myUpchar प्लस+ के साथ पूरेे परिवार के हेल्थ खर्च पर भारी बचत

सफेद मिर्च एक जड़ी बूटी है जिसे प्राचीन काल से जाना जाता है। यह मसाला विभिन्न व्यंजनों में प्रयोग किया जाता है, यहां तक कि विभिन्न उपचारों में भी। सफेद मिर्च के कई स्वास्थ्य लाभ हैं और अब चिकित्सा की दुनिया में भी सफेद मिर्च का उपयोग किया जाता है। सफेद मिर्च को दखनी मिर्च भी कहा जाता है।

सफेद मिर्च में मौजूद फ्लेवोनोइड और विटामिन इसके एंटी-ऑक्सीडेंट गुणों के लिए जिम्मेदार है। इससे सफेद मिर्च जीवों के खिलाफ लड़ती है जो शरीर में प्रवेश कर सकते हैं और कोशिकाओं को नुकसान पहुंचा सकते हैं। इसमें मैंगनीज, लोहा और आहार फाइबर की एक बड़ी मात्रा होती है और इस प्रकार यह शरीर को खनिजों की स्वस्थ आपूर्ति को सुनिश्चित करती है।

  1. सफेद मिर्च फॉर आईज - White Pepper for Improving Eyesight in Hindi
  2. सफेद मिर्च के फायदे अवांछित बालों को हटाने के लिए - White Pepper for Hair Removal in Hindi
  3. सफेद मिर्च के लाभ हैं रूसी को दूर करने में प्रभावी - White Pepper For Dandruff in Hindi
  4. सफेद मिर्च के गुण करें वजन कम - White Pepper for Weight Loss in Hindi
  5. सफेद मिर्च का उपयोग करे गठिया के इलाज के लिए - Safed Mirch ke Fayde Arthritis in Hindi
  6. सफ़ेद मिर्च बेनिफिट्स फॉर कफ - White Pepper for Cough in Hindi
  7. सफेद मिर्च के औषधीय गुण करें कैंसर का उपचार - White Pepper Cures Cancer in Hindi
  8. सफेद मिर्च का सेवन रखे उच्च रक्तचाप को नियंत्रित - White Pepper for High Blood Pressure in Hindi
  9. वाइट पीपर के बेनिफिट्स पाचन के लिए - White Pepper for Digestion in Hindi
  10. वाइट पीपर पाउडर है हृदय स्वास्थ्य के लिए लाभकारी - Safed Mirch for Heart Health in Hindi
  11. दखनी मिर्च के फायदे हैं मधुमेह में उपयोगी - White Pepper Good for Diabetes in Hindi
  12. सिरदर्द के लिए सफेद मिर्च है लाभकारी - Safed Mirch ke Labh for Headaches in Hindi
  13. सफेद मिर्च करें अल्सर को रोकने में मदद - Safed Mirch ke Gun for Ulcers in Hindi
  14. सफेद मिर्च के अन्य फायदे - Other Benefits of White Pepper in Hindi
  15. सफेद मिर्च के नुकसान - White Pepper Side Effects in Hindi

सफेद मिर्च के सेवन से लोगों की दृष्टि में सुधार किया जा सकता है। इसे बादाम पाउडर, चीनी , सौंफ और त्रिफला पाउडर के साथ मिलाकर सेवन किया जाता है। हालांकि, इस विधि का उपयोग करने से पहले हर्बल डॉक्टर से सलाह लें क्योंकि यह कुछ कंडीशंस के लिए उपयुक्त नहीं है।

मोतियाबिंद का इलाज करने के लिए भी सफेद मिर्च को काफी प्रभावी माना जाता है। 1: 5 अनुपात में बादाम के साथ मिक्स करे और फिर ब्राउन शुगर और घी के साथ मिलाएं। यह मोतियाबिंद के लिए एक चमत्कारी इलाज है जिसे कई रोगियों पर परीक्षण किया गया है। (और पढ़ें - चश्मा छुड़ाना या मोतियाबिंद से मुक्ति पाना, सभी आँखों की समस्याओं का इलाज है रामदेव जी के पास

त्वचा पर अवांछित बालों को कपूर के साथ सफेद मिर्च का उपयोग करके स्थायी रूप से हटाया जा सकता है। बादाम के तेल के साथ इन दोनों सामग्रियों को मिलाएं और मिश्रण को त्वचा पर 10-15 मिनट के लिए रहने दें। यह स्थायी रूप से बालों को हटाने में मदद करता है हालांकि, यह देखने के लिए कि क्या यह किसी की त्वचा के प्रकार को उपयुक्त करता है या नहीं, त्वचा के एक छोटे से हिस्से पर इस पद्धति का प्रयास करना चाहिए। बाद में इसका उपयोग पैरों और बाजुओ पर करने की कोशिश की जा सकती है। हालांकि, अंडरमर्स और बिकनी लाइन जैसे कोमल भागों पर इसका इस्तेमाल न करें।

सफेद मिर्च पाउडर में गर्मी पैदा करने वाले गुण हैं। इसलिए यह बालों से रूसी को हटाने में प्रभावी है। एक ही समय में, हेयर रीवाइटलज़ैशन के लिए यह एक उपयोगी उपाय भी है।

सफेद और काली मिर्च को अद्धभुत सामग्री माना जाता है जो कि रूसी समस्याओं का इलाज करने के लिए इस्तेमाल की जा सकती है। सफेद मिर्च को दही के साथ मिलाएं और इस मिश्रण को स्कैल्प पर लगाएं। आधे घंटे के आवेदन के बाद पानी से मिश्रण को धो लें। इस मिश्रण का आवेदन चमत्कारी ढंग से सिर से रूसी को हटाने में मदद करता है। इस मिश्रण को अधिक समय तक लगाकर न रखें क्योंकि यह स्कैल्प की त्वचा को जला सकता है। (और पढ़ें - बालों की रूसी हटाने के घरेलु नुस्खे)

इसमें मौजूद कैप्सैसिइन के कारण, सफ़ेद मिर्च शरीर के अंदर वसा को जलाने में मदद करती है और इस तरह यह वजन को कम करने में मदद करती है। इसका कारण यह है कि वजन घटाने वाली दवाइयों और घोल में कैप्सैसिइन होता है। 

(और पढ़ें - वजन कम करने के आसान उपाय)

सफेद मिर्च (दखनी) में एक सामग्री कैप्सैसिइन होती है जो लाल मिर्च में भी होता है। इस पदार्थ में सूजन को कम करने वाले गुण होते हैं। इसलिए सफेद मिर्च उन लोगों के लिए बहुत फायदेमंद है जो गठिया से ग्रस्त हैं और जो मांसपेशियों में सूजन और दर्द से ग्रस्त हैं।

जो लोग खाँसी और गले में खराश से प्रभावित होते हैं उन लोगों को राहत पाने के लिए थोड़े से कच्चे शहद के साथ सफेद मिर्च पाउडर का सेवन करना चाहिए। कच्ची शहद और सफेद मिर्च एंटीबायोटिक में गुण होते हैं और यह गर्मी भी पैदा करते हैं। इस प्रकार ये आसानी से खांसी और ठंड से राहत प्रदान करते हैं। (और पढ़ें - कफ, सर्दी, जुखाम, गले में खराश, खाँसी से अगर हैं परेशान, तो ज़रूर सुनें बाबा रामदेव की बात)

कैंसर के उपचार के लिए भी सफेद मिर्च फायदेमंद है। अमेरिकन एसोसिएशन ऑफ कैंसर रिसर्च में नॉटिंघम विश्वविद्यालय में एक अध्ययन ने कहा कि सफेद मिर्च में कैप्सिकिन की सामग्री कैंसर कोशिकाओं को मार सकती है। विशेष रूप से प्रोस्टेट कैंसर

चूंकि सफेद मिर्च फ्लेवोनोइड में समृद्ध है और इसमें मौजूद विटामिन सी और ए, रक्तचाप को नियंत्रण में रखने में बहुत सहायक है। उच्च रक्तचाप और अन्य संबंधित समस्याओं वाले व्यक्तियों को दैनिक आहार में सफेद मिर्च को शामिल करना चाहिए।

सफेद मिर्च का एक अनूठा गुण यह है कि यह स्वाद कली को उत्तेजित करता है जिससे कि हाइड्रोक्लोरिक एसिड को स्रावित करने के लिए पेट को एक संकेत भेजा जा सके, जो भोजन की पाचन के लिए आवश्यक है। इसलिए हमें दैनिक आहार के लिए इसका सेवन करना चाहिए। (और पढ़ें - पाचन क्रिया सुधारने के आयुर्वेदिक उपाय)

सफेद मिर्च की एक अनोखी विशेषता यह है कि इसमें गर्मी पैदा करने वाले गुण होते है जिसके कारण बहुत पसीना आता है, जिसके कारण शरीर से अतिरिक्त तरल पदार्थ निकाले जा सकते हैं। यहां एक तथ्य यह है कि शरीर में बहुत अधिक तरल पदार्थ, विशेष रूप से दिल के आसपास, दिल पर तनाव डाल सकते हैं और इसके कार्यप्रणाली को प्रतिकूल रूप से प्रभावित कर सकते हैं। इससे शरीर में पानी की प्रतिधारण भी हो सकती है, साथ ही फेफड़ों पर अत्यधिक दबाव के कारण श्वास लेने में कठिनाई हो सकती है। इसलिए शरीर से अतिरिक्त तरल पदार्थ को बाहर निकालने के लिए, सफेद मिर्च का उपभोग करना महत्वपूर्ण है।

चूंकि सफेद मिर्च शरीर के चयापचय को बढ़ाने में सहायक होती है और पाचन प्रक्रिया में भी सहायता करती है, इसलिए यह रक्त शर्करा के नियंत्रण में फायदेमंद पाई गई है। मेथी के बीज के पाउडर और हल्दी के साथ सफेद मिर्च का मिश्रण, हर दिन एक गिलास दूध के साथ लेने से शर्करा के स्तर को नीचे लाने में मदद मिलती है। यह ज्यादातर रक्त शुगर रोगियों के लिए उपयोगी है।

सिरदर्द के लिए सफेद मिर्च बहुत ही लाभकारी है। न्यूरोपैप्टाइड (neuropeptides) के कारण सिरदर्द, ये पदार्थ होते हैं जो मस्तिष्क को दर्द पहुंचाते हैं। हालांकि, कैप्सैसिन इस संचरण को रोक सकता है और सिरदर्द के लक्षणों को कम करने में सक्षम है।

सफेद मिर्च का सेवन पेट और आंतों में अल्सर पैदा करने वाले बैक्टीरिया को मार सकता है। इसलिए, अल्सर और पेट में दर्द जैसे पेट की बीमारियों को रोकने में यह सहायक है। (और पढ़ें – पेट दर्द का घरेलू इलाज)

  1. लौंग तेल या नमक के साथ संयोजन में इस्तेमाल होने पर सफ़ेद मिर्च पाउडर दांतदर्द से राहत प्रदान करने के लिए जाना जाता है।
  2. सफेद काली मिर्च द्वारा उत्पन्न गर्मी नाक पथ को साफ़ करने और नाक की रूकावट को दूर करने में मदद कर सकती है।
  3. लंबे समय के लिए, सफेद मिर्च और अन्य सभी प्रकार के मिर्च में अग्निवर्धक गुण होते हैं, जिसके कारण यह आंतों में गैस के गठन को रोकती है। (और पढ़ें - पेट की गैस का घरेलू उपचार)
  4. सफेद मिर्च में एंटीऑक्सिडेंट की उच्च सामग्री के कारण, यह बारीक़ लाइन्स, झुर्रियां और काले धब्बों के लिए एक अद्धभुत उपाय है, जो उम्र बढ़ने के प्रमुख संकेत हैं। रोजमर्रा के आहार में काली मिर्च का प्रयोग करने से आपको लंबे समय तक सुंदर और युवा लग सकते हैं।
  1. बड़ी मात्रा में सेवन करने पर गलती से फेफड़ों में आ सकती है जो मृत्यु का कारण हो सकते है। विशेष रूप से बच्चों में।
  2. यह ज्ञात नहीं है कि बच्चों की त्वचा पर सफेद मिर्च का उपयोग करने के लिए सुरक्षित है या नहीं।
  3. आँखों में जाने पर सफेद मिर्च लालिमा और जलन का करण बन सकती है।
  4. गर्भावस्था और स्तनपान के दौरान इसके सेवन से बचना ही बेहतर है।

(और पढ़ें - प्रेगनेंसी में पेट दर्द हो तो क्या करे और पुत्र प्राप्ति के लिए क्या करें)

और पढ़ें ...

References

  1. Department of Agricultural and Resource Economics. Pepper. College of Tropical Agriculture and Human Resources; University of Hawaii
  2. Platel K, Srinivasan K. Influence of dietary spices and their active principles on pancreatic digestive enzymes in albino rats. 2000 Feb;44(1):42-6. PMID: 10702999
  3. Bajad S, Bedi KL, Singla AK, Johri RK. Antidiarrhoeal activity of piperine in mice. 2001 Apr;67(3):284-7. PMID: 11345706
  4. Jin CQ, Jia YX, Dong HX, Zhou JW, Sun GF, Zhang YY, Zhao Q, Zheng BY. Stir-fried white pepper can treat diarrhea in infants and children efficiently: a randomized controlled trial.. . 2013;41(4):765-72. PMID: 23895150
  5. Philip Hunter. The inflammation theory of disease. 2012 Nov; 13(11): 968–970. PMID: 23044824
  6. Vaibhav K, Shrivastava P, Javed H, Khan A, Ahmed ME, Tabassum R, Khan MM, Khuwaja G, Islam F, Siddiqui MS, Safhi MM, Islam F. Piperine suppresses cerebral ischemia-reperfusion-induced inflammation through the repression of COX-2, NOS-2, and NF-κB in middle cerebral artery occlusion rat model.. 2012 Aug;367(1-2):73-84. PMID: 22669728
  7. Toyoda T, Shi L, Takasu S, Cho YM, Kiriyama Y, Nishikawa A, Ogawa K, Tatematsu M, Tsukamoto T. [ link]. 2016 Apr;21(2):131-42. PMID: 26140520
  8. Bang JS, Oh DH, Choi HM, Sur BJ, Lim SJ, Kim JY, Yang HI, Yoo MC, Hahm DH, Kim KS. Anti-inflammatory and antiarthritic effects of piperine in human interleukin 1β-stimulated fibroblast-like synoviocytes and in rat arthritis models. 2009;11(2):R49.PMID: 19327174
  9. Umar S, Golam Sarwar AH, Umar K, Ahmad N, Sajad M, Ahmad S, Katiyar CK, Khan HA. Piperine ameliorates oxidative stress, inflammation and histological outcome in collagen induced arthritis. 2013 Jul-Aug;284(1-2):51-9. PMID: 23921080
  10. Ma ZG, Yuan YP, Zhang X, Xu SC, Wang SS, Tang QZ. Piperine Attenuates Pathological Cardiac Fibrosis Via PPAR-γ/AKT Pathways. 18:179-187. PMID: 28330809.
  11. Joshua G. Travers , Fadia A. Kamal , Jeffrey Robbins , Katherine E. Yutzey , and Burns C. Blaxall. Cardiac Fibrosis. 18 Mar 2016; https://doi.org/10.1161/. Circulation Research. 2016;118:1021–1040
  12. Taqvi SI, Shah AJ, Gilani AH. Blood pressure lowering and vasomodulator effects of piperine. 2008 Nov;52(5):452-8.PMID: 19033825
  13. Lee SA, Hong SS, Han XH, Hwang JS, Oh GJ, Lee KS, Lee MK, Hwang BY, Ro JS.Piperine from the fruits of Piper longum with inhibitory effect on monoamine oxidase and antidepressant-like activity. 2005 Jul;53(7):832-5.PMID: 15997146
  14. Li S, Wang C, Li W, Koike K, Nikaido T, Wang MW. Antidepressant-like effects of piperine and its derivative, antiepilepsirine. PMID: 17701559
  15. Rinwa P, Kumar A. Piperine potentiates the protective effects of curcumin against chronic unpredictable stress-induced cognitive impairment and oxidative damage in mice. 2012 Dec 7;1488:38-50. PMID: 23099054
  16. Shoba G, Joy D, Joseph T, Majeed M, Rajendran R, Srinivas PS. Influence of piperine on the pharmacokinetics of curcumin in animals and human volunteers.. 1998 May;64(4):353-6. PMID: 9619120
  17. Zheng J, Zhou Y, Li Y, Xu DP, Li S, Li HB.Spices for Prevention and Treatment of Cancers. 2016 Aug 12;8(8):495. PMID: 27529277
  18. Zhai Hai-long, Chen Shimin, and Lu Yalan. Some Chinese folk prescriptions for wind-cold type common cold. 2015 Jul; 5(3): 135–137. PMID: 26151024
  19. Zoheir A Damanhouri and Aftab Ahmad. A Review on Therapeutic Potential of Piper nigrum L. (Black Pepper): The King of Spices. August 04, 2014. doi:10.4172/2167-0412.1000161
  20. Atal S, Agrawal RP, Vyas S, Phadnis P, Rai N. Evaluation of the effect of piperine per se on blood glucose level in alloxan-induced diabetic mice.. 2012 Sep-Oct;69(5):965-9. PMID: 23061294