित करता है।

इसके अलावा, विटामिन सी का समृद्ध स्रोत होने की वजह से, गाजर कॉलोजन के उत्पादन में भी सहायक है। कॉलोजन त्वचा के लचीलेपन को बनाये रखने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है जो झुर्रियाँ, रेखाएं और उम्र बढ़ने के लक्षण को रोकने में मदद करता है। युवा स्थिति को बनाए रखने के लिए, बस रोजाना गाजर के रस का एक गिलास पिएं।

(और पढ़ें – एजिंग के आयुर्वेदिक उपाय)

चूँकि गाजर स्वादिष्ट होने के साथ-साथ एक बहुत ही उत्तम स्वास्थ्य-वर्धक आहार भी है, तो इसकी संभावना बहुत ज्यादा है कि आप इसका अत्यधिक सेवन कर लें। परंतु इसके अधिक सेवन से सावधान रहें क्योंकि इसका ज्यादा मात्रा में सेवन करने से आपको इसके कुछ दुष्प्रभावों का सामना भी करना पड़ सकता है जो कि निम्नलिखित है -

  • गाजर बीटा-कैरोटीन का एक बहुत ही अच्छा स्रोत है जो आपके शरीर में विटामिन ए की कमी की पूर्ति करता है परंतु यदि आप इसका सेवन बहुत ही अधिक मात्रा में करेंगे तो इससे आपके शरीर का रंग फीका पड़ सकता है।
  • संभवतः आपको गाजर से एलर्जी हो सकती है।
  • गाजर में चीनी का अधिक स्तर है, इसलिए यदि आप मधुमेह से ग्रस्त है तो गाजर का सेवन कच्चे रूप में ना करके उबाल कर करें।
  • अधिक मात्रा में गाजर खाने से आपके शरीर द्वारा मैग्नीशियम, आयरन, कैल्शियम, जिंक आदि खनिजों के अवशोषण पर असर पड़ सकता है। यदि आप उचित मात्रा में गाजर का सेवन करें तो इससे आपके पाचन स्वास्थ्य में सुधार आ सकता है तो वही दूसरी ओर अधिक मात्रा में इसका उपभोग करने से आपको गैसदस्त, पेट-फूलना, पेट-दर्द आदि जैसी पाचन सम्बंधित विकारों से गुजरना पड़ सकता है। (और पढ़ें – पेट में गैस के घरेलू उपचार)
  • अधिक मात्रा में गाजर या फिर उसके जूस का सेवन करने से स्तन के दूध का स्वाद बदल जाता है है इसलिए स्तन-पान करा रही महिलाओं को इसका सेवन सीमित मात्रा में ही करना चाहिए।

उपर लिखित बातों को ध्यान में रखें और स्वादिष्ट गाजर का सेवन कर बीमारियों को अलविदा कहें और सेहत बनाएं।

  • गाजर को सब्जी के रूप में खाया जाता है। इसे आलू, मेथी, मटर आदि अनेक सब्जियों के साथ मिलाकर भी खाया जा सकता है। गाजर की सब्जी काफी स्वादिष्ट बनती हैं।
  • सर्दियों में गाजर का हलवा या मिठाई बनाकर खाएं। यह हर घर में बनाया जाता है और हर किसी व्यक्ति को स्वादिष्ट लगता है।
  • गाजर का जूस निकालें और उसे पियें। यह आपकी सेहत के लिए फायदेमंद होता है। 
  • आप गाजर को कच्चा या सलाद के रूप में भी खा सकते हैं।

गाजर खाने का सही समय इस बात पर निर्भर करता है की आप इसे अपने आहार में क्यों शामिल करना चाहते हैं। 

गाजर को खाना खाने से पहले खाएं, यह आपके पाचन में मदद करेगा। खाना खाते समय गाजर का सलाद भी खाया जा सकता है। 

दोपहर में गाजर का सेवन करना सबसे फायदेमंद माना जाता है। पर रात को सोने से पहले गाजर का सेवन शरीर के लिए सही नहीं होता है। 

(और पढ़ें - खाना खाने का सही समय)

Medicine NamePack SizePrice (Rs.)
Divya Mahamanjisthadi Kwath (Pravahi)Divya Mahamanjishthadi Kwath (Pravahi)60
Baidyanath Sundri SakhiBaidyanath Sundri Sakhi Syrup355
और पढ़ें ...

References

  1. Manuela Dolinsky. Effect of different cooking methods on the polyphenol concentration and antioxidant capacity of selected vegetables. Journal of Culinary Science & Technology Volume 14, 2016 - Issue 1
  2. United States Department of Agriculture Agricultural Research Service. Classification for Kingdom Plantae Down to Species Daucus carota L.. National Nutrient Database for Standard Reference Legacy Release [Internet]
  3. United States Department of Agriculture Agricultural Research Service. Basic Report: 11124, Carrots, raw. National Nutrient Database for Standard Reference Legacy Release [Internet]
  4. H.A. Hajar Al Binali. Night Blindness and Ancient Remedy . Heart Views. 2014 Oct-Dec; 15(4): 136–139. PMID: 25774260
  5. Vaaler S, Hanssen KF, Aagenaes O. The effect of cooking upon the blood glucose response to ingested carrots and potatoes. Diabetes Care. 1984 May-Jun;7(3):221-3. PMID: 6734389
  6. El-Houri RB et al. Polyacetylenes from carrots (Daucus carota) improve glucose uptake in vitro in adipocytes and myotubes. Food Funct. 2015 Jul;6(7):2135-44. PMID: 25970571
  7. Nicolle C et al. Effect of carrot intake on cholesterol metabolism and on antioxidant status in cholesterol-fed rat. Eur J Nutr. 2003 Oct;42(5):254-61. PMID: 14569406
  8. Kamiloglu S et al. anti-inflammatory potential of black carrot (Daucus carota L.) polyphenols in a co-culture model of intestinal Caco-2 and endothelial EA.hy926 cells. Mol Nutr Food Res. 2017 Feb;61(2). PMID: 27561918
  9. Olejnik A et al. Purple carrot anthocyanins suppress lipopolysaccharide-induced inflammation in the co-culture of intestinal Caco-2 and macrophage RAW264.7 cells. Food Funct. 2016 Jan;7(1):557-64. PMID: 26613574
  10. Malleswarapu Mahesh et al. Carrot Juice Administration Decreases Liver Stearoyl-CoA Desaturase 1 and Improves Docosahexaenoic Acid Levels, but Not Steatosis in High Fructose Diet-Fed Weanling Wistar Rats . Prev Nutr Food Sci. 2016 Sep; 21(3): 171–180. PMID: 27752492
  11. MedlinePlus Medical Encyclopedia: US National Library of Medicine; Alcoholic liver disease
  12. Hammerich L, Tacke F. Eat more carrots? Dampening cell death in ethanol-induced liver fibrosis by β-carotene. Hepatobiliary Surg Nutr. 2013 Oct;2(5):248-51. PMID: 24570954
  13. Babic I, Nguyen-the C, Amiot MJ, Aubert S. Antimicrobial activity of shredded carrot extracts on food-borne bacteria and yeast. J Appl Bacteriol. 1994 Feb;76(2):135-41. PMID: 8144415
  14. Jasicka-Misiak I et al. Antifungal activity of the carrot seed oil and its major sesquiterpene compounds. Z Naturforsch C. 2004 Nov-Dec;59(11-12):791-6. PMID: 15666536
  15. Joel S. Goldberg. Monitoring Maternal Beta Carotene and Retinol Consumption May Decrease the Incidence of Neurodevelopmental Disorders in Offspring. Clin Med Insights Reprod Health. 2012; 6: 1–8. PMID: 24453512
  16. Wetzel WE1, Lehn W, Grieb A. [Carotene jaundice in infants with "sugar nursing bottle syndrome"]. [Article in German] . Monatsschr Kinderheilkd. 1989 Oct;137(10):659-61. PMID: 2685580
  17. Hossein Fallahzadeh et al. Effect of Carrot Intake in the Prevention of Gastric Cancer: A Meta-Analysis . J Gastric Cancer. 2015 Dec; 15(4): 256–261. PMID: 26819805
  18. T J Key. Fruit and vegetables and cancer risk . Br J Cancer. 2011 Jan 4; 104(1): 6–11. PMID: 21119663