myUpchar प्लस+ के साथ पूरेे परिवार के हेल्थ खर्च पर भारी बचत

बाल झड़ना क्‍या है?

सिर के बालों के गिरने को ही बाल झड़ना कहा जाता है। अगर समय पर बाल झड़ने की समस्‍या का इलाज न किया तो ये आपके लिए मुसीबत बन सकता है प्रतिदिन लगभग 100 बालों का गिरना सामान्‍य माना जाता है क्‍योंकि इनकी जगह नए बाल उग जाते हैं। हालांकि, अगर बाल केवल झड़ रहे हैं और नए बाल नहीं आ रहे हैं तो ये चिंताजनक होता है। ये समस्‍या अधिकतर पुरुषों में देखी जाती है। बुहत ज्‍यादा बाल झड़ने पर गंजापन हो सकता है।

इसके प्रमुख संकेत और लक्षण क्‍या हैं?

आमतौर पर किसी रोग के लक्षण के रूप में बाल झड़ने की समस्‍या हो सकती है। बाल झड़ने पर निम्‍न लक्षण दिखाई देते हैं:

  • अलग-अलग तरीकों से बाल झड़ सकते हैं, जैसे कि 
    • ​पैटर्न बोल्डिंग (बालों का पतला या सिर के आगे के बालों का झड़ना)
    • स्‍कैल्‍प पर जगह-जगह गंजापन होना
    • बालों का झड़ना
    • पूरे शरीर के बालों का झड़ना
  • स्‍कैल्‍प पर स्‍केलिंग और रूखापन होना
  • सिर की त्‍वचा पर खुजली होना
  • बालों में रूखापन और दोमुंहे बाल

क्‍या हैं प्रमुख कारण और कैसे लगाएं पता?

बालों का झड़ना एक सामान्‍य समस्‍या है और इसके कई कारण हो सकते हैं, जैसे कि:

  • अनुवांशिक: माता-पिता या परिवार में किसी को बालों के झड़ने की समस्‍या रही है तो उस व्‍यक्‍ति में बाल झड़ने या गंजेपन का खतरा अधिक रहता है।
  • हार्मोनल बदलाव के कारण पुरुषों के सिर के बीच वाले हिस्‍से से बाल झड़ने लगते हैं।
  • स्‍कैल्‍प पर संक्रमण जैसे कि फंगल इंफेक्‍शन होना।
  • लैट्रोजेनिक: इसमें कीमोथेरेपी तत्‍वों, तनाव-रोधी दवाओं आदि के कारण बाल गिर सकते हैं।
  • रेडिएशन थेरेपी
  • तनाव: बाल झड़ने के प्रमुख कारणों में भावनात्‍मक तनाव भी शामिल है।
  • पोषण की कमी: विटामिन ई, जिंक, सिलेनियम आदि की कमी के कारण बाल झड़ सकते हैं।
  • अगर आप बहुत जल्‍दी–जल्‍दी हेयर कलर, स्‍ट्रेटनिंग या अन्‍य कोई केमिकल ट्रीटमेंट लेते हैं तो इस वजह से भी आपके बाल झड़ सकते हैं।

क्‍या है इलाज?

आमतौर पर चिकित्‍सकीय परीक्षण के बाद बाल झड़ने का पता लगाया जा सकता है। हालांकि, बाल झड़ने का इलाज करने से पहले इसके सही कारण का पता लगाना बहुत जरूरी है। नीचे बताए गए तरीकों से बाल झड़ने का पता लगाया जा सकता है:

  • विटामिन और मिनरल की कमी का पता लगाने के लिए खून में इनकी जांच करना।
  • पुल टेस्‍ट और लाइट माइक्रोस्‍कोपी- हल्‍के से बालों को खींचकर ये पता लगाया जा सकता है बाल कितने मजबूत हैं जबकि माइक्रोस्‍कोपी से बालों के रोमकूपों की गहराई और संरचना को देखा जाता है।
  • स्‍कैल्‍प बायोप्‍सी- इससे बालों या स्‍कैल्‍प पर हुए संक्रमण का पता चलता है।

बालों के झड़ने की समस्‍या का इलाज पूरी तरह से इसके कारण पर निर्भर करता है। कुछ मामलों में पूरी तरह से बाल झड़ने की समस्‍या का निदान नहीं किया जा सकता है लेकिन सहायक चिकित्सा का उपयोग किया जा सकता है। बाल झड़ने पर निम्‍न उपचार दिए जा सकते हैं:

  • दवाएं: जिंक, सिलेनियम, विटामिन आदि से युक्‍त मल्‍टीविटामिन गोलियां दी जाती हैं। मिनोक्सिडिल, फिनास्‍टेराइड, हार्मोन रिप्‍लेसेमेंट दवाएं आदि।
  • लेज़र थेरेपी: स्‍कैल्‍प पर लेज़र की किरणों से बालों को घना बनाया जा सकता है।
  • ट्रांस्‍प्‍लांट सर्जरी: सिर की त्‍वचा पर जिस जगह घने बाल हों वहां से बालों को लेकर गंजेपन वाली जगह पर लगाया जाता है।
  • हेयर विवींग, इसमें बिना सर्जरी किए नए बाल लाए जाते हैं। 
और पढ़ें ...