myUpchar प्लस+ सदस्य बनें और करें पूरे परिवार के स्वास्थ्य खर्च पर भारी बचत,केवल Rs 99 में -

आंत्र रुकावट क्या है?

एक सामान्य पाचन क्रिया में पचे हुऐ भोजन को करीब 25 फीट या उससे भी लंबी आंत से होकर गुजरना पड़ता है। पाचन क्रिया के बाद अपशिष्ट पदार्थ लगातार गति में रहता है। हालांकि आंत में किसी प्रकार की रुकावट आने से इसकी गति रुक जाती है। 

जब आपकी छोटी या बड़ी आंत में किसी कारण से रूकावट आ जाती है, तो इस स्थिति को आंत्र रुकावट रोग कहा जाता है। यह रुकावट आंत के किसी भाग में या पूरी आंत में हो सकती है और इससे आंतों के अंदर से पचा हुआ भोजन बाहर नहीं निकल पाता।

(और पढ़ें - पाचन शक्ति बढ़ाने के उपाय)

आंत्र रुकावट के क्या लक्षण होते हैं?

इसके लक्षण व संकेतों में निम्न शामिल हो सकते हैं:

(और पढ़ें - सूजन कम करने के घरेलू उपाय)

आंत्र रुकावट क्यों होती है?

आंतों में रुकावट पैदा करने वाले कई कारण हो सकते हैं, जैसे:

  • आंत के किसी हिस्से में मरोड़ आ जाना, जिससे आंत पूरी तरह से ब्लॉक हो जाती है और उसके अंदर से कुछ भी गुजर नहीं पाता है।
  • आंतों में सूजन व लालिमा आ जाना,
  • हर्निया या आंत में स्कार ऊतक (ऊतकों पर खरोंच जैसे निशान) बन जाना, जिससे आंत पूरी तरह से संकुचित हो जाती है। (और पढ़ें - हर्निया का घरेलू उपाय)
  • आंत के अंदर किसी असामान्य तरीके से मांस बढ़ना या ट्यूमर विकसित होने से भी आपकी आंतों में रुकावट आ सकती है। (और पढ़ें - ब्रेन ट्यूमर का इलाज)
  • आंतों की मांसपेशियों में लकवा मार जाना, यदि आंतों की मांसपेशियां लकवाग्रस्त हो जाती हैं तो वे अपशिष्ट पदार्थों को आगे धकेलने में असमर्थ हो जाती हैं। 

(और पढ़ें - चेहरे के लकवा का इलाज)

वैसे तो छोटी व बड़ी दोनों आंतों में से किसी में भी हो सकती है, लेकिन आमतौर पर यह छोटी आंत में ही होती है, जिसके कुछ सामान्य कारण हैं:

(और पढ़ें - कैंसर में क्या खाए)

आंत्र रुकावट का इलाज कैसे किया जाता है?

यदि आपकी आंतों किसी प्रकार की रुकावट आ गई है, तो इस स्थिति का इलाज करने के लिए आपको अस्पताल में भर्ती होना पड़ सकता है। इसके इलाज में मुख्य रूप से ऑपरेशन व कुछ अन्य प्रक्रियाएं शामिल हैं, जिनकी मदद से आंतों को खोला जाता है जैसे स्टेंट।

  • ऑपरेशन:
    यदि आप पूरी तरह से स्वस्थ हैं, तो सर्जरी के दौरान आपकी आंत में से रुकावट से ग्रस्त हिस्से को निकाल दिया जाता है। (और पढ़ें - सर्जरी से पहले की तैयारी)
     
  • स्टेंट:
     जो लोग पूरी तरह से स्वस्थ नहीं हैं या बीमार हैं, तो उनकी सर्जरी नहीं की जा सकती। ऐसे लोगों के लिए स्टेंट प्रक्रिया का इस्तेमाल किया जाता है। इसमें तारों के जाल से बने एक उपकरण को आंत के अंदर फिट कर दिया जाता है। अंदर फिट होकर ये उपकरण खुल जाता है और आंत के रुके हुऐ भाग को खोल देता है। 

(और पढ़ें - पेट के कैंसर की सर्जरी)

  1. आंत्र रुकावट की दवा - Medicines for Intestinal Obstruction in Hindi
  2. आंत्र रुकावट की ओटीसी दवा - OTC Medicines for Intestinal Obstruction in Hindi

आंत्र रुकावट की दवा - Medicines for Intestinal Obstruction in Hindi

आंत्र रुकावट के लिए बहुत दवाइयां उपलब्ध हैं। नीचे यह सारी दवाइयां दी गयी हैं। लेकिन ध्यान रहे कि डॉक्टर से सलाह किये बिना आप कृपया कोई भी दवाई न लें। बिना डॉक्टर की सलाह से दवाई लेने से आपकी सेहत को गंभीर नुक्सान हो सकता है।

Medicine Name
SBL Papaver rhoeas Dilution खरीदें
Bjain Papaver rhoeas Dilution खरीदें
Schwabe Papaver rhoeas CH खरीदें

आंत्र रुकावट की ओटीसी दवा - OTC medicines for Intestinal Obstruction in Hindi

आंत्र रुकावट के लिए बहुत दवाइयां उपलब्ध हैं। नीचे यह सारी दवाइयां दी गयी हैं। लेकिन ध्यान रहे कि डॉक्टर से सलाह किये बिना आप कृपया कोई भी दवाई न लें। बिना डॉक्टर की सलाह से दवाई लेने से आपकी सेहत को गंभीर नुक्सान हो सकता है।

OTC Medicine Name
Divya Vidangasava खरीदें

क्या आप या आपके परिवार में किसी को यह बीमारी है? सर्वेक्षण करें और दूसरों की सहायता करें

और पढ़ें ...
ऐप पर पढ़ें
कोरोना मामले - भारतx

कोरोना मामले - भारत

CoronaVirus
147754 भारत
33अंडमान निकोबार
3171आंध्र प्रदेश
2अरुणाचल प्रदेश
616असम
2983बिहार
266चंडीगढ़
361छत्तीसगढ़
2दादरा नगर हवेली
14465दिल्ली
67गोवा
14821गुजरात
1305हरियाणा
247हिमाचल प्रदेश
1759जम्मू-कश्मीर
426झारखंड
2283कर्नाटक
963केरल
53लद्दाख
7024मध्य प्रदेश
54758महाराष्ट्र
39मणिपुर
15मेघालय
1मिजोरम
4नगालैंड
1517ओडिशा
46पुडुचेरी
2106पंजाब
7536राजस्थान
1सिक्किम
17728तमिलनाडु
1991तेलंगाना
207त्रिपुरा
401उत्तराखंड
6548उत्तर प्रदेश
4009पश्चिम बंगाल

मैप देखें