पेरिटोनाइटिस - Peritonitis in Hindi

Dr. Rajalakshmi VK (AIIMS)MBBS

October 10, 2020

April 13, 2021

कई बार आवाज़ आने में कुछ क्षण का विलम्ब हो सकता है!
पेरिटोनाइटिस
पेरिटोनाइटिस
कई बार आवाज़ आने में कुछ क्षण का विलम्ब हो सकता है!

पेरिटोनाइटिस क्या होता है?

पेट की आंतरिक दीवार के साथ-साथ एक झिल्लीनुमा ऊतक का आवरण होता है, इसे पेरिटोनियम कहा जाता है। पेरिटोनियम में सूजन आ जाने की स्थिति को पेरिटोनाइटिस के नाम से जाना जाता है। पेरिटोनाइटिस आमतौर पर बैक्टीरिया या कवक संक्रमण के कारण होता है। आमतौर पर पेट में चोट लगने, किसी अंतर्निहित चिकित्सा स्थिति या जैसेडायलिसिस कैथेटर और फीडिंग ट्यूब जैसे उपचार उपकरणों के कारण इस तरह की समस्या उत्पन्न हो सकती है।

ज्यादातर मामलों में देखा गया है कि पेरिटोनियल डायलिसिस थेरेपी के कारण लोगों को पेरिटोनाइटिस की समस्या होती है। यदि आप पेरिटोनियल डायलिसिस थेरेपी ले रहे हैं, तो डायलिसिस से पहले, दौरान और बाद में स्वच्छता का विशेष ध्यान रखें। ऐसा करके आप स्वयं को पेरिटोनाइटिस से सुरक्षित रख सकते हैं।

पेरिटोनाइटिस एक गंभीर स्थिति है, ऐसे में इसे विशेष उपचार की आवश्यकता होती है। यदि इसका इलाज न किया जाए तो पेरिटोनाइटिस तेजी से रक्त (सेप्सिस) और अन्य अंगों में फैल सकता है, जिसके परिणामस्वरूप अंगों के खराब होने का डर होता है। गंभीर स्थिति में लोगों की जान भी जा सकती है। इसलिए पेरिटोनाइटिस के लक्षण (जिनमें से सबसे आम पेट में गंभीर दर्द है) नजर आते ही डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए। ऐसा करके आप इसकी घातक जटिलताओं से स्वयं को बचा सकते हैं।

इस लेख में हम पेरिटोनाइटिस के लक्षण, कारण और इसके इलाज प्रक्रिया के बारे में जानकारी प्राप्त करेंगे।

पेरिटोनाइटिस के लक्षण- Peritonitis symptoms in Hindi

पेरिटोनाइटिस के दौरान भूख न लगना, मतली और पेट में दर्द सबसे सामान्य है। पेट का दर्द जल्दी ही गंभीर रूप ले सकता है। संक्रमण के अंतर्निहित कारणों के आधार पर लोगों में अलग-अलग लक्षण नजर आ सकते हैं। पेरिटोनाइटिस के दौरान सामान्य रूप से निम्न प्रकार के लक्षण देखने को मिलते हैं।

यदि आप पेरिटोनियल डायलिसिस पर हैं, तो डायलिसिस के दौरान निकलने वाले द्रव में झाग या उसमें सफेद परत दिखाई दे सकते हैं। इसके अलावा आपको कैथेटर के चारों ओर लालिमा या दर्द महसूस हो सकता है।

पेरिटोनाइटिस का कारण - Peritonitis causes in Hindi

पेरिटोनाइटिस मुख्य रूप से दो प्रकार के होते हैं।

पहला : स्पॉन्टेनियस बैक्टीरिल पेरिटोनाइटिस (एसबीपी), यह पेरिटोनियल गुहा में तरल पदार्थ के संक्रमण के कारण होता है। किडनी या लिवर फेल होने के कारण भी पेरिटोनाइटिस की समस्या हो सकती है। इसके अलावा जिन लोगों की किडनी खराब हो अथवा जिनको पेरिटोनियल डायलिसिस हो रही हो उन लोगों को एसबीपी का खतरा रहता है।

दूसरा : सेकेंडरी पेरिटोनाइटिस, आमतौर पर पाचन तंत्र से फैले संक्रमण के कारण होता है।

ये दोनों प्रकार के पेरिटोनाइटिस, जानलेवा हो सकते हैं। पेरिटोनाइटिस से होने वाली मृत्यु दर कई कारकों पर निर्भर करती है। जिन लोगों को सिरोसिस की समस्या है, ऐसे लोगों में पेरिटोनाइटिस के कारण मौतों का आंकड़ा 40 फीसदी है। सेकेंडरी पेरिटोनाइटिस में 10 फीसदी लोगों की मौत हो जाती है। इसके अलावा कई और स्थितियां हैं, जिनके कारण पेरिटोनाइटिस होने का खतरा रहता है।

पेरिटोनाइटिस का निदान - Diagnosis of Peritonitis in Hindi

यदि आपमें पेरिटोनाइटिस के लक्षण नजर आ रहे हों तो तुरंत चिकित्सक से संपर्क करें। इलाज में देरी से आपका जीवन खतरे में पड़ सकता है। पेरिटोनाइटिस के निदान के लिए डॉक्टर सबसे पहले आपकी मेडिकल हिस्ट्री जानने के साथ फिजिकल टेस्ट करते हैं। डॉक्टर आपके पेट को छू और दबाकर देख सकते हैं, आमतौर पर ऐसा करने से तेज दर्द होता है।

बीमारी को सटीकता से जानने के लिए डॉक्टर कुछ परीक्षणों की भी सलाह दे सकते हैं।

  • सफेद रक्त कोशिकाओं (डीब्ल्यूबीसी) की मात्रा को जानने के लिए डॉक्टर पूर्ण रक्त गणना (सीबीसी) टेस्ट कराने की सलाह देते हैं। डीब्ल्यूबीसी की बढ़ी हुई मात्रा आमतौर पर सूजन या संक्रमण का संकेत होती है। इसके अलावा संक्रमण या सूजन पैदा करने वाले बैक्टीरिया की पहचान करने में ब्लड कल्चर मददगार हो सकता है।
  • यदि पेट में तरल पदार्थ इकट्ठा हो रहे हों तो निडिल के माध्यम से द्रव को निकालकर उसे जांच के लिए भेजते हैं। इस जांच के माध्यम से भी बैक्टीरिया की पहचान करने में मदद मिल सकती है।
  • पेरिटोनियम में क्षति या छेद का पता करने के लिए सीटी स्कैन और एक्स-रे जैसे इमेजिंग टेस्ट कराने की सलाह दी जाती है।
  • यदि आप डायलिसिस पर हैं, तो आपका डॉक्टर डायलिसिस द्रव में उपस्थित झाग के आधार पर पेरिटोनाइटिस का निदान कर सकते हैं।

पेरिटोनाइटिस का इलाज - Treatment of Peritonitis in Hindi

जिन लोगों में पेरिटोनाइटिस का निदान होता है, उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया जाता है। रोगी में संक्रमण का इलाज करने के लिए त्वरित रूप से एंटीबायोटिक्स या ऐंटिफंगल दवाएं नसों के माध्यम से दी जानी शुरू कर दी जाती हैं। यदि सेप्सिस के कारण रोगी के अंग खराब होने शुरू हो गए हों तो अतिरिक्त सहायक उपचार की आवश्यक होती है। ऐसी स्थिति में नसों के माध्यम से शरीर में तरल पदार्थ पहुंचाना, ब्लड प्रेशर को नियंत्रित रखने वाली दवाएं और पोषण संबंधी आवश्यकताओं की पूर्ति की जाती है।

कई मामलों में रोगी को आपातकालीन सर्जरी की आवश्यकता होती है, खासकर अगर पेरिटोनाइटिस, एपेंडिसाइटिस, पेट के अल्सर या डायवर्टीकुलाइटिस जैसी स्थितियों के कारण हुआ है। ऊतकों के फटने जैसी स्थितियों में संक्रमित ऊतक को सर्जरी द्वारा हटा दिया जाता है।

यदि रोगी किडनी डायलिसिस पर है, तो संक्रमण खत्म होने तक अग्रिम उपचार के लिए इंतजार किया जाता है। यदि संक्रमण जारी रहता है, तो रोगी को अलग प्रकार के डायलिसिस पर स्विच करने की आवश्यकता हो सकती है।



संदर्भ

  1. OMICS International[Internet]; Peritonitis.
  2. Sujit M. Chakma et al. Spectrum of Perforation Peritonitis. J Clin Diagn Res. 2013 Nov; 7(11): 2518–2520. PMID: 24392388
  3. K Soares-Weiser. Antibiotic treatment for spontaneous bacterial peritonitis. BMJ. 2002 Jan 12; 324(7329): 100–102. PMID: 11786457
  4. R.J.E.Skipworth and K.C.H.Fearon. Acute abdomen: peritonitis. Surgery,March 2008, 26 (3); 98-101. Volume 26, Issue 3, Pages 98–101
  5. Carlos A Ordonez,Juan Carlos Puyana. Management of Peritonitis in the Critically Ill Patient. Surg Clin North Am. 2006 Dec; 86(6): 1323–1349. PMID: 17116451

पेरिटोनाइटिस के डॉक्टर

Dr. Abhay Singh Dr. Abhay Singh गैस्ट्रोएंटरोलॉजी
1 वर्षों का अनुभव
Dr. Suraj Bhagat Dr. Suraj Bhagat गैस्ट्रोएंटरोलॉजी
23 वर्षों का अनुभव
Dr. Smruti Ranjan Mishra Dr. Smruti Ranjan Mishra गैस्ट्रोएंटरोलॉजी
23 वर्षों का अनुभव
Dr. Sankar Narayanan Dr. Sankar Narayanan गैस्ट्रोएंटरोलॉजी
10 वर्षों का अनुभव
डॉक्टर से सलाह लें

पेरिटोनाइटिस की दवा - Medicines for Peritonitis in Hindi

पेरिटोनाइटिस के लिए बहुत दवाइयां उपलब्ध हैं। नीचे यह सारी दवाइयां दी गयी हैं। लेकिन ध्यान रहे कि डॉक्टर से सलाह किये बिना आप कृपया कोई भी दवाई न लें। बिना डॉक्टर की सलाह से दवाई लेने से आपकी सेहत को गंभीर नुक्सान हो सकता है।

दवा का नाम

कीमत

₹45.86

20% छूट + 5% कैशबैक


₹45.5

20% छूट + 5% कैशबैक


₹30.0

20% छूट + 5% कैशबैक


₹170.8

20% छूट + 5% कैशबैक


₹46.9

20% छूट + 5% कैशबैक


₹49.31

20% छूट + 5% कैशबैक


₹206.5

20% छूट + 5% कैशबैक


₹90.81

20% छूट + 5% कैशबैक


₹66.5

20% छूट + 5% कैशबैक


₹229.5

20% छूट + 5% कैशबैक


Showing 1 to 10 of 994 entries

पेरिटोनाइटिस की ओटीसी दवा - OTC Medicines for Peritonitis in Hindi

पेरिटोनाइटिस के लिए बहुत दवाइयां उपलब्ध हैं। नीचे यह सारी दवाइयां दी गयी हैं। लेकिन ध्यान रहे कि डॉक्टर से सलाह किये बिना आप कृपया कोई भी दवाई न लें। बिना डॉक्टर की सलाह से दवाई लेने से आपकी सेहत को गंभीर नुक्सान हो सकता है।

दवा का नाम

कीमत

₹150.0

20% छूट + 5% कैशबैक


Showing 1 to 0 of 1 entries
cross
डॉक्टर से अपना सवाल पूछें और 10 मिनट में जवाब पाएँ