myUpchar प्लस+ के साथ पूरेे परिवार के हेल्थ खर्च पर भारी बचत

सेरोटोनिन, मस्तिष्क का एक जरूरी कैमिकल है जो मूड को अच्छा रखने में मदद करता है और डिप्रेशन या अच्छा महसूस न होने की समस्या को रखता है। सेरोटोनिन के स्तर को बढ़ाने के लिए कई कैमिकल तरीके हैं, लेकिन कुछ प्राकृतिक उपाय भी हैं जिनकी मदद से आप सेरोटोनिन का स्तर बढ़ा सकते हैं। हमने निम्नलिखित कुछ प्राकृतिक तरीके बताये हैं जो आपके सेरोटोनिन के स्तर को उत्तेजित करेंगे। इस तरह आप खुश रहेंगे और ऊर्जा से भरपूर भी महसूस करेंगे। 

तो आइये आपको बताते हैं सेरोटोनिन बढ़ाने के उपाय –

  1. सेरिटोनिन क्या आहार से मिलता है - Serotonin kya aahar se milta hai
  2. सेरोटोनिन को बढाने के लिए आहार - Serotonin ko badhane ke liye aahar
  3. सेरोटोनिन के उपाय - Serotonin ke upay

आम अवधारणा तो यह है कि ट्रीप्टोफन से समृद्ध आहार खाने से सेरोटोनिन का स्तर बढ़ता है। लेकिन क्या यह सच है?

सेरोटोनिन आहार में नहीं मिलता, लेकिन ट्रीप्टोफन आहार में पाया जाता है। आहार जो प्रोटीन, आयरन, विटामिन बी2 और विटामिन बी6 से समृद्ध हैं उनमें एमिनो एसिड की मात्रा बहुत अधिक होती है। जबकि उच्च ट्रीप्टोफन खाद्य पदार्थ खुद सेरोटोनिन का स्तर नहीं बढ़ाते। कार्बोहाइड्रेट ट्रीप्टोफन का स्तर बढाने में मदद करता है।  

कार्बोहाइड्रेट शरीर में अधिक इन्सुलिन को जारी करने का कारण बनता है, जिससे एमिनो एसिड का अवशोषण बढ़ता है और रक्त में ट्रीप्टोफन को छोड़ देता है। अगर आप उच्च ट्रीप्टोफन खाद्य पदार्थ के साथ कार्बोहाइड्रेट मिलाते हैं, तो सेरोटोनिन बढ़ सकता है।

सेरोटोनिन बढ़ाने के लिए अंडा खाएं - Serotonin badhane ke liye anda khaye

हाल में किये गए शोध के अनुसार, अंडे में मौजूद प्रोटीन ट्रीप्टोफन का स्तर बढ़ा सकता है। अंडा बनाने से पहले कभी जर्दी को अलग न करें। यह ट्रीप्टोफन और टायरोसिन, कोलिन, बायोटिन, ओमेगा3 फैटी एसिड से समृद्ध होता है। अंडे में मौजूद अन्य पोषक तत्व स्वास्थ्य के लिए लाभदायक होते हैं और इसमें एंटीऑक्सीडेंट्स के भी गुण होते हैं।

(और पढ़ें - अंडे के फायदे)

सेरोटोनिन को बढ़ाने में चीज का सेवन करें - Serotonin ko badhane me cheese ka sewan kare

चीज ट्रीप्टोफन का एक और बेहतरीन स्रोत है। ट्रीप्टोफन पाने के लिए, आप लजीज़ मैक्रोनी बना सकते हैं जिसमें चेद्दर चीज (cheddar cheese) के साथ अंडा और दूध हो। यह ट्रीप्टोफन का एक अच्छा स्रोत है।

(और पढ़ें - चीज खाने के फायदे)

सेरोटोनिन बढ़ाने में अनानास फायदेमंद होता है - Serotonin badhane me ananas faydemand hota hai

अनानास ब्रोमेलैन (bromelain) का एक बड़ा स्रोत है। एक ऐसा प्रोटीन जो कीमोथेरेपी से होने वाले नुकसान को कम करता है, साथ ही कफ की समस्या को भी खत्म करता है। स्वादिष्ट पीना कोलाडा (piña colada) चिकन रेसिपी के लिए आप अनानास और नारियल के साथ चिकन को मिला सकते हैं।

(और पढ़ें - अनानास के फायदे)

सेरोटोनिन के लिए टोफू लाभदायक है - Serotonin ke liye tofu labhdayak hai

सोया उत्पाद ट्रीप्टोफन का एक बेहतरीन स्रोत है। आप टोफू को किसी भी प्रोटीन आहार के साथ मिला सकते हैं या किसी भी रेसिपी के साथ मिला सकते हैं। यह ट्रीप्टोफन का बहुत अच्छा स्रोत है। कुछ टोफू कैल्शियम से समृद्ध होते हैं, जिससे आपके शरीर में कैल्शियम की मात्रा बढ़ती है। 

सूखे मेवे और बीज से सेरोटोनिन को बढ़ाएं - Sookhe meve aur beej se serotonin ko badhaye

आप कोई भी अपना पसंदीदा ड्राई फ्रूट चुन सकते हैं, क्योंकि सभी नट्स और बीज में ट्रीप्टोफन होता है। अध्ययन से पता चला है कि पूरे दिन में एक बार मुट्ठीभर नट्स खाने से कैंसर, ह्रदय की बीमारी और श्वसन समस्याओं का जोखिम कम हो जाता है। ड्राई फ्रूट्स फाइबर, विटामिन और एंटीऑक्सीडेंट्स के भी अच्छे स्रोत होते हैं। 

(और पढ़ें - बीज और सूखे मेवे के फायदे)

सेरोटोनिन बढ़ाने के लिए रोजाना व्यायाम करें - Serotonin badhane ke liye rojana vyayam kare

व्यायाम सेरोटोनिन के स्तर को बढ़ाने का बहुत अच्छा तरीका है। एक्ससरसाइज करने से ट्रीप्टोफन का स्तर बढ़ता है। एक्ससरसाइज खत्म होने के बाद भी ट्रीप्टोफन शरीर में बना रहता है।

जितना आपको सही लगे उतनी ही गति से वर्कआउट करें। लगातार सेरोटोनिन जारी होने का कारण एक्ससरसाइज होती है। जिससे लोग अच्छा महसूस करते हैं। अगर आपको रोजाना व्यायाम करने का समय नहीं मिलता है तो, कोशिश करें आधे घंटे से एक घंटे तक पूरे दिन में एक बार जरूर चलें। ये मध्यम व्यायाम (moderate exercise) आपकी कैलोरी बर्न करने में मदद करेगा और ट्रिप्टोफिन के स्तर को उत्तेजित करेगा। इस तरह आपका सेरोटोनिन बढ़ने लगेगा।

सेरोटोनिन हार्मोन बढ़ाने के उपाय में पर्याप्त रौशनी में रहें - Serotonin hormone badhane ke upay me paryapt roshani me rahe

रौशनी सेरोटोनिन सिंथेसिस (किसी एक संयुक्त घटक या तत्व को बनाने के लिए दो तत्वों या घटकों के संयोजन की प्रक्रिया को सिंथेसिस कहते हैं) में मदद करती है। रिसर्च से पता चला है कि सेरोटोनिन सिंथेसिस और दिन के दौरान सूरज की रौशनी के कुल घंटों के बीच सकारात्मक पारस्परिक संबंध देखा जाता है। मनुष्य के पोस्टमॉर्टेम में, सेरोटोनिन का स्तर सर्दियों के महीने के बजाए गर्मियों के महीने में अधिक हो जाता है।

रात में आर्टिफिशियल रौशनी के बजाए दिन में प्राकृतिक रौशनी का मज़ा लें। प्राकृतिक दिन की रौशनी आपके सेरोटोनिन के लिए अच्छी होती है बजाए आर्टिफिशयल LED, फ्लुरोसेंट या अल्ट्रावॉयलेट रौशनी के। आर्टिफिशल रौशनी लेने से, खासकर रात में, मेलाटोनिन का उत्पादन रुक जाता है और मेलाटोनिन का उत्पादन आपको एक अच्छी नींद देने में मदद करता है।

सेरोटोनिन बढाने में मसाज करे मदद - Serotonin badhane me massage kare madad

कई अध्ययन बताते हैं कि मसाज थेरेपी स्ट्रेस हॉर्मोन कोर्टिसोल को कम करने में मदद करती है, जिससे सेरोटोनिन का स्तर उत्तेजित होता है और डोपामाइन भी बढ़ता है।

(और पढ़ें - मसाज का अर्थ, प्रकार, लाभ)

 

सेरोटोनिन बढाने के लिए सकरात्मक चीजें सोचें - Serotonin badhane ke liye sakratmak cheeje soche

रिसर्च कहती है कि रोजाना अच्छे या खुशमिजाज लोगों से मिलना आपके सेरोटोनिन के स्तर को बढ़ाने में मदद करता है। लम्बे समय तक तनाव आपके सेरोटोनिन के स्तर को कम कर देता है। गंभीर तनाव आपके शरीर की क्षमता को प्रभावित करता है और सेरोटोनिन के उत्पादन को रोकता है। इसका मतलब है कि आपको तनावपूर्ण स्थितियों से जितना दूर हो सके उतना दूर रहना चाहिए और स्वस्थ तरीकों से तनाव से लड़ना चाहिए।

तनाव को दूर करने के लिए आप निम्लिखित चीजों को अपनी जीवनशैली में जोड़ सकते हैं -

सेरोटोनिन हार्मोन बढ़ाने के लिए खुश रहने की कोशिश करें - Serotonin hormone badhane ke liye khush rehne ki koshsih kare

वैसे यह सुनकर थोड़ा अजीब लग सकता है कि खुश रहना सेरोटोनिन के स्तर को बढ़ाने के लिए काफी है। इससे सेरोटोनिन का स्तर बढ़ता है और जब आप खुश नहीं होते तब भी आपका मूड सही रखता है। अगर आप खुश नहीं हैं तो अपने दोस्तों या परिवार वालों से बात करें या फिर अपने अच्छे दिनों के बारे में सोचें।

और पढ़ें ...