कोलेजेनस कोलाइटिस - Collagenous Colitis in Hindi

Dr. Rajalakshmi VK (AIIMS)MBBS

October 27, 2020

April 12, 2021

कोलेजेनस कोलाइटिस
कोलेजेनस कोलाइटिस

कोलेजेनस कोलाइटिस का अर्थ : कोलेजन शरीर में सबसे अधिक मात्रा में पाए जाने वाला प्रोटीन है, जबकि कोलाइटिस का मतलब बड़ी आंत में सूजन से है, जो किसी ऑटोइम्यून बीमारी या संक्रमण की वजह से हो सकती है।

कोलेजेनस कोलाइटिस दो मुख्य प्रकार के माइक्रोस्कोपिक कोलाइटिस में से एक है। माइक्रोस्कोपिक कोलाइटिस बृहदान्त्र (कोलन) में सूजन है, जिसमें लगातार दस्त की समस्या होती है। इसका नाम माइक्रोस्कोपिक इसलिए पड़ा, क्योंकि इसमें बड़ी आंत के ऊतकों में सूजन को केवल माइक्रोस्कोप के जरिए ही पहचाना जा सकता है।

कोलेजेनस कोलाइटिस में, बड़ी आंत के ऊतकों में कोलेजन की एक मोटी परत बन जाती है। इसमें लक्षण बार-बार आ जा सकते हैं।

(और पढ़ें - आंत में सूजन का इलाज)

कोलेजेनस कोलाइटिस के संकेत और लक्षण क्या हैं? - Collagenous Colitis Symptoms in Hindi

कोलेजेनस कोलाइटिस के लक्षण गंभीरता में भिन्न हो सकते हैं। इसके सबसे आम लक्षणों में शामिल हैं :

ऐसे लक्षण जो ज्यादा सामान्य नहीं हो सकते हैं उनमें शामिल हैं:

(और पढ़ें - मूत्र असंयमिता)

कोलेजेनस कोलाइटिस का कारण क्या है? - Collagenous Colitis ka Cause in Hindi

कई अन्य गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल स्थितियों की तरह, कोलेजेनस कोलाइटिस का सटीक कारण अभी तक पता नहीं चल पाया है। शोध बताते हैं कि इसके पीछे आनुवंशिक कारण हो सकता है और यह अन्य ऑटोइम्यून स्थितियों से जुड़ा हो सकता है। कोलेजेनस कोलाइटिस के कुछ संभावित कारणों में शामिल हैं :

कोलेजेनस कोलाइटिस संक्रामक नहीं है, इसलिए यह अन्य लोगों में नहीं फैलता है।

कोलेजेनस कोलाइटिस का निदान कैसे होता है? - Collagenous Colitis ka Diagnosis in Hindi

इस स्थिति का निदान केवल बड़ी आंत की बायोप्सी के जरिए किया जा सकता है। आपको कोलोनोस्कोपी या सिग्मोइडोस्कोपी की भी जरूरत पड़ सकती है, ताकि डॉक्टर बड़ी आंत के स्वास्थ्य का बेहतर तरीके से मूल्यांकन कर सकें।

बायोप्सी के दौरान डॉक्टर बड़ी आंत से ऊतक के कई छोटे टुकड़े सैंपल के तौर पर लेते हैं और इसे लैब में माइक्रोस्कोप की मदद से जांचते हैं।

निदान करने के लिए जो सामान्य प्रक्रिया है उनमें शामिल हैं :

कोलेजेनस कोलाइटिस का इलाज कैसे किया जाता है? - Collagenous Colitis ka Treatment in Hindi

कुछ मामलों में, कोलेजेनस कोलाइटिस की स्थिति में उपचार की जरूरत नहीं होती है, लेकिन जिनमें उपचार की आवश्यकता होती है। उनमें शामिल हैं :

आहार और जीवनशैली में बदलाव

डॉक्टर आहार और जीवनशैली में बदलाव करने का सुझाव दे सकते हैं। ये बदलाव आमतौर पर किसी भी उपचार योजना का पहला हिस्सा होता है।

आहार में सामान्य बदलाव :

  • कम वसा वाला आहार लेना
  • कैफीन का सेवन न करना
  • ऐसा भोजन नहीं करना जिनमें अलग से मीठापन डाला जाता है
  • ग्लूटेन वाला भोजन न करना (और पढ़ें - ग्लूटेन फ्री डाइट के फायदे)
  • दस्त से निर्जलीकरण को रोकने के लिए अधिक तरल पदार्थ पीना

जीवनशैली में कुछ सामान्य बदलाव :

  • धूम्रपान छोड़ना
  • वजन स्वस्थ रखना
  • हाई बीपी स्वस्थ रखना
  • नियमित रूप से व्यायाम करना
  • हाइड्रेटेड रहना (शरीर में पानी की कमी न होने देना)
  • दवाई

यदि आप किसी तरह की दवाई ले रहे हैं तो डॉक्टर उन दवाइयों की समीक्षा करके, उन्हें जारी रखने या रोकने के बारे में सलाह दे सकते हैं। इसके अलावा, वे स्थिति को ठीक करने के लिए अलग से भी कुछ दवा लिख सकते हैं।
 
डॉक्टर निम्न स्थितियों को ठीक करने के लिए भी सलाह दे सकते हैं

  • डायरिया को ठीक करने के लिए दवा
  • आंतों की सूजन को रोकने के लिए दवाएं, जैसे मेसलामाइन या सल्फासालजीन
  • साइलियम
  • कोर्टिकोस्टेरॉइड
  • एंटीबायोटिक
  • इम्यूनोमोडुलेटर्स
  • एंटी-टीएनएफ थेरेपी
  • सर्जरी

यदि आहार में बदलाव करने या दवाइयों के सेवन से कोई मदद नहीं मिलती है, तो ऐसे में डॉक्टर सर्जरी की सलाह दे सकते हैं। सर्जरी आमतौर पर केवल गंभीर मामलों में की जाती है।

कोलेजेनस कोलाइटिस के लिए सबसे आम प्रकार की सर्जरी में शामिल हैं :

  • कोलेक्टमी
  • इलिओस्टमी


कोलेजेनस कोलाइटिस के डॉक्टर

Dr. Abhay Singh Dr. Abhay Singh गैस्ट्रोएंटरोलॉजी
1 वर्षों का अनुभव
Dr. Suraj Bhagat Dr. Suraj Bhagat गैस्ट्रोएंटरोलॉजी
23 वर्षों का अनुभव
Dr. Smruti Ranjan Mishra Dr. Smruti Ranjan Mishra गैस्ट्रोएंटरोलॉजी
23 वर्षों का अनुभव
Dr. Sankar Narayanan Dr. Sankar Narayanan गैस्ट्रोएंटरोलॉजी
10 वर्षों का अनुभव
डॉक्टर से सलाह लें

कोलेजेनस कोलाइटिस की दवा - Medicines for Collagenous Colitis in Hindi

कोलेजेनस कोलाइटिस के लिए बहुत दवाइयां उपलब्ध हैं। नीचे यह सारी दवाइयां दी गयी हैं। लेकिन ध्यान रहे कि डॉक्टर से सलाह किये बिना आप कृपया कोई भी दवाई न लें। बिना डॉक्टर की सलाह से दवाई लेने से आपकी सेहत को गंभीर नुक्सान हो सकता है।

cross
डॉक्टर से अपना सवाल पूछें और 10 मिनट में जवाब पाएँ