myUpchar प्लस+ सदस्य बनें और करें पूरे परिवार के स्वास्थ्य खर्च पर भारी बचत,केवल Rs 99 में -

शराब पीना सेहत के लिए हानिकारक होता है, यह लगभग सभी लोग जानते होंगे। बावजूद इसके बड़े शौक के साथ शराब का सेवन किया जाता है। हालांकि, जो लोग ये मानते हैं कि शराब से सिर्फ लीवर प्रभावित होता है उनके लिए एक बड़ी खबर है। वो यह कि शराब केवल आपके गुर्दों को खराब नहीं करती, बल्कि इसके सेवन से कैंसर का जोखिम काफी हद तक बढ़ जाता है। जी हां, जापान में की गई एक रिसर्च में ये बात सामने आई है। जिसमें पता चला है कि शराब का थोड़ा सा भी सेवन कैंसर के जोखिम को बढ़ाता है।

(और पढ़ें - जीभ के कैंसर के लक्षण)

क्या कहती है रिसर्च?
जरनल कैंसर में प्रकाशित रिसर्च के मुताबिक अल्कोहल का थोड़ा सा भी (zero alcohol) हिस्सा कैंसर के खतरे को बढ़ाता है। शोधकर्ताओं का कहना है कि अल्कोहल से सभी प्रकार के कैंसर का जोखिम जुड़ा है। जिसमें कोलोरेक्टल कैंसर (आंत का कैंसर), पेट, स्तन कैंसर, प्रोस्टेट कैंसर शामिल हैं।

  • शोधकर्ताओं की टीम ने 63,232 कैंसर से पीड़ित और 63,232 किसी अन्य बीमारी से ग्रस्त लोगों का क्लीनिकल डाटा इकट्ठा किया, जिनका सेक्स और आयु समान थी। साथ ही ये भी देखा गया कि इनको अस्पताल में कब भर्ती कराया गया। यहा डाटा जापान के 33 सामान्य अस्पताल से इकट्ठा किया गया था। 
  • इस दौरान सभी प्रतिभागियों ने शराब के सेवन से जुड़ी अपनी डेली औसत रिपोर्ट दी। जिसमें बताया गया कि ये रोजाना अल्कोहल को कितनी मात्रा और कितनी अवधि में ले रहे हैं।
  • एक स्ट्रैंडडाइज ड्रिंक में 23 ग्राम इथेनॉल था, जो 180-एमएल जापानी सेक, 500-एमएल की एक बीयर की बोतल, 180-एमएल के एक ग्लास वाइन या एक 60-एमएल के व्हिस्की कप के बराबर था।
  • अध्ययनकर्ताओं ने कैंसर और शराब की खपत के बीच एक रेखांकित करने वाला रिश्ता पाया।

(और पढ़ें - शराब की लत के लक्षण)

विशेषज्ञों की राय
टोक्यो विश्वविद्यालय में रिसर्च से जुड़े शोधकर्ता मेसायोशी ज़ित्सु ने बताया कि जापान में मौत का प्राथमिक कारण कैंसर है। साथ ही जित्सु ने कहा कि सभी तरह के कैंसर की बढ़ती घटनाओं को देखते हुए, हमें शराब से संबंधित कैंसर के जोखिम के बारे में सार्वजनिक तौर पर लोगों को जागरुक करने की जरूरत है।

किस तरह के कैंसर का खतरा
सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन में प्रकाशित एक रिपोर्ट के मुताबिक शराब पीने से कई तरह के कैंसर होने का खतरा हो सकता है। जैसे-

  • मुंह और गले का कैंसर
  • वॉइस बॉक्स (लैरिंक्स- हमारे गले में होता है)
  • इसोफैगस कैंसर (गले से पेट में जाने वाली खाने की नली का कैंसर)
  • आंत का कैंसर
  • लीवर का कैंसर
  • ब्रैस्ट कैंसर

(और पढ़ें - खाने की नली में कैंसर के लक्षण)

शराब पीने के लिए दिशा निर्देश क्या हैं ?
साल 2015 से 2020 तक अमेरिकियों के लिए बनाई गई डायटरी गाइडलाइंस के मुताबिक यदि आप शराब पीते हैं, तो मॉडरेशन में पीएं। मतलब महिलाओं के लिए एक दिन में एक से अधिक ड्रिंक नहीं होनी चाहिए और पुरुषों के लिए एक दिन में दो से अधिक ड्रिंक नहीं। अगर आप शराब नहीं पीते हैं, तो किसी भी संभावित स्वास्थ्य लाभ के कारण पीना शुरू न करें।

अल्कोहल से कैंसर का जोखिम क्यों?
सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन की रिपोर्ट के मुताबिक जब आप शराब पीते हैं तो आपका शरीर इसको एसीटैल्डिहाइड नामक रसायन में बदल देता है। एसीटैल्डिहाइड आपके डीएनए को नुकसान पहुंचाता है और आपके शरीर को नुकसान की मरम्मत करने से रोकता है।

डीएनए, सेल का इंस्ट्रक्शन मैनुअल है जो सेल के सामान्य विकास और कार्य को नियंत्रित करता है। जब डीएनए क्षतिग्रस्त हो जाता है, तो एक कोशिका नियंत्रण से बाहर बढ़ने लगती है और यही एक कैंसर या ट्यूमर होने की वजह बन सकती है।

और पढ़ें ...
ऐप पर पढ़ें