myUpchar प्लस+ के साथ पूरेे परिवार के हेल्थ खर्च पर भारी बचत

एस्ट्राडियोल टेस्ट क्या है?

एस्ट्राडियोल, एस्ट्रोजन हार्मोन का एक प्रकार है, जो महिलाओं में ओवरी, स्तनों और एड्रिनल ग्रंथि द्वारा बनाया जाता है। गर्भावस्था के दौरान गर्भनाल द्वारा भी एस्ट्राडियोल संश्लेषित किया जाता है। इस हार्मोन को 17 बीटा-एस्ट्राडियोल भी कहते हैं। यह महिलाओं के जननांगों जैसे गर्भाशय ग्रीवा, गर्भाशय नाल (Fallopian tubes), स्तनों और योनि को विकसित करने और उनकी वृद्धि में मदद करता है। एस्ट्राडियोल महिलाओं के शरीर में वसा के वितरण के तरीके को भी निर्धारित करने में सहायक है। 

पुरुषों में, एस्ट्राडियोल एड्रिनल ग्रंथी और वृषण द्वारा बनाया जाता है। हालांकि, इस हार्मोन का स्तर पुरुषों के शरीर में महिलाओं की तुलना में कम होता है। 

एस्ट्राडियोल टेस्ट या इ2 टेस्ट रक्त में एस्ट्राडियोल हार्मोन की मात्रा का पता लगाने के लिए किया जाता है।

  1. एस्ट्राडियोल टेस्ट क्यों किया जाता है - Estradiol (E2) Test Kyu Kiya Jata Hai
  2. एस्ट्राडियोल टेस्ट से पहले - Estradiol (E2) Test Se Pahle
  3. एस्ट्राडियोल टेस्ट के दौरान - Estradiol (E2) Test Ke Dauran
  4. एस्ट्राडियोल टेस्ट के परिणाम का क्या मतलब है - Estradiol (E2) Test Ke Parinam Ka Kya Matlab Hai

एस्ट्राडियोल टेस्ट किसलिए किया जाता है?

एस्ट्राडियोल टेस्ट को करवाने की सलाह तब दी जाती है जब महिला और पुरुषों में जननांग और उनसे जुड़े लक्षण ठीक प्रकार से विकसित नहीं हो पाते हैं। डॉक्टर द्वारा निम्न की जांच करने के लिए भी यह टेस्ट करवाया जा सकता है:

एस्ट्राडियोल टेस्ट किसी महिला में तब भी किया जा सकता है जब उसमें रजोनिवृत्ति के लक्षण दिखाई दें क्योंकि इससे डॉक्टर को यह जानने में मदद मिलेगी कि महिला रजोनिवृत्त हो चुकी है या यह स्थिति अभी शुरू ही हुई  है। 

यह टेस्ट ओवरी के स्वास्थ्य के बारे में पता लगाने में भी सहायक है और इसलिए इस टेस्ट से ओवेरियन कैंसर के लक्षणों का परीक्षण भी किया जा सकता है। 

इसके अलावा यह टेस्ट गर्भवती महिलाओं से भी करवाने को कहा जाता है। इनफर्टिलिटी थेरेपी का प्रभाव जानने के लिए यह टेस्ट उन महिलाओं में भी किया जा सकता है जिनका इनफर्टिलिटी ट्रीटमेंट किया जा रहा है। 

जो लोग ट्रांसजेंडर हार्मोन थेरेपी करवा रहे होते हैं उन्हें भी एस्ट्राडियोल दिया जाता है इसलिए उन लोगों को नियमित रूप से ये टेस्ट करवाना होता है। 

एस्ट्राडियोल टेस्ट की तैयारी कैसे करें?

कुछ विशेष दवाएं जैसे गर्भनिरोधक गोलियां, एस्ट्रोजन थेरेपी, मानसिक स्वास्थ्य के विकारों के लिए दवा, एंटीबायोटिक (जैसे एम्पीसिलीन) आादि भी एस्ट्राडियोल के स्तर को प्रभावित कर सकती हैं। इसीलिए यदि व्यक्ति इनमें से कोई भी दवा ले रहा है तो इस बारे में टेस्ट करवाने से पहले डॉक्टर से बातचीत कर लेनी चाहिए।

टेस्ट से पहले ही डॉक्टर आपको कुछ दवाएं लेना बंद करने या खुराक में कुछ बदलाव करने का सुझाव दे सकते हैं।

एस्ट्राडियोल के स्तर मासिक धर्म के दौरान और बाकि दिनों में अलग-अलग आ सकते हैं। इसीलिए डॉक्टर किसी विशेष दिन आपसे टेस्ट करवाने के लिए कहेंगे।

यह जरूरी है कि यदि आप किसी भी स्वास्थ्य स्थिति जैसे एनीमिया, उच्च रक्त चाप, किडनी रोग या लिवर के विकार से ग्रस्त हैं तो डॉक्टर को इसकी जानकारी जरूर दें क्योंकि ये एस्ट्राडियोल के स्तर को प्रभावित कर सकते हैं। कुछ लोगों को टेस्ट से पहले खाने-पीने से मना किया जा सकता है और कुछ लोगों को इसकी जरूरत नहीं होती।

एस्ट्राडियोल टेस्ट कैसे किया जाता है?

एस्ट्राडियोल टेस्ट दूसरे ब्लड टेस्ट की ही तरह होता है। इसके लिए डॉक्टर आपकी बांह की नस में सुई लगाकर ब्लड सेंपल ले ले लेते हैं। सुई लगाने से पहले त्वचा को दवा से किटाणु मुक्त भी किया जाता है।

जब सुई लगाई जाती है तो कुछ लोगों को हल्का-सा दर्द हो सकता है वहीं कुछ लोगों को चुभन जैसी संवेदना हो सकती हैं। सुई लगने से दर्द या कंपकपी हो सकती है जो कि जल्द ही गायब हो जाती है।

यह एक सामान्य टेस्ट है जिससे कोई गंभीर जोखिम नहीं होता है। हालांकि, सुई के प्रयोग से निम्न खतरे जुड़े ही होते हैं: 

एस्ट्राडियोल टेस्ट के परिणाम क्या बताते हैं?

निम्न को सामान्य परिणाम माना जा सकता है:

  • पुरुष:10 से 50 पिकोग्राम प्रति मिलीलीटर  (pg/mL)
  • महिला (रजोनिवृत्ति से पहले): 30 से 400 pg/mL
  • महिला (रजोनिवृत्ति के बाद): 0 से 30 pg/mL

  एस्ट्राडियोल के असामान्य स्तर निम्न विकारों से जुड़े हैं:

लैब के अनुसार सामान्य वैल्यू अलग हो सकती है। हालांकि रिजल्ट का मतलब ठीक से पता करने के लिए डॉक्टर से बात कर लेनी चाहिए।

और पढ़ें ...

References

  1. MedlinePlus Medical Encyclopedia. [Internet] US National Library of Medicine; Estradiol blood test
  2. The Hormone Health. [Internet] Endocrine Society. U.S. What is Estrogen?
  3. ARUP Consult, ARUP Laboratories.[Internet] Salt City, UT, U.S.Amenorrhea
  4. KidsHealth. Blood Test: Estradiol. The Nemours Foundation [internet].
  5. UCSF health. [Internet] University of California.Estradiol Test
  6. Carina Ankarberg-Lindgren, Ensio Norjavaara. Estradiol in Pediatric Endocrinology American Journal of Clinical Pathology, December 2009, Volume 132, Issue 6, Pages 978–980