myUpchar प्लस+ सदस्य बनें और करें पूरे परिवार के स्वास्थ्य खर्च पर भारी बचत,केवल Rs 99 में -

मेथम्फेटामाइन एक तरह का एम्फेटामाइन है। एम्फेटामाइन, जिसमें मेथम्फेटामाइन भी शामिल है, ये स्टिमुलेंट ड्रग है जो कि केंद्रीय तंत्रिका तंत्र पर प्रभाव डालती है। इसे “मेथ” के नाम से भी जाना जाता है, जो सबसे अधिक दुरूपयोग होने वाली दवा है। इसे सूंघ कर, धूम्रपान से और नस में इंजेक्शन से लिया जा सकता है। यह ड्रग थोड़े समय के लिए उमंग की भावना पैदा कर देती है, जिसमें व्यक्ति को बेहद खुशी और अच्छा महसूस होता है। इससे प्रभावित व्यक्ति को इसे बार-बार प्रयोग करने की तीव्र इच्छा जागृत होती रहती है और व्यक्ति को इसकी लत लग जाती है। मेथम्फेटामाइन से शरीर में ऊर्जा और आत्मविश्वास तीव्रता से बढ़ने लगता है। इससे व्यक्ति को बहुत अधिक गुस्सा भी आ सकता है, यह ड्रग लेने से व्यक्ति की प्रवृत्ति हिंसात्मक भी हो सकती है।

मेथम्फेटामाइन मुख्य रूप से डोपामाइन नामक प्राकृतिक रसायन की मात्रा को बढ़ाकर तंत्रिका तंत्र को उत्तेजित करता है। डोपामाइन प्रेरणा और खुशी जैसी भावनाओं से जुड़ा होता है। इसके खुशी देने वाले प्रभाव एक व्यक्ति को इसका बार-बार प्रयोग करने के लिए उत्तेजित करते हैं। इस पदार्थ का लगातार प्रयोग करने से इसके नकारात्मक प्रभाव पड़ सकते हैं, जो कि गंभीर स्वास्थ्य प्रभावों से जुड़े होते हैं जैसे मानसिक रोगियों की तरह व्यावहार करना, याददाश्त खोना और संभावित रूप से हृदय व मस्तिष्क क्षतिग्रस्त होना।

मेथम्फेटामाइन कभी-कभी डॉक्टरों द्वारा थोड़ी मात्रा में एडीएचडी और नार्कोलेप्सी (अत्यधिक नींद आना) को नियंत्रित करने के लिए दी जाती है। हालांकि, डॉक्टर द्वारा सुझाई गई मात्रा नशे के लिए प्रयोग में लाइ जाने वाली मात्रा से बहुत कम होती है।

एमईटी ब्लड टेस्ट आपके रक्त में इस ड्रग की मात्रा की पहचान करता है।

  1. एमईटी ब्लड टेस्ट क्यों किया जाता है - Methamphetamine blood test Kyu Kiya Jata Hai
  2. एमईटी ब्लड टेस्ट से पहले - Methamphetamine blood test Se Pahle
  3. एमईटी ब्लड टेस्ट के दौरान - Methamphetamine blood test Ke Dauran
  4. एमईटी ब्लड टेस्ट के परिणाम का क्या मतलब है - Methamphetamine blood test Ke Parinam Ka Kya Matlab Hai

यदि आपके शरीर में मेथम्फेटामाइन की अत्यधिक खुराक लेने या इससे नशा करने से जुड़े लक्षण दिखाई देते हैं तो डॉक्टर इस ब्लड टेस्ट को करने के लिए कह सकते हैं। ऐसा इसलिए क्योंकि ब्लड टेस्ट सबसे सटीक टेस्टिंग मेथड है। ओवरडोज के निम्न लक्षण दिखाई दे सकते हैं - 

इसके अलावा कुछ जगहों पर नौकरी देने से पहले भी यह टेस्ट किया जाता है। ऐसा इसलिए किया जाता है, ताकि यह जाना जा सके कि व्यक्ति नशा करता है या नहीं।

यदि पहले ही नशे की लत का परीक्षण हो चुका है तो यह टेस्ट समय-समय पर ड्रग के प्रयोग की जांच करने के लिए किया जा सकता है।

मेथम्फेटामाइन के लंबे समय से दुरूपयोग के निम्न संकेत होते हैं -

  • गंभीर रूप से वजन गिरना
  • चिंता
  • नींद में समस्या
  • पैरानोया – अन्य लोगों पर बिलकुल भरोसा नहीं कर पाना
  • मतिभ्रम – ऐसी संवेदनाएं महसूस करना और तस्वीरें देखना जो कि वास्तव में नहीं हैं
  • अत्यधिक खुजली
  • डेंटल समस्याएं जैसे दांतों में सड़न होना

एमईटी ब्लड टेस्ट के लिए कोई विशेष तैयारी करने की जरूरत नहीं है। हालांकि, अगर आप किसी भी तरह की रूटीन दवाएं, विटामिन या सप्लीमेंट ले रहे हैं तो इसके बारे में डॉक्टर को बता दें।

एमईटी टेस्ट के लिए एक ब्लड सैंपल की जरूरत होती है। डॉक्टर या नर्स ब्लड सैंपल लेने के लिए निम्न प्रक्रिया का प्रयोग करेंगे -

  • डॉक्टर आपकी बांह पर इलास्टिक बैंड बांधेंगे। इससे रक्त का प्रवाह धीमा होता है और नसें फूल जाती हैं। बैंड के बंधने से आपको कसाव महसूस हो सकता है।
  • सुई लगने वाली जगह पर एल्कोहॉल या एंटीसेप्टिक सोल्यूशन लगाया जाएगा, ताकि संक्रमण से बचा जा सके।
  • इसके बाद सही नस को ढूंढकर उसमें सुई लगाकर ब्लड सैंपल ले लिया जाएगा। सुई लगी जगह पर आपको चुभन महसूस हो सकती है।
  • सैंपल को सुई से जुड़ी एक छोटी ट्यूब में ले लिया जाएगा। एक बार पर्याप्त रक्त मिल जाने के बाद इलास्टिक बैंड हटा दिया जाएगा और सुई निकाल दी जाएगी।

बहुत से लोगों को इस प्रकिया में बिलकुल दर्द नहीं होता है। हालांकि, इस प्रक्रिया से जुड़ा दर्द हर व्यक्ति को अलग तरह से प्रभावित कर सकता है। यदि आपको सुई से व्याकुलता होती है यो अपने डॉक्टर या नर्स से बात करें।

सामान्य परिणाम - 

मेथम्फेटामाइन के स्तर यदि रक्त में <20 नैनोग्राम/मिलीलीटर (ng/mL) होते हैं तो इन्हे सामान्य माना जाता है।

यदि टेस्ट के परिणाम सामान्य या नेगेटिव हैं तो इसका मतलब है कि आपके रक्त में मेथम्फेटामाइन की कोई मात्रा पाई नहीं गई है।

असामान्य परिणाम -

यदि रक्त में मेथम्फेटामाइन के स्तर >20 नैनोग्राम/मिलीलीटर का मतलब है कि आपके रक्त में यह ड्रग मौजूद है। मेथम्फेटामाइन रक्त में प्रयोग के बाद तीन दिन तक रह सकता है और इस दौरान इसे पहचाना जा सकता है।

मेथम्फेटामाइन शरीर में जाकर एम्फेटेमिन में बदल जाता है। एम्फेटेमिन की संदर्भ वैल्यू जिसमें मेथम्फेटामाइन भी शामिल होता है, निम्न हैं -

  • 0.02-0.05 मिलिग्राम प्रति लीटर (mg/L) और 0.2 मिलिग्राम प्रति लीटर तक थेराप्यूटिक प्रयोग के लिए  (यदि डॉक्टर द्वारा सुझाई जाए)
  • >0.2 mg/L: प्रयोग का संकेत
  • >2.5 mg/L: यह विषाक्तता की तरफ संकेत करता है और गंभीर हो सकता है

कृपया अपने परिणामों की सही जानकारी के लिए और उन्हें ठीक तरह से समझने के लिए डॉक्टर से बातचीत करें।

और पढ़ें ...

संदर्भ

  1. University of Rochester Medical Center [Internet]. Rochester (NY): University of Rochester Medical Center; Amphetamine Screen (Blood)
  2. National Institute on Drug Abuse [internet]. National Institute of Health. Bethesda. Maryland. US; Methamphetamine
  3. National Heart, Lung, and Blood Institute [Internet]. Bethesda (MD): U.S. Department of Health and Human Services; Blood Tests
  4. NSW Users and AIDS Association [Internet]. Surry hills. New. South Wales. Australia; Drug Testing: Frequently Asked Questions
  5. MedlinePlus Medical Encyclopedia [Internet]. US National Library of Medicine. Bethesda. Maryland. USA; Methamphetamine
  6. Huestis MA, Cone EJ. Methamphetamine disposition in oral fluid, plasma, and urine. Ann N Y Acad Sci. 2007;1098:104–121. PMID: 17332086.
ऐप पर पढ़ें
डॉक्टर से अपना सवाल पूछें और 10 मिनट में जवाब पाएँ