गठिया शरीर के जोड़ों को प्रभावित करने वाला विकार है। आधुनिक चिकित्सा के अनुसार गठिया रोग का कारण रक्त में यूरिक एसिड का बढ़ना है। हड्डियों के जोड़ों में यूरिक एसिड जमा होने लगता है तो गठिया का रूप ले लेता है। डॉक्टरों का कहना है कि गठिया में जोड़ों के दर्द के साथ सूजन, अकड़न, हिलने-ढुलने की क्षमता कम होने लगती है। प्रभावित जोड़ लाल हो जाते हैं और आसपास की त्वचा गर्म हो जाती है। कुछ सावधानियां रखी जाएं तो गठिया के दर्द की रोकथाम करना कभी-कभी संभव हो सकता है। इसके लिए पोषक तत्वों से भरपूर खाद्य पदार्थों का सेवन, नियमित रूप से व्यायाम, शरीर का सही संतुलन, बैठने-उठने की सही स्थिति, वजन पर नियंत्रण आदि शामिल हैं। इसके अलावा, शरीर को ऐसी पोजिशन में न रखें जिससे कि जोड़ों पर दबाव या तनाव बढ़े। गठिया के दर्द से निजात पाने के लिए कुछ घरेलू उपाय भी किए जा सकते हैं। इसमें नीम भी महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकता है।

(और पढ़ें - वजन नियंत्रित रखने के सरल उपाय)

गठिया में नीम का ऐसे करें इस्तेमाल
myUpchar से जुड़े डॉ. लक्ष्मीदत्ता शुक्ला का कहना है कि औषधीय गुणों के कारण नीम को सभी रोगों को दूर करने वाली जड़ी-बूटी माना गया है। गठिया की समस्या में भी नीम बड़े काम की है। रुमेटी गठिया और विशेष रूप से ऑस्टियोआर्थराइटिस के इलाज में नीम बहुत सहायक हो सकता है। नीम में दर्द दूर करने और सूजन कम करने के गुण होते हैं। गठिया के रोगियों को जोड़ों के दर्द और सूजन को कम करने के लिए कुछ नीम की पत्तियों और फूलों को 1 कप पानी में उबालें। अच्छी तरह से उबल जाने पर इसे छान लें। ठंडा होने पर दिन में दो बार इसका सेवन करें। यह उपाय एक महीन तक अपनाने से गठिया से होने वाली परेशानियों में राहत मिलेगी। एक अन्य तरीका भी है, जिसमें जोड़ों और मांसपेशियों के दर्द से राहत पाने के लिए नीम के तेल से नियमित मालिश कर सकते हैं। नीम अपने औषधीय गुणों के कारण आंखों से जुड़े विकारों, कुष्ठ रोग, आंतों के कीड़े, पेट खराब होने, त्वचा और रक्त वाहिकाओं में अल्सर, डायबिटीज और लिवर से जुड़ी समस्याओं में भी इस्तेमाल किया जा सकता है।

गठिया में ये उपाय भी कारगर
नीम के अलावा गठिया में होने वाले जोड़ों के दर्द, अकड़न और सूजन से राहत पाने के लिए अदरक, लहसुन, लाल मिर्च, सेब का सिरका, हल्दी, गुग्गुल, अश्वगंधा, तुलसी, शाल्लाकी का इस्तेमाल भी फायदेमंद माना जाता है। इसके अलावा मालिश भी गठिया के दर्द से छुटकारा पाने का प्रभावी तरीका है। दर्द और सूजन से छुटकारा पाने के लिए सरसों के तेल से मालिश करें। यह प्राकृतिक मरहम के रूप में काम करते हैं और इसके साथ ब्लड सर्कुलेशन भी बढ़ाते हैं। सूजन कम करने के लिए सरसों के तेल में बराबर मात्रा में प्याज का रस मिलाकर प्रभावित क्षेत्रों पर रगड़ें और इसे प्लास्टिक से ढककर गर्म तौलिया लगाएं। रात को सोने से पहले यह उपाय करना प्रभावी रहेगा।

(और पढ़ें - सूजन कम करने के घरेलू उपाय)

और पढ़ें ...
cross
डॉक्टर से अपना सवाल पूछें और 10 मिनट में जवाब पाएँ