myUpchar प्लस+ के साथ पूरेे परिवार के हेल्थ खर्च पर भारी बचत

जीभ के छाले क्या होते हैं?

जीभ के छाले खुले हुए घाव होते हैं जो जीभ की सतह कट जाने पर होते हैं। हालांकि मुंह में कई जगहों पर इस प्रकार के घाव हो सकते हैं, जीभ के छाले आम तौर पर जीभ के नीचे या किनारों पर विकसित होते हैं। ये आमतौर पर 40 से कम उम्र के वयस्कों और किशोरों को होते हैं। अधिकांश छाले, नासूर होते हैं।

(और पढ़ें - मुंह के छालों का इलाज)

जीभ के ऊपर छाले, जहां स्वाद कलिका होती हैं, अक्सर चोट या किसी अंतर्निहित बीमारी के कारण होते हैं। जीभ के छाले आमतौर पर 10 से 14 दिनों के भीतर स्वयं को ठीक हो जाते हैं। ये पीड़ादायक होते हैं और इन्हें उत्तेजित करने से बचने के लिए देखभाल की जानी चाहिए।

(और पढ़ें - मुंह का कैंसर क्यों होता है)

अल्सर का दिखना आम तौर पर परीक्षण करने के लिए आपके डॉक्टर के लिए पर्याप्त होता है, हालांकि यदि अल्सर लंबे समय तक मौजूद रहता है तो ब्लड टेस्ट और बायोप्सी जैसे अतिरिक्त परीक्षणों की आवश्यकता हो सकती है। मुँह को स्वच्छ रखें, गर्म मसालेदार भोजन से बचें, और जीभ के छाले रोकने के लिए धूम्रपान और शराब से बचें।

(और पढ़ें - पर्सनल हाइजीन से संबंधित गलत आदतें)

दर्द निवारक दवाएं और घरेलू उपचार असुविधा को कम करने और जीभ के छालों के उपचार में उपयोगी हो सकते हैं। जीभ के छाले आमतौर पर हानिकारक नहीं होते और कुछ दिनों में अपने आप ठीक हो जाते हैं। हालांकि यदि आपको 2 सप्ताह से अधिक समय तक छाला होता है और आप तंबाकू और शराब का सेवन करते हैं, तो तुरंत डॉक्टर को दिखाएं। 

(और पढ़ें - धूम्रपान करने के नुक्सान)
 

  1. जीभ के छाले के लक्षण - Tongue Ulcers Symptoms in Hindi
  2. जीभ के छाले के कारण और जोखिम कारक - Tongue Ulcers Causes in Hindi
  3. जीभ के छाले से बचाव - Prevention of Tongue Ulcers in Hindi
  4. जीभ के छाले का परीक्षण - Diagnosis of Tongue Ulcers in Hindi
  5. जीभ के छाले का इलाज - Tongue Ulcers Treatment in Hindi
  6. जीभ के छाले की जटिलताएं - Tongue Ulcers Risks & Complications in Hindi
  7. जीभ के छाले के घरेलू उपाय
  8. जीभ के छाले की दवा - Medicines for Tongue Ulcers in Hindi
  9. जीभ के छाले के डॉक्टर

जीभ के छाले के लक्षण - Tongue Ulcers Symptoms in Hindi

जीभ पर छालों के लक्षण क्या हैं?

जीभ के छालों के लक्षण कारण पर निर्भर करते हैं, लेकिन इसमें निम्न शामिल हो सकते हैं:

  • जीभ के छाले का सबसे स्पष्ट लक्षण खुद घाव ही है। यह गोल या अंडाकार दिखाई देता है, बीच में सफेद या पीला होता है और इसकी सीमा लाल होती है (जिसे मुंह की आसपास की सतह से अलग बताना मुश्किल हो सकता है)।
  • घावों के चारों ओर सूजी हुई त्वचा (और पढ़ें - सूजन कम करने के घरेलू उपाय)
  • जीभ पर हल्का दबाव पड़ने पर भी दर्द होना 
  • जीभ पर दबाव पड़ने पर दर्द होने के कारण चबाने या मंजन में समस्याएं
  • नमकीन, मसालेदार या खट्टे खाद्य पदार्थों द्वारा घावों में जलन (और पढ़ें - मसालेदार खाने के नुकसान)
  • भूख में कमी (और पढ़ें - बच्चों में भूख ना लगने के कारण)

छाला होने से कुछ दिन पहले सिहरन या जलन अनुभव करना सामान्य है। जब छाला हो जाता है, यह और पीड़ा तब देता है जब यह आपके दांत, ब्रेसेस, भोजन या टूथब्रश के संपर्क में आता है।

(और पढ़ें - सीने में जलन के उपाय)

डॉक्टर को कब दिखाएं-

जीभ के छाले के कारण और जोखिम कारक - Tongue Ulcers Causes in Hindi

जीभ पर छाले होने के कारण​ क्या हैं?

जीभ के छाले कई कारणों से हो सकते हैं। कुछ कारण निम्नलिखित हैं:

  • ट्रॉमा: गलती से अपनी जीभ कटने, गर्म भोजन खाने, अनुचित ब्रशिंग, कठोर खाद्य चबाने और खराब तरीके से लगे ब्रेसेस से चोट लग सकती है। एक टेढ़े मेढ़े दांत से आपकी जीभ कट सकती है और छाला हो सकता है। (और पढ़ें - दांत दर्द के घरेलू उपाय)
  • तनाव: तनाव शरीर में ऐसे हार्मोन का संचार करता है जो पूरे शरीर को प्रभावित करता है और जीभ पर छाले को भी ट्रिगर करता है। (और पढ़ें - तनाव दूर करने के घरेलू उपाय)
  • कुछ खाद्य पदार्थ: सिट्रस फलों और सब्जियों जैसे संतरे, नींबू या टमाटर जैसे खाद्य पदार्थों का सेवन जीभ के छाले को ट्रिगर कर सकता है। चॉकलेट, मूंगफली और बादाम खाने से भी छाले हो सकते हैं। विटामिन बी 6 की कमी बार-बार मुंह के छालों का कारण बनती है जिसमें जीभ भी शामिल हो सकती है। (और पढ़ें - विटामिन बी6 के फायदे)
  • धूम्रपान: धूम्रपान जीभ को नुक्सान करता है और घावों का कारण बन सकता है। और धूम्रपान छोड़ने से भी छाले हो सकते हैं। पहली बार धूम्रपान छोड़ने वाले लोगों को भी कुछ समय के लिए जीभ के छाले हो सकते हैं। (और पढ़ें - सिगरेट पीना छोड़ने के घरेलू उपाय)
  • हार्मोनल परिवर्तन: हार्मोनल परिवर्तन आमतौर पर मासिक चक्र के दौरान महिलाओं में अल्सर का कारण बन सकता है। (और पढ़ें - हार्मोन क्या होता है)

कुछ मेडिकल स्थितियां:

  • हर्पीस सिम्प्लेक्स संक्रमण (Herpes simplex infection) जीभ पर दर्दनाक घावों का कारण बन सकता है। जीभ पर दर्दनाक लाल घाव हाथ, पैर और मुंह की बीमारी के मूल लक्षणों में से एक हैं।
  • कुछ टीबी से पीड़ित रोगियों को जीभ पर टीबी अल्सर हो सकता है। (और पढ़ें - टीबी के उपाय)
  • बेहसेट की बीमारी (Behcet’s disease), क्रोन रोग की बीमारी (Crohn’s disease), सेलिएक रोग (celiac disease), पेम्फिगस या वल्गैरिस (pemphigus or vulgaris) जैसी स्थितियां, जीभ सहित मुंह में छालों का कारण बन सकती हैं। (और पढ़ें - सोराइसिस क्या है)
  • प्रतिरक्षा प्रणाली के ठीक से काम न करने और गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल विकारों (gastrointestinal disorders) से पीड़ित कुछ लोगों को भी जीभ के छाले हो सकते हैं। (और पढ़ें - रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के लिए क्या खाएं)
  • कुछ दवाएं: कभी-कभी, दर्दनाशक या बीटा-ब्लॉकर्स जैसी कुछ दवाएं बीमारियों के इलाज के लिए उपयोग की जाती हैं, जिससे जीभ पर छाला हो सकता है। (और पढ़ें - पेट में अल्सर क्या है)
  • मुँह का कैंसर: मुँह के कैंसर से भी जीभ पर छाले हो सकते हैं। अधिकांश मुँह के कैंसर जीभ से शुरू होते हैं। घाव आमतौर पर कैंसर के शुरुआती चरण में दर्द नहीं करते। लेकिन वे आगे के चरणों में असहनीय हो सकते हैं। यदि आपकी जीभ पर लगातार छाले होते हैं तो डॉक्टर से परामर्श लें। (और पढ़ें - मुंह के कैंसर की सर्जरी)

जोखिम कारक -

जीभ के छाले से बचाव - Prevention of Tongue Ulcers in Hindi

जीभ पर छालों से कैसे बचें?

जीभ के छालों से बचने, दोबारा होने और बढ़ने से रोकने के लिए निम्नलिखित उपाय करें:

  • घाव को न छुएं - घाव छूना न केवल उपचार की प्रक्रिया को बाधित करता है, बल्कि इससे संक्रमण भी फैल सकता है। यदि आपको घाव को छूना ही है, तो सुनिश्चित करें कि आप पहले और बाद में अपने हाथ धोएं। 
  • अपने दांतों को साफ करने के लिए एक नरम टूथब्रश का प्रयोग करें - यदि आपके घाव इतने दर्दनाक हैं कि आप अपने दांतों को ब्रश नहीं कर सकते हैं, तो इसके बजाय क्लोरहेक्साइडिन (chlorhexidine) वाले माउथवॉश का उपयोग करें। अल्कोहॉल वाले माउथवॉश का उपयोग करने से बचें। (और पढ़ें - दांतों का पीलापन दूर करने के उपाय)
  • नमक वाला पानी पियें - एक चम्मच नमक को एक कप पानी में मिलाएं, फिर मुंह में लें और अपने मुंह में रखें ताकि यह प्रभावित क्षेत्र को दो मिनट तक ढ़क सके, फिर इसे थूक दें। इसे गटकें न। ये दिन में चार बार दोहराएं। (और पढ़ें - नमक के फायदे)
  • कठोर खाद्य (जो आपके घाव से रगड़ सकता है) से बचें - आपको चॉकलेट, कॉफी, मूंगफली, बादाम, स्ट्रॉबेरी, पनीर और किसी भी नमकीन खाद्य पदार्थ से बचने की कोशिश करनी चाहिए क्योंकि वे मुंह के घावों को बढ़ा सकते हैं।
  • अत्यधिक गर्म खाद्य पदार्थ और पेय से बचें।
  • ठंडा पानी पीने से दर्द को कम करने में मदद मिल सकती है। (और पढ़ें - मटके का पानी पीने के फायदे)
  • यदि आपके मुंह में बहुत दर्द  है, तो स्ट्रॉ के माध्यम से पीना उपयोगी होगा
  • अच्छा खाएं - ऐसे फल और सब्ज़ियां खाएं जिनमें विटामिन सी की मात्रा अधिक हो और अनाज जिसमें विटामिन बी अधिक हो। समुद्री भोजन और आयरन समृद्ध खाद्य पदार्थ, जैसे पत्तेदार हरी सब्जियां भी लाभदायक होती हैं। (और पढ़ें - आयरन के फायदे)
  • आप औषधीय गोलियों जैसे विक्स (lozenges) से भी दर्द या बेचैनी कम कर सकते हैं।
  • यदि आप दर्द में हैं, तो दर्द निवारक दवाओं पर सलाह लें जो आप ले सकते हैं।

जीभ के छाले का परीक्षण - Diagnosis of Tongue Ulcers in Hindi

जीभ के छालों का परीक्षण कैसे होता है?

जीभ के छालों के कारण की पहचान करना महत्वपूर्ण है। डॉक्टर छाले की शुरुआत से संबंधित प्रश्न पूछेंगे और यह कि छाला दर्दनाक है या नहीं। डॉक्टर आपके मुंह में आघात या जलन के किसी भी स्रोत जैसे तेज दांत, दंत कैविटी भरने वाले पदार्थ, नकली दांत या ऑर्थोडोंटिक उपचार के लिए उपयोग किए जाने वाले ब्रेसेस की तलाश करेंगे।

(और पढ़ें - गलतियां जो करती हैं दांतों को खराब)

कुछ परीक्षण निम्नलिखित हैं:

  • शारीरिक परीक्षण - मुंह के छाले उनके कारण के आधार पर अलग दिखते हैं। उदाहरण के लिए, यदि अल्सर बड़ा और पीला है, तो वह आघात के कारण हुआ हो सकता है। मुंह के अंदर असंख्य कोल्ड सोर्स होते हैं और मसूड़ों, जीभ, गले और गाल के अंदर फैलते हैं और यदि साथ ही बुखार हुआ हो तो संभव है कि छाले हर्पीस सिम्प्लेक्स संक्रमण के कारण हुए हैं। (और पढ़ें - जननांग दाद क्या है)
  • खून की जांच - संक्रमण के लक्षणों की जांच करने हेतु (और पढ़ें - सीआरपी ब्लड टेस्ट क्या है)
  • बायोप्सी - छाले से ऊतक का एक छोटा सा टुकड़ा लिया जाता है और एक प्रयोगशाला में जांच की जाती है।

(और पढ़ें - एंडोस्कोपी क्या है)

जीभ के छाले का इलाज - Tongue Ulcers Treatment in Hindi

जीभ पर छालों का इलाज क्या है?

मामूली जीभ के छालों (जो एक या दो सप्ताह में स्वयं ठीक हो जाते हैं) के लिए आमतौर पर उपचार आवश्यक नहीं होता है। लेकिन बड़े, लगातार या असामान्य रूप से दर्दनाक घावों को अक्सर चिकित्सा की आवश्यकता होती है। इसके लिए कई उपचार विकल्प मौजूद हैं।
विकल्प निम्न लिखित हो सकते हैं :

  • छाले ठीक होने तक मसालेदार और खट्टे खाद्य पदार्थों से बचें (और पढ़ें - मसालेदार खाना खाने से होने वाले दर्द के उपाय)
  • अधिक मात्रा में तरल पदार्थ पियें (और पढ़ें - शरीर में पानी की कमी)
  • अपने मुंह को साफ रखें
  • दर्द से राहत दने वाली दवा लें जैसे पेरासिटामोल (और पढ़ें - एड़ी में दर्द के घरेलू उपाय)
  • छालों पर एंटीसेप्टिक जेल लगाएं 
  • एक औषधीय माउथवॉश का प्रयोग करें
  • स्टेरॉयड जैल या टैबलेट का प्रयोग करें
  • शोथरोधी दवा (anti-inflammatory medication) से एफ्थस अल्सर (aphthous ulcer) का इलाज करें
  • एंटी-वायरल दवा द्वारा हर्पीस सिम्प्लेक्स वायरस से होने वाले अल्सर का इलाज करें (और पढ़ें - वायरल इन्फेक्शन क्या है)
  • एंटी-फंगल दवा से नासूर का इलाज करें
  • इम्यूनोसप्रेसेंट दवा भी कभी-कभी आवश्यक होती है।

जीभ के छाले की जटिलताएं - Tongue Ulcers Risks & Complications in Hindi

जटिलताएं 

ज्यादातर मामलों में, जीभ के छाले गंभीर नहीं होते हैं और मुँह को स्वच्छ रख कर या कुछ ओवर-द-काउंटर दवाओं (बिना डॉक्टर के पर्चे के मिलने वाली दवाएं) के साथ इनका इलाज किया जा सकता है।

जिन मामलों में जीभ के छाले संक्रमण से संबंधित हैं, संक्रमण के उपचार से उसका भी समाधान किया जा सकता है।

चूंकि जीभ के छाले गंभीर बीमारियों के कारण हो सकते हैं, इलाज न करने के परिणामस्वरूप गंभीर जटिलताएं और स्थायी क्षति हो सकती है। एक बार अंतर्निहित कारण की पहचान हो जाने के बाद, आपके लिए  डॉक्टर द्वारा बनाई गई योजना का पालन करना महत्वपूर्ण है। 

संभावित जटिलताएं - 

Dr. Suraj Bhagat

Dr. Suraj Bhagat

गैस्ट्रोएंटरोलॉजी

Dr. Smruti Ranjan Mishra

Dr. Smruti Ranjan Mishra

गैस्ट्रोएंटरोलॉजी

Dr. Sankar Narayanan

Dr. Sankar Narayanan

गैस्ट्रोएंटरोलॉजी

जीभ के छाले की दवा - Medicines for Tongue Ulcers in Hindi

जीभ के छाले के लिए बहुत दवाइयां उपलब्ध हैं। नीचे यह सारी दवाइयां दी गयी हैं। लेकिन ध्यान रहे कि डॉक्टर से सलाह किये बिना आप कृपया कोई भी दवाई न लें। बिना डॉक्टर की सलाह से दवाई लेने से आपकी सेहत को गंभीर नुक्सान हो सकता है।

Medicine NamePack SizePrice (Rs.)
OtorexOtorex Drop60
TricortTricort 10 Mg Injection47
ThroatsilTHROATSIL SORE THROAT PAIN RELIEF SPRAY 45ML119
KenacortKenacort 0.1% Oral Paste50
UniwaxUNIWAX EAR DROPS 10ML0
ExsoraExsora Ointment176
TessTess 0.1% Ointment45
TostiTosti Gel56
Soliwax Ear DropSoliwax Ear Drop96
CinortCinort Gel43
TrioplastTrioplast Paste53
Drep WaxDREP WAX EAR DROPS 10ML56
Audisol DropAudisol Drop27
WaxolveWaxolve Ear Drop69

क्या आप या आपके परिवार में किसी को यह बीमारी है? सर्वेक्षण करें और दूसरों की सहायता करें

References

  1. MedlinePlus Medical Encyclopedia: US National Library of Medicine; Mouth ulcers.
  2. Better health channel. Department of Health and Human Services [internet]. State government of Victoria; Mouth ulcers.
  3. Nidirect [Internet]. Government of Northern Ireland; Sore or painful tongue.
  4. National Health Service [Internet]. UK; Sore or white tongue.
  5. National Health Portal [Internet] India; Mouth Ulcers (Stomatitis).
  6. Crispian Scully,Rosemary Shotts. Mouth ulcers and other causes of orofacial soreness and pain. West J Med. 2001 Jun; 174(6): 421–424. PMCID: PMC1071433
और पढ़ें ...