myUpchar प्लस+ सदस्य बनें और करें पूरे परिवार के स्वास्थ्य खर्च पर भारी बचत,केवल Rs 99 में -

दैनिक जीवन में पुदीने का हम कई प्रकार से इस्तेमाल करते हैं। यह विभिन्न स्थानों पर अलग-अलग रूपों में उपलब्ध होता है। पुदीने का एक ऐसा ही सबसे लोकप्रिय और तमाम गुणों से भरपूर रूप है- पहाड़ी पुदाना या स्‍पियरमिंट। स्पीयरमिंट (मेंथा स्पाइकाटा) एक सुगंधित औषधि है, जिसका उपयोग कई प्रकार के खाद्य उत्पादों, टूथपेस्ट, माउथवॉश और सौंदर्य प्रसाधनों में किया जाता है। यह कई प्रकार के चिकित्सीय गुणों से भी भरपूर है। ऐसे में तमाम तरह की दवाओं में भी इसका उपयोग किया जाता है।

इस औषधि के गुणों का लाभ प्राप्त करने के लिए बहुत सारे लोग इसका सेवन चाय के रूप में भी करते हैं। उत्तरी और दक्षिणी अमेरिका, अफ्रीका, चीन और आयरलैंड सहित दुनिया भर के कई देशों में पहाड़ी पुदीना स्वाभाविक रूप से पैदा होता है। पहाड़ी पुदाने की चाय के लिए आमतौर पर ताजा और सूखे दोनों प्रकार के पत्तों को प्रयोग में लाया जाता है। पेट के लिए लाभकारी होने के ​साथ स्‍पियरमिंट टी, एंटीऑक्सीडेंट से भी भरपूर है, जिसका दैनिक रूप से सेवन कई प्रकार के स्वास्थ्य लाभ दे सकता है।

इस लेख में हम आपको पहाड़ी पुदीने की चाय के बारे में बताएंगे।

  1. स्‍पियरमिंट टी के फायदे - Spearmint Tea peene ke laabh
  2. एंटीऑक्सिडेंट गुणों से भरपूर है पुदीने की चाय - Spearmint Tea me hain kai sare Antioxidants
  3. हार्मोन के असंतुलन को ठीक करने में प्रभावी है स्पियरमिंट टी - Hormone Imbalances ko theek karne me prabhavi hai Spearmint tea
  4. स्मरण शक्ति में सुधार के लिए करें स्पियरमिंट टी का सेवन - Memory Improve karne ke liye karein Spearmint tea ka sevan
  5. अपच और पेट से जुड़ी दिक्कतों को दूर कर सकती है स्पियरमिंट टी - Indigestion and Stomach Problems me karein Spearmint Tea ka sevan
  6. स्पियरमिंट टी के संभावित साइड इफेक्ट्स - Spearmint Tea ke Side effects
  7. पहाड़ी पुदीने की चाय (स्‍पियरमिंट टी) बनाने का तरीका - Spearmint Tea kaise bnayein?

स्‍पियरमिंट टी चूंकि कैफीन और कैलोरी रहित होने के साथ कई प्रकार के गुणों को समाहित किए हुए है, ऐसे में इसके सेवन से कई सारे लाभ प्राप्त किए जा सकते हैं। इस औषधीय चाय में स्पियरमिंट ऑयल के भी गुण पाए जाते हैं। स्पियरमिंट ऑयल के एंटीऑक्सिडेंट गुणों और स्वास्थ्य संबंधी लाभ को देखते हुए दुनियाभर में इसका व्यापक रूप से इस्तेमाल हो रहा है। आमतौर पर लोगों को एहसास नहीं हो पाता है कि मामूली स्‍पियरमिंट की पत्तियां एंटीऑक्सिडेंट, पॉलीफेनोल, फ्लेवोनोइड्स, रोजमैरनिक एसिड सहित 50 से अधिक महत्वपूर्ण यौगिकों को संयोजित किए हुए है।

एंटीऑक्सिडेंट, पौधों में पाया जाने वाला प्राकृतिक रासायनिक यौगिक है जो फ्री रेडिकल्स से होने वाले नुकसान से शरीर की रक्षा करता है। फ्री रेडिकल्स, एक प्रकार के हानिकारक अणु होते हैं जो ऑक्सीडेटिव स्ट्रेस का कारण बन सकते हैं। ऑक्सीडेटिव स्ट्रेस को हृदय रोग, कैंसर और मधुमेह जैसी क्रोनिक बीमारियों से जोड़कर देखा जाता है।

स्‍पियरमिंट में बड़ी संख्या में एंटीऑक्सीडेंट यौगिक होते हैं, जिसमें रसोइरिक एसिड, फ्लेवोन और फ्लवोन जैसे लिमोनेन और मेन्थॉल शामिल हैं। स्पियरमिंट के दो चम्मच (करीब 11 ग्राम) से दैनिक आवश्यकताओं का दो फीसदी विटामिन सी और कई प्रकार के अन्य आवश्यक एंटीऑक्सिडेंट प्राप्त किए जा सकते हैं। शोधकर्ताओं के अनुसार, स्‍पियरमिंट, फ्री रेडिकल्स के खिलाफ काफी कारगर हो सकता है।

जिन महिलाओं को हार्मोन असंतुलन के चलते कई प्रकार की परेशानियों का सामना करना पड़ता है उनके लिए स्पियरमिंट टी का सेवन काफी लाभदायक हो सकता है। महिलाओं पर किए गए अध्ययनों में पाया गया कि स्पियरमिंट टी के सेवन से ओवुलेशन के लिए आवश्यक ल्यूटिनाइजिंग हार्मोन (एलएच) और एस्ट्राडियोल जैसे हार्मोन में बढ़ोतरी होती है साथ ही यह बढ़ते हुए पुरुष हार्मोन टेस्टोस्टेरोन को कम करने में भी कारगर है।

इसकी पुष्टि के लिए हार्मोन असंतुलन से ग्रसित 21 महिलाओं के साथ पांच दिनों का अध्ययन किया गया। शोधकर्ताओं ने पाया कि दिन में दो कप स्पियरमिंट टी के सेवन से इन महिलाओं के टेस्टोस्टेरोन लेवल में कमी आई है साथ ही और एलएच, एफएसएच और एस्ट्राडियोल जैसे आवश्यक हार्मोन के स्तर में वृद्धि दर्ज की गई है।

याददाश्त कमजोर होना मौजूदा समय की सबसे बड़ी समस्याओं में से एक है। स्पियरमिंट टी का सेवन आपकी स्मरण शक्ति में सुधार ला सकता है, कई अध्ययनों में इसकी पुष्टि हो चुकी है।

इसका पता लगाने के लिए शोधकर्ताओं ने चूहों पर एक अध्ययन किया। इस अध्ययन में चूहों को स्पियरमिंट का अर्क दिया गया। परिणाम को जानने के लिए माजे नाम का एक परीक्षण किया गया जिसमें इसके सुखद परिणाम देखने को मिले। माजे एक प्रकार का मनोवैज्ञानिक परीक्षण है। जिसे मनोवैज्ञानिक नियोजन क्षमता और दूरदर्शिता को मापने के लिए डिज़ाइन किया गया है।

इंसानों पर इसके प्रभावों को पता करने के लिए कुछ वयस्कों को दैनिक रूप से सप्लीमेंट दिए गए जिनमें स्पियरमिंट की मात्रा 900 मिलीग्राम थी। अध्ययन के परिणामस्वरूप पाया गया कि कुछ ही दिनों में इन युवाओं की स्मरण शक्ति में 15 फीसदी तक का सुधार आया है। 

मिंट प्रजाति के ज्यादातर पौधे जैसे पिपरमिंट और स्पियरमिंट का प्रयोग अपच, पेट फूलने, पेट दर्द और बदहजमी जैसी समस्याओं के लिए किया जाता है।

वैसे तो इसके साक्ष्य सीमित हैं, लेकिन कई शोधों से यह स्पष्ट हो चुका है कि स्पियरमिंट अपच के लक्षणों को कम करने में काफी लाभदायक है। इतना ही नहीं जिन लोगों को इर्रिटेबल बाउल सिंड्रोम की शिकायत है, उनके लिए यह दिव्य औषधि है।

वैसे तो स्पियरमिंट टी और इसका अर्क ज्यादातर लोगों के लिए काफी सुरक्षित होता है। हालांकि, कुछ विशेष स्थितियों में इसके सेवन से बचने की सलाह दी जाती है। महिलाओं के हार्मोन और गर्भाशय पर इसके प्रभाव के कारण गर्भवती या स्तनपान कराने वाली महिलाओं को स्पियरमिंट टी का सेवन नहीं करना चाहिए। इसके अलावा जिन लोगों में लिवर या किडनी खराब होने की शिकायत है, उन्हें भी इसका सेवन न करने की सलाह दी जाती है।

उपरोक्त स्थितियों के अलावा अन्य किसी बीमारी में स्पियरमिंट टी के साइड इफेक्ट्स सामने नहीं आए हैं। हालांकि, अगर आपको कोई पुरानी बीमारी है तो स्पियरमिंट टी के सेवन की शुरुआत से पहले एक बार अपने चिकित्सक से सलाह जरूर ले लें।

स्‍पियरमिंट टी बजार में आसानी से उपलब्ध है। कई सारी कंपनिया लूज और टी बैग के रूप में इसे बेचती हैं। घर पर इसे आसानी से तैयार भी किया जा सकता है।

स्‍पियरमिंट टी कैसे बनाएं

  • सबसे पहले दो कप (473 मिली) पानी उबालें।
  • आंच से उतारने के बाद इसमें स्‍पियरमिंट टी की पत्तियां मिलाएं।
  • पांच मिनट तक इसे ढक कर रखें।
  • अब चाय को छानें और इसका सेवन करें।

इस हर्बल टी को गर्म और ठंडे दोनों तरह से ही इस्तेमाल में लाया जा सकता है। इसकी खासियत यह है कि यह कैफीन और कैलोरी रहित है, जिसका आप दिन में किसी भी समय आनंद ले सकते हैं।

और पढ़ें ...
ऐप पर पढ़ें