myUpchar प्लस+ के साथ पूरेे परिवार के हेल्थ खर्च पर भारी बचत

भूखे रहकर वजन घटाना एक ऐसा कदम है जिसे अक्सर लोग पतले होने के लिए अपनाते हैं। कई लोगों का मानना होता हैं कि कम खाकर या भूखे रहकर वजन को तेजी से कम किया जा सकता है। लेकिन भूखे रहने से ना सिर्फ आपके शरीर को नुकसान पहुंचता है बल्कि यह कई गंभीर समस्याओं का कारण भी बन सकता है। इस पोस्ट को पढ़ें और अपने आप को भूखा रखने के हानिकारक और संभावित खतरनाक दुष्प्रभावों के बारे में जानें।

(और पढ़ें - वजन घटाने के आसान तरीके)

  1. भूखा रहना है कुपोषण का कारण - Malnutrition Related to Starvation in Hindi
  2. खाली पेट वजन कम करने से बढ़ता है निर्जलीकरण - Starvation Cause Dehydration in Hindi
  3. खाना ना खाने से हो सकती है चयापचय दर में कमी - Starvation Decreases Metabolic Rate in Hindi
  4. भूखे रहकर वजन घटाना है अनियमित मासिक धर्म का कारण - Irregular Periods Due to Starvation in Hindi
  5. खाली पेट रहने का नुकसान है कब्ज - Starvation Causes Constipation in Hindi
  6. खाना ना खाने के दुष्प्रभाव हैं हड्डियों का कमजोर होना - Bone Loss Caused by Starvation in Hindi
  7. भूखे रहने से बढ़ती है थकान - Fatigue Caused by Starvation in Hindi
  8. भूखा रहना है उच्च रक्तचाप का कारण - Starving Causes High Blood Pressure in Hindi
  9. भूखे रहने के साइड इफेक्ट हैं इलेक्ट्रोलाइट असंतुलन - Electrolyte Imbalance Due to Starvation in Hindi
  10. वजन घटाने के लिए भूखे रहने से पड़ता है दिमाग़ पर प्रभाव - Effects of Starvation On the Brain in Hindi

कुपोषण भूखे रहने का सबसे हानिकारक प्रभाव है। कुपोषण एक भयानक स्थिति है और यह विकासशील देशों के अधिकांश बच्चों को प्रभावित करती है। भूखे रहने का आमतौर पर मतलब है कि आप पर्याप्त मात्रा में भोजन नहीं करते हैं। इससे कई आवश्यक पोषक तत्वों और विटामिन्स को आप अपने आहार में शामिल नहीं कर रहे हैं। भूखे रहने के कारण विभिन्न खनिज और पोषक तत्वों की कमी हो जाती है जैसे रतौंधी (विटामिन ए की कमी), स्कर्वी (विटामिन सी की कमी) और एनीमिया (लौह की कमी) भी हो सकती है। 

(और पढ़ें - एनीमिया के लक्षण)

जैसे कि भोजन की कमी कुपोषण पैदा करती है, वैसे ही पानी की कमी निर्जलीकरण पैदा कर सकती है, यह खुद को भूखे रखने का दूसरा सबसे बड़ा परिणाम है। निर्जलीकरण से अन्य समस्याएं बढ़ सकती है जैसे फटी हुई और शुष्क त्वचा। इसलिए पर्याप्त पानी पीना आपके शरीर के लिए महत्वपूर्ण है, भले ही आप स्टार्वैशन आहार पर हों। उपवास और निर्जलीकरण ग्लाइकोजन के स्तर को कम कर देता है। 

(और पढ़ें - वजन कम करने के लिए कितना पानी पीना चाहिए)

भूखे रहने से शरीर को पर्याप्त पोषक तत्व नहीं मिलते हैं जिससे शरीर की ऊर्जा को बचाए रखने के लिए मेटाबॉलिज्म बहुत जल्दी धीमा होने लगता है। ऐसे में आपका वजन बेशक कम हो जाएँ लेकिन आपके शरीर को कई अन्य दूसरे नुकसान भी उठाने पड़ सकते हैं। अध्ययनों से पता चलता है कि भूखे रहने से आपके बेसल चयापचय दर में कमी ला सकती है। 

(और पढ़े - मेटाबोलिज्म बढ़ाने के लिए कैसा होना चाहिए आपके सुबह का रूटीन)

भूखा रहना कई समस्याओं की ओर ले जाता है। इन समस्याओं में से एक हैं मासिक धर्म में गड़बड़ी। इसलिए आप में से जो लोग भूखे या उपवास रखने के बारे में सोच रहे हैं तो आपको कुछ बातों पर विचार कर लेना चाहिए। कुछ मामलों में, यदि आपका वजन बहुत कम है तो यह आपके शरीर के एस्ट्रोजेन का उत्पादन रोक सकता है। इसके अलावा वसा की कमी आपके कोलेस्ट्रॉल को एस्ट्रोजन में परिवर्तित करने से रोक सकती है। भूखे रहने से अंग क्षति और शरीर की प्रक्रिया धीमा हो जाती है, जो आमतौर पर मासिक धर्म के रुकने का कारण होती है।

(और पढ़े - मासिक धर्म (पीरियड्स) में दर्द क्यों होता है और इसके इलाज के बारे में जानें डॉ गीता प्रकाश से इस वीडियो में)

खाली पेट रहने से कई व्यक्तियों को कब्ज हो सकती है। कई अनौपचारिक व्यक्तियों पर अध्ययन से यह निष्कर्ष निकला है कि जो लोग कब्ज से पीड़ित हैं, वे गंभीर रूप से कुपोषण के शिकार हो सकते हैं। तीन गंभीर एरोरेक्सिक महिलाओं पर एक केस स्टडी में पाया गया कि इन महिलाओं को उनके कोलन को साफ करने में मदद करने के लिए नियमित रूप से लैक्सटिव की जरूरत होती है। 

(और पढ़ें - कब्ज के कारण)

अधिक भूखे रहने से व्यक्ति का वजन एक खतरनाक दर से भी कम हो सकता है। इससे आपकी त्वचा और मांसपेशियों में काफी परिवर्तन होते हैं। लेकिन क्या आप जानते हैं कि भूखे रहने से हड्डी घनत्व का नुकसान हो सकता है? खैर, आम तौर पर जब आप कैलोरी फ्री आहार लेते हैं, तो इससे आपका हड्डी घनत्व कम हो जाता है जिससे कमजोरी पैदा हो सकती है।

(और पढ़े - हड्डियों को मजबूत बनाने के लिए जूस रेसिपी)

भूखे रहने के सबसे आम दुष्प्रभावों में से एक है - थकान। आप सभी ने 'अपनी ताकत बनाए रखने के लिए खाना खाएं' के बारे में सुना है। संतुलित आहार से शरीर को ऊर्जा और बीमारियों और संक्रमणों से लड़ने की ताक़त मिलती है। लेकिन भूखा रहकर आप संतुलित आहार से वंचित रह जाते हैं। इस कारण शरीर में आवश्यक विटामिन्स का संतुलन बिगड़ जाता है और शारीरिक प्रक्रिया धीमा हो जाती है, जिससे थकान और बेहोश हो सकती है।

(और पढ़े - थकान दूर करने और ताकत के लिए क्या खाएं)

कुपोषण और भूख रहने से हाई ब्लड प्रेशर सहित कई अन्य स्थितियों उत्पन्न हो सकती है। जब आप भूखे रहते हैं, तो पोटेशियम और विटामिन डी जैसे आवश्यक पोषक तत्वों का सेवन नहीं होता है, जो रक्तचाप और अन्य कई कमियों की ओर ले जाता है। ये सभी कारक यह सुनिश्चित करते हैं कि भूखे रहने से आपके रक्तचाप पर असर पड़ता है।

लंबे समय तक भूखा रहना पोषक तत्वों के नुकसान की ओर ले जाता है, जिसके परिणामस्वरूप प्रत्येक बीतते दिन इलेक्ट्रोलाइट्स की खपत कम होती जाती है। जब आप पर्याप्त भोजन नहीं करते हैं तो हृदय समारोह और स्वास्थ्य को बढ़ावा देने वाले स्वस्थ खनिज जैसे पोटेशियम, सोडियमकैल्शियम और मैग्नीशियम आदि की कमी हो जाती है। भूखे रहना ना केवल कम पोषक तत्वों का नतीजा है बल्कि इलेक्ट्रोलाइट असंतुलन को भी बढ़ावा देता है। (और पढ़े - हृदय को स्वस्थ रखने के लिए ज़रूर करें ये 5 कार्डियो एक्सरसाइज)

इस बात पर कई अध्ययन हुए हैं कि कैसे भूखे रहने से संज्ञानात्मक क्षमता प्रभावित हो सकती है और आप उदास महसूस कर सकते हैं। आप जानते हैं कि भूखे रहने से निर्जलीकरण और थकान जैसी कई अन्य शारीरिक लक्षणों को जन्म दे सकती है जो आपकी सोच क्षमताओं को कम कर सकती है और आपको आक्रामक भी कर सकती है। कुछ मामलों में चिंता, चिड़चिड़ापन और पुरानी या नैदानिक अवसाद की भावना पैदा हो सकती है। 

(और पढ़े – सूरजमुखी के बीज का उपयोग करे मस्तिष्क को शांत)

और पढ़ें ...