myUpchar प्लस+ के साथ पूरेे परिवार के हेल्थ खर्च पर भारी बचत

मासिक धर्म के दौरान योनि से रक्‍तस्राव (ब्‍लीडिंग) होना सामान्‍य बात है। हालांकि, माहवारी के के दौरान बहुत ज्‍यादा ब्‍लीडिंग होना या माहवारी के अलावा असामान्‍य रूप से ब्‍लीडिंग होना चिंता का विषय है। प्रजनन प्रणाली से संबंधित कारकों के अलावा और भी कई कारण हैं जिनकी वजह से योनि से रक्‍तस्राव हो सकता है। किसी रोग, दवा, इंट्रायूट्रिन डिवाइस (गर्भाशय में गर्भनिरोधक डिवाइस) और खून से संबंधित किसी विकार के कारण वजाइनल ब्‍लीडिंग हो सकती है।

(और पढ़ें - पीरियड से जुड़े मिथक और तथ्य)

योनि से असामान्‍य ब्‍लीडिंग को कभी भी नज़रअंदाज नहीं करना चाहिए। अगर आपको माहवारी के अलावा कभी ब्‍लीडिंग होती है तो आपको तुरंत डॉक्‍टर से परामर्श करना चाहिए। असामान्‍य रूप से वजाइनल ब्‍लीडिंग होना किसी गंभीर बीमारी का संकेत हो सकता है।

स्‍त्री के प्रजनन और सामान्‍य स्‍वास्‍थ्‍य के लिए योनि से असामान्‍य रक्‍तस्राव की सही समय पर जांच एवं उपचार बहुत जरूरी है। जिस वजह से योनि से रक्‍तस्राव हो रहा है, उसी कारण के आधार पर उपचार जैसे कि दवा, हार्मोन थेरेपी का चयन किया जाता है। जरूरत पड़ने पर सर्जरी भी की जा सकती है।

  1. गर्भावस्था के दौरान योनि से रक्तस्राव - Vaginal Bleeding During Pregnancy in Hindi
  2. मासिक धर्म में योनि से रक्तस्राव - Vaginal Bleeding During Periods in Hindi
  3. कृत्रिम गर्भाधान हो सकता है योनि से रक्तस्राव का कारण - Fertility Treatments Cause Vaginal Bleeding in Hindi
  4. रजोनिवृत्ति के बाद योनि से रक्तस्राव - Vaginal Bleeding After Menopause in Hindi
  5. सेक्स के बाद योनि से रक्तस्राव - Vaginal Bleeding After Sex in Hindi
  6. संक्रमण के कारण योनि से रक्तस्राव - Vaginal Infection Causes Bleeding in Hindi
  7. योनि में चोट के कारण रक्तस्राव - Bleeding After a Vaginal Injury in Hindi
  8. मासिक धर्म में योनि से अधिक रक्तस्राव (मीनोरेजिया) - Heavy vaginal bleeding (Menorrhagia) during periods in Hindi

गर्भावस्था में खून बहना खतरनाक हो सकता है इसलिए गर्भावस्था के दौरान अगर योनि से रक्तस्राव हो तो सीधा डॉक्टर से संपर्क करें।

गर्भावस्था की पहली तिमाही में योनि से रक्तस्राव एक आम समस्या है। लेकिन दूसरे और तीसरे तिमाही में योनि से रक्तस्राव सामान्य नहीं होता यह गंभीर समस्या हो सकती है।

(और पढ़ें - गर्भ में लड़का कैसे हो और बच्चा गोरा कैसे पैदा हो से जुड़े मिथक)

गर्भावस्था के 28वेें हफ्ते के बाद योनि से रक्त स्राव होना आपातकालीन (emergency) स्थिति होती है। ये रक्तस्राव बिना पेट में दर्द हुए बहुत कम से बहुत अधिक मात्रा में भी हो सकता है। अत्यधिक गंभीर स्थिति में इसके कारण मृत्यु भी हो सकती है।

(और पढ़ें - प्रेगनेंसी में पेट दर्द हो तो क्या करे)

जैसा कि आप सब जानते हैं कि मासिकधर्म में रक्तस्राव सामान्य बात है लेकिन अगर यह अत्यधिक मात्रा में होता है तो ज़रूर चिंता का विषय है। इस सम्बन्ध में डॉक्टर से सलाह लेना बहुत ज़रूरी है क्योंकि ऐसा कई कारणों से हो सकता है जैसे हार्मोनों में परिवर्तन के कारण, गर्भनिरोधक उपकरणों के प्रयोग से, संक्रमण के कारण आदि। 

(और पढ़ें - आपके मासिक धर्म यानी पीरियड्स इन स्वास्थ्य समस्याओं का करते हैं संकेत)

  1. मासिक धर्म के दौरान हार्मोन परिवर्तन - Hormonal Changes During Periods in Hindi
  2. मासिक धर्म में गर्भनिरोधक का उपयोग - Contraception During Period in Hindi

मासिक धर्म के दौरान हार्मोन परिवर्तन - Hormonal Changes During Periods in Hindi

कुछ महिलाओं को मासिकधर्म के 14 दिन बाद ही रक्तस्राव का अनुभव होता है ऐसा अण्डोत्सर्ग (जब अंडाशय से अंडा निकलता है) के दौरान होता है जो एक आम बात है। साथ ही साथ एस्ट्रोजन के कम स्तर के कारण आप कुछ हार्मोन परिवर्तनों का अनुभव कर सकती हैं जो बिलकुल भी हानिकारक नहीं हैं। ऐसा तनाव या खान पान की आदतों में बदलाव के कारण भी होता है। आप डॉक्टर से परामर्श ले सकती हैं वो आपको आपके शरीर के अनुसार अधिक लाभदायक सुझाव दे सकते हैं। 

(और पढ़ें - क्या महिलाओं में हार्मोन असंतुलन होता है वजन बढ़ने के लिए ज़िम्मेदार)

मासिक धर्म में गर्भनिरोधक का उपयोग - Contraception During Period in Hindi

यदि आपने हाल ही में गर्भनिरोधक का उपयोग करना शुरु किया है तो हार्मोन में परिवर्तन के कारण रक्तस्राव सामान्य है। गर्भनिरोघक का उपयोग शुरु करने के छः महीने बाद रक्तस्राव सामान्य हो जाता है। लेकिन अगर ऐसा मासिकचक्र के किसी अन्य समय में हो रहा है तो आपको डॉक्टर से सलाह लेने की आवश्यकता है। अगर आप गर्भनिरोधक इंजेक्शन के रूप में ले रही हैं तो आपको शुरुआती 2-3 मासिकधर्म में अधिक रक्तस्राव का सामना करना पड़ सकता है। यह समय के साथ नियंत्रित हो जाता है। अगर रक्तस्राव अत्यधिक है तो डॉक्टर से परामर्श लें वो आपको यह बता सकते हैं की ऐसा किसी अन्य कारण से तो नहीं है। 

(और पढ़ें - गर्भनिरोधक गोलियों का उपयोग)

योनि से रक्तस्राव कुछ प्रजनन प्रक्रियाओं के कारण भी होता है जैसे: आईवीएफ (टेस्ट ट्यूब बेबी) उपचार के दौरान। लेकिन अगर रक्तस्राव अत्यधिक मात्रा में हो रहा है तो डॉक्टर से संपर्क करें।

रजोनिवृत्ति के बाद रक्तस्राव हार्मोन में परिवर्तनों के कारण भी होता है लेकिन कभी कभी यह असामान्य भी हो सकता है इसलिए इस सम्बन्ध में डॉक्टर से सलाह ज़रूर लें। पैप स्मीयर ज़रूर करवा लें। ऐसा सोचना कि रजोनिवृत्ति के बाद अब रक्तस्राव नहीं होगा एक प्रकार की गलत धारणा है।

(और पढ़ें - गर्भाशय में कैंसर)

रजोनिवृत्ति के बाद भी एक साल तक कभी भी रक्तस्राव हो सकता है जो की सामन्य है। रक्तस्राव के सम्बन्ध में डॉक्टर से बात करना बहुत ज़रूरी है। 

(और पढ़ें - रजोनिवृत्ति के लक्षण)

सेक्स के बाद रक्त स्राव कई कारणों से हो सकता है, जैसे:

  1. गर्भाशय ग्रीवा (cervix) में सूजन। यह गर्भवती महिलाओं या जो महिलाएं गर्भनिरोधक दवाएं ले रही हैं उनमें सामान्य है।
  2. गर्भाशय ग्रीवा में ट्यूमर जो कैंसर जनक नहीं होता। (और पढ़ें - गर्भाशय ग्रीवा कैंसर)
  3. कुछ संक्रमण जैसे क्लैमाइडिया
  4. गर्भाशय ग्रीवा की कोशिकाओं में परिवर्तन।
  5. योनि में चोट।

पहली बार सेक्स के बाद रक्तस्राव सामान्य बात है लेकिन अगर ऐसा अकसर होता है तो आपको डॉक्टर से बात करनी चाहिए।

(और पढ़ें - sex karne ka tarika)

यदि आपको योनि संक्रमण हुआ है तो आपको रक्तस्राव से पहले अन्य योनि स्राव होते है। यह योनि स्राव योनि में छालों का परिणाम भी हो सकते हैं। असामान्य योनि स्राव के लक्षण निम्न प्रकार हैं :

  1. गाढ़ा और श्वेत प्रदर
  2. बदबूदार
  3. हल्के हरे और बदबूदार
  4. गुलाबी और भूरे
  5. असहज और योनि में खुजली करने वाले

रक्तस्राव का कारण योनि में अल्सर भी हो सकता है जो सेक्स के दौरान पेट में दर्द का कारण बन सकता है। यदि इस प्रकार का अनुभव आपको होता है तो डॉक्टर से सलाह लें। इस बारे में संकोच बिलकुल भी न करें क्योंकि डॉक्टर प्रोफेशनल होते हैं और वो आपकी परेशानियों का समाधान करने के लिए ही इलाज करते हैं। अगर आप किसी के साथ असुरक्षित यौन सम्बन्ध स्थापित करते हैं जो किसी प्रकार के संक्रमण से पीड़ित है तो भी आपको संक्रमण हो सकता है जो योनि से रक्तस्राव का कारण बन सकता है। यदि आप सार्वजनिक शौचालय का उपयोग करती हैं तो भी आपको योनि संक्रमण हो सकता है।

(और पढ़ें - योनि में यीस्ट संक्रमण)

अगर आपको योनि में महसूस हो रही है तो इन उपायों द्वारा दूर करने का प्रयास कर सकती हैं :

  1. योनि में दर्द व सूजन का अनुभव होने पर, एक बर्फ़ का टुकड़ा साफ़ तौलिये में लपेटकर उस स्थान पर सिकाई कीजिये। ऐसा 30 मिनट से अधिक नहीं करना चाहिए। (और पढ़ें - योनि में सूजन
  2. योनि क्षेत्र की सफाई करने से पहले अपने हाथ साबुन से अच्छी तरह साफ़ कर लें।
  3. योनि में चोट के दौरान टाइट कपड़ों को न पहनें।

उपर्युक्त कारण आपकी योनि से रक्तस्राव का कारण हो सकते हैं। सही इलाज के लिए डॉक्टर से संपर्क ज़रूर करें अन्यथा यह हानिकारक हो सकता है। 

(और पढ़ें - योनि का कसाव वापस लाने के तरीके)

माहवारी में भारी या लंबे समय तक होने वाले रक्तस्राव को मेडिकल भाषा में मेनोरेजिया (Menorrhagia) कहते हैं। हालांकि पीरियड्स में रक्तस्राव होना सामान्य बात है लेकिन अत्यधिक मात्रा में रक्तस्राव होने से खून की कमी (एनीमिया) होने की सम्भावना रहती है।

मेनोरेजिया से ग्रस्त होने पर आप अपने दैनिक कार्य सही तरीके से नहीं कर सकतीं क्योंकि इस दौरान अत्यधिक रक्त निकल जाता है जिस कारण हीमोग्लोबिन की कमी होने से कमज़ोरी, दर्द और ऐंठन का अनुभव होता है। अगर यह असहनीय स्थिति है तो डॉक्टर से ज़रूर संपर्क करें क्योंकि यह किसी गंभीर समस्या का संकेत भी हो सकता है। 

(और पढ़ें - मासिक धर्म में अधिक रक्तस्राव के उपाय)

और पढ़ें ...

References

  1. Intira Sriprasert, Tarita Pakrashi, Thomas Kimble, David F. Archer. Heavy menstrual bleeding diagnosis and medical management. Contracept Reprod Med. 2017; 2: 20. PMID: 29201425
  2. Jacqueline A Maybin, Hilary OD Critchley. Medical management of heavy menstrual bleeding. Womens Health (Lond). 2016 Jan; 12(1): 27–34. PMID: 26695687
  3. Florin-Andrei Taran. The Diagnosis and Treatment of Ectopic Pregnancy. Dtsch Arztebl Int. 2015 Oct; 112(41): 693–704. PMID: 26554319
  4. Vanitha N Sivalingam et al. Diagnosis and management of ectopic pregnancy. J Fam Plann Reprod Health Care. 2011 Oct; 37(4): 231–240. PMID: 21727242
  5. Oliver A, Overton C. Diagnosis and management of miscarriage. Practitioner. 2014 May;258(1771):25-8, 3. PMID: 25055407
  6. Athol Kent. Management of Placenta Accreta. Rev Obstet Gynecol. 2009 Spring; 2(2): 127–128. PMID: 19609408
  7. Teksin Çırpan, Cem Yaşar Sanhal, Sait Yücebilgin, Serdar Özşener. Conservative management of placenta previa percreta by leaving placental tissue in situ with arterial ligation and adjuvant methotrexate therapy. J Turk Ger Gynecol Assoc. 2011; 12(2): 127–129. PMID: 24591976
  8. InformedHealth.org [Internet]. Cologne, Germany: Institute for Quality and Efficiency in Health Care (IQWiG); 2006-. Uterine fibroids: Overview. 2014 Oct 22 [Updated 2017 Nov 16]
  9. Katarzyna Sobczuk, Anna Sobczuk. New classification system of endometrial hyperplasia WHO 2014 and its clinical implications. Prz Menopauzalny. 2017 Sep; 16(3): 107–111. PMID: 29507578
  10. Anastasiadis PG et al. Endometrial polyps: prevalence, detection, and malignant potential in women with abnormal uterine bleeding. Eur J Gynaecol Oncol. 2000;21(2):180-3. PMID: 10843481
  11. Janu Mangala Kanthi et al. Clinical Study of Endometrial Polyp and Role of Diagnostic Hysteroscopy and Blind Avulsion of Polyp. J Clin Diagn Res. 2016 Jun; 10(6): QC01–QC04. PMID: 27504357
  12. National Health Service [Internet]. UK; What causes a woman to bleed after sex?.
  13. Fraser IS. Bleeding arising from the use of exogenous steroids. Baillieres Best Pract Res Clin Obstet Gynaecol. 1999 Jun;13(2):203-22. PMID: 10755038
  14. Sebastião Freitas de Medeiros, Márcia Marly Winck Yamamoto, Jacklyne Silva Barbosa. Abnormal Bleeding During Menopause Hormone Therapy: Insights for Clinical Management. Clin Med Insights Womens Health. 2013; 6: 13–24. PMID: 24665210
  15. Nangia Sangita Ajmani et al. Role of Thyroid Dysfunction in Patients with Menstrual Disorders in Tertiary Care Center of Walled City of Delhi. J Obstet Gynaecol India. 2016 Apr; 66(2): 115–119. PMID: 27046965
  16. Lucy Whitaker, Hilary O.D. Critchley. Abnormal uterine bleeding. Best Pract Res Clin Obstet Gynaecol. 2016 Jul; 34: 54–65. PMID: 26803558
  17. Jeanmonod R, Agresti D. Vaginal Bleeding. [Updated 2019 Feb 2]. In: StatPearls [Internet]. Treasure Island (FL): StatPearls Publishing; 2019 Jan-.