myUpchar प्लस+ सदस्य बनें और करें पूरे परिवार के स्वास्थ्य खर्च पर भारी बचत,केवल Rs 99 में -

तेज धूप और असहनीय गर्मी का मौसम आ चुका है। बिना पंखा या एसी के बैठना मुश्किल हो रहा है। हर वक्त बस कुछ ठंडा खाने या पीने का मन करता है। कभी-कभी तो किसी हिल स्टेशन पर भी जाने का मन करता है। लेकिन फिलहाल आपको अपने इस मन को कंट्रोल करना होगा क्योंकि कोरोना वायरस की वजह से हुए लॉकडाउन के कारण आप किसी ठंडी जगह जाने के बारे में सोच भी नहीं सकते। लॉकडाउन जब खत्म हो जाएगा उसके बाद भी इतने सारे प्रतिबंध होंगे कि लोगों का कहीं भी घूमने जाना या भीड़-भाड़ वाली किसी भी जगह पर जाना संभव नहीं हो पाएगा। 

लॉकडाउन की वजह से घर पर बैठे-बैठे बहुत से लोगों को अपना वजन बढ़ने की भी चिंता सता रही होगी। जिम न जाने, एक्सरसाइज न करने और किसी तरह की कोई फिजिकल एक्टिविटी न होने के कारण वजन बढ़ने का खतरा तो है। ऐसे में क्यों न कुछ ऐसा करें, जिससे आपकी गर्मी भी दूर भाग जाए और वजन भी कंट्रोल में रहे।

(और पढ़ें : कोविड-19 लॉकडाउन के दौरान वजन मैनेज करने के टिप्स)

हम बात कर रहे हैं कुछ ऐसे समर स्पेशल ड्रिंक्स और स्मूदीज की जिन्हें लॉकडाउन के दौरान घर पर बनाना बेहद आसान है। ये समर स्पेशल ड्रिंक्स न सिर्फ आपको गर्मी में ठंडक पहुंचाएंगे, ताजगी देंगे बल्कि आपका वजन भी कंट्रोल में रखने में मदद करेंगे। खीरा, तरबूज, बेल, कच्चा आम- इस तरह के फलों से तैयार होने वाले इन समर कूलर ड्रिंक्स को कैसे बनाना है, यहां जानें-

  1. खीरे की स्मूदी
  2. तरबूज का जूस
  3. बेल का शरबत
  4. ठंडा-ठंडा आम पन्ना
  5. सत्तू का शरबत

ज्यादातर लोग खीरे को सब्जी समझते हैं लेकिन असल में यह एक फल है जिसमें खूब सारा पानी और घुलनशील फाइबर होता है और इसमें कैलरी की मात्रा बेहद कम होती है तो आपके वजन बढ़ने की टेंशन भी खत्म। आपको जानकर हैरानी होगी कि खीरे में करीब 96 प्रतिशत पानी होता है। इसके अलावा खीरे में विटामिन सी, विटामिन के, प्रोटीन, मैग्नीशियम जैसे कई विटामिन्स, मिनरल्स, पोषक तत्व और एंटीऑक्सिडेंट्स पाए जाते हैं। यह गर्मियों के लिए फायदेमंद फल है। सलाद के अलावा आप इसका जूस या स्मूदी बनाकर भी पी सकते हैं। कैसा बनाना है, जानें-

(और पढ़ें: खीरे के फायदे और नुकसान)

सामग्री
खीरा, पुदीने की पत्तियां, नमक, चाट मसाला, जीरा पाउडर, नींबू का रस, पानी और बर्फ।

बनाने की विधि

  • सबसे पहले खीरे को छीलकर उसका कड़वापन चेक कर लें और फिर उसे छोटे-छोटे टुकड़ों में काट लें।
  • अब एक मिक्सर में खीरे के टुकड़े, पुदीने की 10-12 पत्तियां, स्वाद अनुसार नमक, आधा चम्मच चाट मसाला, थोड़ा सा जीरा पाउडर और 1 चम्मच नींबू का रस डालकर अच्छी तरह से पीस लें।
  • इसे सर्व करने के लिए एक गिलास में 2-3 बर्फ के टुकड़े डालें और गिलास में एक चौथाई के करीब पानी डालें। फिर तैयार स्मूदी को गिलास में डालें। मिक्स करें और पी लें।  

गर्मियों के लिहाज से तरबूज भी एक बेहतरीन फल है। खीरे में जहां 96 प्रतिशत पानी होता है वहीं, तरबूज में भी 92 प्रतिशत पानी होता है और यह गर्मी के मौसम में शरीर में पानी की कमी होने से रोकने में मदद करता है। साथ ही इसमें फाइबर की मात्रा भी अधिक होती है और कैलरीज की मात्रा बेहद कम तो यह भी आपको वजन को कंट्रोल करने में मदद करता है। इसके अलावा तरबूज में विटामिन सी, विटामिन ए, पोटैशियम, मैग्नीशियम और लाइकोपीन जैसे न्यूट्रिएंट्स पाए जाते हैं जो कई बीमारियों को भी दूर रखने में मदद करते हैं। तो समर स्पेशल ड्रिंक में जरूर ट्राई करें तरबूज का जूस। इसे कैसे बनाना है यहां जानें-

(और पढ़ें: तरबूज के फायदे और नुकसान)

सामग्री
तरबूज, नींबू का रस, चाट मसाला, जीरा पाउडर, बर्फ के टुकड़े

बनाने की विधि

  • सबसे पहले तरबूज को काटकर उसमें से सारे बीज अलग कर दें। 
  • अब एक मिक्सर या ब्लेंडर जार में तरबूज के टुकड़े और 1 चम्मच नींबू का रस डालकर अच्छी तरह से पीस लें।
  • अब इस मिश्रण को छान लें और उसमें थोड़ा सा चाट मसाला और जीरा पाउडर मिक्स करें।
  • स्मूदी तैयार है। गिलास में 2-3 टुकड़ा बर्फ डालें और स्मूदी को उसमें डालकर सर्व करें।

बेल भी गर्मियों का फल है क्योंकि इसकी भी तासीर ठंडी होती है और यह गर्मी में शरीर को ठंडक पहुंचाने का काम करता है। यह फल बाहर से बेहद कठोर और अंदर से एकदम मुलायम और मीठा होता है। गर्मी के मौसम में लू से बचने के लिए बेल का जूस या बेल का शरबत बेहद फायदेमंद माना जाता है। इसमें प्रोटीन, बीटा-कैरोटिन, विटामिन सी, राइबोफ्लेविन जैसे कई पोषक तत्व पाए जाते हैं और इसलिए यह सेहत के लिहाज से भी फायदेमंद है और कई बीमारियों को भी दूर रखने में मदद करता है। बेल का शरबत बनाने का तरीका यहां जानें-

(और पढ़ें: बेल के फायदे और नुकसान)

सामग्री
बेल का फल, पानी, शहद, नींबू का रस, जीरा पाउडर, बर्फ के टुकड़े

बनाने की विधि

  • बेल का फल तोड़ें और उसमें से चाकू की मदद से गूदे को निकालकर कर अलग कर लें।
  • अब एक बर्तन में पानी लें और उसमें इस गूदे को डालें और उसे हाथों से तब तक मसलें जब तक उसमें से बीज निकल न जाए।
  • फिर इसे किसी बारीक कपड़े में डालकर अच्छी तरह से निचोड़ लें और जो जूस निकला उसे बड़ी छन्नी से छान लें।
  • जूस को छानने के बाद उसमें 1-2 चम्मच शहद (चीनी नहीं क्योंकि वजन का ख्याल रखना है), नींबू का रस और जीरा पाउडर डालकर अच्छे से मिक्स करें।
  • अब एक गिलास में बर्फ के टुकड़े डालें और जूस को गिलास में डालकर ठंडा-ठंडा सर्व करें।

पका हुआ आम खाने में जितना मजा आता है, कच्चा आम सेहत के लिए उतना ही फायदेमंद माना जाता है। खासकर गर्मियों के मौसम में जब तेज धूप और गर्म हवा के कारण लू लगने की आशंका रहती है, ऐसे में कच्चे आम से बनने वाला आम पन्ना शरीर में पानी की कमी नहीं होने देता और लू लगने से भी बचाता है। कच्चे आम में विटामिन सी के अलावा विटामिन ए, कैल्शियम, आयरन और 82 प्रतिशत मैग्नीशियम पाया जाता है। कच्चा आम पाचन को आसान बनाकर कब्ज की समस्या दूर करने में भी मदद करता है। चूंकि आप इसे लॉकडाउन के दौरान बना रहे हैं और वजन न बढ़े इसका भी ध्यान रखना है इसलिए इसमें चीनी की जगह गुड़ मिला दें। कच्चे के आम का पन्ना कैसे बनाना है यहां जानें-

(और पढ़ें: आम खाने के फायदे और नुकसान)

सामग्री 

कच्चा आम, पानी, काला नमक, काली मिर्च पाउडर, जीरा पाउडर, लाल मिर्च पाउडर, गुड़, पुदीने की पत्तियां, बर्फ के टुकड़े 

बनाने की विधि

  • सबसे पहले कच्चे आम को छीलें, गुठली अलग करें और छोटा-छोटा काट लें।
  • फिर इसे एक कुकर या पैन में डालें। उसमें पानी, स्वाद अनुसार काला नमक, चुटकी भर काली मिर्च पाउडर, चुटकी भर लाल मिर्च पाउडर, जीरा पाउडर और गुड़ डालकर अच्छे से पकाएं।
  • जब आम बिलकुल गल जाए और ठंडा हो जाए तो उसे निकालकर एक मिक्सर या ब्लेंडर जार में डालें और अच्छे से पीस लें।
  • आम पन्ना का कॉन्सन्ट्रेट तैयार है। इसे सर्व करते वक्त एक गिलास में एक चौथाई आम पन्ना डालें, पुदीने की कुछ पत्तियां, बर्फ के टुकड़े डालें और फिर ऊपर तक पानी डाल दें। आम पन्ना तैयार है।

अगर आप सोचते हैं कि सत्तू की सिर्फ लिट्टी बन सकती है तो आप गलत हैं। सत्तू को आप पानी में घोलकर उसका ड्रिंक बनाकर भी पी सकते हैं। प्रोटीन से भरपूर सत्तू की भी तासीर ठंडी होती है इसलिए यह गर्मियों के लिहाज से फायदेमंद माना जाता है। फाइबर, आयरन, सोडियम और मैग्नीशियम से भरपूर सत्तू कब्ज की दिक्कत दूर करने में मदद करता है। सत्तू के सेवन से शरीर का मेटाबॉलिज्म बढ़ता है और पेट फूलने की समस्या कम होती है जिससे कैलरीज बर्न करने में मदद मिलती है और वेट भी कंट्रोल में रहता है। इसे कैसे बनाना है यहां जानें-

सामग्री

सत्तू, बारीक कटा प्याज, बारीक कटी हरी मिर्च, हरा धनिया, काला नमक, जीरा पाउडर, पानी

बनाने की विधि

  • सबसे पहले एक बाउल में सत्तू लें और उसमें बारीक कटा प्याज, मिर्च, धनिया पत्ता, काला नमक और जीरा पाउडर डालें।
  • सभी चीजों को अच्छे से मिलाकर उसमें पानी डालें और अच्छे से मिक्स कर लें ताकि गांठें न बनें।
  • गिलास में डालकर इस नमकीन सत्तू के शरबत का मजा लें।
  • आप चाहें तो सत्तू में गुड़ और पानी डालकर मीठा शरबत बनाकर भी पी सकते हैं।
और पढ़ें ...
ऐप पर पढ़ें
कोरोना मामले - भारतx

कोरोना मामले - भारत

CoronaVirus
604643 भारत
2दमन दीव
100अंडमान निकोबार
15252आंध्र प्रदेश
195अरुणाचल प्रदेश
8582असम
10249बिहार
446चंडीगढ़
2940छत्तीसगढ़
215दादरा नगर हवेली
89802दिल्ली
1387गोवा
33232गुजरात
14941हरियाणा
979हिमाचल प्रदेश
7695जम्मू-कश्मीर
2521झारखंड
16514कर्नाटक
4593केरल
990लद्दाख
13861मध्य प्रदेश
180298महाराष्ट्र
1260मणिपुर
52मेघालय
160मिजोरम
459नगालैंड
7316ओडिशा
714पुडुचेरी
5668पंजाब
18312राजस्थान
101सिक्किम
94049तमिलनाडु
17357तेलंगाना
1396त्रिपुरा
2947उत्तराखंड
24056उत्तर प्रदेश
19170पश्चिम बंगाल
6832अवर्गीकृत मामले

मैप देखें