कमल के फूल काफी खूबसूरत होते हैं. ये सफेद, गुलाबी, लाल और नीले रंग के होते हैं. इनका उपयोग पूजा-पाठ से लेकर कई तरह की बीमारियों का इलाज करने करने के लिए किया जाता है. कमल के फूल खांसी, बुखार और पेट की समस्याओं को दूर करने में मदद कर सकते हैं. इसके अलावा, सूजन होने पर भी कमल के फूल असरदार हो सकते हैं. कमल के फूलों का उपयोग भोजन और पेय पदार्थों का स्वाद बढ़ाने के लिए किया जा सकता है.

आज इस लेख में आप कमल के फूलों के फायदे, नुकसान और उपयोग के बारे में जानेंगे -

(और पढ़ें - पलाश के फायदे)

  1. कमल के फूल के फायदे
  2. कमल के फूल के उपयोग
  3. कमल के फूल को इस्तेमाल करने से जुड़ी सावधानियां
  4. कमल के फूल के नुकसान
  5. सारांश
कमल के फूल के फायदे व नुकसान के डॉक्टर

कमल के फूलों को एक उत्तम औषधि माना जाता है. कमल में एंटीऑक्सीडेंट, एंटीइंफ्लेमेटरी और एंटीबैक्टीरियल गुण पाए जाते हैं. इनके अलावा, इसमें कई तरह के पोषक तत्व भी पाए जाते हैं. आयुर्वेद में तरह-तरह की बीमारियों का इलाज करने के लिए कमल के फूलों का उपयोग किया जाता है. कमल के फूल खांसी, बुखार और जलन को कम करने में मदद कर सकते हैं. कमल के फूल के फायदे निम्न हैं -

एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर

कमल के फूलों में कई फ्लेवोनोइड और अल्कलाइड तत्व होते हैं, जो एंटीऑक्सीडेंट के रूप में कार्य कर सकते हैं. एंटीऑक्सीडेंट शरीर को फ्री रेडिकल्स से होने वाले नुकसान से बचाता है. 

दरअसल, जब शरीर में फ्री रेडिकल्स बनते हैं, तो ये ऑक्सीडेटिव स्ट्रेस पैदा कर सकते हैं. इससे कोशिकाओं को नुकसान पहुंचता है. एंटीऑक्सीडेंट, ऑक्सीडेटिव स्ट्रेस से होने वाली बीमारियों से व्यक्ति की रक्षा कर सकता है. इसके अलावा, ये कैंसरअल्जाइमर व लिवर डैमेज से भी बचा जा सकता है. कमल के फूलों के अलावा इसके बीज और पत्तियों में भी एंटीऑक्सीडेंट होते हैं.

(और पढ़ें - चमेली के फूल के फायदे)

सूजन दूर करने में लाभकारी

कमल में एंटी इंफ्लेमेटरी गुण होते हैं. ऐसे में इसके उपयोग से सूजन को कम करने में मदद मिल सकती है. क्रोनिक इंफ्लेमेशन टिश्यू को नुकसान पहुंचा सकती है. इसके अलावा, यह हृदय रोग, कैंसर और डायबिटीज का कारण भी बन सकता है. इसलिए, सूजन को कम करने के लिए कमल का इस्तेमाल किया जा सकता है. कमल के फूल, बीज और पत्तियों के अर्क में सूजन को कम करने वाले गुण पाए जाते हैं.

(और पढ़ें - गुड़हल के फायदे)

संक्रमण से बचाए

जिन लोगों को अक्सर खांसी व बुखार रहता है, उनके लिए कमल फायदेमंद हो सकता है. कमल में एंटीबैक्टीरियल गुण होते हैं. ये तरह-तरह के बैक्टीरिया और वायरस से लड़ने में शरीर की मदद करते हैं. कमल के फूल के उपयोग से संक्रमण से बचाव भी हो सकता है. कमल का फूल मुंह या मसूड़ों के संक्रमण का इलाज करने में भी रामबाण हो सकता है.

(और पढ़ें - दगड फूल के फायदे)

ब्लड शुगर कंट्रोल करे

एनिमल रिसर्च से पता चलता है कि कमल में मौजूद तत्व ब्लड शुगर लेवल को कंट्रोल में रखने में मदद कर सकते हैं. डायबिटीज रोगियों में यह लाभकारी हो सकता है, लेकिन अगर किसी व्यक्ति का शुगर लेवल बढ़ा हुआ है, तो डॉक्टर की सलाह पर ही कमल का उपयोग करें.

(और पढ़ें - बुरांश फूल के फायदे)

रक्तस्राव में लाभकारी

कमल रक्तस्राव विकारों को दूर करने में लाभकारी हो सकता है. इसमें फाइटोकेमिकल्स होते हैं, इसमें थक्कारोधी गुण होते हैं. यह रुके हुए रक्त को दूर करता है. साथ ही बवासीर में रक्तस्राव व मासिक धर्म के दौरान हैवी ब्लीडिंग को भी कंट्रोल करने में मदद कर सकता है.

(और पढ़ें - अगस्त फूल के फायदे)

स्किन के लिए उपयोगी

कमल के फूलों में एंटीऑक्सीडेंट गुण होते हैं, इसलिए इन्हें स्किन के लिए भी उपयोगी माना जाता है. कमल के फूल त्वचा को हाइड्रेट करते हैं व पिगमेंटेशन को दूर करते हैं. साथ ही स्किन को फ्रेश और टाइट भी बनाते हैं. त्वचा पर कमल के फूलों का पेस्ट लगाकर समस्याओं को दूर किया जा सकता है.

इनके अलावा, कमल का फूल लिवर व पेट से जुड़ी समस्याओं को भी दूर करने में मदद कर सकता है. इसका उपयोग त्वचा की समस्याओं को दूर करने के लिए भी किया जा सकता है.

(और पढ़ें - केले के फूल के फायदे)

कमल के फूल को निम्न तरीके से इस्तेमाल किया जा सकता है -

  • कमल के फूलों का उपयोग पाउडर के रूप में किया जा सकता है. इसके लिए फूल को सूखा लें, फिर उन्हें बारीक पीस लें.
  • कमल के फूलों का काढ़ा भी फायदेमंद हो सकता है. इसके लिए कमल के सूखे या ताजे फूल लें. इन्हें पानी में अच्छी तरह से उबाल लें और फिर छानकर पी लें.
  • कमल के फूलों से त्वचा के लिए पेस्ट भी बनाया जा सकता है. इसके लिए सूखे कमल के फूल लें. इन्हें बारीक पीस लें. फिर इसमें पानी या गुलाब जल मिलाएं. तैयार लोटस पेस्ट को त्वचा पर लगा सकते हैं.
  • कमल के फूलों का उपयोग सूप आदि बनाने में किया जा सकता है. इसके फूल सूप के पोषक तत्वों को बढ़ा देते हैं.

(और पढ़ें - अपराजिता के फायदे)

कमल के फूल को दवा के रूप में लेना सुरक्षित है या नहीं, इसके बारे में अभी पर्याप्त जानकारी नहीं है. इसके अलावा, कमल के फूल को त्वचा पर लगाया जा सकता है, इसका भी कोई प्रमाण नहीं है. कई लोगों को इससे एलर्जी भी हो सकती है. अगर किसी व्यक्ति को कोई गंभीर बीमारी है, तो इसे डॉक्टर की सलाह पर ही उपयोग में लाएं.

(और पढ़ें - ब्रह्म कमल के फायदे)

कुछ मामलों में कमल के फूल को इस्तेमाल करने से निम्न प्रकार के दुष्प्रभाव भी देखने को मिल सकते हैं -

  • अगर कमल के फूल को त्वचा पर लगाया जाता है, तो कई लोगों को इससे त्वचा पर खुजली हो सकती है.
  • गर्भावस्था और स्तनपान कराने वाली महिलाओं को भी कमल के फूलों का उपयोग करने से बचना चाहिए. 
  • कमल का फूल कुछ लोगों में ब्लड शुगर के लेवल को कम कर सकता है. इसलिए, लो ब्लड शुगर में इसके उपयोग से बचें.
  • सर्जरी के दौरान या बाद में कमल का उपयोग करना बंद कर दें. क्योंकि इससे ब्लड शुगर अनियंत्रित हो सकता है.

(और पढ़ें - गेंदे के फूल के फायदे)

कमल के फूल एंटीऑक्सीडेंट, एंटीबैक्टीरियल और एंटीइंफ्लेमेटरी गुणों से भरपूर होते हैं. इनके उपयोग से कई तरह की समस्याओं का इलाज किया जा सकता है. कमल के फूलों का उपयोग चाय, पाउडर या फिर पेस्ट के रूप में किया जा सकता है. लेकिन कमल के फूल किसी भी बीमारी का संपूर्ण इलाज नहीं हो सकते हैं. इसलिए, इनके प्रयोग से पहले डॉक्टर की सलाह जरूर लें.

(और पढ़ें - अतिबला के फायदे)

Dr. Avinash Ramsahay Mourya

Dr. Avinash Ramsahay Mourya

आयुर्वेद
10 वर्षों का अनुभव

Dr. Amit Santosh Mishra

Dr. Amit Santosh Mishra

आयुर्वेद
25 वर्षों का अनुभव

Dr. Saurabh Patel

Dr. Saurabh Patel

आयुर्वेद
2 वर्षों का अनुभव

Dr. Gourav Vashishth

Dr. Gourav Vashishth

आयुर्वेद
5 वर्षों का अनुभव

ऐप पर पढ़ें
cross
डॉक्टर से अपना सवाल पूछें और 10 मिनट में जवाब पाएँ