myUpchar प्लस+ के साथ पूरेे परिवार के हेल्थ खर्च पर भारी बचत

आयरन इंसान के शरीर में पाया जाने वाला मिनरल है। खून में आयरन की कमी होने के चलते जो हीमोग्लोबिन की कमी होती  है, उसी को एनीमिया कहा जाता है।आयरन हमारे शरीर में लाल रक्त कोशिकाओं का निर्माण करता है। ये लाल रक्त कोशिकाएं ही शरीर में हीमोग्लोबिन बनाने का काम करती हैं।

(और पढ़ें - खून की कमी का आयुर्वेदिक इलाज)

आयरन की कमी से शरीर में हीमोग्लोबिन की कमी हो जाती है और हीमोग्लोबिन कम होने से शरीर में ऑक्सीजन की कमी हो जाती है। आयरन की कमी को  दूर किया जा सकता है निम्न फूड का सेवन करके-

पालक:
पालक में आयरन अधिक मात्रा में होता है। हीमोग्लोबिन की कमी होने पर पालक का सेवन करने से शरीर में इसकी कमी पूरी होती है। इसके अलावा पालक में कैल्शियम, फास्फोरस और सोडियम पाया जाता है। पालक में विटामिन सी पाया जाता है | पालक में एंटीऑक्सीडेंट होते हैं जो कैंसर जैसी बीमारियों से लड़ने में मदद करते हैं | पालक से हमारी आंखों की रोशनी भी बढ़ती है।

(और पढ़ें - एनीमिया के लक्षण)

अनार:
अनार, खून में आयरन की कमी को दूर करता है। जिसके चलते एनीमिया जैसी बीमारियों का खतरा कम हो जाता है। प्रतिदिन अनार का जूस पीने से शरीर में रक्त का संचालन भी अच्छी तरह से होता है।

चुकंदर:
चुकंदर भी आयरन  का अच्छा स्रोत है। चुकंदर द्वारा  प्राप्त आयरन से रक्त में हीमोग्लोबिन का निर्माण होता है। चुकंदर के अलावा चुकंदर की पत्तियों में भी काफी आयरन होता है | खून  की कमी के शिकार लोगों के लिए चुकंदर रामबाण का काम करता है यह शरीर में खून की कमी  को पूरा करता है |

कद्दू का बीज:
कद्दू  के बीजों को स्नैक्स के रूप में खाया जाता है। यह भी आयरन के अच्छे स्रोतों में से एक है। कद्दू के बीजों में विटामिन K, मैंगनीज और जिंक उपलब्ध होता है |

क्विनोआ:
क्विनोआ में मौजूद एंटीऑक्सीडेंट बहुत से संक्रमण से शरीर की रक्षा करता है। साथ ही कैंसर को शरीर  में पनपने नहीं देता। क्विनोआ में विटामिन बी12 होता है। अन्य अनाजों की तुलना में इसमें प्रोटीन की मात्रा अधिक होती है। जब शरीर में आयरन की कमी हो जाती है तो खून कम होने लगता है। ऐसे में यदि आप क्विनोआ के बीज का सेवन करते हैं तो आप एनीमिया जैसी खतरनाक बीमारियों से बच सकते हैं। इसमें प्रचुर मात्रा में आयरन पाया जाता है जिससे खून बढ़ता है।

डार्क चॉकलेट:
डार्क चॉकलेट एंटीऑक्सीडेंट से भरी होती है | एंटीऑक्सीडेंट शरीर को फ्री रेडिकल्स से मुक्त करने में सहायक होते हैं। कोलेस्ट्राल की कमी से दिल में दर्द की दिक्कत होती है और डार्क चॉकलेट इसे रोकती है।

टोफू:
टोफू को सोयाबीन का पनीर भी कहा जाता है। टोफू प्रोटीन का बेहतरीन स्रोत है। इसमें कैल्शियम,मैग्नीशियम एंड सेलेनियम जैसे मिनरल पाए जाते हैं। टोफू द्वारा एनीमिया के लक्षणों को कम करने में मदद मिलती है, खासकर वयस्कों के लिए यह ज्यादा लाभकारी है।

कुल मिलाकर कहने की बात यह है कि आयरन शरीर के लिए उपयोगी तत्व है। इसकी कमी से कई घातक बीमारियां हो सकती हैं। अतः यहां बताए गए आहार अपनी डाइट में जरूर शामिल करें और स्वस्थ रहें।

(और पढ़ें - आयरन टेस्ट क्या है)

और पढ़ें ...