myUpchar प्लस+ सदस्य बनें और करें पूरे परिवार के स्वास्थ्य खर्च पर भारी बचत,केवल Rs 99 में -

पेट खराब होना क्या होता है?

पेट खराब होना इतनी आम समस्या है कि जम सब ने कभी न कभी इसका सामना किया ही है। पेट दर्द, पेट में गैस, पेट में मरोड़ (ऐंठन), दस्त या कब्ज, इन सभी को पेट खराब होना कह दिया जाता है। पेट खराब होने के कई कारण होते सकते हैं। इसके मुख्य कारण सामान्यतः गंभीर नहीं होते हैं और इसके लक्षण जल्द ही ठीक हो जाते हैं। अगर कारण गंभीर न हो तो बिना किसी डॉक्टरी इलाज के रसोई में मौजूद कुछ चीजों का सेवन करने से ही इस समस्या से आसानी से छुटाकारा मिल जाता है।

इस लेख में आपको पेट खराब होने की समस्या के बारे में विस्तार से बताया गया है। आगे आप जानेंगे पेट खराब होने के लक्षण, बार-बार पेट खराब होने के कारण, पेट खराब होने के घरेलू उपाय, पेट खराब होने पर क्या खाएं, पेट खराब होने पर क्या करें आदि।

(और पढ़ें - पेट दर्द के घरेलू उपाय

  1. पेट खराब होने के लक्षण - Upset Stomach Symptoms in Hindi
  2. पेट खराब होने के कारण - Upset Stomach Causes in Hindi
  3. पेट खराब होने पर घरेलू उपचार - Upset Stomach Treatment in Hindi
  4. पेट खराब होने पर क्या खाना चाहिए? - What to eat during Upset Stomach in Hindi?
  5. पेट खराब की दवा - Medicines for Upset Stomach in Hindi
  6. पेट खराब की ओटीसी दवा - OTC Medicines for Upset Stomach in Hindi
  7. पेट खराब के डॉक्टर

पेट खराब होने के लक्षण - Upset Stomach Symptoms in Hindi

पेट खराब होने के क्या लक्षण होते हैं?

अगर आपको अधिक मात्रा में भोजन करने की वजह से पेट खराब होने की समस्या हुई है, तो आपको निम्न लक्षण दिखाई दे सकते हैं -

डॉक्टर को कब दिखाएं?

पेट खराब होने की समस्या सामान्यतः दो दिनों में ठीक हो जाती है। इसको ठीक करने के लिए आपको नीचे बताए गए उपायों को आजमा सकते हैं। यदि फिर भी पेट सही न हो पाएं तो आपको डॉक्टर के पास जाना चाहिए।

इसके अलावा, इन परिस्थितियों में आपको डॉक्टर के पास जरूर जाना चाहिए:

  • उल्टी, दस्त और मल त्यागने की प्रक्रिया में कोई सुधार न होना और पेट के निचले हिस्से में दर्द होना।
  • एक दिन से ज्यादा दस्त व उल्टी होना।
  • एक घंटे में तीन से ज्यादा बार उल्टी या दस्त होना।
  • उल्टी या मल में खून आना। (और पढ़ें - मल में खून आने की समस्या)
  • छह या उससे ज्यादा घंटों तक पेशाब न आना। (और पढ़ें - पेशाब में खून आने का इलाज)
  • चक्कर आना
  • हृदय की धड़कने तेज होना। (और पढ़ें - दिल की धड़कन तेज होने के कारण)
  • गैस बनाना और बाहर आने में परेशानी होना।
  • मल बनने की प्रक्रिया अनियमित होना।

पेट खराब होने के कारण - Upset Stomach Causes in Hindi

पेट खराब होने के क्या कारण होते हैं?

पेट खराब होने के कारणों को तीन हिस्सों में विभाजित किया जाता है। इन तीनों में से किसी एक या तीनों कारणों की वजह से आपका पेट खराब हो सकता है। पेट खराब होने के इन कारणों में खान-पान, अव्यवस्थित जीवनशैली और चिकित्सीय कारण शामिल किए जाते हैं। इन कारणों को विस्तार से नीचे समझाया जा रहा है।

खान-पान के कारण पेट खराब होना -

  • फूड पाइज़निंग – इसमें बैक्टीरिया, वायरस और परजीवी युक्त खराब भोजन खाने से आपका पेट खराब हो जाता है। इसके चलते आपको उल्टी, जी मिचलाना और बुखार हो सकता है।
  • ज्यादा खाना या पीना – किसी भोजन को अधिक खाना या किसी पय पदार्थ को जरूरत से अधिक मात्रा में पीने से आपका पेट खराब हो सकता है। इससे आपका पाचन तंत्र बिगड़ जाता है। (और पढ़ें - ज्यादा खाना खाने के नुकसान
  • कुछ विशेष तरह का भोजन खाना – चिकनाई या ज्यादा मसालेदार भोजन खाने से भी आपका पेट खराब हो सकता है। इस तरह के भोजन से आपकी पाचन प्रणाली खराब हो जाती है।

जीवनशैली के कारण पेट खराब होना -

आपके जीवन की कुछ आदतें आपके पेट खराब होने की वजह बन सकती हैं। इन आदतों के बारे में आइये जानें-

पेट खराब होने के चिकित्सीय कारण -

पेट खराब होने की समस्या सामान्यतः अपने आप ठीक हो जाती है। लेकिन, कई मामलों में पेट खराब होना जठरांत्र संबंधी रोगों की ओर इशारा करता है। इसके अलावा मुंह के छाले, लैक्टोज असहिष्णुता (Lactose intolerance/ डेयरी उत्पादों को पचाने में मुश्किल होना), मल बनने की प्रक्रिया में बाधा होना या इर्रिटेबल बाउल सिंड्रोम होना, आंतों में संक्रमण होना या पेट में किसी अन्य प्रकार का इन्फेक्शन भी इसका कारण हो सकता है।

इसके अलावा कुछ मामलों में प्रेग्नेंसी भी पेट खराब होने की वजह होती है। अगर आपका पेट खराब होने की वजह प्रेग्नेंसी हो तो किसी तरह की दवा लेने से पहले डॉक्टर से इसकी जांच कराएं। प्रेग्नेंसी में किसी भी तरह की दवा लेना खतरनाक हो सकता है। (और पढ़ें - गर्भावस्था के महीने

बार-बार पेट खराब होने के कारण -

बार-बार पेट खराब होने के कारण हमेशा साधारण नहीं होते हैं। बार-बार पेट खराब होना किसी अन्य तरह की परेशानियों की ओर संकेत भी हो सकती है। पेट खराब होने पर डाइट बदलाव के बाद भी अगर कोई असर न हो तो आपको तुरंत डॉक्टर से मिलना चाहिए। क्योंकि, पेट खराब होने के पीछे कुछ अन्य कारण भी हो सकते हैं। आपके पेट की आंतों पर होने वाली समस्या के चलते भी पेट खराब हो सकता है। इसके अलावा अग्नयाशय शोथ भी इसकी वजह हो सकती है। अग्नाशय शोथ में आपके पाचन के लिए जरूरी एंजाइम्स का उत्पादन बाधित हो सकता है। बार-बार पेट खराब होने में ब्लैडर में जलन महसूस होती है। इतना ही नहीं पेप्टिक अल्सर (पेट में होने वाले घाव) तक की संभावनाएं बढ़ जाती हैं। पेट खराब होने की समस्या आपको कार्डिक आइस्केमिया (Cardiac ischemia) होने की ओर भी इशारा करती है। यह सभी बीमारियां गंभीर होती हैं।

अपनी रोजाना की डाइट में बदलाव के बाद भी अगर आपको बार-बार पेट खराब होने की समस्या से छुटकारा न मिले, तो आपको डॉक्टरी सलाह लेनी चाहिए। डॉक्टर परीक्षणों के आधार पर आपकी बीमारी का इलाज शुरू करते हैं। लंबे समय से यदि आपका पेट बार-बार खराब हो रहा है, तो आपके डॉक्टर इसके लिए आपकी जीवनशैली, दवाओं में बदलाव या सर्जरी का विकल्प चुनते हैं। 

पेट खराब होने पर घरेलू उपचार - Upset Stomach Treatment in Hindi

पेट खराब होने पर घरेलू इलाज :

पेट खराब होने के कई कारण होते हैं। इस स्थिति सें आपको अक्सर यह समझ नहीं आता कि पेट खराब होने में क्या खाएं। लेकिन, इसको ठीक करने के नुस्खें आपकी ही रसोई में मौजूद होते हैं। दादी और नानी के बताए घरेलू नुस्खों की मदद से आप अपने खराब पेट की समस्या में जल्द ही आराम पा सकते हैं। आगे जानते हैं इन घरेलू नुस्खों के बारे में-

  1. अदरक –
    वर्षों से जी मिचलाने की समस्या होने पर लोगों के द्वारा अदरक का सेवन किया जाता है। ऐसा न सिर्फ लोगों के द्वारा एक मान्यता के तहत किया जाता है, बल्कि कई अध्ययन भी पेट खराब होने पर अदरक खाने के फायदों के बारे में बताते हैं। अदरक प्राकृतिक रूप से कई बीमारियों को ठीक करने का काम करता है। इसके लिए आप अदरक को किसी भी तरह से सेवन कर सकते हैं। कई लोगों को अदरक खाना पसंद होता है, तो कई अदरक के रस को पीना पसंद करते हैं। इसके अलावा आप अदरक को चाय में मिलाकर भी पी सकते हैं।
    (और पढ़ें - अदरक की चाय के लाभ)
     
  2. कैमोमाइल से बनी चाय –
    पेट को खराब करने वाले कारणों को दूर करने के लिए आप कैमोमाइल की चाय का सेवन कर सकते हैं। यह चाय आपके पेट की मांसपेशियों को आराम पहुंचाती है। जिससे पेट खराब होने के दौरान पेट में होने वाली ऐंठन में राहत मिलती है और पेट का दर्द धीरे-धीरे ठीक होने लगता है।
    (और पढ़ें - गर्भावस्था में पेट दर्द के कारण)

     
  3. पुदीना –
    जी मिचलाने की समस्या को दूर करने के लिए आप पुदीने का सेवन कर सकते हैं। पेट खराब होने पर कई बार आपको उल्टी आने जैसा महसूस होता है। ऐसा महसूस होने पर आप पुदीने का सेवन कर सकते हैं। पुदीने के प्राकृतिक गुण किसी भी प्रकार के दर्द और पेट खराब होने की समस्या को जल्द दूर करने में सक्षम होते हैं। पुदीने को आप चाय के साथ या इसका सीधे भी सेवन कर सकते हैं। (और पढ़ेें - पुदीने की चाय)
     
  4. सेब का सिरका –
    पेट में एसिडिटी के कारण होने वाली समस्या को दूर करने के लिए सेब के सिरके का भी सेवन किया जा सकता है। इसके लिए आप एक चम्मच सेब के सिरके को एक चम्मच शहद के साथ मिला लें और धीरे-धीरे करके इसको पीते रहें। सेब का सिरका पेट की एसिडिटी को कम कर आपके पाचन तंत्र को दुरुस्त करता है। इसके अलावा पेट के लिए जरुरी बैक्टीरिया की संख्या में बढ़ोतरी करता है।

 

पेट खराब होने पर क्या खाना चाहिए? - What to eat during Upset Stomach in Hindi?

पेट खराब होने पर क्या खाएं :

पेट खराब होने की स्थिति में आपको हल्का भोजन खाना चाहिए। हल्का खाना पचने में आसान होता है और इससे पाचन क्रिया पर ज्यादा दबाव नहीं पड़ता है। इस स्थिति में आप एक विशेष तरह की डाइट को अपना सकते हैं। इस डाइट को “BRAT” डाइट कहते हैं। इसमें केला (Banana), चावल (Rice), एप्पल सॉस (Apple sauce) और टोस्ट (Toast) को शामिल किया जाता है।

1. केला – सभी की मां इस बात को अच्छी तरह से जानती हैं कि केला पेट के लिए कितना लाभकारी होता है। पेट के रोगों को दूर करने के लिए केले का सेवन किया जाता है। केले में पेट की जठरांत्र को शांत करने के तत्व मौजूद होते हैं। इसके अलावा इसमें मौजूद पौटेशियम दस्त व उल्टियों के कारण पेट में हुई सभी तरह की परेशानियों को दूर करने का काम करते हैं।

2. चावल – पेट खराब होने की समस्या में आप सेफद चावल या भूरे चावल (brown rice/ ब्राउन राइस) का सेवन कर सकते हैं। ब्राउन राइस आसानी से पच जाते हैं। इसके अलावा सफेद चावल का भी सेवन कर सकते हैं। यह आपके पेट की लाइनिंग को ठीक करने का काम करता है। आप दही के साथ चावल का सेवन कर सकते हैं। दही और चावल आपके पेट के विकारों को दूर करने के लिए उपयोगी होते हैं।

3. एप्पल सॉस – इस डाइट में सेब से बने इस सॉस का महत्वपूर्ण स्थान है, इस सॉस में पैक्टिन (Pectin) तत्व मौजूद होते हैं। पैक्टिन दस्त को ठीक करने और आपके द्वारा लिए गए आहार को सख्त करने का काम करता है।

4. टोस्ट – इसमें आपको कई अनाजों से बना टोस्ट न लेकर केवल सफेद ब्रेड का टोस्ट ही लेना चाहिए। यह आपकी पाचन क्रिया पर किसी तरह का दबाव नहीं डालता है और आपको दस्त व अन्य समस्याओं से राहत प्रदान करता है। (और पढ़ें - दस्त रोकने के घरेलू उपाय)

BRAT डाइट लेना क्यों जरूरी -

यह डाइट पेट खराब होने पर बच्चों व बड़ों के लिए जरूरी मानी जाती है। पेट खराब ठीक करने के साथ ही इससे निम्न तरह के अन्य फायदे भी होते हैं। (और पढ़ें - संतुलित आहार

  • इस डाइट से आपके आहार से बनने वाला मल नियमित स्थिति में आ जाता है।
  • उल्टी व दस्त की वजह से आपके शरीर को जिन पोषक तत्वों की आवश्यकता होती है, उनको इस डाइट से पूरा किया जा सकता है।
  • इस डाइट के नरम आहार आपके पेट में जलन नहीं होने देते हैं और आपको जल्द ही आराम पहुंचाते हैं।

इस डाइट को लेने से पहले निम्न बात पर ध्यान देना जरूरी है -

  • सबसे पहले साफ पानी का सेवन करें। जिनको अधिक उल्टी हो रही हो, उनको इस तरह की डाइट लेने से बचना चाहिए। यदि आपको उल्टियां या दस्त ज्यादा हो रही हों तो इलैक्ट्रोलाइट पीएं। इलैक्ट्रोलाइट आपके शरीर की पानी की जरूरतों को पूरा करता है। (और पढ़ें - उल्टी रोकने के घरेलू उपाय)
  • डॉक्टर ने आपको जिस तरह के आहार का सेवन करने के लिए कहा है आप उसी तरह की डाइट लें।
  • आप जब खुद को स्वस्थ महसूस कर रहें हों तो BRAT डाइट को लेना आवश्यक नहीं माना जाता है। इस तरह की डाइड से आपको पूरा पोषण नहीं मिल पाता है। उल्टी या दस्त की समस्या में बेहतर महसूस करने पर आप एक या दो दिनों के बाद नियमित रूप से फल और सब्जियों का सेवन कर सकते हैं।
Dr. Abhay Singh

Dr. Abhay Singh

गैस्ट्रोएंटरोलॉजी
1 वर्षों का अनुभव

Dr. Suraj Bhagat

Dr. Suraj Bhagat

गैस्ट्रोएंटरोलॉजी
23 वर्षों का अनुभव

Dr. Smruti Ranjan Mishra

Dr. Smruti Ranjan Mishra

गैस्ट्रोएंटरोलॉजी
23 वर्षों का अनुभव

Dr. Sankar Narayanan

Dr. Sankar Narayanan

गैस्ट्रोएंटरोलॉजी
10 वर्षों का अनुभव

पेट खराब की दवा - Medicines for Upset Stomach in Hindi

पेट खराब के लिए बहुत दवाइयां उपलब्ध हैं। नीचे यह सारी दवाइयां दी गयी हैं। लेकिन ध्यान रहे कि डॉक्टर से सलाह किये बिना आप कृपया कोई भी दवाई न लें। बिना डॉक्टर की सलाह से दवाई लेने से आपकी सेहत को गंभीर नुक्सान हो सकता है।

Medicine Name
Ulgel Tablet खरीदें
Goldcid खरीदें
Ulgel खरीदें
Ulgel A खरीदें
Magnate P खरीदें
Rantac Mps खरीदें
Ulpane खरीदें
Rate 3 खरीदें
Wisfast A खरीदें
Fast Mps खरीदें
Speucid Forte खरीदें
Norper खरीदें
Metadrate खरीदें
Almag खरीदें
Cid खरीदें
Congel खरीदें
Zestnate खरीदें
Dewgel खरीदें
Engel खरीदें
Gastrox खरीदें
Gelikem खरीदें
Magacone खरीदें
Maglid खरीदें
Magnate खरीदें

पेट खराब की ओटीसी दवा - OTC medicines for Upset Stomach in Hindi

पेट खराब के लिए बहुत दवाइयां उपलब्ध हैं। नीचे यह सारी दवाइयां दी गयी हैं। लेकिन ध्यान रहे कि डॉक्टर से सलाह किये बिना आप कृपया कोई भी दवाई न लें। बिना डॉक्टर की सलाह से दवाई लेने से आपकी सेहत को गंभीर नुक्सान हो सकता है।

OTC Medicine Name
Himalaya Yashtimadhu Tablet खरीदें

References

  1. Board of Regents of the University of Wisconsin System [Internet]: University Health Services; Upset stomach
  2. Virginia State University[Internet]; Upset Stomach.
  3. MedlinePlus Medical Encyclopedia: US National Library of Medicine; Indigestion.
  4. Cleveland Clinic. [Internet]. Cleveland, Ohio. Upset Stomach (Indigestion): Care and Treatment.
  5. Bolia R. Approach to "Upset Stomach". Indian J Pediatr. 2017 Dec;84(12):915-921. PMID: 28687951
और पढ़ें ...
ऐप पर पढ़ें