myUpchar प्लस+ के साथ पूरेे परिवार के हेल्थ खर्च पर भारी बचत

सरल शब्दों में नाक में जमाव को हम "बंद नाक" कहते हैं। यह तब होता है जब नेसल कैविटी सूजने लगती है और फिर इसकी वजह से बलगम उतपन्न होने लगता है। परिणामस्वरूप इसकी वजह से सांस लेना मुश्किल हो जाता है। यह समस्या जुकाम, फ्लू और एलर्जी से जुडी होती है। अगर नाक में जमाव की समस्या एक हफ्ते से ज़्यादा हो रही है तो यह साइनस, शुष्क हवा, शरीर में हार्मोनल परिवर्तन, बुखार, अस्थमा, गर्भावस्था, तनाव, थायराइड विकार और अत्यधिक तंबाकू या धुएं के कारण हो सकता है। इसके अलावा सामान्य नाक में जमाव की समस्या पॉलिप्स या ट्यूमर के कारण भी हो सकती है। नाक में जमाव के सामान्य लक्षण जैसे साइनस दर्द, बलगम बनना, नाक के उत्तकों में सूजन, आँखों से पानी निकलना, भारी आवाज़ निकलना और हल्का दर्द आदि शामिल हैं।

(और पढ़ें - प्रेग्नेंट होने के उपाय)

बंद नाक बेहद कष्टदायी होती है और यह बच्चों के लिए ज़्यादा असहज होती है। ज़रूरी है कि इसका इलाज जल्द से जल्द कर लिया जाए क्योंकि इससे कान का संक्रमण, नींद न आना जैसी समयायें हो सकती हैं। जमाव को साफ़ करने के लिए कई तरीके मौजूद हैं। और वो तरीके कही और नहीं आपको अपने घर में ही मिल जाएंगे।

तो आज हम आपको नाम में जमाव को दूर करने के कुछ घरेलू उपाय बताने वाले हैं जिनके इस्तेमाल से आप चेन की नींद सो पाएंगे।

  1. बंद नाक खोलने का नुस्खा है सेब का सिरका - Band naak ke liye kare apple vinegar ka upyog in Hindi
  2. बंद नाक खोलने का उपाय है भाप - Band naak kholne ka nuskha hain steam in Hindi
  3. बंद नाक खोलने के तरीके में करे गर्म सेक - Band naak kholne ka tarika hai hot compress in Hindi
  4. बंद नाक से छुटकारा दिलाता है लहसुन - Band naak ke gharelu upay me kare garlic ka upyog in Hindi
  5. बंद नाक खोलने का घरेलू उपाय है जल नेती - Naak band hone ka tarika hai jal neti in Hindi
  6. नाक बंद होने पर करना चाहिए लाल मिर्च का उपयोग - Band naak ka gharelu nuskha hai cayenne pepper in Hindi
  7. बंद नाक को खोलने के उपाय है वेपर रब - Naak band hone par upay kare vapor rub se in Hindi
  8. नाक खोलने का तरीका है नीलगीरी तेल - Naak band hone par kare eucalyptus oil ka upyog in Hindi
  9. बंद नाक खोलने का घरेलू नुस्खा है अदरक - Band naak ko khola jaye ginger se in Hindi
  10. बंद नाक को खोलने के उपाय में करे टमाटर सूप का उपयोग - Band naak ko kholne ka upay hai tomato soup in Hindi
  11. नाक बंद होने पर घरेलू उपाय करें हल्दी से - Naak band hone par kare turmeric ka upyog in Hindi
  12. बंद नाक को खोलने के लिए टिप्स - Band naak ko khole ke liye tips in Hindib

सबसे पहले, इसकी उच्च पोटेशियम सामग्री बलगम को पतला करने में मदद करती है। साथ ही, इसमें एसिटिक एसिड बैक्टीरिया के विकास को रोकता है और नाक खोलने की प्रक्रिया को तेज़ करता है

(और पढ़ें - बलगम का उपचार)

इसे बनाने और लगाने का तरीका - 

  • कच्चे, अनफ़िल्टर्ड सेब के सिरके के 2 बड़े चम्मच और कच्चे शहद का 1 बड़ा चम्मच एक कप गर्म पानी में मिलाएं। इस टॉनिक को दिन में दो बार पिएं।
  •  एक साथ आधा कप कच्चे, अनफ़िल्टर्ड सेब के सिरके और पानी को मिक्स करें। इस मिश्रण को उबलने दें, फिर स्टोव से हटा दें।
  • अपने सिर पर एक तौलिया रख दें और अपने मुंह और आंखें बंद कर 3 से 5 मिनट के लिए भाप लें। एक दिन में इसे कई बार दोहराएँ।

(और पढ़ें - सेब के सिरके का उपयोग)

भाप लेना बंद नाक को खोलने का बहुत ही अच्छा तरीका माना जाता है। यह भी उन्हें नम रखने से साइनस में सूजित रक्त वाहिकाओं को नम कर उन्हें राहत देता है।

(और पढ़ें - भाप लेने के फायदे)

इसे इस्तेमाल करने का तरीका - 

  • पानी के साथ एक पैन भरें, यह गर्म करें जब तक पानी उबाल नहीं जाता, फिर गैस बंद कर दें।
  • आप चाहें तो गर्म पानी में पुदीने या नीलगिरी के तेल की कुछ बूँदें भी डाल सकते हैं।
  • अपने सिर पर एक तौलिया रख दें और पैन की ओर झुकें ताकि कोई भाप ना निकल जाए।
  • धीरे धीरे अंदर साँस लें और बाहर छोड़ें, कुछ मिनट के लिए ऐसा करें।
  • यह 2 से 4 बार एक दिन में करें।

ध्यान दें - यह उपाय 12 साल से कम आयु के बच्चों, गर्भवती महिलाओं और हाई बीपी, दिल की बीमारी या एक केंद्रीय तंत्रिका तंत्र विकार से पीड़ित लोगों के लिए उपयुक्त नहीं है।

एक गर्म सेक करना एक अच्छा तरीका है बलगम को पतला करने का ताकि वह आराम से नाक से निकलने लगे। इस सेक से गर्मी भी किसी भी दर्द से आराम प्रदान करती है और नाक में सूजन से राहत देती है।

(और पढ़ें - सूजन दूर करने के उपाय)

इसे इस्तेमाल करने का तरीका - 

  • गर्म पानी की एक कटोरी में एक तौलिया भिगो लें।
  • तौलिया से अतिरिक्त पानी निचोड़ लें।
  • इसे फोल्ड करके अपनी नाक और माथे पर रखें।
  • जितनी बार आवश्यक हो, यह दोहराएँ।

(और पढ़ें - गर्म पानी के फायदे)

लहसुन में बंद नाक को खोलने के गुण हैं। यह सूजन को कम और प्रतिरक्षा प्रणाली को मज़बूत करने में भी मदद करता है जिससे बंद नाक खुलती है और संक्रमण पर विजय मिलती है। 

(और पढ़ें - इम्यून सिस्टम मजबूत करने के उपाय)

इसे बनाने और लगाने का तरीका - 

  • एक कप पानी को उबालें। उबलते पानी में 2 से 4 लहसुन की कलियाँ डालें और उन्हें 2 से 3 मिनट के लिए उबलने दें।
  • फिर, हल्दी पाउडर का आधा चम्मच डालें और इसे अच्छे से हिला लें।
  • आप इसमें थोड़ा सा काली मिर्च पाउडर भी डाल सकते हैं। इस सूप को 1 या 2 बार दैनिक पिएं।
  • वैकल्पिक रूप से, 3 से 5 लहसुन की कलियों का पेस्ट बना कर इसमें कच्चे शहद के 2 छोटे चम्मच मिलाएं और इसे 2 या 3 बार एक दिन में लें।
  • अपना खाना पकाते समय ताजा लहसुन की कलियाँ मिलाने से भी घुटन और बेचैनी से राहत मिलती है।

(और पढ़ें - लहसुन के फायदे)

जल नेती क्रिया का उपयोग करने से नाक के अंदर भरी बलगम और बैक्टीरिया साफ हो जाते हैं। नाक सिंचाई बलगम को बाहर निकालने में मदद करती है। इस प्रकार इससे नासिका और साइनस ब्लॉकेज(रुकावट) खत्म हो जाती है।

कनाडा के मेडिकल एसोसिएशन 2016 के जर्नल में प्रकाशित अध्ययन के अनुसार भाप लेने के बजाए, जल नेती क्रिया क्रोनिक साइनस लोगों के लिए अधिक सुरक्षित और प्रभावी रही है।

(और पढ़ें - जल नेति से लाभ)

इसे इस्तेमाल करने का तरीका - 

  • हल्के गर्म पानी में 3 चम्मच नमक और 1 चम्मच बेकिंग सोडा को मिलाएं और नेती के बर्तन में भर लें।
  • अब नाक के एक छेद में नली से पानी डालें। अगर आपको सर्दी हो रही है तो जो छेद बंद हो उसमें पहले डालें।
  • धीरे-धीरे पानी डालें और लंबी सांस न लें।
  • यह पानी नाक के दूसरे छेद से निकलना चाहिए और मुंह खुला रखें।
  • अब इस प्रक्रिया को नाक के दूसरे छेद से करें।
  • दोनों छेद से यह प्रक्रिया करने के बाद सीधे खड़े हो जाएं।
  • गहरी सांस लें और फिर जल्दी-जल्दी कई बार सांस छोड़ें।
  • दिन में एक या दो बार इस उपाय का प्रयोग करें।

लाल मिर्च नाक के जमाव और साइनस के लिए बेहद प्रभावी होती है। इसमें मौजूद कैप्साइसिन प्राकृतिक डिकंजेस्टेन्ट की तरह काम करता है और नाक की नालियों की सूजन को दूर करता है। इसके अलावा लाल मिर्च का तेज़ प्रभाव साइनस में मौजूद बलगम और एलर्जी से छुटकारा दिलाने में मदद करता है। इससे आपकी नाक खुलने में मदद मिलेगी।

(और पढ़ें - एलर्जी से बचने के उपाय)

लाल मिर्च का इस्तेमाक दो तरीकों से करें -

पहला तरीका -

  • एक चम्मच शहद में एक या आधा चम्मच लाल मिर्च पाउडर को मिला लें।
  • फिर इस मिश्रण को अच्छे से मिलाकर खा लें।
  • आप इस मिश्रण को पूरे दिन में कई बार खा सकते हैं।

दूसरा तरीका -

  • इसके अलावा आप एक रूई लें और लाल मिर्च के पाउडर में उसे हल्का सा मिला दें।
  • फिर अपनी नाक में उस रूई को रख लें इससे आपको छीके आएंगी और जमाव को भी खुलने में आसानी होगी।
  • इससे आपको जलन हो सकती है लेकिन ये समस्या जल्दी गायब हो जाएगी और साइनस के प्रेशर और दर्द से भी राहत मिलेगी।
  • इस प्रक्रिया को पूरे दिन में दो या तीन बार ज़रूर करें।
(और पढ़ें - लाल मिर्च के फायदे और नुकसान)

विक्स वेपोरब आपको दूकान से आसानी से मिल सकती है। इसके इस्तेमाल से आपको बंद नाक से बहुत जल्द राहत मिलती है। विक्स में मौजूद कपूर, नीलगिरी तेल और मेंथोल जमाव को साफ़ करते हैं जिससे कि सांस लेने में आसानी होती है।

(और पढ़ें - विक्स वेपोरब के फायदे)

विक्स वेपोरब का इस्तेमाल दो तरीको से करें -

पहला तरीका -

रात को सोने से पहले विक्स को छाती, पीठ और गर्दन पर लगा लें जिससे आपको रात में सोने में कोई परेशानी न हो।

दूसरा तरीका -

  • इसके अलावा एक बर्तन में पानी गर्म करें।
  • अब गैस को बंद करदें और उसमे कुछ मात्रा में विक्स डालें।
  • अब एक तौलिया लें और अपने सिर को ढक लें।
  • फिर गहरी सांस लेते हुए भाप लें और अपनी आँखों को बंद कर लें।
  • इस प्रक्रिया को कुछ मिनट तक करें और तब तब करें जब तक ज़रूरत हो।
नोट - दो साल के कम उम्र के बच्चो पर विक्स वेपोरब का इस्तेमाल न करें। इसके साथ ही 12 साल से कम उम्र के बच्चो को भाप लेने का उपाय न करवाएं।

नीलगिरी का तेल नाक में जमाव की समस्या के लिए बेहद लाभदायक होता है। इसमें सूजनरोधी और डिकंजेस्टेन्ट के गुण मौजूद होते हैं। ये बलगम को निकालता है और प्राकृतिक कफ सप्प्रेसेंट्स की तरह काम करता है।

(और पढ़ें - कफ निकालने के उपाय)

नीलगिरी तेल का इस्तेमाल तीन तरीकों से करें -

पहला तरीका -

  • एक बर्तन में गर्म पानी करें और उसमे तीन से पांच बूँदें नीलगिरी तेल की डालें।
  • अब एक तौलिया लें और उसे सिर पर ढक लें और दो मिनट तक धीरे धीरे भाप लें।
  • जब भी भाप लें तो अपनी आँखों को बंद कर लें।
  • पूरे दिन में इस प्रक्रिया को दो बार करें।

दूसरा तरीका -

  • अपने रुमाल में 1 या 2 नीलगिरी तेल की बूँदें डालें।
  • उसे धीरे धीरे पूरे दिन सूंघें।
  • इसके अलावा आप अपने तकिये पर भी नीलगिरी तेल की बूँदें डाल सकते हैं जिससे आपको रात में किसी तरह की परेशानी न हो।

तीसरा तरीका -

  • इसके अलावा आप अपने नहाने के पानी में भी कुछ बूँदें नीलगिरी तेल की मिला सकते हैं।

(और पढ़ें - नीलगिरी तेल के फायदे और नुकसान)

अदरक एक और प्रभावी उपाय है जो नाक के जमाव को दूर करता है। इसके एंटीऑक्सीडेंट गुण बलगम के स्राव को रोकते हैं।

अदरक का इस्तेमाल दो तरीको से करें -

पहला तरीका -

  • रोज़ाना दो से तीन कप गर्म अदरक की चाय पियें।
  • चाय बनाने के लिए दो कप पानी को उबालें और उसमे एक चम्मच अदरक के टुकड़े डालें।
  • पांच से दस मिनट के लिए इसे उबलते रहने दें।
  • अब इसके बाद मिश्रण को छान लें और इसमें नींबू का जूस और कुछ मात्रा में शहद डालें।
  • अच्छे से मिलाने के बाद मिश्रण को पी जाएँ।

(और पढ़ें - अदरक की चाय बनाने की विधि)

दूसरा तरीका -

  • पूरे दिन में कई बार अदरक के टुकड़ें में नमक मिलाकर चबाएं इससे बंद नाक और कफ से आराम मिलेगा।

तीसरा तरीका -

  • इसके अलावा आप अदरक की मीठी गोलियां भी ले सकते हैं।
  • यह आपको आसानी से मार्केट में उपलब्ध हो जाएंगी।
(और पढ़ें - अदरक के फायदे)

टमाटर का सूप नाक के जमाव से छुटकारा दिलाने में बेहद ही प्रभावी उपाय है। इससे बलगम का प्रवाह बेहतर बनाने में मदद मिलेगी। इसमें टमाटर का जूस, लहसुन और नींबू का मिश्रण होता है। टमाटर का सूप प्रतिरोधक क्षमता के लिए बेहद लाभदायक होता है।

टमाटर सूप का इस्तेमाल कैसे करें -

  • एक कप टमाटर के जूस को उबालें और उसमे दो लहसुन की फांकें, दो से तीन चम्मच नींबू का जूस, आधा चम्मच हॉट सॉस (अगर आपके पास हॉट सॉस नहीं है तो आधा चम्मच लाल मिर्च भी मिला सकते हैं) और चुटकीभर नमक मिला लें।
  • अब इस सूप को आराम आराम से पूरे दिन में दो बार ज़रूर पियें।
  • जब भी आप अपना खाना बनाएं तो उसमे अदरक, लहसुन, प्याज और लाल मिर्च को ज़रूर मिलाएं क्योंकि ये सभी खाद्य पदार्थ तीखे होते हैं जो आपके नाक के जमाव को कम करने में मदद करते हैं। आप चिकन सूप भी बना सकते हैं।
(और पढ़ें - टमाटर के फायदे)

हल्दी एक मजबूत एंटीऑक्सीडेंट, सूजनरोधी और जीवाणुरोधी की तरह काम करती है। यह नाक में जमाव की समस्या के लिए बेहद प्रभावी होती है। हल्दी में मौजूद करक्यूमिन नाक की नसों की सूजन को कम करने मदद करता है जिससे आपको लक्षणों से जल्द राहत मिलती है। इसके अलावा यह आपकी प्रतिरक्षा प्रणाली को भी बढ़ाता है।

हल्दी का इस्तेमाल दो तरीकों से करें -

पहला तरीका -

  • एक ग्लास दूध को गर्म कर लें।
  • अब उसमे एक चम्मच हल्दी को मिलाएं और उसे पांच मिनट के लिए उबलते रहने दें।
  • अब इस मिश्रण को एक कप में डाल लें और फिर इसमें शहद मिला लें।
  • अच्छे से मिलाने के बाद इस मिश्रण को पूरे दिन में दो बार ज़रूर पियें।

दूसरा तरीका -

  • इसके अलावा दो चम्मच हल्दी पाउडर का जूस, एक चम्मच नींबू का जूस, शहद और चुटकीभर लाल मिर्च मिला लें।
  • एक साथ अच्छे से मिलाने के बाद एक और दो चम्मच इस मिश्रण को रोज़ाना पियें।
(और पढ़ें - हल्दी के फायदे)

बंंद नाक से छुटकारा पाने के लिए ज़रूरी सुझाव इस प्रकार हैं -  

  • ज़्यादा से ज़्यादा पानी पियें जिससे कि बलगम को निकालने में मदद मिले और शरीर भी हाइड्रेटेड रहे। (और पढ़ें - पानी की कमी का इलाज)
  • घर का बना चिकन सूप पिए।
  • सूजन से लड़ने के लिए ओमेगा-3 फैटी एसिड से बने खाद्य पदार्थ खाएं।
  • अपनी प्रतिरक्षा प्रणाली को बढ़ावा देने के लिए विटामिन सी का सेवन ज़्यादा से ज़्याद करें।
  • एक्यूप्रेशर और खुद से मसाज करने से जुडी समस्या को कम करने में मदद मिलेगी।
  • नाक पर गर्म कपडे से सिकाई करने से आपकी नाक खुलेगी और जमाव को भी निकलने में आसानी होगी।
  • अपने शरीर को जल्दी से ठीक करने के लिए कुछ दिनों तक घर पर आराम करें।
  • अपने घर के अंदर पर्याप्त नमी बनाए रखें।
  • संभावित एलर्जी से दूर रहें जो कि आपकी स्थिति और भी ज़्यादा बढ़ा सकती हैं।
  • बलगम को ठीक करने के लिए कुछ खाद्य पदार्थों से दूर रहें जैसे डेयरी उत्पादअनाज, चीनी, आलू और अन्य स्टार्च रूट की सब्जियां।
  • जमाव को दूर करने के लिए रोज़ाना व्यायाम करें।

(और पढ़ें - व्यायाम करने का सही समय)

और पढ़ें ...

References

  1. Robert M Naclerio, Claus Bachert and James N Baraniuk. Pathophysiology of nasal congestion. 2010; 3: 47–57. PMID: 20463823
  2. InformedHealth.org [Internet]. Cologne, Germany: Institute for Quality and Efficiency in Health Care (IQWiG); 2006. Common colds: Relief for a stuffy nose, cough and sore throat. 2006 Feb 14 [Updated 2017 Oct 5].
  3. Eccles R. Menthol: effects on nasal sensation of airflow and the drive to breathe.. 2003 May;3(3):210-4. PMID: 12662469
  4. Josling P. Preventing the common cold with a garlic supplement: a double-blind, placebo-controlled survey.. 2001 Jul-Aug;18(4):189-93. PMID: 11697022
  5. Richard Nahas, Agneta Balla. Complementary and alternative medicine for prevention and treatment of the common cold. 2011 Jan; 57(1): 31–36. PMID: 21322286
  6. Little P, Stuart B, Mullee M, Thomas T, Johnson S, Leydon G, Rabago D, Richards-Hall S, Williamson I, Yao G, Raftery J, Zhu S, Moore M; SNIFS Study Team. Effectiveness of steam inhalation and nasal irrigation for chronic or recurrent sinus symptoms in primary care: a pragmatic randomized controlled trial. 2016 Sep 20;188(13):940-949. PMID: 27431306
  7. Rabago D, Zgierska A. Saline Nasal Irrigation for Upper Respiratory Conditions.2009 Nov 15;80(10):1117-9. PubMed PMID: 19904896
  8. Tungsukruthai P, Nootim P, Worakunphanich W, Tabtong N. Efficacy and safety of herbal steam bath in allergic rhinitis: a randomized controlled trial.. 2018 Jan;16(1):39-44. PMID: 29397091