जबड़े में दर्द एक ऐसी स्थिति होती है, जिसमें कुछ भी खाना-पीना और बोलने में कठिनाई होने लगती है। जबड़े में दर्द कोई आम बात नहीं है, लेकिन यह स्थिति ज्यादा गंभीर भी नहीं होती। अगर आपको जबड़े में दर्द किसी प्रकार की चोट या सूजन के कारण हो रहा है, तो यह कुछ दिनों में खुद ही चला जाएगा। दांतो में सड़न, जबड़े की हड्डी में संक्रमण या कान का मैल जम जाना आदि परेशानियां भी जबड़े के दर्द का कारण बन सकती हैं।

इसके अलावा जबड़े में दर्द की कई अन्य वजह भी हो सकती हैं, जैसे कि सूजन, पस निकलना, कान दर्द, कब्ज, सिरदर्द और जबड़े में अकड़न आना। अगर आपको एक लंबे समय से जबड़े में तीव्र दर्द हो रहा है, तो जल्द ही किसी डेंटिस्ट से मिलें। इसके अलावा जबड़े में दर्द को कुछ घरेलू उपायों द्वारा घर पर भी ठीक किया जा सकता है। नीचे ऐसे ही कुछ घरेलू उपायों के बारे में बताया गया है।

  1. सीबीडी ऑयल है जबड़े में दर्द का घरेलू उपाय - CBD oil hai jabde mein dard ka gharelu upay
  2. लैवेंडर तेल से करें जबड़े में दर्द को ठीक - Lavender tel se karein jabde mein dard ko thik
  3. जबड़े में दर्द का घरेलू उपाय है ऑयल पुल्लिंग - Jaw mein dard ka gharelu upay hai oil pulling
  4. पुदीना है जबड़े में दर्द की देसी दवा - Pudina hai jabde mein dard ki desi dawa
  5. गर्म सिकाई है जबड़े में दर्द का रामबाण इलाज - Garm sikai hai jaw mein dard ka rambaan ilaj
  6. ठंडी सिकाई है जबड़े में दर्द का घरेलू उपचार - Thandi sikai hai jabde mein dard ka gharelu upchar

हाल ही में हुए कुछ अध्ययनों से यह पता चला है कि कैनबिस (गांजा) के पौधे से बने तेल में कई औषधिय गुण होते हैं, जो दर्द को कम करने में मदद करते हैं। सीबीडी ऑयल एक ऐसा केमिकल है, जो कैनबिस पौधे में प्राकृतिक रूप से पाया जाता है। सीबीडी तेल को पौधे के सबसे सक्रिय पदार्थो से बनाया जाता है जिसमें डेल्टा-9 टेट्राहाइड्रोकैनबिनोल (tehtrahydrocannabinol; THC), पाया जाता है, यह मस्तिष्क की गतिविधियों में परिवर्तन करने का काम करता है। लेकिन सीबीडी में ऐसे कोई प्रभाव नहीं पाए जाते, बल्कि यह ऐसे प्रभाव पैदा करता है, जिससे जबड़े में होने वाले दर्द से आराम मिलता है और सूजन, मोच जैसी समस्याएं भी ठीक हो जाती हैं।

आवश्यक सामग्री 

  • ¼ चम्मच सीबीडी या कैनबिडिओल तेल

इस्तेमाल का तरीका 

  • अपने प्रभावित जबड़े पर सीबीडी तेल की कुछ बूंदे लगाएं 
  • अब इसे थोड़ी देर के लिए ऐसे ही छोड़ दें, जब तक इसे प्रभावित हिस्सा सोख ना ले 

कब इस्तेमाल करें

इस प्रक्रिया को दिन में 1 या 2 बार इस्तेमाल करने की सलाह दी जाती है।

जड़ी-बूटी युक्त तेल जैसे लैवेंडर को कई सालों से घरेलू उपायों में दर्द निवारक औषधि की तरह इस्तेमाल किया जा रहा है। इस तेल को अरोमाथेरेपी (सांस के जरिए तेल को अंदर लेना) में इस्तेमाल किया जा सकता है और त्वचा पर लगाया जा सकता है। कई अध्ययनों में ये साबित किया जा चुका है, कि लैवेंडर ऑयल की मदद से जबड़े में दर्द के लक्षणों को कम किया जा सकता है।

आवश्यक सामग्री

इस्तेमाल का तरीका

  • नारियल तेल में लैवेंडर ऑयल की एक या दो बूंद मिलाएं
  • अब इसे अपने प्रभावित हिस्से पर लगाएं और 20 से 30 मिनट के लिए छोड़ दें
  • पानी से धो लें या तेल को खुद ही सूखने दें

कब इस्तेमाल करें

इस उपाय को दिन में 1 से 2 बार इस्तेमाल करने की सलाह दी जाती है।

ऑयल पुल्लिंग यानी कि तेल के गरारे, इस उपाय में  तेल को अपने मुंह में कुछ समय के लिए रखा जाता है और उससे कुल्ला किया जाता है। इससे स्वास्थ्य संबंधी कई लाभ मिलते हैं। शरीर के ज्यादातर विषाक्त पदार्थ और बैक्टीरिया हमारे मुंह में पैदा होते हैं, जिन्हें इस प्रकिया को एक नियमित समय के लिए करने से नष्ट किया जा सकता है।

आवश्यक सामग्री

  • 1 चम्मच नारियल तेल

इस्तेमाल का तरीका

  • नारियल तेल को अपने मुंह में डालें और इससे 10 मिनट तक कुल्ला करें
  • इसके बाद इसे थूक दें और अपने दांत और मुंह को टूथब्रश से साफ कर लें

कब इस्तेमाल करें

इस प्रक्रिया को रोजाना सुबह के समय एक बार करें।

पुदीने के तेल में मेंथोल मौजूद होता है, जो जबड़े की मांसपेशियों में हो रहे दर्द पर एक ठंडा प्रभाव डालता है। ठंडी तासीर से पुदीना जबड़े की नसों को सुन्न कर देता है, जिसके कारण कुछ समय के लिए दर्द कम या बंद हो जाता है। इसके अलावा पुदीने में एंटी इंफ्लेमेटरी (सूजन व लालिमा को कम करने वाले) गुण होते हैं, जिसके कारण जबड़े में दर्द के लक्षण कम होने लगते हैं।

आवश्यक सामग्री

इस्तेमाल का तरीका

  • 2 चम्मच ऑलिव ऑयल में 1-2 बूंद पुदीने का तेल मिलाएं
  • अब इस मिश्रण को अपने प्रभावित हिस्से पर लगा कर कम से कम 15 मिनट के लिए छोड़ दें।

कब इस्तेमाल करें

बेहतर परिणाम के लिए इस प्रक्रिया को दिन में 2 बार इस्तेमाल करें।

गर्म सिकाई सख्त जोड़ों को मुलायम बनाती है और मांसपेशियों को आराम पहुंचाती है। अगर आपके जबड़े में सूजन या किसी चोट के कारण दर्द हो रहा है तो नीचे दी गई विधि को अपनाएं:

आवश्यक सामग्री

  • गर्म तवा
  • छोटा कपड़ा

इस्तेमाल का तरीका 

  • तवे को अच्छे से गर्म कर लें 
  • अब तवे पर कपड़ा रखें और हल्का दबाव बनाएं जब तक कपड़ा गर्म न हो जाए 
  • अब गर्म कपड़े की मदद से अपने प्रभावित हिस्से की सिकाई करें 
  • इस प्रक्रिया को 20 मिनट तक दोहराएं

कब इस्तेमाल करें

इस प्रक्रिया को दिन में 2 से 3 बार दोहराएं जब तक आपका प्रभावित हिस्सा पूरी तरह से ठीक न हो जाए।

ठंडी सिकाई नसों को सुन्न कर के दर्द को कम करती है। इस प्रक्रिया में आपके दिमाग तक दर्द के संकेत जाना बंद हो जाते हैं। ठंडी सिकाई मोच और सूजन के लक्षणों को भी कम करने में मदद करती है।

आवश्यक सामग्री

  • बर्फ के कुछ छोटे टुकड़े

इस्तेमाल का तरीका 

  • बर्फ के छोटे-छोटे टुकड़ों को मुंह में लें और उसे प्रभावित जबड़े की तरफ रखने की कोशिश करें। 

कब इस्तेमाल करें

इस प्रक्रिया को भी दिन में दो से तीन बार अपनाएं जब तक जबड़े का दर्द पूरी तरह से गायब न हो जाए। साथ ही ध्यान रहे कि आप बर्फ को सीधे अपनी त्वचा पर ना लगाएं।

जबड़े में दर्द से छुटकारा पाने के लिए इन उपायों के अलावा अन्य बातों का भी ध्यान रखें जैसे कि धूम्रपान का सेवन बंद कर दें और साथ ही तनाव कम करने के लिए मेडिटेशन करें। इन सभी उपायों के साथ शरीर के ऊपरी हिस्से की मांसपेशियों को आराम देने वाली एक्सरसाइज करें।

और पढ़ें ...
ऐप पर पढ़ें
cross
डॉक्टर से अपना सवाल पूछें और 10 मिनट में जवाब पाएँ