महिला हो या पुरुष, हर कोई जवां और खूबसूरत दिखना चाहता है. अपनी स्किन को हेल्दी बनाए रखने के लिए लोग अच्छा खाना खाते हैं, साथ ही एक्सरसाइज भी करते हैं. इसके अलावा, लोग स्किन को हेल्दी रखने के लिए अच्छे साबुन, फेस वॉश, क्रीम और मॉइश्चराइजर का भी इस्तेमाल करते हैं. कई लोग स्किन को हेल्दी रखने के लिए तरह-तरह के ब्यूटी ट्रीटमेंट्स भी लेते है. इसमें बोटोक्स इंजेक्शन लेना भी शामिल है. बोटोक्स इंजेक्शन लेने से त्वचा की झुर्रियों व फाइन लाइंस को कम करने में मदद मिल सकती है. साथ ही मांसपेशियों को आराम दिलाता है और माइग्रेन, हाइपरहाइड्रोसिस व आंखों की समस्याओं का भी इलाज हो सकता है. 

आज इस लेख में आप बोटोक्स इंजेक्शन के फायदे, नुकसान व सावधानियों के बारे में विस्तार से जानेंगे -

(और पढ़ें - चेहरे को खूबसूरत बनाने के तरीके)

  1. बोटोक्स क्या है?
  2. बोटोक्स इंजेक्शन कैसे काम करता है?
  3. बोटोक्स इंजेक्शन के फायदे
  4. बोटोक्स इंजेक्शन के नुकसान
  5. बोटोक्स इंजेक्शन लगवाते हुए सावधानियां
  6. सारांश
बोटोक्स इंजेक्शन के फायदे व नुकसान के डॉक्टर

बोटोक्स को बोटुलिनम टॉक्सिन के रूप में भी जाना जाता है. यह एक लोकप्रिय नॉन सर्जिकल कॉस्मेटिक ट्रीटमेंट है. यह क्लोस्ट्रीडियम बोटुलिनम नामक जीवाणु बोटोक्स में इस्तेमाल होने वाले न्यूरोटॉक्सिन बनाता है. हेल्थ एक्सपर्ट्स बोटोक्स इंजेक्शन के लिए टाइप ए बैक्टीरिया का उपयोग करते हैं.

त्वचा को जवां बनाए रखने, झुर्रियों को मिटाने और फाइन लाइंस को कम करने के लिए बोटोक्स कॉस्मेटिक ट्रीटमेंट लेना लाभकारी हो सकता है. इसके अलावा, माइग्रेन के दर्द को कम करने और अन्य स्वास्थ्य स्थितियों को ठीक करने के लिए बोटोक्स इंजेक्शन का उपयोग मेडिकल ट्रीटमेंट के लिए किया जा सकता है. विभिन्न समस्याओं से छुटकारा पाने के लिए हर 3 से 6 महीने में बोटोक्स इंजेक्शन लिए जा सकते हैं.

(और पढ़ें - चेहरे की सुंदरता बढ़ाने के उपाय)

बोटोक्स मांसपेशियों में नर्व सिग्नल को ब्लॉक कर देता है. इससे जिन मांसपेशियों में बोटोक्स को इंजेक्ट किया गया है, वे सिकुड़ नहीं सकती हैं. मांसपेशियों में बोटोक्स इंजेक्शन का प्रभाव कई महीनों तक रह सकता है. बोटोक्स इंजेक्शन का एक सेशन कई बीमारियों का इलाज करने में मदद कर सकता है. 

(और पढ़ें - त्वचा को मुलायम बनाने के तरीके)

वैसे तो बोटोक्स ट्रीटमेंट को स्किन को हेल्दी बनाए रखने के लिए जाना जाता है. इसके अलावा, बोटोक्स कुछ स्वास्थ्य समस्याओं का इलाज भी कर सकता है. इसलिए, बोटोक्स को काफी फायदेमंद माना जाता है. बोटोक्स के लाभ लेने के लिए आप इसके इंजेक्शन ले सकते हैं. बोटोक्स इंजेक्शन के फायदे इस प्रकार हैं -

स्किन प्रॉब्लम्स दूर करे

बोटोक्स ट्रीटमेंट को मुख्य रूप से स्किन प्रॉब्लम्स को दूर करने के लिए ही जाना जाता है. अगर किसी को त्वचा से संबंधित कोई समस्या है, ताे डॉक्टर कॉस्मेटिक एक्सपर्ट बोटोक्स इंजेक्शन लेने की सलाह दे सकते हैं. यह झुर्रियों और महीन रेखाओं से छुटकारा दिलाने में असरदार साबित हो सकता है. बोटोक्स निम्न जगहों की झुर्रियों और फाइन लाइंस को दूर कर सकता है -

  • माथा
  • नाक
  • आंखों के नीचे
  • होंठ
  • ठोड़ी
  • जॉलाइन
  • गर्दन

(और पढ़ें - चेहरे को गोरा करने के घरेलू उपाय)

दर्द कम करे

बोटोक्स इंजेक्शन मांसपेशियों और माइग्रेन के दर्द को कम करने में असरदार साबित हो सकता है. इसलिए, कई हेल्थ एक्सपर्ट्स भी दर्द को कम करने के लिए बोटोक्स इंजेक्शन लेने की सलाह देते हैं. दरअसल, बोटोक्स नर्व सिग्नल को रोकता है, जिससे मांसपेशियों की गतिविधि नियंत्रित होती हैं और मांसपेशियों को आराम मिलता है. इससे मांसपेशियां रिलैक्स होती हैं और दर्द से राहत मिल सकती है. बोटोक्स इंजेक्शन लेने से शरीर के निम्न हिस्सों के दर्द को दूर करने में मदद मिल सकती है -

(और पढ़ें - बेदाग त्वचा के उपाय)

मेडिकल कंडीशन

बोटोक्स न सिर्फ सामान्य दर्द को ठीक करता है, बल्कि कुछ गंभीर मेडिकल कंडीशन का इलाज भी कर सकता है. यही वजह है कि मेडिकल ट्रीटमेंट करने के लिए भी बोटोक्स का यूज किया जाता है. बोटोक्स इंजेक्शन निम्न स्वास्थ्य बीमारियों का इलाज कर सकता है -

(और पढ़ें - गोरा होने के घरेलू उपाय)

बोटोक्स इंजेक्शन का कोई भी दुष्प्रभाव संपूर्ण स्वास्थ्य पर नहीं पड़ता है. इसका प्रभाव सिर्फ उस जगह पर दिख सकता है, जहां बोटोक्स को इंजेक्ट किया जाता है, लेकिन इसका कोई भी नुकसान गंभीर स्थिति पैदा नहीं करता है. बोटोक्स इंजेक्शन से होने वाले दुष्प्रभाव अलग-अलग हो सकते हैं. अधिकतर मामलों में इसके नुकसान हल्के ही होते हैं और एक से दो दिन में ठीक हो जाते हैं. इसके साइड इफेक्ट निम्न प्रकार से हैं -

वैसे तो बोटोक्स इंजेक्शन लेना सुरक्षित होता है, फिर भी इसके कुछ सामान्य साइड इफेक्ट नजर आ सकते हैं. कुछ मामलों में बोटोक्स के कुछ गंभीर साइड इफेक्ट दिख सकते हैं. अगर गंभीर दुष्प्रभाव दिखते हैं, तो उसे बिल्कुल भी नजरअंदाज नहीं करना चाहिए. बोटोक्स के बाद इन स्थितियों को न करने इग्नोर -

(और पढ़ें - आइब्रो को घना करने के तरीके)

बोटोक्स इंजेक्शन को लगवाते समय कुछ बातों पर खास ध्यान देने की जरूरत है. इससे किसी भी तरह के दुष्प्रभाव से बचा जा सकता है -

  • अगर डॉक्टर बोटोक्स लेने की सलाह देते हैं, तभी इसे लेना चाहिए.
  • बोटोक्स के बाद रेडनेस व जलन हो सकती है. ऐसे में बोटोक्स लेने के 12 घंटे तक उस स्थान को रगड़ने या दबाने से बचें, जहां पर बोटोक्स को इंजेक्ट किया गया है. 
  • बोटोक्स लेने के 24 घंटे यानी एक दिन तक कोई भी फिजिकल एक्टिविटी करने से बचें.
  • अगर आप पेन किलर, स्लीपिंग एड्स या एलर्जी की दवाइयां ले रहे हैं, तो बोटोक्स लेने से पहले डॉक्टर को जरूर बताएं.
  • अगर आप ब्लड थिनर लेते हैं, तो भी आपको बोटोक्स डॉक्टर की सलाह पर ही लेना चाहिए. अगर डॉक्टर बोटोक्स इंजेक्शन लेने की परमिशन देते हैं, तो कुछ समय तक ब्लड थिनर लेना बंद कर दें. इसके बाद ही बोटोक्स ट्रीटमेंट लें. इससे रक्तस्राव या चोट लगने का जोखिम कम हो जाता है.
  • अगर कोई महिला गर्भवती है या स्तनपान करा रही है, तो उसे बोटोक्स न लेने की सलाह दी जाती है.
  • जिन लोगों को गाय के दूध से एलर्जी है, उन्हें भी बोटोक्स का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए.

(और पढ़ें - चेहरे की झाइयां हटाने के घरेलू नुस्खे)

बोटोक्स एक तरह का कॉस्मेटिक नॉन सर्जिकल ट्रीटमेंट है. डॉक्टर की सलाह पर कोई भी बोटोक्स इंजेक्शन ले सकता है. बोटोक्स इंजेक्शन लेने से त्वचा जवां बनती है, दर्द से राहत मिलती है. वैसे तो बोटोक्स बिल्कुल सेफ होता है, लेकिन कुछ मामलों में यह रेडनेस व जलन पैदा कर सकता है. इन स्थितियों में घबराने की जरूरत नहीं होती है. ये बोटोक्स के सामान्य दुष्प्रभाव होते हैं, जो कुछ दिनों में ठीक हो जाते हैं.

(और पढ़ें - त्योहार में ग्लोइंग स्किन के लिए फेस पैक)

Dr. Merwin Polycarp

Dr. Merwin Polycarp

डर्माटोलॉजी
15 वर्षों का अनुभव

Dr. Raju Singh

Dr. Raju Singh

डर्माटोलॉजी
1 वर्षों का अनुभव

Dr. Afroz Alam

Dr. Afroz Alam

डर्माटोलॉजी
4 वर्षों का अनुभव

Dr. Pranjal Praveen

Dr. Pranjal Praveen

डर्माटोलॉजी
5 वर्षों का अनुभव

ऐप पर पढ़ें