myUpchar प्लस+ के साथ पूरेे परिवार के हेल्थ खर्च पर भारी बचत
  1. हृदय वाल्व रिप्लेसमेंट सर्जरी क्या होता है? - Valve Replacement kya hai in hindi?
  2. हृदय वाल्व रिप्लेसमेंट सर्जरी क्यों की जाती है? - Valve Replacement kab kiya jata hai?
  3. हृदय वाल्व रिप्लेसमेंट सर्जरी होने से पहले की तैयारी - Valve Replacement ki taiyari
  4. हृदय वाल्व रिप्लेसमेंट सर्जरी कैसे किया जाता है? - Valve Replacement kaise hota hai?
  5. हृदय वाल्व रिप्लेसमेंट सर्जरी के बाद देखभाल - Valve Replacement hone ke baad dekhbhal
  6. हृदय वाल्व रिप्लेसमेंट सर्जरी के बाद सावधानियां - Valve Replacement hone ke baad savdhaniya
  7. हृदय वाल्व रिप्लेसमेंट सर्जरी की जटिलताएं - Valve Replacement me jatiltaye

वॉल्वुयूलर हृदय रोग (Valvular heart disease) तब होता है जब हृदय की चार वॉल्व्स में से एक या उससे अधिक वॉल्व ठीक से काम नहीं करती। यदि आपके दिल की वॉल्व बहुत नाजुक हो या क्षतिग्रस्त हो तो वॉल्व प्रतिस्थापन सर्जरी (Valve replacement surgery) एक विकल्प हो सकता है।

वॉल्व की मरम्मत या प्रतिस्थापन सर्जरी का उपयोग एक या अधिक रोगग्रस्त हृदय वॉल्व की समस्याओं को ठीक करने के लिए किया जाता है।
यदि आपकी एक या एक से अधिक वॉल्व खराब हो जाती है या किसी बीमारी से ग्रस्त हो जाती है, तो इसके निम्नलिखित लक्षण हो सकते हैं:

  • चक्कर आना
  • छाती में दर्द
  • साँस लेने में कठिनाई
  • घबराहट 
  • पैरों, टखनों, या पेट की सूजन
  • द्रव प्रतिधारण के कारण वजन में तीव्र वृद्धि

सर्जरी की तैयारी के लिए आपको निम्न कुछ बातों का ध्यान रखना होगा और जैसा आपका डॉक्टर कहे उन सभी सलाहों का पालन करना होगा: 

  1. सर्जरी से पहले किये जाने वाले टेस्ट्स/ जांच (Tests Before Surgery)
  2. सर्जरी से पहले एनेस्थीसिया की जांच (Anesthesia Testing Before Surgery)
  3. सर्जरी की योजना (Surgery Planning)
  4. सर्जरी से पहले निर्धारित की गयी दवाइयाँ (Medication Before Surgery)
  5. सर्जरी से पहले फास्टिंग/ खाली पेट रहना (Fasting Before Surgery)
  6. सर्जरी का दिन (Day Of Surgery)
  7. सामान्य सलाह (General Advice Before Surgery)
  8. ध्यान देने योग्य अन्य बातें:
  • ​अगर आप किसी भी दवा, आयोडीन, लेटेक्स, टेप या एनेस्थेसिया (लोकल और जनरल) से एलर्जिक हो तो अपने चिकित्सक को बताएं।
  • यदि आप पेसमेकर का इस्तेमाल कर रहे हैं तो अपने चिकित्सक को सूचित करें।
  • आपकी चिकित्सा स्थिति के आधार पर, आपका चिकित्सक आपको किसी अन्य विशिष्ट तैयारी की सलाह दे सकता है।

इन सभी के बारे में जानकारी प्राप्त करने के लिए इस लिंक पर जाएँ - सर्जरी से पहले की तैयारी

हार्ट वॉल्व प्रतिस्थापन सर्जरी (Heart valve replacement surgery) को जनरल एनेस्थेसिया के तहत पारंपरिक या कम चीरकर की जाने वाली तकनीक के साथ किया जाता है। पारंपरिक सर्जरी में आपकी गर्दन से आपकी नाभि तक एक बड़ा चीरा लगाया जाता है। यदि आपका चिकित्सक कम चीरकर की जाने वाली तकनीक का इस्तेमाल करता है तो आपके चीरे की लंबाई कम हो सकती है और संक्रमण का जोखिम भी कम हो सकता है ।

एक रोगग्रस्त वॉल्व को सफलतापूर्वक निकालने के लिए और इसकी जगह नयी वॉल्व लगाने के लिए अनिवार्य है की, आपका दिल स्थिर हो। सर्जरी के दौरान आपको बायपास मशीन पर रखा जाएगा जो आपके शरीर में रक्त संचालन और आपके फेफड़ों की कार्यप्रणाली को बनाए रखने में सहायता करेगा। आपका सर्जन आपके महाधमनी (aorta) में चीरे बनायेगा, जिसके माध्यम से वॉल्व निकाले जाएंगे और उन्हें बदला जाएगा। वॉल्व प्रतिस्थापन सर्जरी के के बाद 98 प्रतिशत मरीज़ जीवित रहते हैं।

अधिकांश हृदय वॉल्व प्रतिस्थापन प्राप्तकर्ता (heart valve replacement recipients) लगभग पांच से सात दिनों के लिए अस्पताल में रहते हैं। यदि आपकी सर्जरी कम चीरे वाली थी, तो शायद आप पहले घर जा सकते हैं। वॉल्व प्रतिस्थापन के बाद पहले कुछ दिनों के दौरान मेडिकल स्टाफ आपको आपकी ज़रूरत के मुताबिक दर्द की दवा देंगे और आपके रक्तचाप, श्वास, और हृदय कार्यप्रणाली की निरंतर निगरानी करेंगे।

आपका पूर्ण स्वस्थ होना आपके स्वास्थ्य दर और सर्जरी के प्रकार पर निर्भर करता है। सर्जरी के तुरंत बाद संक्रमण होने का खतरा रहता है, इसलिए अपने चीरों को विसंक्रमित रखना अत्यंत महत्वपूर्ण है। यदि आपको निम्नलिखित में से कोई लक्षण नज़र आते हैं जो संक्रमण का संकेत देते हैं, तो अपने चिकित्सक से संपर्क करें :

  • बुखार
  • ठंड लगना
  • चीरा साइट पर दर्द या सूजन
  • चीरा साइट से स्त्राव निकलना

फॉलो-अप अपॉइंटमेंट्स महत्वपूर्ण हैं। उनसे आपके डॉक्टर को यह निर्धारित करने में मदद मिलेगी कि आप अपनी रोज़मर्रा की गतिविधियों को फिर से शुरू करने के लिए तैयार हैं या नहीं।

आपको पूर्ण रूप से स्वस्थ होने में कुछ सप्ताह या कुछ महीनों तक का समय लग सकता है। इसलिए अपने डॉक्टर के निर्देशों का सही से पालन करें और समय समय पर जांच करवाते रहें। 

हृदय वॉल्व प्रतिस्थापन सर्जरी से जुड़े संभावित जोखिम निम्नलिखित हैं:

  • सर्जरी के दौरान या बाद में रक्त स्राव
  • रक्त के थक्के जो दिल के दौरे, स्ट्रोक, या फेफड़े की समस्याएं पैदा कर सकते हैं
  • संक्रमण
  • निमोनिया (और पढ़ें – निमोनिया का घरेलू उपचार)
  • साँस सम्बन्धी परेशानी
  • अतालता (असामान्य हृदय दर)

आपकी किसी विशिष्ट चिकित्सा स्थिति के आधार पर अन्य प्रकार के जोखिम हो सकते हैं प्रक्रिया से पहले अपने चिकित्सक से सब बातें कर लें।

और पढ़ें ...