myUpchar प्लस+ के साथ पूरेे परिवार के हेल्थ खर्च पर भारी बचत

हीमोफीलिया क्या है?

हीमोफीलिया एक बहुत ही कम होने वाला जेनेटिक (माता-पिता से बच्चों में होने वाला) रोग है। इस बीमारी में चोट लगने पर खून का थक्का नहीं जम पाता जिससे खून बहता ही रहता है। हीमोफीलिया होने के कारण खून में "क्लॉटिंग फैक्टर्स" (clotting factors: वह प्रोटीन जो खून के जमने में मदद करते हैं) की कमी हो जाती है।

(और पढ़ें - प्रोटीन की कमी से होने वाले रोग)

आपके शरीर में क्लॉटिंग फैक्टर्स के स्तर के हिसाब से हीमोफिलिआ ज़्यादा या कम हो सकता है। अगर आपके शरीर में क्लॉटिंग फैक्टर की थोड़ी ही कमी है तो रक्तस्त्राव सिर्फ किसी सर्जरी या ट्रॉमा के बाद होगा। अगर क्लॉटिंग फैक्टर बहुत कम मात्रा में हैं तो बार-बार कौन बहने की सम्भावना है। 

हीमोफीलिया से बचा नहीं जा सकता क्योंकि ये बच्चों में माता-पिता से आता है। परीक्षण करते समय जेनेटिक टेस्टिंग और क्लॉटिंग फैक्टर का स्तर जांचने के लिए ब्लड टेस्ट किया जाता है। हीमोफीलिया का इलाज करते समय जो क्लॉटिंग फैक्टर कम होता जाता है उसे नए क्लॉटिंग फैक्टर के साथ बदला जाता है।   

  1. हीमोफीलिया के प्रकार - Types of Hemophilia in Hindi
  2. हीमोफीलिया के लक्षण - Hemophilia Symptoms in Hindi
  3. हीमोफीलिया के कारण और जोखिम कारक - Hemophilia Causes & Risks in Hindi
  4. हीमोफीलिया के बचाव के उपाय - Prevention of Hemophilia in Hindi
  5. हीमोफीलिया का परीक्षण - Diagnosis of Hemophilia in Hindi
  6. हीमोफीलिया का इलाज - Hemophilia Treatment in Hindi
  7. हीमोफीलिया की जटिलताएं - Hemophilia Complications in Hindi
  8. हीमोफीलिया की दवा - Medicines for Hemophilia in Hindi

हीमोफीलिया के प्रकार - Types of Hemophilia in Hindi

हीमोफीलिया कितने प्रकार का होता है?

  • हीमोफीलिया A - इसमें क्लॉटिंग फैक्टर 8 (Clotting factor VIII) की कमी होती है। यह हीमोफीलिया के 80 प्रतिशत मामलों का कारण होता है। हीमोफीलिया A से ग्रस्त 70 प्रतिशत लोगों में इसका गंभीर रूप ही पाया जाता है। 
  • हीमोफीलिया B - इसको "क्रिसमस रोग" (Christmas disease) के नाम से भी जाना जाता है। इस रोग में मरीज़ में क्लॉटिंग फैक्टर 9 (Clotting factor IX) की कमी हो जाती है। 

दोनों प्रकार के हीमोफीलिया में एक जीन खराब हो जाता है। यह खराब जीन शरीर के क्लॉटिंग कारकों का निर्माण करने की क्षमता को प्रभावित करता है। इन क्लॉटिंग कारकों की मदद से खून के थक्के जमने की सामान्य प्रक्रिया चलती है। जिसके परिणाम से असाधारण और अत्यधिक खून बहने जैसी समस्याएं होने लगती हैं।

हीमोफीलिया रोग हल्का, मध्यम या गंभीर भी हो सकता है, यह खून में क्लॉटिंग फैक्टर की मात्रा पर निर्भर करता है।

  • हल्का हीमोफीलिया (Mild hemophilia) - इसमें शरीर 6 प्रतिशत से 50 प्रतिशत तक ब्लड क्लोटिंग प्रोटीन बनाता है। 
  • मध्यम हीमोफीलिया (Moderate hemophilia) - इसमें शरीर 2 से 5 प्रतिशत तक ब्लड क्लोटिंग प्रोटीन का उत्पादन करता है।
  • गंभीर हीमोफीलिया (Severe hemophilia) - इस स्थिति में शरीर 1 प्रतिशत या उससे कम ब्लड क्लोटिंग प्रोटीन बनाता है।

सामान्य तौर पर मध्यम हीमोफीलिया से ग्रस्त व्यक्ति को कुछ समय में केवल एक ही बार अत्यधिक खून बहता है। गंभीर हीमोफीलिया से ग्रस्त व्यक्ति में बार-बार अत्यधिक खून बहने के जोखिम रहते हैं।

हीमोफीलिया के लक्षण - Hemophilia Symptoms in Hindi

हीमोफीलिया में कौन से लक्षण महसूस होते हैं:

हीमोफीलिया रोग के लक्षणों में अत्यधिक खून बहना और आसानी से त्वचा नीली पड़ जाना आदि जैसे लक्षण शामिल हैं। लक्षणों की गंभीरता इस बात पर निर्भर करती है कि खून में क्लॉटिंग फैक्टर (ब्लड क्लॉटिंग प्रोटीन) का स्तर कितना कम है। 

खून शरीर के अंदर या शरीर के बाहर बह सकता है।

  • किसी भी प्रकार का घाव, कट, जानवर द्वारा काटने या दांत से खून निकलने के कारण शरीर से अत्यधिक खून बह सकता है।
  • स्वभाविक रूप से नाक से खून बहना (नकसीर) भी हीमोफीलिया रोग की एक आम स्थिति है। 
  • अगर एक बार खून बहना बंद हो भी जाए तो उसके बाद भी लम्बे समय तक या लगातार खून बह सकता है। 
  • शरीर के अंदर अधिक खून बहने के संकेतों में पेशाब या मल में खून आना और त्वचा में बड़े-बड़े व गहरे नीले रंग के निशान पड़ना आदि शामिल है।
  • रक्तस्त्राव कोहनी तथा घुटनों के भीतर भी हो सकता है जिससे उनमें सूजन आ जाती है और उन्हे छूने पर वे गर्म महसूस होते हैं व साथ ही साथ उनको हिलाने पर दर्द महसूस होता है।
  • हीमोफीलिया रोगी के दिमाग में अंदरूनी रक्तस्त्राव होने के कारण सिर पर सूजन आ सकती है। 

(और पढ़ें - सूजन कैसे कम करें)

अचानक खून बहना शुरू होने के कारण निम्नलिखित परेशानियां हो सकती हैं :

डॉक्टर को कब दिखाएं?

इनमें से कोई भी लक्षण दिखने पर तुरंत इलाज कराएं:

​अगर आप गर्भवती हैं, तो आपको विशेष रूप से इन लक्षणों के दिखने पर इलाज करवा लेना चाहिए।

हीमोफीलिया के कारण और जोखिम कारक - Hemophilia Causes & Risks in Hindi

हीमोफीलिया क्यों होता है?

जब आपके शरीर से रक्तस्त्राव होता है, तब आपका शरीर रक्त कोशिकाओं को एकत्रित करके एक क्लॉट बना लेता है जिससे रक्तस्त्राव रुक जाता है। ब्लड क्लॉटिंग फैक्टर्स के कारण ये क्लॉटिंग प्रक्रिया शुरू होती है। इनमें से किसी क्लॉटिंग फैक्टर की कमी होने के कारण हीमोफीलिया होता है। 

हीमोफीलिया कई प्रकार का होता है जिनमें से ज़्यादातर प्रकार के हीमोफीलिया माता-पिता से बच्चों में आते हैं। हालांकि, 30% हीमोफीलिया से पीड़ित लोगों के परिवार में किसी को हीमोफीलिया नहीं होता है। इन लोगों के हीमोफीलिया से जुड़े जींस (genes) में कुछ ऐसे परिवर्तन आ जाते हैं जिनके बारे में सोचा न हो, इन्हें "स्पॉनटेनियस म्युटेशन" (spontaneous mutation) कहते हैं। 

"अक्वायर्ड हीमोफीलिया" (Acquired hemophilia) एक बहुत ही कम होने वाला रोग है। ये तब होता है जब किसी व्यक्ति की रोग प्रतिरोधक शक्ति खून में क्लॉटिंग फैक्टर्स बनने नहीं देती। ये निम्लिखित चीज़ों के साथ जुडी हो सकती है:

हीमोफीलिया इनहेरिटेंस

हीमोफीलिया एक जेनेटिक डिसऑर्डर है। ये शरीर में "जींस" (genes) में बदलाव आने के कारण होता है, ये बदलाव उन जींस में आ सकता है जो माता-पिता से हमारे शरीर में आये हों या फिर गर्भ में विकास के दौरान हो सकता है। हीमोफीलिया से ज्यादातर लड़के ही पीड़ित होते हैं।

अगर किसी लड़की में हीमोफीलिया का जीन आया हो तो उसे हीमोफीलिया नहीं होता परन्तु वो हीमोफीलिया की "कैर्रिएर" (उसके कारण आने वाली पीढ़ी में किसी लड़के को हीमोफीलिया हो सकता है) बन जाती है। अन्य शब्दों में, उसके पास एक नॉर्मल और एक असामान्य जीन होता है। वो दोनों में से कोई भी जीन अपने बच्चों में दे सकती है। दोनों बच्चों में 50% सम्भावना होगी के अगर वो एक लड़का है तो उसे हीमोफीलिया हो सकता है और अगर वो एक लड़की है तो वो हीमोफीलिया की कैर्रिएर बनेगी। औसतन, हीमोफीलिया के कैर्रिएर के पास 50% क्लॉटिंग फैक्टर होगा पर कुछ मामलों में उनके पास बहुत ही कम क्लॉटिंग फैक्टर होता है।

(और पढ़ें - पीरियड्स में ज्यादा ब्लीडिंग)

हीमोफीलिया के बचाव के उपाय - Prevention of Hemophilia in Hindi

हीमोफीलिया से कैसे बचें?

  • हीमोफीलिया, माँ से बच्चे में आता है। गर्भावस्था के दौरान आप पता नहीं लगा सकते के आपके बच्चे को हीमोफीलिया है या नहीं। 
  • गर्भावस्था से पहले अगर काउंसलिंग की जाए तो उससे हीमोफीलिया ग्रस्त बच्चे के होने के जोखिम पता चल सकते हैं। 

(और पढ़ें - प्रेगनेंसी में ब्लीडिंग)

हीमोफीलिया का परीक्षण - Diagnosis of Hemophilia in Hindi

हीमोफीलिया का परीक्षण कैसे कराएं?

आपकी पहले की चिकित्सीय स्थिति और ब्लड टेस्ट से हीमोफीलिया का परीक्षण हो सकता है। 

  • हीमोफीलिया के गंभीर मामलों का परीक्षण जीवन के पहले साल में ही हो जाता है। कम गंभीर मामलों का पता मध्यम-आयु वर्ग तक चल जाता है। अगर सर्जरी के दौरान अत्यधिक रक्तस्त्राव हुआ हो तो हीमोफीलिया के होने का पता चल जाता है। 
  • अगर किसी व्यक्ति में हीमोफीलिया होने की सम्भावना लगे तो चिकित्सक उनकी और उनके परिवार की चिकित्सकीय स्थिति के बारे में जानेंगे जिससे समस्या का कारक पता चले। 
  • एक शारीरिक जांच की जाती है। 
  • ब्लड टेस्ट से हीमोफीलिया के प्रकार और उसके जोखिम के बारे में पता चल जाता है। 
  • हीमोफीलिया कर्रिएर महिलाओं में गर्भावस्था के 10वें सप्ताह में बच्चे की हीमोफीलिया स्थिति के बारे में पता चल जाता है। 
  • हीमोफीलिया का परीक्षण ब्लड टेस्ट द्वारा किया जाता है, जैसे:
    • कम्पलीट ब्लड काउंट (सीबीसी)
    • प्रोथ्रॉम्बिन टाइम (पीटी)
    • एक्टिवेटिड पार्शियल थ्रोम्बोप्लास्टिन टाइम (पीटीटी)
    • फैक्टर 8 लेवल 
    • फैक्टर 9 लेवल टेस्ट 
  • ब्लड टेस्ट से पता चल सकता है के खून का थक्का जमने में कितना समय लग सकता है, क्लॉटिंग फैक्टर का स्तर कितना है और कौनसे क्लॉटिंग फैक्टर शरीर में उपस्थित नहीं हैं। 
  • डॉक्टर उन सारी चीज़ों की जांच करना चाहेंगे जिनकी वजह से रक्तस्त्राव होता है या चोट लगने से निशान पड़ जाते हैं, जैसे लिवर रोग और कुछ दवाइयां। 

(और पढ़ें - योनि से रक्तस्राव)

हीमोफीलिया का इलाज - Hemophilia Treatment in Hindi

हीमोफीलिया का इलाज क्या है?

हीमोफीलिया के प्रकार उनके क्लॉटिंग फैक्टर से संबंधित होते हैं। गंभीर हीमोफीलिया का मुख्य इलाज होता है हीमोफीलिया से संबंधित क्लॉटिंग फैक्टर को बदलना। क्लॉटिंग फैक्टर बदलने के लिए एक नली की ज़रुरत होती है जिसे नसों में डाला जाता है। इसे "रिप्लेसमेंट थेरेपी" (replacement therapy) कहा जाता है।

ये थेरेपी तब दी जाती है जब किसी हो रहे रक्तस्त्राव को रोकना हो। ये थेरेपी रक्तस्त्राव को रोकने के लिए घर पर भी दी जा सकती है। कुछ लोगों को ये थेरेपी लगातार देनी पड़ती है। 

जो क्लॉटिंग फैक्टर बदला जा रहा हो, उसकी जगह पर नया क्लॉटिंग फैक्टर रक्तदान किये गए खून से मिलता है। इनके बजाये कई बार "रिकम्बीनैंट क्लॉटिंग फैक्टर्स" (recombinant clotting factors) का इस्तेमाल किया जाता है, यह इंसानों के खून से नहीं बनता। 

(और पढ़ें - स्पॉटिंग होने के कारण)

अन्य थेरेपी :

  • डेस्मोप्रेसिन या डीडीएवीपी (Desmopressin or DDAVP) -
    हल्के हीमोफीलिया में, ये हॉर्मोन आपके शरीर को ज़्यादा क्लॉटिंग फैक्टर बनाने के लिए उत्तेजित करता है। इसका टीका नसों में लगाया जाता है या नाक में स्प्रे किया जाता है। 
     
  • एंटी- फिब्रिनोलिटिक्स दवा (anti-fibrinolytics) -
    ये दवाइयां ब्लड क्लॉट्स को टूटने नहीं देती। 
     
  • फाइब्रिन सीलेंट दवा (Fibrin sealant) -
    ये दवाइयां सीधा चोट पर लगायी जाती हैं जिससे वो जल्दी ठीक हो सके और ब्लड क्लॉट बन सके।
     
  • फिजियोथेरेपी (physiotherapy) -
    अगर अंदरूनी रक्तस्त्राव से आपके जोड़ों को हानि पहुंची है तो ये थेरेपी उसके लिए फायदेमंद है। अगर अंदरूनी रक्तस्त्राव से गंभीर रूप से हानि पहुंची है तो आपको सर्जरी की ज़रुरत पड़ सकती है।   
  • छोटे कट लगने पर फर्स्ट-ऐड -
    उस चोट को दबाये रखें और फिर उसपे पट्टी लगा दें। अगर त्वचा के नीचे रक्तस्त्राव हुआ हो तो आइस पैक का प्रयोग करें। बर्फ के गोलों का इस्तेमाल मुंह में रक्तस्त्राव रोकने क लिए किया जाता है। 
  • टीकाकरण -
    इस्तेमाल से पहले रक्त उत्पादों की जांच की जाती है परन्तु फिर भी उनसे बीमारियां होने की सम्भावना रहती है। अगर आपको हीमोफीलिया है तो आपको हेपेटाइटिस ए और हेपेटाइटिस बी के खिलाफ टीकाकरण कराना ज़रूरी है।

(और पढ़ें - डिलीवरी के बाद रक्तस्राव)

हीमोफीलिया की जटिलताएं - Hemophilia Complications in Hindi

हीमोफीलिया से क्या परेशानियां हो सकती हैं?

हीमोफीलिया की निम्नलिखित जटिलताएं हैं:

  • गंभीर अंदरूनी रक्तस्त्राव -
    जो रक्तस्त्राव आपकी मांसपेशियों की गहराई में होता है उससे आपके हाथ-पैर सूज सकते हैं। ये सूजन आपकी तंत्रिकाओं को दबाकर, उस हिस्से को सुन्न कर सकती है या उसमें दर्द हो सकता है। (और पढ़ें - पैरों में सूजन के कारण
     
  • जोड़ों को क्षति  -
    अंदरूनी रक्तस्त्राव से आपके जोड़ों पर ज़ोर पड़ सकता है जिससे बहुत तेज़ दर्द होता है। अगर इसका इलाज न कराया जाए तो बार-बार होने वाले रक्तस्त्राव से आर्थराइटिस हो सकता है या जोड़ों को हानि पहुँच सकती है। (और पढ़ें - जोड़ों में दर्द क्यों होता है
     
  • संक्रमण -
    हीमोफीलिया रोगियों को खून की ज़्यादा ज़रुरत पड़ती है जिससे उन में संक्रमण का खतरा बढ़ जाता है। रक्त उत्पादों का मिलना अब सुरक्षित है क्यूंकि एचआईवी और हेपेटाइटिस के लिए दिए जाने वाले खून की जांच की जाती है। 
     
  • क्लॉटिंग फैक्टर इलाज का उल्टा असर दिखना -
    कुछ लोगों में हीमोफीलिया के इलाज के दौरान प्रतिरक्षा प्रणाली (immune system) का क्लॉटिंग फैक्टर्स के प्रति उल्टा प्रभाव दिखता है। जब ऐसा होता है, तब हमारी प्रतिरक्षा प्रणाली कुछ प्रोटीन्स जिन्हें "इन्हिबिटर्स" (inhibitors) कहा जाता है बना लेती है जिससे क्लॉटिंग फैक्टर्स इनएक्टिव हो जाते हैं और इलाज कम फायदेमंद हो जाता है। (और पढ़ें - प्रतिरक्षा प्रणाली को मजबूत करने के उपाय)

हीमोफीलिया की दवा - Medicines for Hemophilia in Hindi

हीमोफीलिया के लिए बहुत दवाइयां उपलब्ध हैं। नीचे यह सारी दवाइयां दी गयी हैं। लेकिन ध्यान रहे कि डॉक्टर से सलाह किये बिना आप कृपया कोई भी दवाई न लें। बिना डॉक्टर की सलाह से दवाई लेने से आपकी सेहत को गंभीर नुक्सान हो सकता है।

Medicine NamePack SizePrice (Rs.)
EmsylEmsyl 250 Mg Tablet56.0
ClipClip 500 Mg Injection39.0
CyklokapronCyklokapron 500 Mg Injection191.0
PausePause 1000 Mg Tablet239.0
TexakindTexakind 500 Mg Injection35.0
TranesmaTranesma 250 Mg Tablet199.0
TranostatTranostat 500 Mg Injection69.0
TrapicTrapic 100 Mg Injection68.0
Trenaxa TabletTrenaxa 1000 Mg Tablet128.0
XamicXamic 500 Mg Injection69.0
AtsyteAtsyte 500 Mg Injection80.0
CeltranzCeltranz 500 Mg Injection54.0
Clotawin TClotawin T 100 Mg Injection34.0
Clot PlusClot Plus Tablet140.0
Clot XlClot Xl 500 Mg Injection41.0
CoastatCoastat 100 Mg Injection45.0
Cosklot TCosklot T 500 Mg Injection60.0
ExtamExtam 500 Mg Tablet49.0
GlantraxGlantrax 500 Mg Injection69.0
Inmela (Veritaz)Inmela 250 Mg Tablet189.0
KlotinKlotin 100 Mg Injection63.0
MenogiaMenogia 500 Mg Injection70.0
NexamicNexamic 500 Mg Tablet116.0
Nexna TxNexna Tx Tablet140.0
NolossNoloss 500 Mg Tablet123.0
ProklotProklot 500 Mg Tablet11.0
StopbleedStopbleed 500 Mg Injection85.0
SynostatSynostat 500 Mg Injection45.0
TenacidTenacid 500 Mg/5 Ml Injection23.0
TexidTexid 500 Mg Injection62.0
TraclotTraclot 500 Mg Tablet114.0
TraklotTraklot 500 Mg Injection30.0
TramixTramix 500 Mg Injection66.0
TranceTrance 500 Mg Injection43.0
TranecidTranecid 500 Mg Injection58.0
TranemicTranemic 500 Mg Injection39.0
Tranesma PlusTranesma Plus Tablet229.0
TranlokTranlok 500 Mg Injection50.0
TranomacTranomac 500 Mg Tablet101.0
TraxageTraxage 250 Mg Tablet140.0
TrexanetTrexanet 500 Mg Tablet130.0
BleenaBleena Injection48.0
CutiCuti 500 Mg Injection30.0
CyminCymin 250 Mg Capsule72.0
Derma RadiaDerma Radia Tablet265.0
DesqualDesqual M Tablet179.0
DubatranDubatran 10 Mg Tablet100.0
FudartFudart 500 Mg Tablet130.0
Gynae PilGynae Pil 500 Mg Tablet25.0
HexamicHexamic Injection39.0
KomelaKomela 250 Mg Tablet120.0
NexiNexi Injection39.0
NobleedNobleed 500 Mg Tablet160.0
PauseraPausera 500 Mg Tablet157.0
TanmicTanmic 500 Mg Tablet53.0
TenexaTenexa 500 Mg Injection46.0
TraneeTranee 500 Mg Injection28.0
TranemolTranemol 500 Mg Injection49.0
TransolTransol 500 Mg Tablet105.0
TranxiTranxi 250 Mg/250 Mg Tablet110.0
WistranWistran 500 Mg Injection27.0
Agretax MfAgretax Mf 500 Mg/250 Mg Tablet61.54
Biostat MfBiostat Mf Tablet130.0
ChromostatChromostat Injection8.5
Clot Xl MClot Xl M 500 Mg/250 Mg Tablet218.0
Cosklot MfCosklot Mf 500 Mg/250 Mg Tablet195.0
Din TmDin Tm 500 Mg/250 Mg Tablet96.25
Emsyl TmEmsyl Tm 500 Mg/250 Mg Tablet160.0
Etosys MfEtosys Mf 500 Mg/250 Mg Tablet96.0
EvastatEvastat 500 Mg/250 Mg Tablet82.0
FemidolFemidol 500 Mg/250 Mg Tablet31.83
Fibrinil MfFibrinil Mf 500 Mg/250 Mg Tablet144.32
Kenex MfKenex Mf 500 Mg/500 Mg Tablet149.0
MefatranMefatran Tablet160.0
Mefcid TaMefcid Ta 250 Mg/500 Mg Tablet129.0
MeftranMeftran 500 Mg/250 Mg Tablet142.86
Nexi MNexi M 500 Mg/250 Mg Tablet125.0
Noloss MfNoloss Mf Tablet139.55
OrsikOrsik Tablet40.0
Orsik TmOrsik Tm Tablet119.05
RapicogRapicog 500 Mg/250 Mg Tablet199.0
Rapicog DsrRapicog Dsr Capsule99.1
Rapicog LsRapicog Ls Capsule127.0
Sofia TmSofia Tm 500 Mg/250 Mg Tablet275.0
Synostat MfSynostat Mf 500 Mg/250 Mg Tablet136.71
Taxi MfTaxi Mf 500 Mg/250 Mg Tablet220.01
Texid MfTexid Mf Tablet201.0
TmTm 500 Mg/250 Mg Tablet188.57
Traclot MfTraclot Mf 500 Mg/250 Mg Tablet80.0
Traklot MfTraklot Mf 500 Mg/250 Mg Tablet109.71
Tramed PTramed P 500 Mg/250 Mg Tablet28.0
Trance MfTrance Mf 500 Mg/250 Mg Tablet140.0
Tranecid MfTranecid Mf 500 Mg/250 Mg Tablet161.91
Trapic MfTrapic Mf Tablet252.0
Traxage MfTraxage Mf 500 Mg/250 Mg Tablet140.0
Traxel MfTraxel Mf 500 Mg/250 Mg Tablet109.0
Trenaxa MfTrenaxa Mf 500 Mg/250 Mg Tablet165.0
Trexanet MfTrexanet Mf 500 Mg/250 Mg Tablet150.0
Tx MfTx Mf 500 Mg/250 Mg Tablet86.53
Xamic MfXamic Mf 500 Mg/250 Mg Tablet204.0
Bleena MfBleena Mf 500 Mg/250 Mg Tablet105.6
Clip MfClip Mf 500 Mg/250 Mg Tablet108.0
ClostopClostop Sr 500 Mg/250 Mg Tablet250.0
Clotawin MfClotawin Mf 500 Mg/250 Mg Tablet200.0
ConrageConrage 500 Mg/250 Mg Tablet94.92
Cuti MCuti M 500 Mg/250 Mg Tablet144.37
Cyclosym Tx TabletCyclosym Tx Tablet14.02
Cymin MfCymin Mf 500 Mg/250 Mg Tablet98.2
DubaceDubace Tablet230.0
Dubatran MfDubatran Mf 500 Mg/250 Mg Tablet60.91
Evetra MfEvetra Mf 500 Mg/250 Mg Tablet82.32
ExamicExamic 500 Mg/250 Mg Tablet177.0
Gynae Pil ForteGynae Pil Forte 500 Mg/250 Mg Tablet149.75
Mck M PlusMck M Plus 500 Mg/250 Mg Tablet117.05
Mefalth TMefalth T 500 Mg/250 Mg Tablet85.57
MefnoxMefnox Tablet99.95
Meftal TxMeftal Tx Tablet96.0
MeftarisMeftaris Tablet187.0
Menospan MfMenospan Mf 250 Mg/500 Mg Tablet89.0
Nestran MfNestran Mf 500 Mg/250 Mg Tablet126.0
Nobleed TmNobleed Tm 500 Mg/250 Mg Tablet212.5
Pausera MPausera M 500 Mg/250 Mg Tablet190.0
Plug MfPlug Mf 500 Mg/250 Mg Tablet100.0
Rheonex MfRheonex Mf 500 Mg/250 Mg Tablet72.0
Stopbleed TmStopbleed Tm Tablet183.5
Tandem MTandem M 500 Mg/250 Mg Tablet136.6
Tenacid MfTenacid Mf Tablet175.0
Texanam MfTexanam Mf Tablet69.37
Texawock MfTexawock Mf Tablet85.0
TmfTmf 500 Mg/250 Mg Tablet115.37
Tmt (Bestochem)Tmt Tablet119.9
Trafix MfTrafix Mf 500 Mg/250 Mg Tablet190.0
TrafnicTrafnic Tablet156.2
Tragen MfTragen Mf Tablet160.76
Tranarest MfTranarest Mf 500 Mg/250 Mg Tablet133.37
TrandacTrandac 500 Mg/250 Mg Tablet133.18
Tranemol MfTranemol Mf 500 Mg/250 Mg Tablet150.0
Tranex MTranex M Tablet139.0
Tranfib MfTranfib Mf 500 Mg/250 Mg Tablet70.95
Tranlok MTranlok M 500 Mg/250 Mg Tablet161.75
Tranofast MfTranofast Mf Tablet235.0
Transol MfTransol Mf 500 Mg/250 Mg Tablet84.0
Trantas MfTrantas Mf Tablet162.0
Tranxi MTranxi M Tablet145.0
TrapauzTrapauz 500 Mg/250 Mg Tablet132.4
Traxz MTraxz M Tablet67.35
Tugyna MfTugyna Mf 500 Mg/250 Mg Tablet160.0
ZaxidZaxid Tablet132.37
Coastat PlusCoastat Plus 500 Mg/250 Mg Tablet100.57
Cosklot PlusCosklot Plus 250 Mg/250 Mg Tablet143.3
Etex TEtex T 250 Mg/250 Mg Tablet155.0
EthatolEthatol 250 Mg/250 Mg Tablet120.0
EtosysEtosys 250 Mg/250 Mg Tablet138.0
Fibran PlusFibran Plus 250 Mg/250 Mg Tablet150.0
HemoclotHemoclot 250 Mg/250 Mg Tablet18.7
HemocratHemocrat 250 Mg/250 Mg Tablet148.0
KlotranKlotran 250 Mg/250 Mg Tablet152.0
K Stat EtK Stat Et 250 Mg/250 Mg Tablet114.6
Noloss EtNoloss Et Tablet158.8
NosylateNosylate 500 Mg/250 Mg Tablet225.0
RhaginylRhaginyl Tablet125.0
Sylstep TxSylstep Tx 250 Mg/250 Mg Tablet112.5
TheolateTheolate 250 Mg/250 Mg Tablet44.75
Trance EtTrance Et 250 Mg/250 Mg Tablet115.0
TraxylateTraxylate 250 Mg/250 Mg Tablet230.0
Cetham TxCetham Tx 250 Mg/250 Mg Tablet132.0
CoglanCoglan 250 Mg/250 Mg Tablet100.0
E Sylate ME Sylate M 250 Mg/250 Mg Tablet85.56
E Sylate TE Sylate T 250 Mg/250 Mg Tablet209.0
Ethasyl TEthasyl T 500 Mg/250 Mg Tablet152.0
Ethetran PlusEthetran Plus 250 Mg/250 Mg Tablet140.0
HemclotHemclot Tablet161.9
KlatKlat 250 Mg/250 Mg Tablet134.98
ManoguardManoguard 250 Mg/250 Mg Tablet138.08
MenoguardMenoguard 250 Mg/250 Mg Tablet159.5
MenolateMenolate Tablet18.97
Sylate TSylate T 250 Mg/250 Mg Tablet235.4
Syl PlusSyl Plus Tablet150.0
Sylron TxSylron Tx 250 Mg/250 Mg Tablet152.0
Tranlok ETranlok E 500 Mg/250 Mg Tablet164.0
Trapic ETrapic E 250 Mg/250 Mg Tablet177.0
Gse+TxGse+Tx Tablet155.0
TyrodinTyrodin 75 Mg/250 Mg Tablet90.0
Melano TxMelano Tx Cream297.0
PraxamicPraxamic 75 Mg/250 Mg Tablet160.0

क्या आप या आपके परिवार में किसी को यह बीमारी है? सर्वेक्षण करें और दूसरों की सहायता करें

और पढ़ें ...