डायबिटिक डिसलिपिडेमिया - Diabetic Dyslipidemia in Hindi

Dr. Ayush PandeyMBBS,PG Diploma

February 22, 2019

March 06, 2020

डायबिटिक डिसलिपिडेमिया
डायबिटिक डिसलिपिडेमिया

डायबिटिक डिसलिपिडेमिया क्या है?

डिसलिपिडेमिया, लिपोप्रोटीन चयापचय से जुड़ा एक विकार है। इस विकार से लिपोप्रोटीन का बहुत अधिक उत्पादन हो सकता है या इसकी कमी हो सकती है। इससे रक्त में कोलेस्ट्रॉल का स्तर कम हो सकता है। डायबिटीज (मधुमेह) के मरीजों में डिसलिपिडेमिया यानी लिपिड स्तर में परिवर्तन का खतरा अधिक होता है। इसीलिए इस लेख में डायबिटिक डिसलिपिडेमिया के बारे में विशेष जानकारी दी गयी है।

(और पढ़ें - उच्च लिपोप्रोटीन क्या है)

डायबिटिक डिसलिपिडेमिया के मुख्य लक्षण हैं?

जब डिसलिपिडेमिया हल्का होता है, तो इससे किसी भी तरह के लक्षण पैदा नहीं होते हैं। हालांकि, डायबिटिक डिसलिपिडेमिया के गंभीर मामले में निम्नलिखित लक्षण पैदा हो सकते हैं:

डायबिटीज वाले व्यक्तियों में डिसलिपिडेमिया के कारण हृदय रोग और स्ट्रोक की तरह की जटिलताओं के विकसित होने का अधिक खतरा होता है।

(और पढ़ें - ब्रेन स्ट्रोक होने पर क्या करें)

डायबिटिक डिसलिपिडेमिया के मुख्य कारण क्या हैं?

टाइप 2 मधुमेह वाले व्यक्तियों में डिसलिपिडेमिया विकसित होने का खतरा काफी अधिक होता है। डायबिटीज अपने आप में एक गंभीर विकार है और डिसलिपिडेमिया का संभावित कारण है क्योंकि डायबिटीज लिपिड के सामान्य स्तर के साथ हस्तक्षेप करके उसके बढ़ने का कारण बनता है। इंसुलिन हार्मोन और उच्च रक्त शर्करा (हाई ब्लड शुगर) स्तर मधुमेह वाले व्यक्तियों में डिसलिपिडेमिया का मुख्य कारण है।

(और पढ़ें - मधुमेह के घरेलू उपचार)

मोटापा और रक्त वाहिका संबंधी रोगों जैसी स्थिति भी डिसलिपिडेमिया का कारण बन सकती है। डिसलिपिडेमिया के कुछ अन्य कारण निम्नलिखित हैं:

डायबिटिक डिसलिपिडेमिया का निदान और उपचार कैसे किया जाता है?

ब्लड टेस्ट और पेशाब की जांच करके डॉक्टर द्वारा डिसलिपिडेमिया का निदान किया जाता है। मधुमेह वाले व्यक्तियों में, हृदय संबंधी बीमारियों जैसी गंभीर जटिलताओं को रोकने के लिए रक्त शर्करा के स्तर को नियंत्रण में रखना बेहद आवश्यक है। इसलिए, डॉक्टर न केवल आहार और जीवनशैली में बदलाव की सलाह देते हैं, बल्कि बार-बार और नियमित जांच के लिए भी जोर देते हैं। डिसलिपिडेमिया के जोखिम को कम करने के लिए आपके डॉक्टर द्वारा स्टैटिन और फाइब्रिनोजेन नामक दवाएं भी दी जा सकती हैं।

(और पढ़ें - हृदय रोग में क्या खाना चाहिए)



संदर्भ

  1. Jorge L. Gross et al. Diabetic Nephropathy: Diagnosis, Prevention, and Treatment. Diabetes Care 2005 Jan; 28(1): 164-176.
  2. Andy KH Lim. Diabetic nephropathy – complications and treatment. Int J Nephrol Renovasc Dis. 2014; 7: 361–381. PMID: 25342915
  3. Lukas Foggensteiner et al. Management of diabetic nephropathy. J R Soc Med. 2001 May; 94(5): 210–217. PMID: 11385086
  4. he Fellowship of Postgraduate Medicine. Recent advances in diabetic nephropathy . Volume 80, Issue 949
  5. Chaudhary Muhammad Junaid Nazar. Diabetic nephropathy; principles of diagnosis and treatment of diabetic kidney disease. J Nephropharmacol. 2014; 3(1): 15–20. PMID: 28197454

डायबिटिक डिसलिपिडेमिया की दवा - Medicines for Diabetic Dyslipidemia in Hindi

डायबिटिक डिसलिपिडेमिया के लिए बहुत दवाइयां उपलब्ध हैं। नीचे यह सारी दवाइयां दी गयी हैं। लेकिन ध्यान रहे कि डॉक्टर से सलाह किये बिना आप कृपया कोई भी दवाई न लें। बिना डॉक्टर की सलाह से दवाई लेने से आपकी सेहत को गंभीर नुक्सान हो सकता है।

दवा का नाम

कीमत

₹356.0

₹211.4

₹1494.9

Showing 1 to 3 of 3 entries
cross
डॉक्टर से अपना सवाल पूछें और 10 मिनट में जवाब पाएँ