myUpchar प्लस+ सदस्य बनें और करें पूरे परिवार के स्वास्थ्य खर्च पर भारी बचत,केवल Rs 99 में -

दिल्ली के बवाना इलाके से पुलिस ने हाल में 20,000 किलो नकली जीरे के व्यापार में पांच लोगों को गिरफ्तार किया है। बताया जा रहा है कि यह पांचों लोग उत्तर प्रदेश के शाहजहांपुर के रहने वाले हैं। पुलिस के मुताबिक इस जीरे में स्टोन पाउडर, फूल झाड़ू और गुड़ का शिरा मिलाया जाता था। बनाए गए नकली जीरे में खुशबू और रंग मिलाए जाते थे, जिसके कारण नकली और असली जीरे के बीच पहचान कर पाना मुश्किल हो जाता है।

गैंग शाहजहांपुर में नकली जीरे का कारोबार कर रहा था, लेकिन राजधानी में अधिक फायदा और मुनाफा देखकर इन्होंने बवाना में कारोबार करना शुरू कर दिया। पुलिस ने इस गैंग का भंडाफोड़ करके इनके पास से 5,000 किलो चूना पत्थर, 1546 किलो फूल झाड़ू और 1225 किलो गुड़ का शिरा बरामद किया है।

नकली जीरे में ऐसे पदार्थ मिलाए जाते हैं, जिनकी वजह से कैंसर और हृदय रोग होने की आशंका बढ़ जाती है। myUpchar से जुड़े डॉ. आयुष पाण्डेय का कहना है कि अगर लंबे समय तक किसी नकली पदार्थ का सेवन किया जाए तो कई प्रकार की स्वास्थ्य संबंधी समस्याएं उत्पन हो सकती हैं। जहां एक तरफ असली जीरे के कई फायदे होते हैं तो नकली जीरा उतना ही नुकसानदायी होता है।

नकली जीरे की पहचान है बेदह आसान
अगर कोई व्यक्ति जानना चाहे कि उनके घर में जो जीरा आया है वह असली है या नकली, तो इसकी पहचान करना बेहद आसान है। इसके लिए उन्हें पारदर्शी ट्यूब या जार की जरूरत पड़ेगी। उस ट्यूब या जार में जीरे के कुछ दाने डालकर उसमें पानी डालकर ट्यूब को सिरे से बंद करके जोर से हिलाएं। अगर जीरे में मिलावट की गई है तो पानी का रंग बदल जाएगा। अगर कोई मिलावट नहीं है तो पानी का रंग नहीं बदलेगा। तो इस आसान तरीके से कोई भी घर में ही असली और नकली जीरे का पता लगा सकता है।

इसके अलावा नकली और असली जीरे की पहचान करने लिए जीरे के दानों को तर्जनी (Index Finger) और अंगूठे के बीच मसलें। इसमें से एक सुहानी एवं मिर्च-सी महक आए तो यह असली जीरा है अन्यथा इसे जंगली घास, चूना पत्थर और गुड़ की शिरा से बनाया गया है। इसके अलावा इस नकली जीरे की कोई सुगंध नहीं होती।

असली जीरे के फायदे
जीरे के वैसे तो कई फायदे होते हैं, लेकिन इसका सबसे महत्वपूर्ण इस्तेमाल घरों की सब्जियों और दाल में छौंक या तड़का लगाते समय किया जाता है। इसका यह इस्तेमाल कई प्रकार के स्वास्थ्य संबंधी फायदे पहुंचाता है। इसमें मौजूद आयरन शरीर में रक्त बढ़ता है और इसके एंटीवायरल गुण संक्रमण से बचाते हैं।

जीरा विटामिन सी का एक अच्छा स्रोत होता है जो सर्दी जुकाम जैसी बीमारियों से बचाने में मदद करता है। यहां तक कि जीरे के सेवन आंतों का कैंसर और स्तन कैंसर के इलाज में भी फायदेमंद बताया गया है। अगर आप मोटापे से परेशान हैं तो खाना खाने के बाद जीरा खाने की सलाह दी जाती है, क्योंकि इसमें हाइपोलिपिडेमिक गुण भी पाए जाते हैं। इसके अलावा जीरे के कई आयुर्वेदिक औषधीय गुण भी हैं, जिनमें निम्न शामिल हैं :

इनके आलावा यह पेट में गैस, उदरशूल दर्द से आराम, एनीमिया, मां के दूध को बढ़ाना, पाचन क्रिया और डायबिटीज ठीक करने में मदद करता है। 

नकली जीरे के नुकसान
नकली दूध, पनीर, मिठाइयों और न जाने क्या-क्या के बाद अब नकली जीरे तक का व्यापार होना शुरू हो गया है। नकली जीरा कई तरह की बीमारियां दे सकता है, जिनमें मुख्य रूप से कैंसर होने की आशंका शामिल है। इसके अलावा इसके कारण किडनी स्टोन, त्वचा खराब होना और पेट रोग होने का खतरा भी रहता है।

और पढ़ें ...
ऐप पर पढ़ें
डॉक्टर से अपना सवाल पूछें और 10 मिनट में जवाब पाएँ