नाक की एलर्जी - Nasal Allergy in Hindi

Dr. Ayush PandeyMBBS,PG Diploma

April 05, 2022

April 05, 2022

नाक की एलर्जी
नाक की एलर्जी

वातावरण में मौजूद पार्टिकल्स या प्रदूषण के कारण नाक में एलर्जी होती है. इसके अलावा, मौसम में होने वाले बदलाव व कुछ खाद्य पदार्थों की सुगंध के प्रति संवेदनशील होने के चलते भी नाक में एलर्जी हो सकती है. जिन पार्टिकल्स से एलर्जी होती है, उन्हें एलर्जन कहा जाता है. एलर्जी होने के साथ ही नाक बहना, छींक आनाखांसी होने जैसे लक्षण दिखने लगते हैं. नाक की एलर्जी को एलर्जिक राइनाइटिस भी कहा जाता है. ऐसे में एंटी-हिस्टामाइन और नेजल स्प्रे नाक की एलर्जी के लिए फायदेमंद हैं.

आज इस लेख में हम नाक की एलर्जी के लक्षण, कारण व इलाज के बारे में ही चर्चा करेंगे -

(और पढ़ें - नाक बहने की होम्योपैथिक दवा)

नाक की एलर्जी के लक्षण - Nasal Allergy Symptoms in Hindi

नाक में संवेदनशीलता महसूस होने पर एलर्जी की समस्या हो सकती है. इसके लक्षण निम्न प्रकार से हो सकते हैं -

(और पढ़ें - नाक में कुछ फंस जाना)

नाक की एलर्जी के कारण - Nasal Allergy Causes in Hindi

अगर नाक में परेशानी महसूस हो रही है, तो ये एलर्जी का कारण हो सकती है. इस समस्या के होने के निम्न कारण हाे सकते हैं -

  • घर में साफ-सफाई करते समय उड़ने वाली धूल.
  • किसी जानवर के संपर्क में आने से.
  • घास व पेड़ से उड़ने वाले पराग कणों के चलते.
  • कुछ खास प्रकार के खाद्य पदार्थों की सुगंध से.
  • धूल, मिट्टी या फिर प्रदूषण के संपर्क में आने से.
  • मौसम में होने वाला बदलाव भी एक कारण है.
  • शरीर में हिस्टामाइन लेवल बढ़ने पर.

(और पढ़ें - नाक साफ करने का तरीका)

नाक की एलर्जी का इलाज - Nasal Allergy Treatment in Hindi

डिकंजेस्टेन्ट व इम्यूनो थेरेपी जैसे कुछ इलाज नाक की एलर्जी के लिए फायदेमंद हैं. आइए विस्तार से जानते हैं नाक की एलर्जी के इलाज के बारे में -

एंटी-हिस्टामाइन

नाक की एलर्जी ठीक करने के लिए एंटी-हिस्टामाइन जैसी दवाइयों का सेवन फायदेमंद है. फेक्सोफेनाडिनलोरेटैडाइन व सिट्रीजीन जैसी दवाइयां शरीर में हिस्टामाइन को बनने से रोकती हैं. इससे नाक में एलर्जी की समस्या कुछ कम हो सकती है.

(और पढ़ें - नाक से खून आना)

डिकंजेस्टेन्ट

नाक की एलर्जी के लिए डिकंजेस्टेन्ट दवाओं में ऑक्सीमेटाजोलिन व सुडाफेड जैसी कुछ सामान्य दवाएं हैं. डिकंजेस्टेन्ट दवाओं का सेवन तीन दिन से ज्यादा नहीं करना चाहिए. इनका प्रयोग केवल भरी हुई नाक व बहती हुई नाक से निजात पाने के लिए ही किया जाना चाहिए.

(और पढ़ें - नाक से सुगंध न आना)

आई ड्रॉप व नेजल स्प्रे

नाक की एलर्जी के दौरान स्प्रे के उपयोग से नाक में खुजली व आंखों से पानी आने जैसे लक्षणों से छुटकारा पाया जा सकता है. इंफ्लेमेशन और इम्यून रिस्पॉन्स से बचने के लिए कोर्टिको स्टेरॉइड्स का प्रयोग किया जा सकता है. इनका प्रयोग बंद करने पर लक्षण दोबारा नहीं आते. स्टीरॉयड नेजल स्प्रे का प्रयोग डॉक्टर की सलाह पर लंबे समय तक किया जा सकता है.

(और पढ़ें - बहती नाक को रोकने के उपाय)

इम्यूनो थेरेपी

गंभीर एलर्जी होने पर इम्यूनो थेरेपी फायदेमंद हैं. यह थेरेपी दवाइयों का सेवन करने के साथ-साथ भी ली जा सकती है. ये थेरेपी एलर्जन के लिए इम्यून रिस्पॉन्स को कम कर देती है. इस तरह की थेरेपी लंबे समय तक ली जाती है.

(और पढ़ें - सूखी नाक का इलाज)

सबलिंगुअल इम्यूनोथेरेपी

इस थेरेपी के दौरान बहुत से एलर्जन का मिक्सचर जीभ के नीचे रखा जाता है. यह एलर्जन शॉट के रूप में काम करते हैं. इसमें इंजेक्शन नहीं दिए जाते. यह राइनाइटिस और अस्थमा एलर्जी को ठीक करने में सहायक माना जाता है.

(और पढ़ें - बंद नाक खोलने के उपाय)

सारांश – Summary

एलर्जन्स से नाक की एलर्जी हो सकती है. आंख से पानी बहना, कफ, डाक सर्कल, बार-बार सिर में दर्द होना जैसे इसके कुछ लक्षण है. इम्यूनोथेरेपी, सबलिंगुअल इम्यूनोथेरेपी नाक की एलर्जी के इलाज फायदेमंद हैं. ध्यान रहे कि नाक की किसी भी प्रकार की एलर्जी के इलाज से पहले डॉक्टर से सलाह अवश्य लें.

(और पढ़ें - बंद नाक खोलने के एक्यूप्रेशर पॉइंट्स)



नाक की एलर्जी के डॉक्टर

Dr. Abhas Kumar Dr. Abhas Kumar प्रतिरक्षा विज्ञान
10 वर्षों का अनुभव
Dr. Hemant C Patel Dr. Hemant C Patel प्रतिरक्षा विज्ञान
32 वर्षों का अनुभव
Dr. Lalit Pandey Dr. Lalit Pandey प्रतिरक्षा विज्ञान
7 वर्षों का अनुभव
Dr. Shweta Jindal Dr. Shweta Jindal प्रतिरक्षा विज्ञान
11 वर्षों का अनुभव
डॉक्टर से सलाह लें
cross
डॉक्टर से अपना सवाल पूछें और 10 मिनट में जवाब पाएँ