myUpchar प्लस+ के साथ पूरेे परिवार के हेल्थ खर्च पर भारी बचत

हाइपोपैराथायरायडिज्म क्या हैं?

हाइपोपैराथायरायडिज्म एक असाधारण समस्या है, जिसमें शरीर पैराथायराइड हार्मोन (PTH) का असामान्य रूप से कम स्राव करता है। पैराथायराइड हार्मोन शरीर में एक बहुत ही महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है, यह मिनरल, कैल्शियम और फास्फोरस के स्तर को सामान्य बनाए रखने में मदद करता है।

हाइपोपैराथायरायडिज्म के लक्षण क्या हैं?

हाइपोपैराथायरायडिज्म के लक्षणों में निम्न शामिल हो सकते हैं:

(और पढ़ें - थकान दूर करने के उपाय)

हाइपोपैराथायरायडिज्म क्यों होता है?

कुछ स्थितियों के कारण हाइपोपैराथायरायडिज्म हो सकता है, जैसे:

  • पैराथायराइड ग्रंथि में चोट लगना या ऑपरेशन के दौरान पैराथायराइड ग्रंथि निकलवा देना
  • डीजॉर्ड सिंड्रोम, यह एक आनुवंशिक विकार होता है, जो शरीर की कुछ प्रणालियों के विकास को प्रभावित करता है। 
  • कुछ आनुवंशिक विकारों के कारण भी हाइपोपैराथायरायडिज्म हो जाता है।
  • स्व-प्रतिरक्षित रोग (ऑटोइम्यून बीमारी)
  • कैंसर
  • रेडिएशन थेरेपी का इस्तेमाल होना
  • मैग्नीशियम का स्तर कम होना

(और पढ़ें - कैंसर में क्या खाना चाहिए)

हाइपोपैराथायरायडिज्म का इलाज कैसे किया जाता है?

हाइपोपैराथायरायडिज्म के इलाज का मुख्य लक्ष्य इसके लक्षणों को कम करना और कैल्शियम व फासफोरस के स्तर को सामान्य करना होता है। इसके इलाज में निन्न उपचार प्रक्रियाओं का इस्तेमाल किया जा सकता है:

  • ओरल कैल्शियम कार्बोनेट टेबलेट्स
    मुंह द्वारा लिए जाने वाले कुछ कैल्शियम सप्लीमेंट्स की मदद से कैल्शियम के स्तर को बढ़ाया जा सकता है। हालांकि कैल्शियम की अधिक मात्रा से कुछ लोगों को कब्ज जैसे साइड इफेक्ट्स भी हो सकते हैं। (और पढ़ें - कब्ज में क्या खाना चाहिए)
     
  • विटामिन डी
    हाइपोपैराथायरायडिज्म का इलाज करने के लिए विटामिन डी की बड़ी खुराक दी जा सकती है। आमतौर पर यह कैल्सिट्रिऑल दवा के रूप में दी जाती है, यह दवा कैल्शियम को अवशोषित करने और फासफोरस को शरीर से बाहर निकालने में शरीर की मदद करती है।
     
  • पैराथायराइड हार्मोन (नेटपरा)
    फूड एंड ड्रग एडमिनीस्ट्रेशन ने यह स्वीकृत किया है कि जिन लोगों को हाइपोपैराथायरायडिज्म के कारण खून में कैल्शियम की कमी हो गई है, उनके लिए नेटपरा काफी प्रभावी दवा हो सकती है। 

(और पढ़ें - कब्ज दूर करने के घरेलू उपाय)

क्या आप या आपके परिवार में किसी को यह बीमारी है? सर्वेक्षण करें और दूसरों की सहायता करें

और पढ़ें ...