सेहुआ एक ऐसी स्थिति है जिसमें त्वचा पर फंगल इन्फेक्शन हो जाता है, यह बीमारी बेहद आम है और इसमें आपको अपनी त्वचा पर फीके रंग के धब्बे दिखने लगते हैं। सेहुआ को “सिहुली” के नाम से भी जाना जाता है। यह स्थिति ज्यादातर किशोरों और वयस्क लोगों को प्रभावित करती है। सेहुआ कोई गंभीर बीमारी नहीं होती, इसे घर पर ही कई घरेलू उपचारों द्वारा ठीक किया जा सकता है। फिर भी अगर 1 या 2 हफ्ते में लक्षण कम न हों तो किसी डॉक्टर से सलाह ले लेनी चाहिए। ऐसा इसलिए क्योंकि यह किसी गंभीर संक्रमण या अन्य रोग का संकेत हो सकता है।

  1. शैम्पू है सेहुआ का घरेलू उपाय - Shampoo hai sehua ka gharelu upay
  2. शहद, ऑलिव ऑयल और मोम है सेहुआ का आयुर्वेदिक इलाज - Honey, Olive Oil aur Beeswax hai sehua ka ayurvedic ilaj
  3. टी ट्री ऑयल है सेहुआ की घरेलू दवा - Tea tree oil hai sehua ki gharelu dawa
  4. एलोवेरा जेल से करें सेहुआ का इलाज - Aloevera gel se kare sehua ka ilaj
  5. दही है सेहुआ का घरेलू उपचार - Dahi hai sehua ka gharelu upchar
  6. सेहुआ की आयुर्वेदिक दवा है हल्दी - Sehua ki ayurvedic dawa hai haldi
  7. सुगंधित तेल हैं सेहुआ से छुटकारा पाने का देसी नुस्खा - Essential oil hai sehua se chuthkara pane ka desi nuskha

शैम्पू को हमारे बालों को सिल्की और डैंड्रफ फ्री बनाने के अलावा एक औषधि की तरह भी इस्तेमाल किया जा सकता है, एंटी-डैंड्रफ शैम्पू में सेलेनियम सल्फाइड नामक यौगिक पाया जाता है, जो सेहुआ के इलाज में मदद करता है। इसे इस्तेमाल करने के लिए नीचे दी गई विधि को फॉलो करें।

आवश्यक सामग्री

  • एक एंटी-डैंड्रफ शैम्पू 

इस्तेमाल का तरीका

  • शैम्पू को अपने प्रभावित हिस्से पर लगाएं
  • इसे 10 मिनट के लिए ऐसे ही छोड़ दें
  • अब शैम्पू को पानी से धों लें

कब इस्तेमाल करें
इसे नहाते समय इस्तेमाल करना सबसे बेहतर रहेगा, इस उपाय को दिन में दो बार अपनाने की सलाह दी जाती है।

नोट : किसी अच्छी क्वालिटी और ब्रांड के शैंपू का ही इस्तेमाल करें।

2004 में किए गए एक छोटे से शोध में यह पता चला कि शहद, जैतून के तेल और मोम को एक साथ मिलाकर लगाने से सेहुआ का इलाज किया जा सकता है। इन तीनों ही औषधियों में एंटी-इंफ्लामेटरी और एंटी-बैक्टीरियल गुण होते हैं, जो सेहुआ के कारण हुए संक्रमण को नष्ट करने में मदद करते हैं। 

आवश्यक सामग्री

  • शहद
  • ऑलिव ऑयल
  • मोम 

इस्तेमाल का तरीका

  • तीनों सामग्री को बराबर मात्रा में एक साथ मिलाएं 
  • अब इस मिश्रण को अपने प्रभावित हिस्से पर लगाकर कुछ समय के लिए छोड़ दें 

कब इस्तेमाल करें
इस उपाय को दिन में दो से तीन बार इस्तेमाल करने की सलाह दी जाती है।

टी ट्री ऑयल सेहुआ को ठीक करने का एक बेहतरीन घरेलू उपचार है, यह अपने एंटी-बैक्टीरियल, एंटी-फंगल और एंटी-वायरल गुणों के लिए जाना जाता है। टी ट्री ऑयल की रोजाना मालिश से त्वचा पर झुर्रियां, संक्रमण और खुजली दूर होती है। 

आवश्यक सामग्री

  • 3-4 चम्मच टी-ट्री ऑयल
  • 1 चम्मच ऑलिव ऑयल

इस्तेमाल का तरीका

  • टी ट्री ऑयल को ऑलिव ऑयल के साथ अच्छे से मिला लें
  • अब इन दोनों के मिश्रण से अपनी प्रभावित त्वचा की 10 से 20 मिनट के लिए मालिश करें
  • जरूरत पड़ने पर फिर से दोहराएं

कब इस्तेमाल करें

टी ट्री ऑयल से हफ्ते में 4 से 5 बार मालिश करें, जब तक आपकी स्थिति में सुधार नजर न आ जाए।

एलोवेरा में प्रोटीन, विटामिन और फैटी एसिड्स उच्च मात्रा में चीजें पाए जाते हैं। यह अपने एंटीइंफ्लामेटरी, एंटीफंगल और एंटीऑक्सीडेंट गुणों के लिए जाना जाता है। एलोवेरा जेल या उसके तेल के रोजाना उपयोग से कई त्वचा संबंधी रोगों को ठीक किया जा सकता है। यह खराब त्वचा के इलाज में तेजी लाता है।

आवश्यक सामग्री

  • 1 चम्मच एलोवेरा जेल/ 1 चम्मच एलोवेरा ऑयल

इस्तेमाल का तरीका

  • एलोवेरा जेल को अपनी उंगली पर लें
  • अब इससे अपने प्रभावित हिस्से की मसाज करें
  • जरूरत पड़ने पर फिर से दोहराएं

कब इस्तेमाल करें
इस उपाय को दिन में दो से तीन बार अपनाए जब तक दर्द से आराम न मिल जाए।

दही मिनरल्स, प्रोटीन और कैल्शियम का एक बेहतरीन स्रोत है। यह सेहुआ जैसे कई प्रकार के फंगल इन्फेक्शन को ठीक करने में मदद करता है। दही में मौजूद मिनरल्स और प्रोबायोटिक्स इलाज प्रक्रिया को तेज करते हैं और प्रतिरक्षा प्रणाली को मजबूत बनाते हैं।

आवश्यक सामग्री

  • 2 चम्मच दही

इस्तेमाल का तरीका

  • दही को अपने प्रभावित हिस्से पर लगाएं
  • अब इसे आधे घंटे तक ऐसे ही छोड़ दें
  • इसके बाद इसे ठंडे पानी से धों लें

कब इस्तेमाल करें
इस उपाय को हफ्ते में तीन बार दोहराएं जब तक सेहुआ के लक्षण कम न होने लगें।

हल्दी से सेहुआ का कारगर इलाज हो सकता है। यह सबसे अच्छी और लोकप्रिय घरेलू औषधि मानी जाती है, जिसमें एंटीबायोटिक, एंटीफंगल, एंटीवायरल और एंटीसेप्टिक गुण होते हैं। हल्दी को रोजाना इस्तेमाल करने से इलाज की प्रक्रिया तेज हो जाती है और संक्रामक रोग होने का खतरा भी कम हो जाता है।

आवश्यक सामग्री

  • 4 चम्मच हल्दी पाउडर
  • 1 नींबू
  • 3 चम्मच शहद

इस्तेमाल का तरीका

  • शहद को हल्दी में अच्छे से मिला लें
  • इसे और प्रभावशाली और पतला करने के लिए इसमें नींबू निचोड़ लें
  • अब इस पेस्ट को अपनी प्रभावित त्वचा पर लगाएं और कुछ समय के लिए छोड़ दें
  • जरूरत पड़ने पर इस उपाय को फिर से दोहराएं

कब इस्तेमाल करें
इस प्रक्रिया को हफ्ते में तीन बार दोहराएं।

सेहुआ के लिए कुछ तेल काफी लाभदायक होते हैं। क्योंकि इनमें एंटीबैक्टीरियल और एंटीसेप्टिक गुण पाए जाते हैं, जिनकी वजह से यह सेहुआ में होने वाले रैशेज को कम करने में मदद करते हैं। यह प्रभावित हिस्से पर हुए फंगस को फैलने से रोकता है और एक स्वस्थ त्वचा प्रदान करता है। 

आवश्यक सामग्री

इस्तेमाल का तरीका

  • लैवेंडर ऑयल को नारियल तेल के साथ अच्छे से मिला लें
  • अब रुई को इसमें भिगो लें
  • इसके बाद अपने प्रभावित हिस्से को रूई से साफ करें

ध्यान रहे कि रुई प्रभावित त्वचा के अलावा और कही न लगे, क्योंकि इससे फंगस हेल्थी स्किन पर भी फैल सकता है।

कब इस्तेमाल करें
सेहुआ के लक्षणों को कम करने के लिए इस उपाय को दिन में दो से तीन बार इस्तेमाल करने की सलाह दी जाती है।

और पढ़ें ...
ऐप पर पढ़ें
cross
डॉक्टर से अपना सवाल पूछें और 10 मिनट में जवाब पाएँ