• हिं

होम्योपैथिक में किसी भी समस्या का इलाज प्राकृतिक रूप (खनिज और पौधों) से किया जाता है. इसलिए पेट की चर्बी कम करने के लिए आप होम्योपैथिक दवाइयों का सहारा ले सकते हैं. यह दवाइयां आपके लिए प्रभावी साबित हो सकती हैं. आज हम इस लेख में कुछ ऐसी होम्योपैथिक की दवाइयों के बारे में बताएंगे, जिससे पेट कम किया जा सकता है.

(और पढ़ें - पेट की चर्बी कम करने की दवा)

  1. पेट की चर्बी कम करने वाली होम्योपैथिक दवाइयां - Homeopathic medicines for reducing belly fat in Hindi
  2. क्या पेट घटाने में कारगर है होम्योपैथिक दवाएं? - Do homeopathic medicines and remedies for burning belly fat work in HIndi?
पेट की चर्बी कम करने वाली होम्योपैथिक दवाइयां के डॉक्टर

कैल्केरा कार्बनिका (Calcarea Carbonica)

कैल्केरा कार्बनिका (Calcarea Carbonica) एक होम्योपैथिक दवा है, जिसका इस्तेमाल शरीर की वसा को कम करने के लिए किया जाता है. थायरॉयड की समस्या और गर्भावस्था के कारण बढ़े वजन को कम करने के लिए इस दवा का इस्तेमाल किया जा सकता है. कैल्केरा कार्बनिका धीमी मेटाबॉजिल्म को बेहतर करने में आपकी मदद करता है. इसके सेवन से पेट की चर्बी को कम किया जा सकता है.

(और पढ़ें - मोटापा कम करने के उपाय)

लाइकोपोडियम (Lycopodium)

हाइपोथायरायडिज्म की वजह से अगर आपका पेट बढ़ रहा है, तो लाइकोपोडियम (Lycopodium) दवा आपके लिए फायदेमंद हो सकती है. यह दवा वजन को कंट्रोल करने में आपके लिए मददगार हो सकती है. साथ ही यह उन लोगों के लिए भी प्रभावी हो सकती है, जिनका गैस्ट्रिक और लिवर की समस्याओं के कारण वजन बढ़ रहा है. जांघ और नितंबों के आसपास ज्यादा चर्बी होने से लाइकोपोडियम का सेवन आपके लिए फायदेमंद हो सकता है.

नेट्रम मूरअटियम (Natrum Muriaticum)

नेट्रम मूरअटियम (Natrum Muriaticum) उन लोगों के लिए प्रभावी साबित हो सकती है, जिसके शरीर के निचले हिस्सों जैसे जांघों और नितंबों पर अधिक चर्बी है. यह दवा मुख्य रूप से ऐसे लोगों को दी जाती है, जिनको अत्यधिक भूख, सिरदर्द, माइग्रेन और नमक खाने की ज्यादा इच्छा होती है. वहीं, ऐसे लोगों को भी नेट्रम मूरअटियम दिया जाता है, जिनका डिप्रेशन की वजह से वजन बढ़ रहा हो.

(और पढ़ें - पेट कम करने के लिए डाइट चार्ट)

अमोनियम मूर (Ammonium Mur)

यह दवा वसायुक्त धड़ (और नितंबों के आसपास का फैट कम करने में प्रभावी हो सकती है. इसके अलावा अगर आपको अधिक गुस्सा, एड़ियों में दर्द और मानसिक तनाव रहता है, तो डॉक्टर आपको अमोनियम मूर (Ammonium Mur) लेने की सलाह दे सकते हैं.

ग्रेफाइट्स (Graphites)

अगर आप शरीर की अत्यधिक चर्बी से परेशान हैं, तो ग्रेफाइट्स (Graphites) का सेवन कर सकते हैं. इसके अलावा यह दवा शरीर में कमजोरी, खुजली, शरीर में सूजन, पेट दर्द की परेशानियों को दूर करने में भी असरदार हो सकता है.

(और पढ़ें - पेट की चर्बी कम करने के योगासन)

नक्स वोमिका (Nux vomica)

होम्योपैथी में यह दवा उन लोगों को दी जाती है, जिनकी शारीरिक एक्टिविटी कम होती है. साथ ही जिनका गलत खानपान की वजह से पेट बढ़ हो. इसके अलावा डॉक्टर कब्ज की परेशानी, ज्यादा ठंड लगना, अचानक गुस्सा आना इत्यादि समस्याओं से पीड़ित व्यक्ति को भी यह दवा दे सकते हैं.

इग्नाटिया (Ignatia) 

यह दवा सेंट इग्नाटियस बीन ट्री के बीजों से तैयार किया जाता है. इसका इस्तेमाल शरीर के पेट कम करने के लिए करते हैं.

(और पढ़ें - मोटापे का इलाज)

पेट घटाने के लिए होम्योपैथिक का उपचार कितना प्रभावी है? इस विषय पर अभी वैज्ञानिक और चिकित्सीय शोध काफी सीमित है.

2014 में निम्न स्तर पर एक अध्ययन किया गया था, जिसमें 30 ऐसे व्यक्तियों को शामिल किया गया, जिनका वजन अधिक था. इस अध्ययन में पाया गया कि पोषण संबंधी परेशानियों को दूर करने में होम्योपैथिक की दवा असरदार हो सकती है. हालांकि, यह काफी निम्न स्तर का अध्ययन था, इसलिए इसके परिणामों को अधिक प्रभावी नहीं माना जाता है. 

होम्योपैथी दवाइयों से वजन किस हद तक कंट्रोल किया जा सकता है. इस पर अभी तक स्पष्ट रिसर्च होना बाकी है. इसलिए अगर आप होम्योपैथिक उपचार के जरिए पेट कम करना सोच रहे हैं, तो एक बार एक्सपर्ट से जरूर सलाह लें. डॉक्टर के सलाहनुसार ही दवा का सेवन करें. ताकि इसके परिणामों का आपको भरपूर फायदा मिल सके.

(और पढ़ें - वजन कम करने के लिए क्या खाना चाहिए)

Dr. Ram Kumar

Dr. Ram Kumar

होमियोपैथ
11 वर्षों का अनुभव

Dr. Ajit Prasad Singh

Dr. Ajit Prasad Singh

होमियोपैथ
10 वर्षों का अनुभव

Priyanka Gupta

Priyanka Gupta

होमियोपैथ
6 वर्षों का अनुभव

Dr. Varun Kapadia

Dr. Varun Kapadia

होमियोपैथ
2 वर्षों का अनुभव

cross
डॉक्टर से अपना सवाल पूछें और 10 मिनट में जवाब पाएँ