myUpchar प्लस+ के साथ पूरेे परिवार के हेल्थ खर्च पर भारी बचत

ये हम सभी जानते हैं कि रूखी त्वचा को मैनेज करना कितना मुश्किल होता है। किसी भी तरह का मॉइस्चराइज़र या क्रीम लम्बे समय तक शुष्क त्वचा पर काम नहीं करते।

इसके साथ ही रूखी त्वचा की वजह से समय समय पर ड्राई पैचेस भी होने लगते हैं। रूखी त्वचा तभी होती है जब त्वचा की ऊपरी सतह पर पानी की कमी हो जाती है। ये सतह टूटने लगती है जिसकी वजह से त्वचा की ऊपरी तह झड़ने लगती है या फाइन लाइन या फिर क्रैक पड़ने लगते हैं।

(और पढ़ें - रूखी त्वचा के कारण)

रूखी त्वचा को ठीक करने के लिए बाज़ार में मिलने वाले मॉइस्चराइज़र की जगह कुछ घरेलू उपायों का इस्तेमाल करें। इनकी मदद से आपकी त्वचा में नमी लम्बे समय तक बनी रहेगी और अन्य समस्याएं भी उतपन्न नहीं होंगी। तो आइये आपको रूखी त्वचा के लिए कुछ घरेलू उपाय -

  1. रूखी त्वचा के लिए घरेलू नुस्खे में करें एलो वेरा जेल का उपयोग - Aloe vera gel benefits for dry skin in Hindi
  2. ड्राई स्किन के लिए घरेलू उपाय है ग्लिसरीन - Glycerin cures dry skin in Hindi
  3. वैसलीन है शुष्क त्वचा का उपाय - Vaseline good for dry skin in Hindi
  4. ड्राई स्किन के लिए घरेलू नुस्खे में करें लैक्टो कैलामाइन का उपयोग - Lacto calamine treats dry skin in Hindi
  5. शुष्क त्वचा की देखभाल करता है मुल्तानी मिटटी - Fuller's earth for dry skin in Hindi
  6. रूखी त्वचा का घरेलु उपचार करें गुलाबजल से - Benefits of rosewater for dry skin in Hindi
  7. ड्राई स्किन का उपाय है सेब का सिरका - Apple cider vinegar reduce dry skin in Hindi
  8. बेकिंग सोडा से करें रूखी त्वचा का घरेलू इलाज - Baking soda helps to get rid of dry skin in Hindi
  9. शुष्क त्वचा के घरेलू नुस्खे में करें शिया बटर का उपयोग - Benefits of shea butter on dry skin in Hindi
  10. दालचीनी और शहद से करें सूखी त्वचा का उपचार - Cinnamon and honey for dry skin in Hindi
  11. रूखी स्किन के उपाय में उपयोग करें मेथी के बीज - Fenugreek seeds remove dryness of your skin in Hindi
  12. रुखी त्वचा से छुटकारा दिलाता है अदरक - Ginger for dry skin in Hindi
  13. शुष्क त्वचा की देखरेख करें दही से - Yogurt good for dry skin in Hindi
  14. नीम के पत्ते से करें शुष्क त्वचा की देखभाल - Benefits of neem leaves for dry skin in Hindi
  15. रूखी त्वचा के लिए फायदेमंद होते हैं विटामिन - Vitamin good for dry skin in Hindi

सामग्री

  1. एलो वेरा के पत्ते। (और पढ़ें - एलोवेरा के फायदे)

विधि

  1. सबसे पहले एलो वेरा के पत्ते को काटें और फिर उसमे से जेल को निकाल लें।
  2. अब इस जेल को अपने चेहरे पर लगाकर मसाज करें जिससे कि जेल अवशोषित हो जायें।
  3. अब इस जेल को अपने चेहरे पर रातभर के लिए लगा हुआ छोड़ दें।
  4. बचे हुए जेल को किसी ठंडी जगह पर बंद करके रख दें।

एलो वेरा का इस्तेमाल कब तक करें –

अपने चेहरे पर एलो वेरा जेल को रात को सोने से पहले ज़रूर लगाएं।

एलो वेरा के फायदे

एलो वेरा जेल को रूखे और पेची स्किन के इलाज के लिए इस्तेमाल किया जाता है। एलो वेरा को कई उत्पादों में भी इस्तेमाल किया जाता है लेकिन ताज़ी एलो वेरा जेल को इस्तेमाल करना आपकी त्वचा के लिए बेहद लाभदायक है। इसमें मौजूद पोलीसच्चाराइड (polysachharide) त्वचा में मॉइस्चर के स्तर को बनाये रखने में मदद करता है। ये त्वचा में कोलाजेन और इलास्टिन उत्पादन को बढ़ाता है। अगर रूखापन आपके इन स्किन कंडीशन की वजह से होता है जैसे सोरिआसीस या एक्जिमा तो एलो वेरा अपने सूजनरोधी गुण की मदद से उसका इलाज करता है।

(और पढ़ें - रूखी त्वचा के लिए फेस पैक)

सामग्री

  1. एक चम्मच ग्लिसरीन। (और पढ़ें - त्वचा के लिए ग्लिसरीन के फायदे)
  2. एक चम्मच गुलाब जल।

विधि

  1. सबसे पहले ग्लिसरीन को गुलाब जल में मिक्स कर लें और फिर उसे अपनी त्वचा के ड्राई पैचेस पर लगाएं।
  2. कुछ घंटो के ग्लिसरीन को अपनी त्वचा पर ऐसे ही लगा हुआ छोड़ दें।
  3. अगर आपको लगता है कि ये बहुत ही ज़्यादा चेहरे पर चिपचिपा हो रहा है तो आप कुछ घंटे बाद त्वचा पानी से धो सकते हैं।

ग्लिसरीन का इस्तेमाल कब तक करें

रूखी त्वचा से जल्द राहत पाने के लिए इस उपाय को रोज़ाना पूरे दिन में एक बार दोहराएं।

ग्लिसरीन के फायदे

ग्लिसरीन न ही रूखी त्वचा के लिए लाभदायक है बल्कि चिपचिपे होंठों के लिए भी ये फायदेमंद है। इसमें हुमेक्टैंट और एमोलिएंट गुण होते हैं जो त्वचा के मॉइस्चर में समा जाते हैं।

(और पढ़ें - रूखी त्वचा के लिए तेल)

सामग्री

  1. वैसलीन।

विधि

  1. सबसे पहले वैसलीन को थोड़ा सी मात्रा में लें फिर उसे चेहरे पर लगाकर मसाज करें।
  2. अब वैसलीन को रातभर के लिए लगा हुआ छोड़ दें।
  3. अगर आपको ये बेहद चिपचिपी लग रही है तो कुछ घंटे बाद आप इसे टिश्यू पेपर या कपडे से पोछ सकते हैं।

वैसलीन का इस्तेमाल कब तक करें

वैसलीन का उपयोग पूरे दिन में एक बार ज़रूर करें।

वैसलीन के फायदे

वैसलीन आमतौर से पेट्रोलियम जेली या पेट्रोलाटम का रूप होती है। ये सामग्री त्वचा के मॉइस्चर में समा जाती है और पानी की कमी को रोकती है। ये थोड़ा ग्रीसी होती है इसलिए आप इसे रातभर लगाकर रखें। अपने पिलो कवर को किसी कपड़े से ढक दें जिससे जेली उसपर न लगे।

(और पढ़ें - ड्राई स्किन के लिए क्या खाएं)

सामग्री

  1. लैक्टो कैलामाइन लोशन। (और पढ़ें - कैलामाइन लोशन के फायदे)

विधि

इसे सीधा बोतल से लेकर लगाएं।

लैक्टोमाइन का इस्तेमाल कब तक करें

इसका उपयोग पूरे दिन में एक या दो बार ज़रूर करें।

लैक्टोमाइन के फायदे

लैक्टो कैलामाइन को खासकर ड्राई त्वचा के लिए ही बनाया जाता है। इसमें ज़िंक ऑक्साइड होता है जो त्वचा को नमी देने में मदद करता है और खुजली को दूर करता है।

(और पढ़ें - त्वचा की देखभाल कैसे करें)

सामग्री

  1. दो चम्मच मुल्तानी मिटटी। (और पढ़ें - मुल्तानी मिट्टी के फायदे)
  2. एक चम्मच खीरे का जूस।
  3. एक चम्मच शहद या एक चम्मच दूध

विधि

  1. सबसे पहले साडी सामग्रियों को एक साथ मिला लें।
  2. अब इसमें थोड़ा पानी मिलाएं।
  3. अब इसे फेस पैक की तरह लगाएं और 15 मिनट के लिए इसे ऐसे ही सूखने के लिए छोड़ दें।
  4. फिर अपने चेहरे को पानी से धो लें।

मुल्तानी मिटटी का इस्तेमाल कब तक करें

रूखी त्वचा के लिए इसे हफ्ते में एक बार ज़रूर लगाएं।

मुल्तानी मिटटी के फायदे

मुल्तानी मिटटी रूखी त्वचा के साथ साथ तेलिये त्वचा के लिए भी बेहद फायदेमंद होती है। मुल्तानी मिटटी रूखी त्वचा और खुजली वाली त्वचा पर ताज़ा एहसास देती है। रोज़ाना इसका इस्तेमाल करने से आप रूखी त्वचा की समस्या से कुछ दिनों में ही राहत देख सकते हैं।

(और पढ़ें - रूखी त्वचा के लिए क्रीम)

सामग्री

  1. गुलाब जल। (और पढ़ें - रूखी त्वचा के लिए गुलाब जल)
  2. रूई।

विधि

  1. सबसे पहले रूई लें और उसे गुलाब जल में डुबो दें।
  2. फिर इसे क्लीसिंग के बाद अपने चेहरे पर लगाएं।
  3. जब आपका चेहरे ड्राई होने लगे तब मॉइस्चराइज़र लगाएं।

गुलाबजल का इस्तेमाल कब तक करें

जब भी आप बाहर से आएं तभी गुलाब जल का इस्तेमाल करें।

गुलाबजल के फायदे

गुलाब जल आपकी त्वचा को निखारता है, मॉइस्चराइज़ करता है और ताज़गी देता है। ये त्वचा के रक्त परिसंचरण को सुधारता है और इसके एस्ट्रिजेंट गुण त्वचा के PH स्तर को संतुलित करते हैं।

(और पढ़ें - ड्राई स्किन के लिए फेस वाश)

सामग्री

  1. एक या दो चम्मच सेब का सिरका। (और पढ़ें - सेब के सिरके के फायदे)
  2. एक या दो चम्मच पानी।
  3. एक या दो चम्मच शहद।

विधि

  1. सेब के सिरके को सबसे पहले पानी में मिलाएं और फिर इसमें शहद मिला लें।
  2. अब इस मिश्रण को पूरे चेहरे पर ड्राई पैचेस पर लगाएं।
  3. चेहरे को धोने से पहले इसे 10 मिनट तक लगाकर रखें।

सेब का सिरका का इस्तेमाल कब तक करें

इस मिश्रण को हफ्ते में एक या दो बार ज़रूर लगाएं।

सेब का सिरका के फायदे

सेब के सिरके में एसिड होता है जो त्वचा पर तेल के उत्पादन को फिर से बढ़ाने में मदद करता है और त्वचा का PH स्तर सामान्य करता है। इसमें एंटीऑक्सीडेंट, विटामिन और खनिज भी मौजूद होते हैं जो त्वचा के स्वास्थ्य को बढ़ाते हैं।

(और पढ़ें - तैलीय त्वचा के घरेलू उपाय)

सामग्री

  1. एक चम्मच बेकिंग सोडा। (और पढ़ें - बेकिंग सोडा के फायदे)
  2. एक चम्मच बादाम का तेल या नारियल का तेल

विधि

  1. सबसे पहले पेस्ट तैयार करने के लिए बेकिंग सोडा और तेल को मिला लें।
  2. अब इस मिश्रण को चेहर पर लगाएं और मसाज करें।
  3. दो से तीन मिनट स्क्रब करने के बाद इस मिश्रण को चेहरे से धो लें।

बेकिंग सोडा का इस्तेमाल कब तक करें

बेकिंग सोडा का इस्तेमाल हफ्ते में एक या दो बार जरूर करें।

बेकिंग सोडा के फायदे

बेकिंग सोडा रूखी और मृत त्वचा पर एक्सफोलिएंट की तरह काम करता है। इसके गुण त्वचा में फिर से तेल के उत्पादन को बढ़ाने में मदद करते हैं।

(और पढ़ें – ब्लैक हेड्स हटाने के तरीके)

सामग्री

  1. कोकोआ बटर या शिया बटर।

विधि

  1. सबसे पहले शिया या कोकोआ बटर को अपने हाथों में लेकर मेल्ट कर लें।
  2. अब इसे अपने चेहरे पर लगा लें और रातभर के लिए ऐसे ही लगा हुआ छोड़ दें।

शिया बटर का इस्तेमाल कब तक करें

दोनों का इस्तेमाल आप रात को सोने से पहले कर सकते हैं।

शिया बटर के फायदे

शिया बटर में मौजूद तेल और त्वचा का तेल बिल्कुल सामान होता है। ये बहुत आसानी से त्वचा में अवशोषित हो जाता है और त्वचा को कोमल बनाने में मदद करता है। शिया बटर में एंटी एजिंग, एंटीऑक्सीडेंट और इलाज करने के गुण मौजूद होते हैं।

(और पढ़ें - चेहरे की झुर्रियों के उपाय)

सामग्री

  1. दो चम्मच शहद। (और पढ़ें - दालचीनी और शहद के फायदे)
  2. एक या दो चम्मच दालचीनी पाउडर।

विधि

  1. सबसे पहले दालचीनी पाउडर और शहद को एक साथ मिला दें और फिर इसे अपने चेहरे पर लगाएं।
  2. अब इस मिश्रण को 15 मिनट के बाद धो दें।

दालचीनी और शहद का इस्तेमाल कब तक करें

इस मिश्रण को हफ्ते में तीन से चार बार ज़रूर लगाएं।

दालचीनी और शहद के फायदे

शहद हमेशा त्वचा की देखभाल के लिए जाना जाता है। इसके प्राकृतिक हुमेक्टैंट आपकी त्वचा को मॉइस्चराइज़ करने में मदद करते हैं। दालचीनी कैपिलरी परिसंचरण को सुधारता है और छिद्रों को बंद करता है। इसमें सूजनरोधी गुण भी मौजूद होते हैं।

(और पढ़ें - झाइयां हटाने के घरेलू उपाय)

सामग्री

  1. दो चम्मच मेथी बीज। (और पढ़ें - मेथी के लाभ)
  2. जैतून के तेल की कुछ बूँदें या नारियल का तेल।
  3. पानी।

विधि

  1. सबसे पहले मेथी के बीज को मिक्स कर लें।
  2. अब इस पाउडर में तेल और पानी मिलाएं जिससे कि एक पेस्ट तैयार हो सके।
  3. अब इस पेस्ट को अपने चेहरे पर लगाएं और 15 मिनट के लिए इसे ऐसे ही रहने दें।
  4. फिर अपने चेहरे को ठंडे पानी से धो लें।

मेथी के बीज का इस्तेमाल कब तक करें

इस मिश्रण को हफ्ते में दो बार ज़रूर लगाएं।

मेथी के बीज के फायदे

मेथी के बीज में म्यूसीलेज होता है जो एमोलिएंट की तरह काम करता है जिससे त्वचा मॉइस्चराइज़ होती है। इस जड़ी बूटी में एंटी एजिंग, त्वचा का इलाज करने और आरामदायक गुण मौजूद होते हैं।

(और पढ़ें - चेहरे के दाग धब्बे हटाने के घरेलू उपाय)

सामग्री

  1. एक चम्मच अदरक का जूस। (और पढें - अदरक के फायदे)
  2. एक चम्मच शहद।
  3. एक चम्मच गुलाब जल।

विधि

  1. सबसे पहले अदरक का जूस निकाल लें और फिर उसमे शहद और गुलाब जल मिलाएं।
  2. अब इस मिश्रण को चेहरे पर लगाएं।
  3. 10-15 मिनट के लिए इसे ऐसे ही लगा हुआ छोड़ दें।

अदरक का इस्तेमाल कब तक करें

अच्छा परिणाम पाने के लिए इसका इस्तेमाल हफ्ते में एक दो बार ज़रूर करें।

अदरक के फायदे

अदरक में फाइटोकेमिकल्स बहुत ज़्यादा मात्रा में पाया जाता है। इसमें एंटीऑक्सीडेंट गुण भी होते हैं जो त्वचा से फ्री रेडिकल डैमेज को दूर करते हैं। अदरक में सूजनरोधी गुण भी होते हैं। ये गुण बेजान और रूखी त्वचा का इलाज करने में मदद करते हैं।

(और पढ़ें - काले दाग हटाने के घरेलू उपाय)

सामग्री

  1. तीन चम्मच चीनी।
  2. एक चौथाई दही। (और पढ़ें - स्वास्थ्य के लिए दही के फायदे)
  3. दो चम्मच शहद।

विधि

  1. सबसे पहले दही में शहद मिलाएं।
  2. अब इस मिश्रण को अच्छे से मिला लें।
  3. फिर इसमें चीनी मिलाएं।
  4. अच्छे से इस मिश्रण को चलाने के बाद इसे चेहरे पर लगाकर कुछ मिनट तक मसाज करें।
  5. पांच मिनट के लिए इस मिश्रण को अपने चेहर पर लगा हुआ छोड़ दें।
  6. फिर इसे ठंडे पानी से साफ़ कर लें।

दही का इस्तेमाल कब तक करें

इस मिश्रण का इस्तेमाल हफ्ते में एक बार जरूर करें।

दही के फायदे

रूखी त्वचा बहुत ही ज़्यादा नाजुक होती है। ये मिश्रण आपकी मृत कोशिकाओं को दूर करेगा और दही में मौजूद लैक्टिक एसिड रूखी त्वचा को एक्सफोलिएट और इलाज करने में मदद करेगा।

(और पढ़ें - चेहरे को गोरा करने के घरेलू उपाय)

सामग्री

  1. दो चम्मच नीम की पत्तियां। (और पढ़ें - नीम के फायदे)
  2. एक चम्मच शहद या दूध की क्रीम।
  3. एक चुटकी हल्दी पाउडर।
  4. पानी।

विधि

  1. सबसे पहले नीम की पत्तियों के पाउडर को शहद और हल्दी के साथ मिला लें।
  2. अब इसमें पानी मिलाएं जिससे कि एक मुलायम पेस्ट तैयार हो जाए।
  3. अब इस मिश्रण को अपने चेहरे पर 10-12 मिनट के लिए लगाकर रखें।
  4. फिर चेहरे को पानी से धो लें।

नीम के पत्ते का इस्तेमाल कब तक करें

इस मिश्रण को हफ्ते में चार से पांच बार ज़रूर लगाएं।

नीम के पत्ते के फायदे

नीम की पत्तियां त्वचा को मॉइस्चराइज़ करने में मदद करती यहीं और खुजली या जलन जैसी समस्याओं को दूर रखती हैं। नीम अच्छे से त्वचा का इलाज करती है और त्वचा को निखारती भी है।

(और पढ़ें - गोरा होने के उपाय)

रूखी त्वचा के लिए विटामिन ई

विटामिन त्वचा को स्वस्थ बनाये रखने में मदद करता है। विटामिन में एंटीऑक्सीडेंट और फोटोप्रोटेक्टिव गुण मौजूद होते हैं जिनकी मदद से सूरज की किरणों से बचाव होता है। विटामिन त्वचा को हाइड्रेटेड रखता है और त्वचा को ठीक भी रखता है। विटामिन ई के सप्लीमेंट्स को आप रोज़ाना भी खा सकते हैं या उनमे मौजूद तेल को अपनी त्वचा पर लगा भी सकते हैं। लेकिन खाने से पहले डॉक्टर से बात ज़रूर करें।

(और पढ़ें - विटामिन ई के स्रोत और फायदे)

शुष्क त्वचा के लिए विटामिन सी

विटामिन सी एक बहुत ही महत्वपूर्ण एंटीऑक्सीडेंट है जो शरीर को या तो खाने से मिलता है या सप्लीमेंट के ज़रिये मिलता है। त्वचा में ऑक्सीडेटिव डैमेज होने की वजह से रूखापन, झुर्रियां, बेजान होना आदि समस्याएं होती हैं। विटामिन सी के इस्तेमाल से त्वचा में फिर से ऑक्सीडेटिव की कमी पूरी होती है। ये विटामिन ई की तरह फोटोप्रोटेक्शन भी देने में मदद करता है। इसके सूजनरोधी गुणों की वजह से जल्द इलाज करने में भी मदद मिलती है। त्वचा की समस्याएं जैसे एक्जिमा और सोरिआसिस आदि विटामिन सी की मदद से इनका इलाज होता है।

(और पढ़ें - विटामिन सी के स्रोत और फायदे)

ड्राई स्किन के लिए बायोटिन

इसे वैकल्पिक रूप से विटामिन बी7 भी कहा जाता है। बायोटिन सप्लीमेंट्स को डॉक्टर द्वारा त्वचा और बालों को स्वस्थ करने के लिए बताया जाता है। जब त्वचा में बायोटिन की कमी होने लगती है तो इस तरह की समस्याएं अपने आप ही पनपने लगती हैं जैसे एरिथमा या डर्मेटाइटिस। रूखी त्वचा के लिए बायोटिन त्वचा को मॉइस्चराइज़ करने में मदद करता है।

(और पढ़ें – सन टैन दूर करने के घरेलू उपाय)

और पढ़ें ...

References

  1. National institute of aging. [internet]: US Department of Health and Human Services; Skin Care and Aging
  2. MedlinePlus Medical Encyclopedia: US National Library of Medicine; Dry skin - self-care
  3. National Institutes of Health. [Internet]. U.S. Department of Health & Human Services; Keep Your Skin Healthy.
  4. Baylor college of medicine. Hot showers can damage skin during winter. Health sciences university, Texas
  5. Nevin KG, Rajamohan T. Effect of topical application of virgin coconut oil on skin components and antioxidant status during dermal wound healing in young rats.. 2010;23(6):290-7. PMID: 20523108
  6. Verallo-Rowell VM, Dillague KM, Syah-Tjundawan BS. Novel antibacterial and emollient effects of coconut and virgin olive oils in adult atopic dermatitis. 2008 Nov-Dec;19(6):308-15. PMID: 19134433
  7. Allison L.Goddard and Peter A. Lio. Alternative, Complementary, and Forgotten Remedies for Atopic Dermatitis. 2015; 2015: 676897. PMID: 26257817
  8. Danby SG, AlEnezi T, Sultan A, Lavender T, Chittock J, Brown K, Cork MJ. Effect of olive and sunflower seed oil on the adult skin barrier: implications for neonatal skin care. 2013 Jan-Feb;30(1):42-50. PMID: 22995032
  9. Mohammad Abid Keen and Iffat Hassan. Vitamin E in dermatology. 2016 Jul-Aug; 7(4): 311–315. PMID: 27559512
  10. Ahmad Z. The uses and properties of almond oil. 2010 Feb;16(1):10-2. PMID: 20129403
  11. Lynde CW. Moisturizers: what they are and how they work.2001 Dec;6(13):3-5. PMID: 11813097
  12. Lodén M, Andersson AC, Anderson C, Bergbrant IM, Frödin T, Ohman H, Sandström MH, Särnhult T, Voog E, Stenberg B, Pawlik E, Preisler-Häggqvist A, Svensson A, Lindberg M.A double-blind study comparing the effect of glycerin and urea on dry, eczematous skin in atopic patients. 2002;82(1):45-7. PMID: 12013198
  13. Polaskova J, Pavlackova J, Vltavska P, Mokrejs P, Janis R. Moisturizing effect of topical cosmetic products applied to dry skin. 2013 Sep-Oct;64(5):329-40. PMID: 24139432
  14. Melnik BC. Evidence for acne-promoting effects of milk and other insulinotropic dairy products. 2011;67:131-45. PMID: 21335995
  15. American Academy of Dermatology. Rosemont (IL), US; 5 ways to use petroleum jelly for skin care
  16. Reynertson KA, Garay M, Nebus J, Chon S, Kaur S, Mahmood K, Kizoulis M, Southall MD. Anti-inflammatory activities of colloidal oatmeal (Avena sativa) contribute to the effectiveness of oats in treatment of itch associated with dry, irritated skin.. 2015 Jan;14(1):43-8. PMID: 25607907
  17. Ilnytska O, Kaur S, Chon S, Reynertson KA, Nebus J, Garay M, Mahmood K, Southall MD. Colloidal Oatmeal Improves Skin Barrier Through Multi-Therapy Activity. 2016 Jun 1;15(6):684-90. PMID: 27272074
  18. Amar Surjushe, Resham Vasani, and D G Saple. Aloe Vera. 2008; 53(4): 163–166. PMID: 19882025