myUpchar प्लस+ के साथ पूरेे परिवार के हेल्थ खर्च पर भारी बचत

कहते हैं इंसान जब स्वस्थ होता है तो वो जीवन के हर क्षेत्र में बेहतर करता है। अक्सर हमें अपने आस-पास देखने को मिल जाता है कि जो व्यक्ति स्वस्थ और ख़ूबसूरत होता है, लोग उसकी ओर ज़्यादा आकर्षित होते हैं। जब आप किसी से मिलते हैं और सामने वाला व्यक्ति खुश और ऊर्जावान दिखता है, तो वो व्यक्ति आपको हमेशा याद रह जाता है। आख़िर उसमें ऐसा क्या था कि आप उससे प्रभावित हो गए, उससे प्रेरित हो गए? हम आपको बताएंगे कि इन 9 बातों को अपने जीवन में उतार कर आप भी किसी को प्रेरित कर सकते हैं किसी के प्रेरणा स्त्रोत बन सकते हैं। लोग आपके फिटनेस के दिवाने हो जाएंगे।

1. पौष्टिक आहार लेना 

प्रोटीन पर्याप्त मात्रा में लेना - जब हम अपने आहार में प्रोटीन की पर्याप्त मात्रा लेते हैं, तो हमें बार-बार भूख नहीं लगती है और हमारे शरीर की कार्यप्रणाली भी दुरुस्त रहती है। प्रोटीन बालों और त्वचा के लिए बहुत लाभदायक होता है। प्रोटीन से पाचन शक्ति और मेटाबॉलिज्म भी अच्छा होता है।

चीनी कम खाना - अधिक मीठा खाने से हम हाई बीपी, शुगर और दांतो की बिमारी, जैसे कैविटी के शिकार होते हैं। आज हमारे देश में शुगर की बिमारी एक बहुत बड़ी समस्या है और इसका एक मुख्य कारण है मीठा खाद्य पदार्थ। शक्कर में फ्रक्टोज होता है जो फैट को बढ़ावा देता है।

फल और सब्ज़ी खाना - फल और सब्ज़ियों में पोटैशियम की भरपूर मात्रा होती है, जो कि हाई बीपी और गुर्दे की पथरी जैसे रोगों से बचाता है। पर्याप्त मात्रा में सब्ज़ी और फल खाने से हमें पेट से संबंधित बिमारी से छुटाकारा मिलता है और पाचन क्रिया भी बेहतर होती है। 

चबा चबा कर खाना - भोजन करना जितना ज़रूर होता है, उससे कहीं ज़्यादा ज़रूरी होता है, उसे ठीक तरह से चबा कर खाना। जब हम खाना को चबा-चबा कर खाते हैं तो इससे हमारा पेट जल्दी भर जाता है और हम अधिक भोजन करने से बच जाते हैं। कोई जब बहुत जल्दी-जल्दी खाना खाता हैं तो पर्याप्त मात्रा में लार नहीं बन पाता है जो कि पाचन में बहुत ही महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। इसलिए हर कौर को कम से कम 30 सेकंड तक चबाना चाहिए। इससे खाना अच्छे से पचता है और शरीर में चर्बी भी जमा नहीं होती 

खाना पीना ना छोड़ना - फिट रहना या वजन सही रखना एक लाइफ़स्टाइल है, लेकिन कुछ वजन सही रखने के लिए खाना-पीना ही छोड़ देते हैं जो हमारे लिए नुक़सानदायक होता है। फिट रहने के लिए खाना छोड़ने की नहीं बल्की स्वस्थ्य भोजन करने की ज़रूरत होती है।

2. फिट लोग पीते हैं भरपूर पानी 

रोज़ाना सुबह 1 गिलास पानी पीना - गांव के अधिकतर लोग अपने सिरहाने पर रोज़ाना सोने से पहले 1 लोटा पानी रखकर सोते हैं और सुबह उठते ही सबसे पहले पानी पीते हैं। इसका सबसे बड़ा फ़ायदा होता है कि उनको डॉक्टर के पास बहुत कम जाना पड़ता है। रोज़ाना खाली पेट पानी पीने से शरीर से आसानी से विषाक्त पदार्थ बाहर निकल जाते हैं और पाचन क्रिया भी अच्छा होता है। रोज़ाना सुबह उठते ही एक गिलास पानी पीने से मेटाबॉलिज्म ठीक होता है और मोटापा भी नहीं बढ़ता है।

(और पढ़ें - खाली पेट पानी पीने के फायदे)

दिन भर में 6 से 8 गिलास पानी पीना - रोज़ना 6 से 8 गिलास पानी पीने का सबसे बड़ा फ़ायदा हमारे शरीर में पानी की मात्रा बराबर बनी रहती है और शरीर से विषाक्त पदार्थ भी निकलते रहते हैं। जब हम भरपूर मात्रा में पानी पीते हैं तो हमारा पेट भरा रहता है और कैलोरी की अधिक मात्रा ग्रहण करने से बच जाते हैं। 

(और पढ़ें - वजन के हिसाब से कितना पानी पीना चाहिए)

3. व्यायाम करना

प्रत्येक व्यक्ति को रोज़ना कम से कम आधे घंटे का समय व्यायाम के लिए निकाला ही चाहिए। रोज़ाना व्यायाम करने से आप तरोताज़ा रहेंगे, उर्जावान महसूस करेंगे और आपके चहरे की चमक हमेशा बरक़रार रहेगी। व्यायाम करने से हमारा ब्लड सर्कुलेशन अच्छा होता है और मांसपेशियां भी मज़बूत होती हैं। रोज़ाना व्यायाम करने से अतरिक्त फैट और कैलोरी बर्न होती है और आप चुस्त-दुरुस्त रहते हैं।

(और पढ़ें - सिर्फ इन 12 एक्सरसाइज से आप रहेंगे फिट)

4. नाश्ता कभी न छोड़ना

सुबह उठने के आधे घंटे के भीतर भरपूर मात्रा में नाश्त करें। नाश्त करने से दिन की शुरुआत अच्छी होगी और आप अधिक उर्जावान महसूस करेंगे और काम में अच्छा प्रदर्शन भी कर पाएंगे। जब हम सुबह भरपूर मात्रा में नाश्ता करते हैं तो लंच में अधिक मात्रा में कैलोरी ग्रहण करने से बच जाते हैं।

(और पढ़ें - सुबह का नाश्ता छोड़ने के क्या हो सकते हैं दुष्परिणाम)

5. लिफ्ट की बजाए सीढ़ियों का इस्तेमाल करना

आधुनिक जीवन में हम आराम के इतने आदि हो चुके है कि ज़रा सी मेहनत का काम करना पसंद नहीं करते हैं। ऑफिस में दूसरे माले पर भी जाना हो तो हम लिफ्ट का ही इस्तेमाल करते हैं। लेकिन हमें पता होना चाहिए कि इससे हमें हमारी शरिरिक क्षमता कमज़ोर होती है। हम चाहें अगर तो रोज़ाना लिफ्ट की जगह सीढ़ियो का इस्तेमाल करके अपने शरीर से अतिरिक्त फैट को कम कर सकते है।  

(और पढ़ें - सीढ़ी चढ़ने के फायदे)

 6. स्ट्रेच करना 

फिट लोग वर्कआउट के बाद हमेशा स्ट्रेच एक्सरसाइज़ करते हैं। किसी भी कठिन शीरीरिक गतिविधि और पूरे दिन के बाद स्ट्रेच एक्सराइज़ ज़रूर करना चाहिए। आप ऑफिस मे बैठे-बैठे भी कंधों को स्ट्रेच कर सकते हैं या इसका अभ्यास कर सकते हैं। काम करने के पहले और काम करने के बाद स्ट्रेच नहीं करना चाहिए। साथ ही जब आप सुबह उठते हैं या किसी काम को करने के लिए तैयार होते हैं तो। जब आप कम उर्जावान महसूस कर रहे होते हैं, तो ये आपके लिए बहुत मददगार होता है।

(और पढ़ें - शरीर का लचीलेपन सुधारने के लिए स्ट्रेचिंग एक्सरसाइज)

7. सीधा बैठना

कमज़ोर मांसपेशियां की वजह से स्लाउचिंग (आगे झुक कर बैठना) होती है, जिसकी वजह से मांसपेशियां और भी कमज़ोर हो जाती हैं। जब हमारी मांसपेशियां और पीछे का हिस्सा जैसे रीढ़ की हड्डी मज़बूत होती है तो हमारे बैठने की मुद्रा अपने आप सही हो जाती है और हममें अधिक आत्माविश्वास दिखाई देता है। इसलिए जो लोग फिट और स्वस्थ्य जीवन जीना चाहते हैं वे लोग कुर्सी या बेंच हर जगह सीधे बैढ़ते हैं। क्योंकि हमे पता होना चाहिए की स्लाउचिंग से हमारे मसल्स कमज़ोर होते हैं और इससे हमारे शरीर का तनाव बढ़ता है। अपने बैठने की मुद्रा में, स्वास्थ्य में, अधिक से अधिक सुधार लाने की कोशिश कीजिए और सीधे बैठने को अपनी आदत बनाइए।

(और पढ़ें - कमर सीधी रखने के लिए टिप्स)

8. तनाव रहित रहना

तनाव से व्यायाम और भोजन पर गहरा प्रभाव पड़ता है। इससे हमारा वजन भी बढ़ सकता है। रोज़ना व्यायाम करने से हम तनाव को कम कर सकते हैं। हालांकि बहुत से लोग तनाव कम करने के लिए कई उपाय अपनाते हैं, जैसे योगा करना, दोस्तों के साथ बैठ कर कॉफी पीना, उनसे बातें करना। तनाव को कम करने वाली गतिविधियां हमें शारीरिक और मानसिक रूप से स्वस्थ्य रखने में अहम भूमिका निभाते हैं। हम अपने आस-पास हमेशा देखते और महसूस करते हैं की फिट लोग ज़्यादा ख़ुश और तनाव मुक्त जीवन बिताते हैं। जब हम तनाव रहित और प्रसन्न रहते हैं तो सेहतमंद रहते हैं। इसलिए हर इंसान को इस आदत को अपने जीवन में अपना चाहिए।

(और पढ़ें - तनाव के घरेलू उपाय)

9. पर्याप्त मात्रा में नींद लेना

एक फिट इंसान के लिए रोज़ना व्यायाम करना, सक्रिय रहना और भोजन करना जितना ज़रूरी है, उतना ही ज़रूरी है भरपूर नीद लेना। (और पढ़ें - कम सोने के नुकसान)

फिट व्यक्ति पर्याप्त मात्रा में नींद लेते है, जिससे की शरीर को सक्रिय रहने के लिए पर्याप्त उर्जा मिल सके। यदि आप किसी फिट व्यक्ति से उसके सेहत का राज़ पूछेंगे तो पाएंगे की पर्याप्त मात्रा में नीद ही उसके सेहत का मूलमंत्र है। (और पढ़ें - उम्र के हिसाब से कितना सोना चाहिए)

10. नियमित दिनचर्या का पालन करना

फिट लोगो हमेशा अनुशासित दिनचर्या का पालन करते हैं। चाहे जीवन में किसी भी क्षेत्र की बात हो आत्म-अनुशासन की बात हो या कार्यक्षेत्र में अनुशासन के पालन की बात हो। फिट लोग केवल काम करने के लिए समय सारणी नहीं बनाते हैं, बल्की वो इसे अपने रोज़ना के आदतों में भी शुमार करते हैं। नियमित दिनचर्या से हमें फिट और स्वस्थ जीवनशैली मिलती है। इससे आप अपने जीवन में अच्छी आदतों को अनाते हैं।

11. उद्देश्य होना कि फिट और स्वस्थ्य रहें, ना कि वजन कम रहे 

फिट लोग स्वस्थ्य होने के लिए व्यायाम करते हैं न की वजन कम करने के लिए। स्वस्थ्य इंसान व्यायाम को बेहतर तरीक़े से करते हैं और प्रदर्शन में सुधार लाने की कोशिश करते हैं, बजाए इसके कि हमने कितना वजन कम किया है। जो लोग फिट रहना चाहते हैं वो इस बात का ध्यान रखें कि फिटनेस का मतलब वजन कम करना नहीं, बल्की ख़ुश और स्वस्थ्य रहना है। स्वस्थ लोग अपने आत्मविश्वास, क्षमता और भावनाओं पर ज़्यादा ध्यान देते हैं, बजाय इसके कि ज़ीरो फीगर के लिए कितना वजन घटाया। अगर आप भी इन बातों को अपनाते हैं, तो जीवन में फिट, ख़ुश और क़ामयाब रहेंगे।

(और पढ़ें - मोटापा घटाने के लिए डाइट चार्ट)

और पढ़ें ...