myUpchar प्लस+ सदस्य बनें और करें पूरे परिवार के स्वास्थ्य खर्च पर भारी बचत,केवल Rs 99 में -

वैज्ञानिकों की मानें तो नया कोरोना वायरस सार्स-सीओवी-2 पहले की तुलना में कहीं ज्यादा तेजी से फैल रहा है। यही वजह है कि इसके इंसान से इंसान में फैलने की दर को कुछ कम करने के मकसद से दुनियाभर के ज्यादातर वायरस प्रभावित देशों में आंशिक या संपूर्ण लॉकडाउन कर दिया गया है। इसी के मद्देनजर भारत में भी 25 मार्च 2020 से 21 दिनों का लॉकडाउन है और इस बेहद संक्रामक वायरस को रोकने के लिए इसे बेहद जरूरी कदम भी माना जा रहा है। 

लॉकडाउन के दौरान सरकार की तरफ से सख्ती बरतने और सभी जरूरी कदम उठाए जाने के बावजूद कोविड-19 से संक्रमित मरीजों की तादाद तेजी से बढ़ रही है। 10 अप्रैल 2020 के आंकड़ों की मानें तो भारत में अब तक कोविड-19 के 6,412 मामले सामने आ चुके हैं और 199 लोगों की मौत हो चुकी है। देशभर में लॉकडाउन के दौरान सभी शैक्षणिक संस्थानों को बंद कर दिया गया है, सरकारी और निजी दफ्तर बंद है, सभी लोग घर से ही काम कर रहे हैं, लोगों को घर से बाहर निकलने की इजाजत नहीं है, धार्मिक संस्थान भी बंद हैं और राष्ट्रीय-अंतरराष्ट्रीय सीमाएं भी पूरी तरह से सील कर दी गई हैं।

इसके अलावा लोगों से फिजिकल डिस्टेंसिंग का पालन करने के लिए कहा जा रहा है, अगर कोई जरूरी सामान लेने के लिए घर से निकलना भी पड़े तो मास्क या फेस कवर लगाए बिना बिलकुल न निकलें और नियमित रूप से अपने हाथों को साबुन-पानी या एल्कोहल बेस्ड सैनिटाइजर से साफ करते रहें। ये सभी कदम इस वैश्विक महामारी को और ज्यादा फैलने से रोकने के लिए जरूरी हैं ताकि यह बीमारी जो दुनियाभर के 16 लाख से ज्यादा लोगों को प्रभावित कर चुकी है, उसे कुछ हद तक कंट्रोल किया जा सके।

इस नए कोरोना वायरस की वजह से चारों तरफ सभी चीजें बंद हैं और लोग अपने-अपने घरों में कैद होने के लिए मजबूर हैं। ऐसी स्थिति में उन्हें 24 घंटे घर के अंदर रहने पर भी कई तरह की मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है। चूंकि लोग इस दौरान घर से काम कर रहे हैं इस वजह से उनका रोजाना का शेड्यूल प्रभावित हो रहा है जिसका सीधा असर उनकी मानसिक और शारीरिक सेहत पर भी पड़ रहा है। इन्हीं में से एक समस्या है वेट मैनेजमेंट की। 

जी हां, 24x7 यानी हफ्ते के सातों दिन चौबीसों घंटे घर पर रहने और फिजिकल ऐक्टिविटी न होने की वजह से बहुत से लोगों को अपने वजन बढ़ने की भी चिंता सता रही है। ऐसे में इस आर्टिकल में हम आपको बता रहे हैं उन बेहद आसान टिप्स के बारे में जिसकी मदद से घर पर सुरक्षित रहते हुए भी आप अपने वजन और स्ट्रेस लेवल दोनों को बड़ी आसानी से मैनेज कर पाएंगे।

(और पढ़ें : मास्क पर कितनी देर तक जीवित रह सकता है कोरोना वायरस)

  1. कोविड-19 महामारी के दौरान बच्चों में मोटापे का खतरा
  2. कोविड-19 लॉकडाउन के दौरान स्वस्थ वजन बनाए रखने के फायदे
  3. कोविड-19 के दौरान करें एक्सरसाइज
  4. कोविड-19 लॉकडाउन के दौरान हेल्दी चीजें खाएं
  5. और आखिर में इन बातों का भी रखें ध्यान
  6. कोविड-19 लॉकडाउन के दौरान अपना वजन मैनेज करने के टिप्स के डॉक्टर

ओबेसिटी नाम की पत्रिका में प्रकाशित एक नई स्टडी की मानें तो स्कूल और दूसरे शैक्षणिक संस्थान कोविड-19 महामारी की वजह से पूरी तरह से बंद हैं। ऐसे में अमेरिका के कई बच्चों पर इसका अतिरिक्त दबाव पड़ रहा है और इसकी वजह से बच्चों में वजन बढ़ने का भी खतरा कई गुना बढ़ गया है। कोलंबिया यूनिवर्सिटी के अनुसंधानकर्ताओं की तरफ से की गई इस स्टडी में कहा गया है कि अमेरिका में पहले ही बचपन में मोटापा एक बड़ी समस्या है। गर्मी की छुट्टियों के समय जब बच्चे स्कूल नहीं जाते तो इस दौरान उनमें अनहेल्दी वेट गेन दिखता है।

अमेरिका के ज्यादातर हिस्सों में कोविड-19 की वजह से इस वक्त पूरी तरह से लॉकडाउन कर दिया गया है और आने वाले कुछ समय में फिलहाल स्कूल खुलने के कोई संकेत भी नहीं दिख रहे, जिस वजह से बच्चों में मोटापे की समस्या और बढ़ सकती है। स्टडी में इस बात का भी पहले से अंदाजा लगाया गया है कि कोविड-19 महामारी की वजह से वजन बढ़ने का भविष्य में बच्चों पर बुरा परिणाम नजर आ सकता है।

(और पढ़ें: गंभीर श्वसन रोग के मरीजों में कोविड-19 बीमारी की दर बढ़ी)

वेट मैनेजमेंट यानी वजन बनाए रखना हमेशा से ही रिसर्च और बहस का एक अच्छा टॉपिक रहा है। अब चूंकि कोविड-19 की वजह से जिम, फिटनेस सेंटर्स, पब्लिक पार्क- ऐसी सभी जगहें जहां लोग जाकर अपने पसंद की फिजिकल ऐक्टिविटी किया करते थे, वह सब आने वाले कुछ समय के लिए पूरी तरह से बंद है। अमेरिका की सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल ऐंड प्रिवेंशन सीडीसी ने कहा है कि वैसे लोग जिनका बॉडी मास इंडेक्स (बीएमआई) 40 से अधिक है और वैसे लोग जिन्हें मोटापे से संबंधित बीमारियां जैसे- हृदय रोग और डायबिटीज है उनमें कोविड-19 की वजह से होने वाली जटिलताओं का खतरा अधिक है।

यह बात जानने के बाद अपने शरीर का स्वस्थ वजन बनाए रखना और भी जरूरी हो जाता है। ऐसे में अगर आप ओवरवेट हैं यानी आपका वजन अधिक है तो जहां तक संभव हो अपना वजन कम करने की कोशिश करें। एक्सरसाइज करें, स्वस्थ और संतुलित भोजन का सेवन करें। ये सब करने से न सिर्फ आपका वजन कम होगा या कंट्रोल में रहेगा, बल्कि आपकी इम्यूनिटी यानी रोगों से लड़ने की ताकत भी मजबूत बनेगी और आपका शरीर वायरस से लड़ने के लिए तैयार रहेगा।

(और पढ़ें : हर्ड इम्यूनिटी क्या है? कोविड-19 रोकने में यह कैसे सहायक है)

एक्सरसाइज करने के ढेरों फायदे हैं, खासकर फिटनेस बरकरार रखने में, शरीर का सही और हेल्दी वजन बनाए रखने में और यहां तक की अपने फिजिकल अपीयरेंस को भी बेहतर बनाने में। आपके आसपास का जिम, स्पोर्ट्स क्लब या फिटनेस सेंटर बंद हो गया है तो इसका मतलब ये नहीं है कि आप अपने नियमित रूप से एक्सरसाइज करने के शेड्यूल को ही भूल जाएं।

लॉकडाउन के दौरान सिर्फ शारीरिक ही नहीं बल्कि मानसिक सेहत बनाए रखने के लिए भी एक्सरसाइज करना जरूरी है। ऐसा इसलिए क्योंकि एक्सरसाइज करने के दौरान आपके शरीर और सिस्टम में इन्डॉर्फिन का उत्पादन बढ़ता है जिससे आपका मूड अच्छा होता है और शरीर में पॉजिटिव भावनाएं विकसित होती हैं।

ऐसे में लॉकडाउन के दौरान एक्सरसाइज करने के हैं ढेरों फायदे:

  • वजन घटाने में मददगार
  • मानसिक सेहत अच्छी बनी रहती है
  • तनाव और चिंता में आती है कमी
  • मांसपेशियों का विकास होता है
  • खाना खाने की तीव्र इच्छा में कमी आती है
  • अच्छी नींद आती है

आमतौर पर हमेशा जिम या खुले पार्क में एक्सरसाइज करने की जिन लोगों को आदत होती है, उन्हें जब घर के अंदर छोटी सी सीमित जगह पर एक्सरसाइज करना पड़ता है तो उन्हें कुछ मुश्किलें तो आती हैं। लेकिन ऐसे ढेरों बॉडीवेट एक्सरसाइज हैं जिनकी मदद से आप न सिर्फ वजन घटा सकते हैं बल्कि मसल्स भी बना सकते हैं। होम-बेस्ड वर्कआउट के दौरान योग को भी फिटनेस प्रोग्राम में शामिल करें क्योंकि योग करने के लिए आपको घर पर किसी खास तरह के इक्विप्मेंट की जरूरत नहीं होती।

(और पढ़ें : लॉकडाउन के दौरान घर पर ही करें ये व्यायाम और पूरे परिवार को रखें स्वस्थ)

ऐसे बहुत से लोग हैं जो अपने होमटाउन से दूर दूसरे शहरों में काम के सिलसिले में अकेले रहते हैं और ऑनलाइन खाना मंगवाकर या पैक करा खाना खाकर ही काम चलाते हैं। लॉकडाउन की वजह से ऐसे लोगों की मुश्किलें बढ़ गई हैं। मौजूदा समय में खाने-पीने की भी ज्यादतर जगहें बंद हो गई हैं इस वजह से खाना ऑर्डर करना या कुछ हेल्दी चीजें ऑर्डर करना इस समय मुश्किल हो गया है। ऐसे में आपके पास जो भी थोड़े बहुत विकल्प मौजूद हैं जिसमें आपको अपना खाना खुद से बनाना है, उसे आप एक सुअवसर की तरह देखें जिसकी मदद से आप अपने वजन कम करने के लक्ष्य को हासिल कर सकते हैं।

इसका सबसे अच्छा फायदा यह है कि आप बाहर से किसी भी तरह का जंकफूड ऑर्डर नहीं करेंगे। आप खुद से बाजार जाकर ताजी सब्जियां, ताजे फल या ताजा मीट लेकर आएंगे और अपने हाथों से घर पर बना ताजा और हेल्दी खाना खाएंगे। लॉकडाउन की वजह से ज्यादातर लोगों की नियमित रूप से वॉकिंग और रनिंग करने की आदत छूट गई है। ऑफिस आने जाने और डेली ट्रैवल करने के दौरान भी काफी कैलरी बर्न हो जाती थी लेकिन अब वो भी नहीं हो पा रहा है। ऐसे समय में घर का बना कम कैलोरी वाला और कम ट्रांसफैट वाला खाना आपके लिए एक हेल्दी ऑप्शन है।

(और पढ़ें : क्या लॉकडाउन के दौरान ऑनलाइन खाना मंगवाना सेफ हैै)

जब भी आप राशन या खाने-पीने की चीजों की खरीददारी करने जाएं तो इस बात का ध्यान रखें कि आपको लो-कैलोरी स्नैक ही खरीदना है। ऐसे में अपनी डायट में हरी पत्तेदार सब्जियों को ज्यादा जगह दें। जहां तक संभव हो एक पैकेट चिप्स की बजाए, एक बाउल फ्रूट्स का खा लें। चूंकि आपकी शारीरिक गतिविधियां भी पूरी तरह से कम हो गई हैं इसलिए ये भी जरूरी है कि आप खाने की कितनी मात्रा खा रहे हैं, इसे भी कंट्रोल करें। खासकर कार्बोहाइड्रेट्स से भरपूर चीजें जैसे- ब्रेड या चावल।

स्वस्थ भोजन खाने के साथ-साथ इस बात का भी ध्यान रखें कि आप कितने बजे खा रहे हैं। घर से काम करना और हर दिन के शेड्यूल को फॉलो न करने की वजह से इंसान न सिर्फ आलसी बन जाता है बल्कि सही समय पर खाना भी नहीं खाता। लेकिन ऐसा करने से भी वजन बढ़ने का खतरा काफी अधिक रहता है। अगर आप चाहते हैं कि आपका वजन न बढ़े तो दिनभर में कई बार छोटी-छोटी मील लें या फिर दिन में 3 बार ब्रेकफास्ट, लंच और डिनर, सही समय पर करें और साथ में अच्छी नींद लें। ऐसा करने से वजन बढ़ने का खतरा कम होगा।

(और पढ़ें : लॉकडाउन के दौरान स्वस्थ और संतुलित भोजन के टिप्स)

वैसे लोग जो अपना वजन घटाने की कोशिश में लगे हैं, उनके लिए यह लॉकडाउन का समय एक तरह से परीक्षा की घड़ी की तरह है। हालांकि अगर इस लॉकडाउन पीरियड के दौरान आप हेल्दी चीजें खाएं, नियमित रूप से एक्सरसाइज करें और समय पर अच्छी नींद लें तो न सिर्फ आपको वजन घटाने में मदद मिलेगी बल्कि आपका वजन भी संतुलित बना रहेगा। जहां तक बात डायट और फिजिकल ऐक्टिविटी की है तो इस लॉकडाउन की वजह से लोगों की आदतों पर काफी बुरा असर पड़ा है। साथ ही उनका तनाव भी काफी बढ़ गया है।

लिहाजा आपको यह समझने की जरूरत है कि आप इस परिस्थिति में अकेले नहीं हैं। दुनियाभर के ज्यादातर लोग इस महामारी और लॉकडाउन का सामना कर रहे हैं। मौजूदा परिस्थिति को जैसे है उसे वैसे ही स्वीकार करना और उसके हिसाब से खुद को ढाल लेने में ही आपका फायदा है। इस बीमारी या महामारी की वजह से जो वैश्विक मुश्किलें हुई हैं वह एक न एक दिन खत्म हो जाएगा और हम फिर से पहले की तरह वो सब कर पाएंगे जो अब तक करते आ रहे थे।

(और पढ़ें : दक्षिण कोरिया में कोविड-19 से ठीक हो चुके मरीजों में फिर से वायरस पाए जाने की पुष्टि)

Dr. Neha Gupta

Dr. Neha Gupta

संक्रामक रोग
16 वर्षों का अनुभव

Dr. Lalit Shishara

Dr. Lalit Shishara

संक्रामक रोग
8 वर्षों का अनुभव

Dr. Alok Mishra

Dr. Alok Mishra

संक्रामक रोग
5 वर्षों का अनुभव

Dr. Amisha Mirchandani

Dr. Amisha Mirchandani

संक्रामक रोग
8 वर्षों का अनुभव

Medicine NamePack SizePrice (Rs.)
AlzumabAlzumab Injection6995.16
AnovateANOVATE OINTMENT 20GM90.0
Pilo GoPilo GO Cream67.5
Proctosedyl BdPROCTOSEDYL BD CREAM 15GM66.3
ProctosedylPROCTOSEDYL 10GM OINTMENT 10GM63.9
RemdesivirRemdesivir Injection15000.0
Fabi FluFabi Flu Tablet3500.0
CoviforCovifor Injection5400.0
और पढ़ें ...
ऐप पर पढ़ें
अभी 155 डॉक्टर ऑनलाइन हैं ।