myUpchar प्लस+ के साथ पूरेे परिवार के हेल्थ खर्च पर भारी बचत

बच्चों को बहुत सारी खाने की चीजें पसंद और नापसंद होती हैं। इनमें से कुछ चीजें ऐसी भी होती हैं जिनसे उन्हें एलर्जी भी हो सकती है। बच्चों को खाद्य पदार्थों से एलर्जी होना बहुत ही सामान्य बात है लेकिन इसके परिणाम गंभीर भी हो सकते हैं। ज्यादातर अभिभावक इस बात से अंजान होते हैं कि उनके बच्चे को किस चीज से एलर्जी है। आज इस लेख के माध्यम से जानेंगे की बच्चों को खाने की किन-किन चीजों से एलर्जी हो सकती है?

(और पढ़ें - बच्चों की देखभाल कैसे करें)

बच्चों को अक्सर निम्नलिखित खाने की चीजों से एलर्जी हो सकती है:

अंडे:

बच्चों में अंडे से होने वाली एलर्जी सबसे ज्यादा सामान्य होती है। जिन बच्चों को अंडे से एलर्जी होती है उनमें एलर्जी के लक्षण 3 वर्ष की आयु तक दिखने लगते हैं। कुछ मामलों में अंडे से होने वाली एलर्जी के कारण तीव्रग्राहिता (एनाफिलेक्सिस) नाम की बीमारी भी हो सकती है। यह बीमारी कुछ ही मामलों में होती है। एक शोध के अनुसार 70 प्रतिशत बच्चे पके हुए अंडे से बने बिस्कुट और केक आदि खा सकते हैं।

(और पढ़ें - 3 साल के बच्चे को क्या खिलाएं)

बच्चों को अंडे से एलर्जी के लक्षण निम्नलिखित हैं:

  • पाचन संबंधी समस्या और पेट में दर्द अंडे से होने वाली एलर्जी के लक्षणों में से एक है।
  • अंडे से होने वाली एलर्जी में त्वचा से जुड़े विकार जैसे रैश और पित्ती (शीतपित्त) आदि हो सकते हैं।
  • इसमें श्वांस-प्रणाली की समस्याएं भी हो सकती हैं। (और पढ़ें - बच्चों के देर से चलने के कारण)

गाय का दूध:

बच्चों में गाय के दूध से होने वाली एलर्जी बहुत समान्य है। इसके लक्षण लगभग कम होते हैं लेकिन वे शरीर के किसी भी हिस्से को प्रभावित कर सकते हैं। जिन बच्चों को दूध से एलर्जी होती है उन्हें रैशेज, डायरिया (दस्त), उल्टी और पेट में ऐंठन आदि दिक्कतों का सामना करना पड़ सकता है। बहुत कम मामलों में दूध से होने वाली एलर्जी से एनाफिलेक्सिस हो सकता है।

मूंगफली:

बच्चों को मूंगफली तो बहुत पसंद होती है लेकिन मूंगफली से एलर्जी भी हो सकती है। बच्चों में मूंगफली से होने वाली एलर्जी बहुत आम है जिसके परिणाम हानिकारक हो सकते हैं। जिन बच्चों को मूंगफली से एलर्जी होती है उन्हें नाक बहना, त्वचा में पीलापन, खुजली, होठों और चेहरे में सूजन, दस्त, मतली, पेट में ऐंठन और उल्टी जैसी पाचन समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है।

सोयाबीन:

सोयाबीन से बच्चों में होने वाली एलर्जी भी बहुत आम है इसमें रैशेस, दस्त, उलटी, पेट में दर्द आदि दिक्क्तें हो सकती हैं। सोयाबीन का इस्तेमाल बेकरी के सामान जैसे मिठाई, पेय, नाश्ता, आइसक्रीम, पास्ता और अन्य मौसमी खाद्य पदार्थों को बनाने में किया जाता है। सोयाबीन इन सभी खाने की चीजों में इस्तेमाल होने वाली मुख्य खाद्य सामग्री है।

(और पढ़ें - नाश्ता न करने के नुकसान)

गेंहू:

गेहूं लगभग हर घर में खाया जाने वाला सबसे जरूरी खाद्य पदार्थ है लेकिन गेंहू में भी एक ऐसा प्रोटीन पाया जाता है जिससे बच्चों को एलर्जी हो सकती है। गेहूं से होने वाली एलर्जी के कारण पाचन से संबंधित समस्या, पित्ती, उल्टी, चकत्ते, सूजन और अन्य गंभीर समस्या जैसे एनाफिलेक्सिस हो सकता है।

(और पढ़ें - 6 महीने के बच्चे को क्या खिलाना चाहिए)

ऊपर लिखे खाद्य पदार्थों से आपके बच्चे को भी एलर्जी हो सकती है इसलिए जितना हो सके उन्हें इन खाद्य पदार्थों के सेवन से बचाना चाहिए। कुछ खाद्य पदार्थ बच्चों को बहुत पसंद होते हैं, जिनसे एलर्जी होने की संभावना हो ऐसे में उन्हें सीमित मात्रा में वह खाद्य सामग्री देनी चाहिए। बच्चे अधिक संवेदनशील होते हैं जिसकी वजह से उन्हें कोई भी चीज बहुत जल्दी नुकसान पहुंचाती है। इसलिए बच्चों के आहार में कुछ भी शामिल करने से पहले डॉक्टर से सलाह जरूर ले लेनी चाहिए।

 
 
और पढ़ें ...