myUpchar प्लस+ सदस्य बनें और करें पूरे परिवार के स्वास्थ्य खर्च पर भारी बचत,केवल Rs 99 में -

एनोस्मिया क्या है?

एनोस्मिया में सूंघने की क्षमता कम या पूरी तरह खत्म हो जाती है। नाक की परत को नुकसान पहुंचाने वाली आम स्थितियों, जैसे एलर्जी या सर्दी जुकाम के कारण आंशिक एनोस्मिया हो सकता है। कई गंभीर स्थितियां जो मस्तिष्क या नसों को प्रभावित करती है जैसे ब्रेन ट्यूमर, से हमेशा के लिए आप सूंघने की क्षमता खो सकते हैं। बुढ़ापे के कारण भी कभी-कभी एनोस्मिया की समस्या हो जाती है।

(और पढ़ें - जुकाम का घरेलू उपाय)

एनोस्मिया आमतौर पर इतना गंभीर रोग नहीं है, लेकिन इससे व्यक्ति के जीवन पर असर पड़ता है। एनोस्मिया से पीड़ित व्यक्ति खाने की सुगंध नहीं ले पाते और धीरे-धीरे उनकी खाने की तरफ दिलचस्पी कम होती चली जाती है। इससे आपका वजन कम हो सकता है या कुपोषण के शिकार हो सकते हैं। 

(और पढ़ें - नाक का मांस बढ़ने का इलाज​)

एनोस्मिया के लक्षण क्या हैं?

एनोस्मिया का सबसे बड़ा लक्षण है सूंघने की क्षमता खो देना। कुछ लोग जो एनोस्मिया से पीड़ित होते हैं, उन्हें सामान्य चीजों की गंध में बदलाव महसूस होने लगता है, जैसे उन सामान्य चीजों से कोई गंध न आना। 

(और पढ़ें - ट्यूमर के इलाज)

एनोस्मिया क्यों होता है?

सर्दी जुकाम, एलर्जी, साइनस संक्रमण या प्रदूषण एनोस्मिया के आम लक्षण हैं। एनोस्मिया के अन्य कारण हैं,  नाक में पोलिप्स (Nasal polyps), नाक में चोट, विषाक्त केमिकल के सम्पर्क में आना, कुछ प्रकार की चिकित्सा जैसे एंटीबायोटिक, एंटी डिप्रेसेंट, सूजनरोधी दवाएं, ह्रदय से संबंधित दवाएं आदि। 

(और पढ़ें - नाक से खून आने पर क्या करना चाहिए)

एनोस्मिया का इलाज कैसे होता है?

यदि ठंड या एलर्जी से नाक बंद होना एनोस्मिया का कारण है, तो इसमें इलाज की जरूरत नहीं है, क्योंकि यह समस्या अपने आप ही ठीक हो जाती है। कुछ समय के लिए मेडिकल स्टोर से डिकंजेस्टेन्ट लेने से बंद नाक खुल जाती है। इस तरह आपको सांस लेने में दिक्कत नहीं होती।

हालांकि, अगर बंद नाक की समस्या बढ़ती जा रही है और कुछ दिनों के भीतर ठीक नहीं हुई है, तो अपने डॉक्टर को जल्द से जल्द दिखाएं। क्योंकि इससे आपको इन्फेक्शन हो सकता है और एंटीबायोटिक की जरूरत पड़ सकती है।

अगर आपको नेसल पोलिप है तो, सर्जरी की मदद से इस समस्या को दूर किया जाएगा। अगर किसी भी दवाई से आपके सूंघने की क्षमता पर असर पड़ रहा है तो अपने डॉक्टर से बात जरूर करें। बिना डॉक्टर से पूछे कोई भी दवाई बंद न करें। 

(और पढ़ें - बंद नाक खोलने के उपाय)

  1. एनोस्मिया (सूंघने की शक्ति कम होना) की दवा - Medicines for Anosmia in Hindi

एनोस्मिया (सूंघने की शक्ति कम होना) की दवा - Medicines for Anosmia in Hindi

एनोस्मिया (सूंघने की शक्ति कम होना) के लिए बहुत दवाइयां उपलब्ध हैं। नीचे यह सारी दवाइयां दी गयी हैं। लेकिन ध्यान रहे कि डॉक्टर से सलाह किये बिना आप कृपया कोई भी दवाई न लें। बिना डॉक्टर की सलाह से दवाई लेने से आपकी सेहत को गंभीर नुक्सान हो सकता है।

Medicine Name
SBL Wormorid Drops खरीदें
ADEL Teucrium Marum Verum Mother Tincture Q खरीदें
SBL Teucrium marum verum Mother Tincture Q खरीदें
SBL Teucrium marum verum Dilution खरीदें
Bjain Teucrium marum verum Dilution खरीदें
Bjain Teucrium marum verum Mother Tincture Q खरीदें
Schwabe Teucrium marum verum MT खरीदें
Schwabe Teucrium marum verum CH खरीदें
Dr. Reckeweg R1 खरीदें
Dr. Reckeweg Teucrium Mar. Q खरीदें
ADEL Teucrium Marum Verum Dilution खरीदें
Dr. Reckeweg Teucrum M V Dilution खरीदें

References

  1. Boesveldt S et al. Anosmia—A Clinical Review. Chemical Senses. 2017 Sep; 42(7): 513–523. PMID: 28531300.
  2. National Health Service [Internet]. UK; Lost or changed sense of smell.
  3. Kang JW et al. Epidemiology of Anosmia in South Korea: A Nationwide Population-Based Study. Scientific Reports. 2020 Feb; 10: 3717.
  4. Stevens MH. Steroid‐Dependent Anosmia. The Laryngoscope. 2001 Feb; 111(2): 200-203.
  5. Croy I et al. Peripheral adaptive filtering in human olfaction? Three studies on prevalence and effects of olfactory training in specific anosmia in more than 1600 participants. Cortex. 2015 Dec; 73: 180-187.
और पढ़ें ...
ऐप पर पढ़ें