हाई ब्लड प्रेशर या हाइपरटेंशन दुनिया भर में एक अरब से अधिक लोगों को प्रभावित करता है. जब बीपी 140 मिमी एचजी (सिस्टोलिक) और/या 90 मिमी एचजी (डायस्टोलिक) से ऊपर हो, तो उसे हाई ब्लड प्रेशर माना जाता है. हाई ब्लड प्रेशर होने पर हार्ट से जुड़ी समस्या, जैसे - हार्ट अटैक और स्ट्रोक का रिस्क बढ़ जाता है. वहीं, हाई ब्लड प्रेशर को कंट्रोल करने में डाइट की भूमिका अहम होती है. ऐसे में ये सवाल मन में आता है कि क्या हाई ब्लड प्रेशर में दही का सेवन करना फायदेमंद हो सकता है या नहीं?

आज इस लेख में हम यह जानने का प्रयास करेंगे कि हाई ब्लड प्रेशर में दही खाना सही है या नहीं -

(और पढ़ें - हाई बीपी का आयुर्वेदिक इलाज)

  1. क्या हाई बीपी में दही खा सकते हैं?
  2. हाई ब्लड प्रेशर में दही का कितना सेवन करें
  3. सारांश
क्या हाई ब्लड प्रेशर में दही खा सकते हैं? के डॉक्टर

हाई ब्लड प्रेशर एक गंभीर समस्या है, जो भविष्य में हार्ट से जुड़ी बीमारियों को जन्म देने का कारण बन सकती है. जब वेंस के वॉल पर ब्लड का प्रेशर नॉर्मल से ज्यादा हो जाता है ,तो ऐसी स्थिति में हाई ब्लड प्रेशर की शिकायत होती है. ऐसे में एक्सपर्ट्स की मानें, तो संतुलित डाइट लेने से इस समस्या से कुछ हद तक राहत मिल सकती है. अब क्या इस डाइट में दही शामिल कर सकते हैं? इसे हम निम्न पॉइंट्स के माध्यम से समझते हैं -

  • ऑस्ट्रेलिया में हुई एक स्टडी में पाया गया है कि रोजाना दही खाने से ब्लड प्रेशर को कंट्रोल करने में मदद मिल सकती है. स्टडी में दही के सेवन, ब्लड प्रेशर और हार्ट से जुड़े रिस्क के बीच संबंध की जांच की है.
  • एक्सपर्ट्स की मानें, तो दही पोटेशियम से भरपूर होता है, जो सोडियम के खराब या बुरे प्रभावों को कम करने में मदद करता है.
  • अमेरिकन हार्ट एसोसिएशन के रिसर्चर ने पाया कि जिन महिलाओं ने एक हफ्ते में पांच या उससे ज्यादा बार दही का सेवन किया, उनमें हाई ब्लड प्रेशर विकसित होने का रिस्क अन्य महिलाओं की तुलना में कम था. दही में मौजूद पोटेशियम शरीर से नमक को बाहर निकालकर इसे कंट्रोल करने में मदद करता है.
  • हार्वर्ड हेल्थ के अनुसार, दही में मौजूद मैग्नीशियम हाई ब्लड प्रेशर के लिए अच्छा माना जाता है. वहीं, कैल्शियम मसल के कॉन्ट्रेक्शन में सहायता करता है, जो हार्ट के मसल के लिए अच्छा है.
  • दही में खास तरह का बैक्टीरिया होता है, जो प्रोटीन रिलीज को प्रमोट करता है और इस प्रकार से ब्लड प्रेशर को कम कर सकता है.
  • दही में कैल्शियम प्राकृतिक रूप से पाया जाता है, जो नर्व्स को सॉफ्ट करने में मदद करता है. इससे ब्लड फ्लो बेहतर होता है और साथ ही इससे हाई ब्लड प्रेशर कंट्रोल में रहता है.

(और पढ़ें - हाई बीपी का होम्योपैथिक इलाज)

विश्व स्वास्थ्य संगठन के मुताबिक हाई ब्लड प्रेशर एक सीरियस मेडिकल कंडीशन है, जिससे हार्ट, ब्रेन, किडनी व अन्य बीमारियों का रिस्क बढ़ जाता है. यही कारण है कि इसे 'साइलेंट किलर' भी कहा जाता है.

ऐसे में इस ओर समय रहते ध्यान देना जरूरी होता है. कई रिसर्च और स्टडी से ये पता चला है कि दही के सेवन से ब्लड प्रेशर को बहुत हद तक कम करने में मदद मिल सकती है. इसलिए, ये जानना भी आवश्यक है कि हाई ब्लड प्रेशर में दही का कितना सेवन करना चाहिए.

  • हर दिन एक से दो कटोरी दही का सेवन किया जा सकता है. स्टडी के अनुसार, इसे हफ्ते में कम से कम पांच बार खाना चाहिए. वैसे, दही को प्रतिदिन भी खाया जा सकता है.
  • हेल्थ एक्सपर्ट के मुताबिक 200 ग्राम दही में करीब 282 मिली पोटेशियम होता है. ये शरीर में मौजूद एक्सट्रा सोडियम को यूरिन के रास्ते से बाहर निकाल सकता है. 
  • हाई ब्लड प्रेशर के मरीजों को ग्रीक योगर्ट या फिर हंग कर्ड खाने से भी लाभ मिल सकता है.
  • दही का सेवन करने के दौरान इसमें चीनी व नमक न डालें.

(और पढ़ें - हाई बीपी के लिए योग)

हाई ब्लड प्रेशर अनियमित जीवनशैली के कारण होने वाली एक बीमारी है, जिसके मरीजों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है. एक्सपर्ट्स की राय के अनुसार इस समस्या से राहत पाने में दही मददगार साबित हो सकती है. प्रतिदिन एक कटोरी दही के सेवन से बीपी की समस्या को कंट्रोल किया जा सकता है.

(और पढ़ें - हाई ब्लड प्रेशर में क्या खाएं)

Dt. Sonal jain

Dt. Sonal jain

आहार विशेषज्ञ
5 वर्षों का अनुभव

Dt. Rajni Sharma

Dt. Rajni Sharma

आहार विशेषज्ञ
7 वर्षों का अनुभव

Dt. Neha Suryawanshi

Dt. Neha Suryawanshi

आहार विशेषज्ञ
10 वर्षों का अनुभव

Dt. Ayushi Shah

Dt. Ayushi Shah

आहार विशेषज्ञ
2 वर्षों का अनुभव

ऐप पर पढ़ें
cross
डॉक्टर से अपना सवाल पूछें और 10 मिनट में जवाब पाएँ