myUpchar प्लस+ के साथ पूरेे परिवार के हेल्थ खर्च पर भारी बचत

एंडोमेट्रिओसिस एक ऐसी समस्या है जिसमें गर्भाशय के अंदर पाया जाने वाला एक ऊतक (टिश्यू) बढ़कर गर्भाशय के बाहर फैलने लगता है। यह ऊतक अंडाशय, फैलोपियन ट्यूब या गर्भाशय के बाहरी हिस्सों में और अन्य आंतरिक भागों में फ़ैल सकता है। एंडोमेट्रिओसिस से गंभीर दर्द हो सकता है, विशेषकर आपके मासिक धर्म के दौरान। यह ऊतक गर्भाशय के अंदर वाले ऊतक जैसा ही होता है लेकिन मासिक धर्म के दौरान वह बाहर नहीं निकल पाता जिससे दर्द होता है। कभी-कभी यह ऊतक निशान छोड़ देते हैं या द्रव से भरे अल्सर बनाते हैं। इससे महिलाओं में प्रजनन क्षमता में कमी भी आ सकती है।

भारत में एंडोमेट्रिओसिस
भारत में 1 करोड़ से भी अधिक महिलाएँ हर साल एंडोमेट्रिओसिस से ग्रस्त होती हैं। यह हर दस में से एक महिला को होता है।​ भारत में 18 से 35 की उम्र के बीच की महिलाओं में से 2 करोड़ 60 लाख महिलाऐं एंडोमेट्रिओसिस से ग्रस्त हैं।

  1. एंडोमेट्रिओसिस के चरण - Stages of Endometriosis in Hindi
  2. एंडोमेट्रिओसिस (अन्तर्गर्भाशय अस्थानता) के लक्षण - Endometriosis Symptoms in Hindi
  3. अन्तर्गर्भाशय अस्थानता के कारण - Endometriosis Causes in Hindi
  4. एंडोमेट्रिओसिस से बचाव - Prevention of Endometriosis in Hindi
  5. एंडोमेट्रिओसिस का परीक्षण - Diagnosis of Endometriosis in Hindi
  6. एंडोमेट्रिओसिस (अन्तर्गर्भाशय अस्थानता) का इलाज - Endometriosis Treatment in Hindi
  7. अन्तर्गर्भाशय अस्थानता की जटिलताएं - Endometriosis Complications in Hindi
  8. एंडोमेट्रिओसिस में परहेज़ - What to avoid during Endometriosis in Hindi?
  9. अन्तर्गर्भाशय अस्थानता में क्या खाना चाहिए? - What to eat during Endometriosis in Hindi?
  10. एंडोमेट्रिओसिस (अन्तर्गर्भाशय अस्थानता) की दवा - Medicines for Endometriosis in Hindi
  11. एंडोमेट्रिओसिस (अन्तर्गर्भाशय अस्थानता) के डॉक्टर

एंडोमेट्रिओसिस के चरण - Stages of Endometriosis in Hindi

एंडोमेट्रिओसिस के चार चरण होते हैं -

  1. पहला चरण
    एंडोमेट्रिओसिस के पहले चरण में छिछले प्रत्यारोपण होते हैं जिन्हें कभी-कभी अल्सर या ओवेरियन कैंसर भी समझ लिया जाता है । वे श्रोणि (Pelvic) की सतह पर छोटे धब्बों की तरह लगते हैं। ये प्रत्यारोपण आसपास के ऊतकों में जलन और सूजन करते हैं जिससे चिपकाव होते हैं। यह चिपकाव ऊतकों और अंगों को बांधते हैं जिससे दर्द होता है और उनके कार्य करने की क्षमता में कमी आती है।
     
  2. दूसरा चरण
    ज्यादातर महिलाओं में हलके एंडोमेट्रिओसिस का निदान होता है। दूसरे चरण में पहले चरण जैसे ही लक्षण मौजूद होते हैं लेकिन वह और भी ज़्यादा गंभीर होते हैं। इसमें गंभीर रेशेदार चिपकावों के ऊपर काले धब्बे दिखाई देते हैं जिससे ओव्यूलेशन (Ovulation: डिंबोत्सर्जन) के दौरान दर्द या श्रोणि (Pelvic) में दर्द होता है। दूसरे चरण के दौरान गर्भाशय और मलाशय के बीच के हिस्से में घाव हो जाते हैं।
     
  3. तीसरा चरण
    तीसरे चरण में एंडोमेट्रीओमास (जिसे कभी-कभी "चॉकलेट अल्सर" भी कहा जाता है) दिखाई देने लगते हैं। यदि रसोली फट जाती है तो इससे बहुत अधिक पेट दर्द और श्रोणि में सूजन हो सकती है। सूजन और संक्रमण से चिपकाव भी ज़्यादा होते हैं। जैसे-जैसे एंडोमेट्रिओसिस आकार और संख्या में बढ़ते हैं, इनसे होने वाले चिपकाव भी बढ़ जाते हैं।
     
  4. चौथा चरण
    एंडोमेट्रिओसिस के अंत के चरण में अल्सर और गंभीर चिपकावों की संख्या बढ़ जाती है। इस चरण में एंडोमेट्रीओमास एक अंगूर के दाने जितना बड़ा भी हो सकता है। 2 सेमी से ज़्यादा के आकार के एंडोमेट्रीओमास को सर्जरी द्वारा हटाए जाने की आवश्यकता होती है। इस चरण में महिलाओं को पाचन समस्याएं, दर्दनाक मल त्याग, कब्ज, मतली/उल्टी और पेट दर्द होते हैं। इसके अलावा, चौथे चरण में बाँझपन भी हो सकता है।

एंडोमेट्रिओसिस (अन्तर्गर्भाशय अस्थानता) के लक्षण - Endometriosis Symptoms in Hindi

एंडोमेट्रिओसिस के खास लक्षण हैं -

  1. मासिक धर्म के दौरान अधिक दर्द।
  2. बिना मासिक धर्म के श्रोणि के हिस्से में दर्द होना।
  3. यौन सम्बन्ध बनाते समय दर्द होना।
  4. बाँझपन
  5. थकान।

एंडोमेट्रिओसिस में कुछ चक्रीय लक्षण भी होता हैं। चक्रीय लक्षण वह लक्षण होते हैं जो एक महिला के मासिक धर्म से कुछ दिनों पूर्व शुरू होते हैं और कुछ दिनों बाद गायब हो जाते हैं या केवल मासिक धर्म के दौरान ही होते हैं। यह लक्षण मासिक धर्म बंद होने के बाद अगले महीने फिर से प्रकट हो जाते हैं। जैसे -

  1. आंत्र समस्याएं जैसे समय-समय पर सूजन, दस्त या कब्ज।
  2. मुश्किल या दर्दनाक शौच।
  3. मूत्र में खून आना।
  4. गुदा से खून आना।
  5. कंधे का दर्द अदि।

अगर आपको इनमें से एक या एक से अधिक लक्षण होते हैं कृप्या अपने डॉक्टर से सलाह करें।

अन्तर्गर्भाशय अस्थानता के कारण - Endometriosis Causes in Hindi

हालांकि एंडोमेट्रिओसिस का सही कारण निश्चित नहीं है लेकिन निम्नलिखित में से कुछ स्थितियां इसका कारण​ हो सकती हैं -

 

  1. रेट्रोग्रेड मासिक धर्म 
    इसमें मासिक धर्म के रक्त वाली एंडोमेट्रिअल कोशिकाएं फैलोपियन ट्यूबों के माध्यम से शरीर के बाहर जाने की जगह पेल्विक कैविटी में चली जाती हैं। ये विस्थापित एंडोमेट्रिअल कोशिकाएं पेल्विक के अंगों की सतहों और उनकी दीवारों पर चिपक जाती हैं जहां वे प्रत्येक मासिक धर्म चक्र के दौरान अधिक मोटी होती हैं और रक्तस्राव करती हैं।
     
  2. पेरिटोनियल कोशिकाओं का परिवर्तन 
    यौवन के दौरान पेट के अंदरूनी भाग को रेखांकित करने वाली पेरिटोनियल कोशिकाओं का एंडोमेट्रिअल कोशिकाओं में परिवर्तन।
     
  3. भ्रूण कोशिका परिवर्तन 
    एस्ट्रोजेन जैसे हार्मोन यौवन के दौरान भ्रूण कोशिकाओं (विकास के प्रारंभिक चरणों वाली कोशिकाएं) को एंडोमेट्रिअल कोशिका प्रत्यारोपण में बदल सकते हैं।
     
  4. सर्जिकल निशानों में जमावट 
    एक सर्जरी के बाद (जैसे कि हिस्टेरेक्टॉमी या सी-सेक्शन) एंडोमेट्रिअल कोशिकाएं सर्जरी में लगे चीरे से जुड़ सकती हैं।
     
  5. एंडोमेट्रिअल सेल ट्रांसपोर्ट 
    रक्त वाहिकाएं या ऊतक द्रव व्यवस्था, एंडोमेट्रिअल कोशिकाओं को शरीर के अन्य भागों में ले जा सकती हैं।
     
  6. प्रतिरक्षा प्रणाली विकार 
    यह संभव है कि प्रतिरक्षा प्रणाली की कोई समस्या शरीर को एंडोमेट्रिअल ऊतक को पहचानने और नष्ट करने में असमर्थ हो जाए।

एंडोमेट्रिओसिस से बचाव - Prevention of Endometriosis in Hindi

आप एंडोमेट्रिओसिस को रोक नहीं सकते हैं लेकिन आप अपने शरीर में एस्ट्रोजेन हार्मोन के स्तर को कम करके इसकी विकसित होने की संभावना कम कर सकते हैं।
एस्ट्रोजेन आपके मासिक धर्म चक्र के दौरान आपके गर्भाशय की लाइनिंग को मोटा करता है।

आपके शरीर में एस्ट्रोजन का स्तर कम रखने के लिए आप यह कर सकते हैं -

  1. हार्मोनल गर्भनिरोधक विधियों के बारे में अपने चिकित्सक से बात करें जैसे गोलियां, पैच या एस्ट्रोजन की कम खुराक वाले छल्ले।
  2. नियमित रूप से व्यायाम करें (सप्ताह में 4 घंटे से अधिक)। यह आपको शरीर में वसा (फैट) की कम मात्रा रखने में भी मदद करेगा। नियमित व्यायाम और शरीर में कम वसा (फैट) की मदद से एस्ट्रोजेन की मात्रा कम हो जाती है।
  3. ज़्यादा मात्रा में शराब न लें इससे एस्ट्रोजेन का स्तर बढ़ जाता है।
  4. ज़्यादा मात्रा में कैफीनयुक्त पेय न लें। अध्ययन बताते हैं कि एक दिन में एक से ज्यादा कैफीनयुक्त पेय लेने से (खासकर सोडा और ग्रीन टी) एस्ट्रोजेन का स्तर बढ़ सकता है।

एंडोमेट्रिओसिस का परीक्षण - Diagnosis of Endometriosis in Hindi

एंडोमेट्रिओसिस का निदान करने के कुछ तरीके निम्नलिखित हैं -

  1. पेल्विक जांच (Pelvic test)
    पेल्विक जाँच के दौरान, आपके चिकित्सक अपने हाथों से आपके श्रोणि वाले हिस्से को महसूस करके विकारों की उपस्थिति का पता लगाते हैं (जैसे कि आपके प्रजनन अंगों पर अल्सर या आपके गर्भाशय के पीछे निशान)।
     
  2. इमेजिंग टेस्ट (Imaging test)
    एंडोमेट्रियोसिस से होने वाले ओवेरियन अल्सर की जांच के लिए आपके डॉक्टर आपका अल्ट्रासाउंड कर सकते हैं। डॉक्टर या तकनीशियन आपकी योनि में एक छड़ी के आकार का स्कैनर डाल सकते हैं या स्कैनर को आपके पेट पर चला सकते हैं। दोनों तरह के अल्ट्रासाउंड टेस्ट आपके प्रजनन अंगों की तस्वीरें बनाने के लिए ध्वनि तरंगों का उपयोग करते हैं। मैग्नेटिक रेसोनेंस इमेजिंग (एमआरआई) एक और इमेजिंग परीक्षण है जो आपके शरीर के अंदर की तस्वीर बना सकता है।
  3. लेप्रोस्कोपी (Laparoscopy)
    आपके डॉक्टर आपके पेट के अंदर एंडोमेट्रिओसिस के लक्षणों को देखने के लिए आपको एक सर्जन के पास भेज सकते हैं। इस जाँच को लेप्रोस्कोपी कहते हैं। लेप्रोस्कोपी यह निर्धारित करने में मदद करती है की प्रत्यारोपण का स्थान क्या है और कितना बड़ा है।

एंडोमेट्रिओसिस (अन्तर्गर्भाशय अस्थानता) का इलाज - Endometriosis Treatment in Hindi

एंडोमेट्रिओसिस का कोई इलाज नहीं है लेकिन इसके लक्षणों को सुधरने के लिए उपचार उपलब्ध हैं। जैसे -

  1. एंटी-इंफ्लेमेटरी या एनएसएआईडी दवाएं
    रक्तस्त्राव और दर्द को कम करने के लिए इनका प्रयोग किया जाता है जैसे इब्यूप्रोफन (ibuprofen)
     
  2. जन्म नियंत्रण गोलियां
    यह अक्सर एंडोमेट्रिओसिस के इलाज के लिए उपयोग होती हैं लेकिन अगर आप गर्भवती होना चाहती हैं तो आप इनका उपयोग नहीं कर सकतीं।
     
  3. हार्मोन थेरेपी 
    यह आपका मासिक धर्म रोकती है और प्रत्यारोपण को सिकोड़ती है। लेकिन इसके दुष्प्रभाव भी हो सकते हैं और उपचार समाप्त होने के बाद दर्द वापिस आ सकता है। जन्म नियंत्रण गोलियों की तरह, हार्मोन थेरेपी आपको गर्भवती नहीं होने देती।
     
  4. लैपरोस्कोपी
    प्रत्यारोपण और निशान वाले ऊतक को हटाने के लिए इसका उपयोग किया जाता है। इससे दर्द कम हो सकता है और यह आपको गर्भवती होने में भी मदद कर सकता है।
     
  5. हिस्टेरेक्टॉमी और ओफेरेक्टमी
    गंभीर दर्द के लिए अंतिम उपाय के रूप में, कुछ महिलाएं अपने गर्भाशय और अंडाशय को निकलवा देती हैं [Hysterectomy और Oophorectomy]। यदि आपका अंडाशय निकाला गया है, तो आपके एस्ट्रोजन का स्तर घट जाएगा और आपके लक्षण शायद दूर हो जाएँ लेकिन आपको रजोनिवृत्ति के लक्षण हो सकते हैं और आप गर्भवती नहीं हो पाएंगी।

अन्तर्गर्भाशय अस्थानता की जटिलताएं - Endometriosis Complications in Hindi

एंडोमेट्रिओसिस होने का जोखिम कुछ कारकों पर निर्भर करता है। यह कारक हैं -

  1. आयु
    सभी उम्र की महिलाएं एंडोमेट्रिओसिस होने के जोखिम में हैं। यह आमतौर पर 25 और 40 की उम्र के बीच की महिलाओं को प्रभावित करता है, लेकिन लक्षण यौवन से शुरू हो सकते हैं।
     
  2. परिवार का इतिहास
    अपने चिकित्सक से सलाह करें अगर आपके परिवार में किसी को एंडोमेट्रियोसिस है क्योंकि अगर आपको एंडोमेट्रिओसिस का पारिवारिक इतिहास है तो आपको यह होने का जोखिम बढ़ जाता है।
     
  3. गर्भावस्था का इतिहास
    गर्भावस्था, एंडोमेट्रिओसिस से महिलाओं को बचाती है। जिन महिलाओं ने कभी जन्म नहीं दिया है उन्हें एंडोमेट्रिओसिस होने का जोखिम ज़्यादा होता है। हालांकि, यह उन महिलाओं में भी हो सकता है जो पहले गर्भवती हो चुकी हैं।
     
  4. मासिक धर्म का इतिहास
    अगर आपको आपके मासिक धर्म से सम्बंधित समस्याएं हैं (जैसे कम या ज़्यादा अवधि के लिए मासिक धर्म होना, भारी मासिक धर्म होना या कम उम्र में मासिक धर्म शुरू हो जाना) तो अपने चिकित्सक से बात करें क्योंकि इससे आपको ऑस्टियोपोरोसिस होने का जोखिम बढ़ जाता है।
     

जटिलताएं

  1. प्रजनन समस्याएं
    एंडोमेट्रिओसिस, फैलोपियन ट्यूब या अंडाशय को नुकसान पहुंचा सकता है, जिससे प्रजनन समस्याएं हो सकती हैं। दवाएं और सर्जरी एंडोमेट्रिओसिस के धब्बे हटाने में मदद कर सकती हैं, लेकिन यह आपको गर्भवती नहीं कर सकतीं।
     
  2. चिपकाव और ओवेरियन अल्सर
    ये दोनों तब उत्पन्न हो सकते हैं यदि एंडोमेट्रिओसिस ऊतक अंडाशय में या उसके पास है। इन्हें सर्जरी से हटाया जा सकता है लेकिन भविष्य में यह वापिस आ सकते हैं।
     
  3. मूत्राशय और आंत्र सम्बन्धी समस्याएं
    मूत्राशय या आंत्र को प्रभावित करने वाले एंडोमेट्रिओसिस का उपचार करना कठिन हो सकता है और इसे सर्जरी की आवश्यकता हो सकती है।

एंडोमेट्रिओसिस में परहेज़ - What to avoid during Endometriosis in Hindi?

एंडोमेट्रिओसिस में -

  1. तीन सप्ताह तक डेयरी पदार्थ न लें।
  2. सोया युक्त भोजन न करें अगर आप उन्हें नियमित रूप से नहीं लेते हैं।
  3. शराब न पिएं।

अन्तर्गर्भाशय अस्थानता में क्या खाना चाहिए? - What to eat during Endometriosis in Hindi?

  1. एंटी-इंफ्लेमेटरी आहार।
  2. अतिरिक्त एस्ट्रोजन से बचने के लिए केवल हार्मोन से मुक्त मांस खाएं।
  3. जब भी संभव हो तो जैविक खाद्य पदार्थ चुनें।
  4. ओमेगा-3 फैटी एसिड की खुराक लें। पहले दिन एक ग्राम से शुरू करें और मात्रा में धीरे-धीरे वृद्धि करें (एक दिन में तीन से चार ग्राम तक)।
  5. ऐंठन से राहत पाने के लिए रोजाना एक या दो कप रेड रसभरी की पत्ती की चाय पिएं।
  6. 500 मिलीग्राम कैल्शियम पूरक और 250 मिलीग्राम मैग्नीशियम रोज़ाना लें।
Dr. Dipak Devre

Dr. Dipak Devre

Obstetrics & Gynaecology

Dr. Ashwin Sontakke

Dr. Ashwin Sontakke

Obstetrics & Gynaecology

Dr. Prakash Aghav

Dr. Prakash Aghav

Obstetrics & Gynaecology

एंडोमेट्रिओसिस (अन्तर्गर्भाशय अस्थानता) की दवा - Medicines for Endometriosis in Hindi

एंडोमेट्रिओसिस (अन्तर्गर्भाशय अस्थानता) के लिए बहुत दवाइयां उपलब्ध हैं। नीचे यह सारी दवाइयां दी गयी हैं। लेकिन ध्यान रहे कि डॉक्टर से सलाह किये बिना आप कृपया कोई भी दवाई न लें। बिना डॉक्टर की सलाह से दवाई लेने से आपकी सेहत को गंभीर नुक्सान हो सकता है।

Medicine NamePack SizePrice (Rs.)
Crina NCRCrina N 10 Mg Tablet179.0
CycloregCycloreg 5 Mg Tablet57.0
DubDub 5 Mg Tablet58.0
GynasetGynaset 5 Mg Tablet47.0
NorgestNorgest 5 Mg Tablet57.0
NortasNortas Cr 10 Mg Tablet150.0
NostraNostra 5 Mg Tablet49.0
Primolut NPrimolut N 5 Mg Tablet49.0
RegestroneRegestrone 5 Mg Tablet49.0
Sysron NSysron N 5 Mg Tablet43.0
AmenovaAmenova 5 Mg Tablet53.0
Cyclenorm PCyclenorm P 5 Mg Tablet35.0
DubnilDubnil Tablet50.0
DubsealDubseal Tablet53.0
Ethinorm PEthinorm P 5 Mg Tablet33.0
Florina LFlorina L Tablet90.0
GynabestGynabest 5 Mg Tablet47.0
HilnorHilnor 5 Mg Tablet45.0
HystonHyston 10 Mg Tablet Sr144.0
MartinorMartinor 5 Mg Tablet56.0
Ncnorm PNcnorm P 5 Mg Tablet34.0
NorglenNorglen 5 Mg Tablet55.0
NormonalNormonal Cr 10 Mg Tablet150.0
North EastNorth East 5 Mg Tablet50.0
ProgestonProgeston 10 Mg Tablet39.0
Prolin NProlin N 5 Mg Tablet58.0
PromidPromid 10 Mg Tablet39.0
RegulateRegulate 25 Mg Tablet58.0
Regulate (Group Pharmaceuticals)Regulate 5 Mg Tablet58.0
Secam PSecam P 10 Mg Tablet35.0
CovafemCovafem 5 Mg Tablet53.0
DubogenDubogen 5 Mg Tablet51.0
Mensil NMensil N Tablet52.0
NooreNoore 5 Mg Tablet52.0
NorestrinNorestrin 5 Mg Tablet44.0
NoretheaNorethea Tablet49.0
Norethisterone 5 Mg TabletNorethisterone 5 Mg Tablet13.0
NoritisNoritis 5 Mg Tablet48.0
Norkin (Medo Phrma)Norkin Tablet50.0
Norlut NNorlut N 5 Mg Tablet49.0
NynaNyna 5 Mg Tablet45.0
Premont NPremont N 5 Mg Tablet11.0
Primokaa NPrimokaa N 5 Mg Tablet55.0
Promolup NPromolup N Tablet12.0
SternilSternil 5 Mg Tablet53.0
SteronSteron 5 Mg Tablet53.0
Sysron AceSysron Ace Tablet50.0
DuphastonDuphaston 10 Mg Tablet460.0
JigestJigest 10 Mg Tablet226.0
AgoprideAgopride 1 Mg Injection250.0
EligardEligard 7.5 Mg Injection8238.26
EurolideEurolide 1 Mg Injection177.88
LeuprogonLeuprogon Injection3820.3
Lucrin DepotLucrin Depot 11.25 Mg Injection15625.0
LuprideLupride 0.5 Mg Injection239.0
LuprodexLuprodex 11.25 Mg Injection10500.0
LuprolideLuprolide 3.75 Mg Injection4200.0
LuprorinLuprorin 1 Mg Injection172.11
Corlide DepotCorlide Depot 3.75 Mg Injection4400.0
GynactGynact 1 Mg Injection121.25
Gynact M.DGynact M.D 4 Mg Injection525.0
LeuprostaLeuprosta Depot 22.5 Mg Injection19980.0
LugonistLugonist Depot 3.75 Mg Injection2337.5
LuprofactLuprofact 1 Mg Injection213.31
NadogonNadogon 3.75 Mg Injection3480.0
Prolide (Celon)Prolide 11.25 Mg Injection3888.75
Leuprolide Acetate(Lup)Leuprolide Acetate Injection3900.0
LuprotasLuprotas 22.5 Mg Vial20204.75
T Pill TabletT Pill 0.15 Mg/0.03 Mg Tablet57.77
DanogenDanogen 100 Mg Capsule217.26
DanozecDanozec 100 Mg Capsule186.86
EndometrylEndometryl 100 Mg Capsule171.28
GonablokGonablok 100 Mg Capsule228.3
GynazolGynazol 100 Mg Capsule235.34
GynodanGynodan 100 Mg Capsule153.67
LadogalLadogal 100 Mg Capsule154.95
ZendolZendol 100 Mg Capsule208.0
Depo Provera InjectionDepo Provera 150 Mg Injection278.0
Deviry TabletDeviry 10 Mg Tablet58.94
MaxogestMaxogest Tablet54.5
MedaninMedanin 10 Mg Tablet54.47
MedrigestMedrigest Tablet48.9
MedronormMedronorm Tablet48.37
MegestMegest 10 Mg Tablet58.47
Meprate TabletMeprate 10 Mg Tablet52.6
ModusModus 10 Mg Tablet55.02
OrgamedOrgamed 10 Mg Tablet55.0
DbDb Tablet49.0
Depokare InjectionDepokare 150 Mg Injection125.0
Dub (Unicure)Dub 10 Mg Tablet29.4
EmpeeaEmpeea 10 Mg Tablet42.98
MedonaMedona 10 Mg Tablet40.0
PropegPropeg 100 Mg Capsule93.45
ProveraProvera 10 Mg Tablet60.53
RegeevaRegeeva 10 Mg Tablet47.3
Early PregEarly Preg Capsule128.0
Ecee2Ecee2 0.75 Mg Tablet35.0
Free LadyFree Lady 1.5 Mg Tablet22.5
Guard PillGuard Pill 1.5 Mg Tablet100.0
IpillIpill 1.5 Mg Tablet100.0
Mirena IusMirena Ius Device4525.0
Miss PillMiss Pill Tablet21.0
NowillNowill 1.5 Mg Tablet73.8
Sirf EkSirf Ek 1.5 Mg Tablet60.0
Unwanted 72Unwanted 72 Tablet80.0
Epill TabletEpill Tablet48.57
NextimeNextime 1.50 Mg Tablet51.03
EceepillEceepill Tablet22.25
NordetteNordette 30 Mcg Tablet95.0
Pill 72Pill 72 750 Mcg Tablet35.92
Rbx PillRbx Pill 1.50 Mg Tablet14.37
Busag InjectionBusag 0.5 Mg Injection355.08
BusarlinBusarlin 0.5 Mg Injection412.0
BuselinBuselin 7 Mg Injection2897.65
GynarichGynarich Injection200.0
SupradopinSupradopin 0.5 Mg Injection384.62
ZerelinZerelin 5 Mg Injection2200.0
DienofemDienofem 2 Mg Tablet480.0
DinofirstDinofirst 2 Mg Capsule499.0
DinogestDinogest 2 Mg Tablet499.0
EndohealEndoheal 2 Mg Tablet499.0
EndoregEndoreg 2 Mg Tablet630.0
EndosisEndosis 2 Mg Capsule499.0
EndofitEndofit 2 Mg Tablet499.0
RumigestRumigest 2 Mg Tablet520.0
GoselinGoselin 3.6 Mg Injection8571.42
ZoladexZoladex La 10.8 Mg Injection28890.0
MinikareMini Kare Kit210.0
Dear TabletDear Tablet102.3
Divacon TabletDivacon 0.03 Mg/0.15 Mg Tablet59.53
Duoluton L TabletDuoluton L 0.25 Mg/0.05 Mg Tablet139.5
Loette TabletLoette Tablet177.1
Ovilow TabletOvilow 0.02 Mg/0.1 Mg Tablet104.0
Ovral G TabletOvral G 0.05 Mg/0.5 Mg Tablet160.74
Ovral L TabletOvral L 0.03 Mg/0.15 Mg Tablet64.47
Suvida TabletSuvida 0.3 Mg/0.03 Mg Tablet30.0
Triquilar TabletTriquilar Tablet90.5
Dearloe TabletDearloe 0.02 Mg/0.1 Mg Tablet93.02
Ergest TabletErgest 0.05 Mg/0.25 Mg Tablet68.48
Ergest Ld TabletErgest Ld 0.03 Mg/0.15 Mg Tablet70.56
Esro TabletEsro 0.03 Mg/0.15 Mg Tablet65.0
Esro G TabletEsro G 0.050 Mg/0.250 Mg Tablet70.0
Esro L TabletEsro L 0.02 Mg/0.10 Mg Tablet60.0
Florina TabletFlorina 0.1 Mg/0.02 Mg Tablet67.25
Florina G TabletFlorina G 0.05 Mg/0.25 Mg Tablet96.0
Florina N TabletFlorina N Tablet96.0
Mala D TabletMala D Tablet2.75
Nogestol TabletNogestol 0.15 Mg/0.03 Mg Tablet63.0
Orgalutin TabletOrgalutin 0.05 Mg/2.5 Mg Tablet22.91
Levora TabletLevora 0.03 Mg/0.15 Mg Tablet25.0
Lyna TabletLyna Tablet55.0
Oc 21 TabletOc 21 0.03 Mg/0.15 Mg Tablet78.0
Ovral TabletOvral Tablet70.56
Unwanted Pregcard TabletUnwanted Pregcard 21 Days Tablet58.0
FemostonFemoston 1 Mg/5 Mg Tablet625.0
SmartinorSmartinor 5 Mg Tablet62.0

क्या आप या आपके परिवार में किसी को यह बीमारी है? सर्वेक्षण करें और दूसरों की सहायता करें

और पढ़ें ...