myUpchar प्लस+ के साथ पूरेे परिवार के हेल्थ खर्च पर भारी बचत

यदि कामेच्छा की कमी आपके रिश्ते को प्रभावित कर रही है, तो आपको स्वयं पर या अपने साथी पर दोष मढ़ने से बचने के लिए अतिरिक्त केयर की जरुरत है। कामेच्छा की कमी को "उसका" मुद्दा या "मेरा" मुद्दा समझ कर एक दूसरे पर डालने की बजाय, आपको एक जोड़े के रूप में समाधान तक पहुंचने के लिए प्रयास करना चाहिए, जिसमें आप दोनों सक्रिय रूप से भाग लें।

इसके लिए न केवल कम कामेच्छा के शारीरिक लक्षणों बल्कि भावनात्मक लक्षणों के बारे में खुली और ईमानदार चर्चा की आवश्यकता होती है। ऐसा करने से आप यह पता लगा पाते हैं कि इस स्थिति का निदान और इलाज करने के लिए किस डॉक्टर या डॉक्टरों की आवश्यकता है। इसमें एंडोक्राइनोलॉजिस्ट, मूत्र विज्ञानी, पुरानी बीमारी के विशेषज्ञ, मनोचिकित्सक, यौन चिकित्सक या अन्य स्वास्थ्य पेशेवर शामिल हो सकते हैं।

कामेच्छा में कमी का कोई त्वरित फिक्स नहीं हो सकता है, लेकिन, समय और धैर्य के साथ कोशिश करने पर समाधान हो सकता है। इस बीच, अपने आप को याद दिलाने की कोशिश करें कि यौन इच्छा में कमी अंतरंगता की इच्छा की कमी के समान नहीं है। यौन अक्षमता के साथ संघर्ष करते समय भी भावनात्मक और शारीरिक रूप से अपने साथी के साथ जुड़ने के लिए हर संभव प्रयास करें। ऐसा करके, आप अपने रिश्ते को मजबूत कर सकते हैं।

(और पढ़े - रिश्ते में अंतरंगता बढ़ाने के उपाय)

यह परेशानी बहुत से लोगों के साथ होती है, लेकिन उनमें से केवल कुछ ही इसके बारे में बात करना चाहते हैं - खासकर जब कामेच्छा की कमी किसी पुरुष में है। हमारे समाज की मान्यताएं हमारी व्यक्तिगत सोच पर गहरा असर डालती हैं, पुरुषों को स्वीकार करने में परेशानी होती है क्योंकि समाज के अनुसार "असली पुरुष हमेशा मूड में रहते हैं।" लेकिन यह सच नहीं है।

कई कारणों से पुरुषों और महिलाओं में सेक्स ड्राइव या कामेच्छा की कमी होती हैं और इसका इलाज करने के कई तरीके हैं। इस लेख में कामेच्छा बढ़ाने के उपाय, घरेलु नुस्खे, दवा और योग बताये गए हैं। हमारी यौन इच्छा को कामेच्छा प्रवाह (लिबिडो फ्लो) द्वारा नियंत्रित किया जाता है। कामेच्छा में कमी के कारण सेक्स करने की इच्छा नहीं होती है। यह आपके यौन जीवन को बाधित कर सकता है। इसलिए इसका इलाज जरुरी है।

(और पढ़ें - गुप्त रोग और उनके समाधान)

  1. कामेच्छा बढ़ाने के उपाय - How to Increase Libido in Hindi
  2. कामेच्छा बढाने की दवा - Medicine for Increasing Libido in Hindi
  3. कामेच्छा बढ़ाने के घरेलू नुस्खे - Home Remedies to Increase Libido in Hindi
  4. कामेच्छा बढ़ाने के आयुर्वेदिक उपाय - Ayurvedic Remedy to Increase Libido in Hindi
  5. कामेच्छा बढ़ाने के लिए योग - Yoga to Increase Libido in Hindi
  6. कामेच्छा बढ़ाने के उपाय, घरेलू नुस्खे, दवा व योग के डॉक्टर

अगर आपको यौन संबंधों की इच्छा की कमी है या यह आपके रिश्ते को प्रभावित कर रही है, तो आपको डॉक्टर से सहायता की जरूरत है। हम आपकी इस समस्या को अच्छी तरह समझते है और आपको बता रहे है इसे दूर करने के विविध उपाय जिनमें से अपने लिए उपयुक्त विकल्प का आप चुनाव कर सकते हैं।

कम कामेच्छा के कारणों के आधार पर आधुनिक चिकित्सा उपचार, आयुर्वेदिक औषधियां, घरलू नुस्खे और योग का उपयोग कम कामेच्छा के इलाज के लिए उपलब्ध हैं। जिनका विस्तार पूर्वक निचे वर्णन किया गया है।

यदि आपको दवा की ज़रूरत है, तो डॉक्टर आपको निम्नलिखित दवाएं देने पर विचार कर सकते हैं:-

अगर योनि में सूखापन यौन संबंध को दर्दनाक बना देता है, इसलिए आप यौन सुख प्राप्त करने से स्वयं को रोकती हैं, तो एस्ट्रोजेन त्वचा क्रीम आपकी मदद कर सकती है। यह विशेष रूप से तब होता है जब एस्ट्रोजन का स्तर रजोनिवृत्ति या स्तनपान के कारण कम हो जाता हैं। एस्ट्रोजन अन्य रूपों में भी उपलब्ध है, जैसे कि टेबलेट या त्वचा पैच आदि।

टेस्टोस्टेरोन पुरुषों और महिलाओं दोनों को सेक्स के बारे में सोचने और सेक्स करने की इच्छा में मदद करता हैं। इसलिए जब टेस्टोस्टेरोन का स्तर नीचे जाता है, तो कामेच्छा कम हो सकती है। टेस्टोस्टेरोन के स्तर में आपकी आयु बढ़ने के साथ धीरे-धीरे गिरावट आना सामान्य है। इस प्रकार की हार्मोन की कमी के मामले में हार्मोन थेरेपी से सुधार किया जाता है। हार्मोन थेरेपी गोलियों, त्वचा की क्रीम, जैल या स्क्रोटल पैच के रूप में दी जा सकती है।

पुरुषों के लिए हार्मोन उपचार, हालांकि टेस्टोस्टेरोन उत्पादन और पुरुष कामेच्छा के बीच एक स्पष्ट लिंक है, लेकिन शोधकर्ताओं ने अभी तक इनके बिच संबंधों की सटीक प्रकृति की खोज नहीं की है। यदि किसी व्यक्ति का हार्मोन स्तर स्पष्ट रूप से सामान्य से नीचे है, तो टेस्टोस्टेरोन की खुराक उसकी कामेच्छा और इरेक्टाइल फंक्शन में सुधार कर सकती है।

महिलाओं के लिए हार्मोन उपचार, बहुत से लोगों को यह नहीं पता है कि महिलाएं भी टेस्टोस्टेरोन को स्वाभाविक रूप से उत्पादित करती हैं और यह हार्मोन महिलाओं में कामेच्छा को प्रभावित करता है। उम्र बढ़ने के साथ टेस्टोस्टेरोन की प्राकृतिक गिरावट एक महिला की यौन प्रतिक्रिया को प्रभावित कर सकती है, हालांकि महिलाओं में टेस्टोस्टेरोन के स्तर और कम इच्छा या अन्य यौन समस्याओं के बीच एक स्पष्ट लिंक कभी नहीं मिला है। हालांकि कुछ डॉक्टर टेस्टोस्टेरोन लिखते हैं, महिलाओं के लिए इसकी सुरक्षा और प्रभावकारिता पर जानकारी बहुत सीमित है।

उच्च रक्तचाप, टाइप 2 मधुमेह, हृदय रोग और गठिया जैसी स्वास्थ्य संबंधी समस्याएं आपके यौन स्वास्थ्य को प्रभावित कर सकती हैं और कम कामेच्छा का कारण बन सकती हैं। इसलिए इनका उचित उपचार करने से आपके सेक्स ड्राइव को बहाल करने में मदद मिल सकती है।

आपका चिकित्सक उन दवाइयों का जो आप पहले से ले रहे हैं, यह देखने के लिए मूल्यांकन कर सकता है कि उनमें से कोई भी यौन दुष्प्रभावों का कारण तो नहीं है। उदाहरण के लिए एंटीडिप्रेसेंट्स जैसे कि परोक्सेटीन (पक्सिल, पीएक्सवा) [Paroxetine (Paxil, Pexeva)] और फ्लुक्सैटिन (प्रोज़ाक, सरफेम) [Fluoxetine (Prozac, Sarafem)] सेक्स ड्राइव को कम कर सकते हैं। इसलिए इनकी जगह एक अलग प्रकार की एंटीडिप्रेसेंट ब्यूप्रोपियन (ऐप्लेनज़िन, वेल्बुट्रिन) [Bupropion (Aplenzin, Wellbutrin)] को लेना आमतौर पर सेक्स ड्राइव में सुधार करता है।

फ्लिबनसेरिन [Flibanserin (Addyi)] को मूल रूप से एंटीडिप्रेसेंट के रूप में विकसित किया गया था। रजोनिवृत्ति से पूर्व की महिलाओं में कम यौन इच्छा के उपचार के लिए फ्लिबनसेरिन अमेरिकन खाद्य और औषधि प्रशासन द्वारा अनुमोदित दवा है। रोजाना एक गोली उन महिलाओं की कामेच्छा को बढ़ावा दे सकती है जो कम यौन इच्छा का अनुभव करती हैं। संभावित गंभीर दुष्प्रभावों में निम्न ब्लड प्रेशर, चक्कर आना और बेहोशी आदि हो सकते हैं, विशेषकर अगर दवा लेने के दौरान शराब ली जाती है। विशेषज्ञों का सुझाव है कि यदि आपको इसे लेते हुए आठ सप्ताह के बाद भी अपनी कामेच्छा में सुधार नहीं दीखता है, तो यह दवा लेना बंद कर दें।

नोट:- उपरोक्त कोई भी दवा किसी विशेषज्ञ से परामर्श के बिना न लें। अगर आप उपरोक्त में से कोई दवा लेना चाहते है, तो आपको इसके संबंध में एक अच्छे डॉक्टर से बात करनी चाहिए।

पुरुष और महिलाओं दोनों के लिए उपयोगी कुछ घरेलु उपाय जिनमें भोजन और जीवन-शैली संबंधी परिवर्तन शामिल हैं, निम्नलिखित हैं:-

  1. धूम्रपान या शराब की लत से बाहर निकलें। (और पढ़ें - धूम्रपान छोड़ने के लिए घरेलू उपचार)
  2. ताजा फल और सब्जियों सहित अच्छा भोजन लें।
  3. पूरे दिन पर्याप्त पानी पियें।
  4. चॉकलेट, ब्लैक बेरी, रास्प बेरी, क्रेन बेरी, नट, ब्रोकली, लौंग, अंजीर, तरबूज, अंडे, जीन्सेंग, केसर, सलाद, अदरक, कस्तूरी आदि जैसे खाद्य पदार्थों को भोजन में शामिल करें। ये खाद्य पदार्थ कामेच्छा में सुधार लाने में मदद करते हैं।
  5. पर्याप्त नींद लें क्योंकि यह भी एक अच्छे कामेच्छा प्रवाह के लिए आवश्यक है। (और पढ़ें - कम सोने के नुक्सान
  6. तनाव प्रबंधन का ध्यान रखें। इसके लिए योग, मालिश और शिरोधारा बहुत उपयोगी हैं। शिरोधारा तनाव प्रबंधन के लिए इस्तेमाल की जाने वाली एक आयुर्वेदिक पंचकर्म चिकित्सा है। तनाव, अवसाद और सामाजिक संघर्ष के कारण कामेच्छा की कमी हो सकती है। शिरोधारा आपको तनाव, चिंता और अवसाद से राहत देती है।

आप निम्नलिखित कुछ खाद्य पदार्थों का सेवन करके भी लाभ प्राप्त कर सकते हैं:-

प्राकृतिक एफ़रोडीसिएक्स - अंजीर, केले और एवोकाडोस प्राकृतिक कामोद्दीपक हैं जो कि विटामिनों और खनिजों से भरे हुए हैं। ये जननांगों में अधिक रक्त प्रवाह को प्रोत्साहित कर सकते हैं और स्वाभाविक रूप से सेक्स ड्राइव को बढ़ा सकते हैं।

विटामिन सी खाद्य पदार्थ - विटामिन सी अंगों के रक्त परिसंचरण में सुधार करता है। इसलिए यह सुनिश्चित करना ज़रूरी है कि आप दैनिक रूप से विटामिन सी में समृद्ध पदार्थों का सेवन करते हैं।

कोलेजन युक्त खाद्य पदार्थ - कोलेजन उत्पादन में उम्र के साथ स्वाभाविक रूप से गिरावट आती है। यह घटना पुरुषों के लिए स्तंभन को बनाए रखना कठिन बना सकती है। अपने कोलेजन के स्तर में वृद्धि करने के लिए, आप अधिक हड्डियों के शोरबा का सेवन कर सकते हैं या कोलेजन सप्लीमेंट पाउडर का विकल्प चुन सकते हैं। विटामिन सी भी कोलेजन उत्पादन को बढ़ाने में मदद करता है।

मीठे आलू - मीठे आलू या याम पोटेशियम और विटामिन ए से भरे हुए हैं। पोटेशियम उच्च रक्तचाप में मदद कर सकता है, उच्च रक्तचाप से स्तंभन दोष होने की अधिक संभावना होती है।

तरबूज - 2008 में, टेक्सास ए एंड एम में किए गए शोध से पता चला कि तरबूज का वियाग्रा प्रभाव हो सकता है। तरबूज में लाइकोपीन, बीटा कैरोटीन और सीट्रूलाइन के रूप में जाना जाने वाले फायटोनुट्रिएंट्स रक्त वाहिकाओं के आराम में मदद करते हैं। हालाँकि, तरबूज वियाग्रा की तरह अंग-विशिष्ट नहीं होता है, पर जब आप स्वाभाविक रूप से कामेच्छा में सुधार करना चाहते हैं, तो यह बिना किसी नकारात्मक प्रभाव के सेक्स में सहायक हो सकता है।

जायफल और लौंग जैसे मसाले - मसाले एंटीऑक्सिडेंट्स से भरे होते हैं, जो कामेच्छा सहित समग्र स्वास्थ्य के लिए अच्छे है। बीएमसी पत्रिका में प्रकाशित अनुसंधान में विशेष रूप से पाया गया कि जायफल और लौंग के अर्क ने नर पशु विषयों के यौन व्यवहार को बढ़ाया। खराब सांस में सुधार करने में भी लौंग उपयोगी है।

डार्क चॉकलेट - अनुसंधान ने दिखाया है कि चॉकलेट की खपत फेनोलेथीलमाइन और सेरोटोनिन के स्राव को बढ़ाती है, जिससे कुछ कामोत्तेजक और मूड बढ़ाने वाले प्रभाव होते हैं। सिर्फ यह सुनिश्चित कर लें कि आप कम-चीनी और उच्च-गुणवत्ता वाला डार्क चॉकलेट चुनते हैं

ब्राजील नट्स - ये नट्स सेलेनियम में उच्च हैं, जो स्वस्थ टेस्टोस्टेरोन के स्तर को बनाए रखने में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है।

बादाम - जस्ता, सेलेनियम और विटामिन ई से भरपूर बादाम में विटामिन, खनिज और स्वस्थ वसा होते हैं जो यौन स्वास्थ्य और प्रजनन में सुधार कर सकते हैं। (और पढ़ें - यौन-शक्ति को बढ़ाने वाले आहार)

आयुर्वेद के अनुसार, कामेच्छा की कमी संभोग करने में बाधा उत्पन्न करती है। यह वात दोष की अधिकता के कारण होता है। अन्य दोष इसमें शामिल हो सकते हैं और कामेच्छा की कमी के लक्षणों को बढ़ा सकते हैं। मानसिक स्वास्थ भी कामेच्छा की कमी के साथ जुड़ा हुआ है आमतौर पर, अवसाद और तनाव को कामेच्छा में कमी से जोड़ा जाता है।

दोषों और शारीरिक प्रकारों के अनुसार आपको सही हर्बल संयोजन के लिए आयुर्वेदिक डॉक्टर से अवश्य परामर्श करना चाहिए। निम्नलिखित जड़ी बूटियां कामेच्छा की कमी में फायदेमंद हैं।

पुरुषों के लिए -

गोखरू (ट्रायबुलस टेररिस्ट्रीस):- गोखरू पुरुषों में जीवन शक्ति और धीरज बढ़ाने में बहुत उपयोगी है। इससे ताकत और प्रदर्शन की क्षमता बढ़ती है। यह मूड बनाने में और कामेच्छा की कमी से उभरने में मदद कर सकती है।

अश्वगंधा (विथानिआ सोम्निफ़ेरा):- पुरुषों के लिए अश्वगंधा मुख्य रूप से टेस्टोस्टेरोन के स्तर को बढ़ाने के लिए आवश्यक है, जो कि कामेच्छा के स्तर की वृद्धि का कारण होता है। यह नपुंसकता, बांझपन, यौन कमजोरी, स्तंभन दोष और पुरुष प्रजनन प्रणाली से संबंधित अन्य समस्याओं में भी फायदेमंद है।

मुकुना प्रुरिएंस या कोंच बीज:- मुकुना प्रुरिएंस (कपिकच्छु) लिंग के स्तंभन को मजबूत करने में काफी उपयोगी हैं। यह पुरुष हार्मोन को उत्तेजित करता है और कामेच्छा प्रवाह में मदद करता है। कम शुक्राणुओं की संख्या, नपुंसकता, बांझपन और शुरुआती स्खलन में भी यह सहायक है। (और पढ़ें – बांझपन के घरेलू उपचार)

अकरकरा:- अकरकरा जड़ी बूटी शीघ्र स्खलन और पुरुष बांझपन को नियंत्रित करने में सहायता करती है। यह पुरुष हार्मोन को उत्तेजित करती है और यौन इच्छा को बढ़ाती है। इसलिए, इसका कामेच्छा की कमी के इलाज में इस्तेमाल किया जाता है। (और पढ़ें – शीघ्र स्खलन के कारण)

कामेच्छा बढ़ाने के लिए कुछ आयुर्वेदिक दवाएं

  1. अस्वगंधारिष्टम (Aswagandharishtam)
  2. सरस्वथारिष्टम (Saraswatharishtam)
  3. चन्द्रप्रभा वाटिका (Chandraprabha vatika)
  4. ब्राह्मी ग्रिथम (Brahmi gritham)
  5. सरस्वथा ग्रिथम (Saraswatha gritham)
  6. अस्वगंधादि लेह्यं (Aswagandhadi lehyam)

महिलाओं के लिए -

शतावरी (एस्परैगस):- शतावरी महिलाओं में कामेच्छा बढ़ाने के लिए सर्वोत्तम जड़ी बूटियों में से एक है। यह महिला शरीर में यौन हार्मोन को संतुलित करता है और प्रजनन स्वास्थ्य को बढ़ाता है। गर्भाशय के रक्तस्राव, मासिक धर्म की समस्याओं, कमजोरी, बांझपन और अक्सर गर्भपात जैसे विकारों में भी यह फायदेमंद है।

अश्वगंधा (विथानिआ सोम्निफ़ेरा):- अश्वगंधा कामेच्छा बढ़ाने और यौन इच्छाओं को उत्तेजित करने के लिए महिलाओं में भी सहायक है। यह गर्भाशय की कमजोरी, अक्सर गर्भपात और महिलाओं में बांझपन के लिए एक प्रभावी उपाय है।

अशोक वृक्ष की छाल:- अशोक वृक्ष की छाल योनि स्राव और गर्भाशय के रक्तस्राव को नियंत्रित कर सकती है। यह हार्मोनिक स्राव को ठीक करती है और संतुलन बनाए रखती है। यह भी कामेच्छा की कमी में सिफारिश की जाती है।

जिन्कगो (गिंकगो) बिलोबा (Balkuwari):- महिलाओं में कामेच्छा की कमी का एक सामान्य कारण तनाव है। जिन्कगो (गिंकगो) बिलोबा तनाव से राहत देता है और मानसिक विकारों में बहुत मददगार है। यह कामेच्छा को बेहतर बनाने में मदद करता है और यौन प्रदर्शन बढ़ा सकता है। जननांग अंगों के आसपास रक्त के प्रवाह को बढ़ाने में भी यह काफी सहायक है।

महिलाओं में कामेच्छा बढ़ाने के लिए कुछ आयुर्वेदिक दवाएं:-

  1. अशोकारिष्टम (Asokarishtam)
  2. कुमार्यासवम (Kumaryasavam)
  3. सरस्वथारिष्टम (Saraswatharishtam)
  4. सुकुमारम कश्यम (Sukumaram Kashayam)
  5. चन्द्रप्रभा वाटिका (Chandraprabha vatika)
  6. सरस्वथा ग्रिथम (Saraswatha gritham)
  7. अस्वगंधादि लेह्यं (Aswagandhadi lehyam)
  8. सौभाग्य सुंडी (Sowbhagya sundi)

योग एक प्राकृतिक उपाय है, जो पुरुषों और महिलाओं दोनों में कामेच्छा के नुकसान में मदद कर सकता है। कामेच्छा की कमी में सुधार के लिए योग के आसनों को मददगार माना जाता है।

पुरूषों के मामलों में मार्जरी आसन, बद्ध कोणासन, कपोतासन, गरुड़ासन, सेतुबंधासन और अधो मुख श्वानासन उपयोगी होते हैं।

महिलाओं के मामलें में सर्वांगासन, बालासन, उत्थान पृष्ठासन, उत्कट कोणासन (गॉडेस पोज़), कपोतासन और सेतुबंधासन उपयोगी होते हैं।

और पढ़ें - 
यौन शक्ति कम होने के कारण 
महिलाओं और पुरुषों को यौन विकारों से बचना है तो ज़रूर मानें बाबा रामदेव की बात 
सफेद मूसली के फायदे यौन शक्ति को बढ़ाने के लिए 
मखाने यौन रोग में सहायक

Dr. Pranay Gandhi

Dr. Pranay Gandhi

सेक्सोलोजी

Dr. Tarun

Dr. Tarun

सेक्सोलोजी

Dr. Ghanshyam Digrawal

Dr. Ghanshyam Digrawal

सेक्सोलोजी

और पढ़ें ...