क्विनोआ की खेती सबसे पहले दक्षिणी अमेरिका में की गई थी। लेकिन अब में भारत में भी इसे उगाया जाने लगा है। क्विनोआ का वैज्ञानिक नाम चिनोपोडियम क्विनोआ (Chenopodium quinoa) है। आपने क्विनोआ के बारे में पहले सुना होगा, लेकिन इसकी विविध और शक्तिशाली लाभों के बारे में नहीं सुना होगा। क्विनोआ, अक्सर 'सुपरफूड' या एक 'सुपर ग्रेन' के रूप में जाना जाता है। यह दुनिया के सबसे लोकप्रिय स्वास्थ्य खाद्य पदार्थों में से एक है। क्विनोआ एक फूलों से लदा हुआ पौधा होता है, जो चौलाई परिवार से जुड़ा हुआ है। यह एक वार्षिक पौधा है जो अपने खाद्य बीज के लिए उगाया जाता है। इसके बीज लस मुक्त होते हैं। यह प्रोटीन का एक उत्कृष्ट स्रोत है (एक पूर्ण स्रोत, क्योंकि इसमें सभी नौ आवश्यक एमिनो एसिड होते हैं)। इसमें फाइबर और खनिजों की भी अच्छी मात्रा पाई जाती है।

(और पढ़ें - चौलाई के फायदे)

  1. क्विनोआ के फायदे - Quinoa Benefits in Hindi
  2. क्विनोआ के नुकसान - Quinoa Side effects in Hindi
  3. क्विनोआ बनाने की रेसिपी - Quinoa Recipe in Hindi

क्विनोआ में भरपूर मात्रा में प्रोटीन, आयरन, फाइबर जैसे तत्व पाए जाते हैं। इसका प्रयोग सुबह के नाश्ते में अधिक‍ किया जाता है। कई रिसर्च के अनुसार, इसमें एंटी-सेप्टिक, एंटी-कैंसर, एंटी-एजिंग गुण होते हैं। क्विनोआ में मौजूद फाइबर सामग्री के कारण यह वजन घटाने और कब्ज के इलाज के लिए एक बहुत ही अच्छा आहार है। यह फाइबर हृदय रोग और कैंसर जैसे घातक रोगों को रोकता है। एंटीऑक्सिडेंट्स में परिपूर्ण होने के कारण, यह भोजन त्वचा और बालों के स्वास्थ्य के लिए बहुत ही लाभकारी होता है।

(और पढ़ें - एंटी एजिंग टिप्स)

क्विनोआ मुख्य रूप से सफेद, लाल और काले रंग के होते हैं। सफेद क्विनोआ, दुकानों में उपलब्ध सबसे आम प्रकार का क्विनोआ होता है। रेड क्विनोआ, इसे पकाने के बाद भी इसका रंग नहीं बदलता (सफेद क्विनोआ से बेहतर) है। इस प्रकार यह सलाद या किसी भी रेसिपी के लिए अधिक उपयुक्त है । ब्लैक क्विनोआ, जो कि सफेद क्विनोआ की तुलना में थोड़ा मीठा होता है, पकाये जाने पर भी यह अपना काला रंग बरकरार रखती है। तो आइये जानते हैं इससे होने वाले लाभों के बारे में -

(और पढ़ें - वजन घटाने के लिए डाइट चार्ट)

क्विनोआ के फायदे बचाएं ऑस्टियोपोरोसिस से - Quinoa for Osteoporosis in Hindi

अधिकतर लोगों को लगता हैं कि केवल पचास वर्ष से अधिक आयु वाले व्यक्तियों को ही हड्डियों के स्वास्थ्य के बारे में चिंतित होना चाहिए। लेकिन ऐसा नहीं है, हर किसी को हड्डियों के स्वास्थ्य के बारे में चिंतित होना चाहिए। क्विनोआ मैग्नीशियम में परिपूर्ण है और यह हड्डियों के स्वास्थ्य के लिए बहुत ही लाभकारी होता है। यह खनिज अस्थि गठन में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। क्विनोआ प्रोटीन में समृद्ध होता है (1 कप में 9 ग्राम प्रोटीन होता है)। इससे भी महत्वपूर्ण बात यह है कि इसमें सभी नौ आवश्यक अमीनो एसिड मौजूद होते हैं, जिसे शरीर अपने आप उत्पन्न नहीं कर सकता है। अन्य अध्ययनों के अनुसार, क्विनोआ में मौजूद मैग्नीशियम और मैंगनीज भी ऑस्टियोपोरोसिस को रोकने में मदद करते हैं।

(और पढ़ें - हड्डियों को मजबूत बनाने के लिए जूस)

वजन घटाने को बढ़ावा देता है क्विनोआ - Quinoa Promotes Weight Loss in Hindi

घंटों तक जिम में वर्कआउट करने की बजाये अगर आप अपनी वेट लोस डाइट को सुधारें तो आपको वजन कम करने में मदद मिल सकती है। वजन कम करने लिए नाश्ते में क्विनोआ का सेवन और भी लाभकारी साबित हो सकता है। क्विनोआ फाइबर में उच्च होता है। वास्तव में, इसमें अनाज और बीज की तुलना में बहुत अधिक मात्रा में फाइबर पाया जाता है। हालांकि क्विनोआ में फाइबर का एक बड़ा हिस्सा अघुलनशील है। एक कप क्विनोआ में घुलनशील फाइबर का 2.5 ग्राम होता है। इसके अलावा क्विनोआ में 20-हाइड्रॉक्सीकाडेसोन होता है, जो वजन नियंत्रण में मदद करने के लिए जाना जाता है। रिसर्च से पता चला है कि यह यौगिक अधिक कैलोरी जलाता है, जिसके परिणामस्वरूप वजन को काबू करने में मदद मिलती है। 

(और पढ़ें - वजन घटाने के उपाय)

क्विनोआ के लाभ रखें हृदय को स्वस्थ - Quinoa Good for Heart in Hindi

घुलनशील फाइबर में भरपूर  होने के कारण, क्विनोआ आपके दिल के लिए एक अद्भुत भोजन है। क्विनोआ खून से कोलेस्ट्रॉल निकालने के लिए आपके लिवर को उत्तेजित करता है। अगर आप खाने में क्विनोआ का इस्तेमाल करते हैं तो यह खराब कोलेस्ट्रॉल का स्तर कम करता है। जिसका मतलब है की यह एथोरोसलेरोसिस और हृदय रोग का जोखिम कम करता है। क्विनोआ में फैटी एसिड होता है, जिनमें से 25 प्रतिशत ओलिक एसिड के रूप में आता है। यह ह्रदय के लिए एक स्वस्थ मोनोअनसैचुरेटेड फैटी एसिड होता है। इसके साथ ही साथ इसमें 8 प्रतिशत एएलए (अल्फा-लिनोलेनिक एसिड) होता है, जो ओमेगा-3 फैटी एसिड होता है जो पौधों में मुख्य रूप से पाया जाता है।

(और पढ़ें - हृदय को स्वस्थ रखने के लिए क्या खाएं)

क्विनोआ का उपयोग करें त्वचा के लिए - Quinoa for Skin in Hindi

जैसा की आप जानते हैं क्विनोवा विटामिन बी और पोषक तत्वों में समृद्ध होता है जो कि त्वचा में डार्क मेलेनिन को कम करने के द्वारा उम्र से संबंधित समस्याओं का इलाज करने में सहायता करता है। क्विनोआ में मौजूद विटामिन बी 12 त्वचा का रंग बनाए रखने के लिए अन्य बी विटामिन से संपर्क करता है।

क्विनोआ में टीरोसिनेज अवरोधक भी पाए जाते हैं जो एक एंजाइम होता है। यह पिगमेंटेशन और त्वचा से संबंधित समस्याओं को कम करता है और क्विनोआ में मौजूद विटामिन बी 3 मुँहासे का इलाज करने में मदद करता है। क्विनोआ विटामिन ए का भी एक अच्छा सोर्स है। यह उम्र बढ़ने की प्रक्रिया में देरी करता है और साथ ही साथ यह फाइन लाइन्स को कम करके आपकी त्वचा को युवा रखता है। यह त्वचा की लोच को बेहतर बनाता है और मुँहासे का भी इलाज करता है। आप इससे फेस पैक भी बना सकते हैं। सोया दूध में एक चौथाई कप क्विनोआ को पकाएं और इसे ठंडा करें। अब उबले हुए क्विनोआ में दही के 3 चम्मच, 2 अंडे और मिमोसा आवश्यक तेल की 2 बूंदों को एक साथ मिक्स करें। अब इसे अपने चेहरे और गर्दन पर लगाएं और 20 मिनट के बाद गुनगुने पानी के साथ धो लें।

(और पढ़ें - स्किन केयर टिप्स)

क्विनोआ है सूजन का इलाज - Quinoa Good for Inflammation in Hindi

क्विनोआ में मौजूद फाइबर ब्यूटिरेट से उत्पन्न होता है, यह एक महत्वपूर्ण फैटी एसिड है जो सूजन से संबंधित जीन को बंद करता है। क्विनोआ में विटामिन बी शरीर में होमोसिस्टेइन के स्तर (एक सूजन से जुड़ा हुआ है हार्मोन) को कम करता है। क्विनोआ में सैपोनिन नामक यौगिक भी पाया जाता हैं, जिसमें सूजन को कम करने वाले गुण पाए जाते हैं।

(और पढ़ें - सूजन कम करने के उपाय)

क्विनोआ के गुण बचाएं कैंसर से - Quinoa Benefits for Cancer in Hindi

हार्वर्ड विश्वविद्यालय के अनुसार, क्विनोआ का दैनिक रूप से सेवन, आपके जीवन को बचा सकता है। एक अध्ययन के अनुसार, दैनिक एक कटोरा क्विनोआ का सेवन, कैंसर के जोखिम को कम कर सकता है। 

(और पढ़ें - कैंसर में क्या खाना चाहिए)

क्विनोआ बेनिफिट्स फॉर डायबिटीज - Quinoa Benefits for Diabetes in Hindi

क्विनोआ एक साबुत अनाज है और साबुत अनाज डायबिटीज के लिए बहुत अच्छे होते हैं। क्विनोआ में मौजूद फाइबर रक्त शर्करा के स्तर को बढ़ने नहीं देता है। यह डायबिटीज संबंधी वजन और अन्य पुरानी समस्याओं को भी रोकता है। क्विनोआ में प्रोटीन (अधिकांश अन्य अनाजों के विपरीत) बनाने के लिए सभी एमिनो एसिड होते हैं, जो रक्त में शर्करा के स्तर को नियंत्रित करने में भी अच्छा कार्य करते हैं।

(और पढ़ें - डायबिटीज में क्या खाना चाहिए)

एक ब्राजीलियाई अध्ययन में कहा गया है कि क्विनोआ सहित एक आहार से टाइप 2 डायबिटीज और उसके साथ जुड़े उच्च रक्तचाप को मैनेज करने में मदद मिल सकती है। क्विनोआ एक जटिल कार्बोहाइड्रेट है और ऐसे कार्बोहाइड्रेट शरीर में बहुत धीरे-धीरे टूट जाते हैं जिससे रक्त शर्करा अधिक स्थिर हो जाता है।

(और पढ़ें - उच्च रक्तचाप के लिए आहार)

क्विनोआ बनाएं मेटाबोलिज्म को मजबूत - Quinoa for Metabolism in Hindi

क्विनोआ कई पोषक तत्वों में परिपूर्ण होता है, तो यह असंभव है कि अगर आप इसे नियमित रूप से खाते हैं तो आपके चयापचय में सुधार होगा। इसमें मौजूद प्रोटीन चयापचय में सुधार करता है और साथ ही भूख को कम कर देता है।

(और पढ़ें - मेटाबोलिज्म बढाने के लिए क्या खाएं)

क्विनोआ के फायदे बचाएं एनीमिया से - Quinoa Good for Anemia in Hindi

क्विनोआ लोहे तत्व से भरपूर होता है। एक कप (185 ग्राम) पके हुए क्विनोआ में लगभग 3 मिलीग्राम लौह होता है, जो दैनिक आवश्यकता का 15% है। लोहे में पर्याप्त भोजन से एनीमिया को रोकने में मदद मिल सकती है। इसमें एक और अन्य पोषक तत्व राइबोफ्लेविन भी पाया जाता है। एनीमिया आहार में कम राइबोफ्लेविन के कारण भी हो सकता है। खनिज को हीमोग्लोबिन बनाने की आवश्यकता होती है, जो लाल रक्त कोशिकाओं का एक हिस्सा होता है तथा जो आपके रक्त में ऑक्सीजन को अवशोषित करता है।

(और पढ़ें - एनीमिया के घरेलू उपाय)

क्विनोआ का सेवन रखे पाचन को स्वस्थ - Quinoa Good for Digestion in Hindi

क्विनोआ फाइबर में समृद्ध आपके पाचन के लिए बहुत ही लाभकारी होता है। फाइबर आपके पेट में भोजन में बल्क को जोड़ता है और यह आपके पाचन तंत्र की दीवारों को उत्तेजित करता है। यह छोटी आंत में पोषक तत्वों के बेहतर अवशोषण को बढ़ावा देता है। बड़ी आंत में, यह फाइबर कब्ज को रोकता है।

(और पढ़ें - कब्ज कैसे दूर करे)

क्विनोआ में विटामिन बी की भी पाचन में एक महत्वपूर्ण भूमिका होती हैं। इसमें थियामीन होता है, जो हाइड्रोक्लोरिक एसिड (आपके पेट में एसिड जो पाचन में सहायक होता है) के उत्पादन में मदद करता है। एक अन्य अमीनो एसिड 'ग्लूटामिक' एसिड क्विनोआ में मौजूद होता है, जो आपके शरीर में ग्लूटामाइन में परिवर्तित होता है। ग्लुतमाइन आपके पेट के श्लेष्म परत (Mucosal lining) के स्वास्थ्य के लिए महत्वपूर्ण होता है।

(और पढ़ें - पाचन शक्ति को बढ़ाने के उपाय)

किनोवा के फायदे टिश्यू रिपेयर के लिए - Quinoa for Tissue Repair in Hindi

क्विनोआ 'लिसीन' ( एक प्रकार का अमीनो एसिड) में समृद्ध होता है, जो ऊतकों के रिपेयर और विकास के लिए महत्वपूर्ण होता है। क्विनोआ एकमात्र अनाज है जिसमें यह अमीनो एसिड मौजूद होता है। इसमें मौजूद उच्च प्रोटीन की सामग्री भी टिश्यू रिपेयर में मदद करती है।

(और पढ़ें - बाजरा खाने के फायदे)

किनोवा है बालों को बढ़ाने में मददगार - Quinoa for Hair Growth in Hindi

क्विनोआ में हाइड्रोलाइज़ेड प्रोटीन अर्क एक प्राकृतिक और कोमल कोटिंग के रूप में कार्य करता है, जो बालों के रोम को भीतर से बचाता है और पोषण देता है। इस अनाज के प्रोटीन के अर्क का इस्तेमाल उच्च गुणवत्ता वाले बाल उत्पादों के उत्पादन के लिए किया जाता है।

(और पढ़ें - बाल झड़ने के कारण)

नौ आवश्यक एमिनो एसिड में भरपूर होने के कारण, क्विनोआ प्राकृतिक संरक्षक के रूप में कार्य करता है और बाल की सुरक्षा करता है। यह क्षतिग्रस्त बालों की मरम्मत करता है और बालों के विकास को बढ़ावा देता है। क्विनोआ खोपड़ी को हाइड्रेट रखता है।

(और पढ़ें - बाल बढ़ाने के लिए तेल)

डैंड्रफ को दूर करें क्विनोआ से - Quinoa for Dandruff in Hindi

क्विनोआ में कैल्शियम, लोहा और फास्फोरस जैसे महत्वपूर्ण खनिज सर से रूसी को दूर रखने के लिए आवश्यक नमी को बनाये रखते हैं। आपको सिर्फ क्विनोआ को मॅश करना है और अपने बालों और खोपड़ी पर पेस्ट को लगाना है। इसे 15 मिनट के लिए लगाकर छोड़ दें और फिर बालों को अच्छे से धो लें। क्विनोआ में मौजूद प्रोटीन भी दोमुंहे बालों को समाप्त करने में मदद करता है। क्विनोआ में मौजूद 'टाइरोसिन' आपके बालों के मूल रंग को बनाए रखने में मदद करता है।

(और पढ़ें - रूसी के उपाय)

क्विनोआ के बहुत गंभीर दुष्प्रभाव नहीं होते हैं। हालांकि, यदि आप इसका अधिक मात्रा में सेवन करते हैं, तो आपको निम्न समस्याएं हो सकती हैं -

  1. चूंकि क्विनोआ फाइबर में समृद्ध है तो इसके अधिक सेवन से गैस, ब्लोटिंग और दस्त हो सकते हैं। (और पढ़ें - दस्त रोकने के उपाय)
  2. क्विनोआ में ऑक्सेलिक एसिड की मात्रा होती है। यह एसिड मूत्र में उत्सर्जित होता है और यह कैल्शियम से बाध्य भी हो सकता है और जो गुर्दे की पथरी बना सकता है। यदि पहले आपको गुर्दे की पथरी रही है तो इसके उपयोग से बचें और पहले अपने चिकित्सक से बात करें।

(और पढ़ें - गुर्दे की पथरी का उपाय)

आवश्यक सामग्री

  1. 1 चम्मच वनस्पति तेल
  2. 1 कटा हुआ प्याज
  3. 1 1/2 चम्मच लहसुन का पेस्ट
  4. 3/4 कप कच्चा क्विनोआ
  5. 1 चम्मच जीरा 
  6. 1 1/2 कप सब्जी शोरबा
  7. 1/4 चम्मच लाल मिर्च
  8. 1 चम्मच लाइम जूस
  9. 1 कप फ्रोजन मकई
  10. 2 डिब्बे ब्लैक बीन्स
  11. आधा कप ताजा कटा हुआ हरा धनिया
  12. 1 पका हुआ एवाकाडो
  13. नमक और काली मिर्च स्वाद के लिए

बनाने की विधि

  1. सबसे पहले, एक झरनी में क्विनोआ को धो लें। इससे क्विनोआ की कड़वाहट निकल जायेगी।
  2. मध्यम आंच के ऊपर एक सॉस पैन में वनस्पति तेल गरम करें। प्याज और लहसुन को पकाएं और कुछ मिनटों के लिए कुक होने दें।
  3. पैन में क्विनोआ और सब्जी शोरबा डालें। अब, जीरा, लाल मिर्च, नमक और काली मिर्च को मिक्स करें। मिश्रण को उबाल लें और फिर इसे कवर करें। आंच को कम करें और 20 मिनट के लिए उबालें।
  4. पैन में नीबू का रस और जमी हुई मकई डालें और अच्छी तरह से हिलाएं। अब 5 मिनट के लिए उबाल लें।
  5. अब ब्लैक बीन्स और हरा धनिया मिक्स करें। आप कटे हुए एवाकाडो के साथ, इस गार्निश कर सकते हैं।
  6. आप गर्म या ठंडा परोस सकते हैं या रेफ्रिजरेटर में स्टोर भी कर सकते हैं।
Medicine NamePack SizePrice (Rs.)
Quinoa Seed A Low Glycemic Gluten Free SuperfoodNirogam Quinoa Seed499.0
Organic India Quinoa PowderOrganic India Quinoa Powder295.0
और पढ़ें ...

संदर्भ

  1. Secretariat Food and Agriculture Organization of the United Nations, Regional Office for Latin America and the Caribbean, Santiago, Chile [Internet]. 2013 International Year of Quinoa.
  2. Centre de Coopération Internationale en Recherche Agronomique pour le Développement Food and Agriculture Organization of the United Nations (FAO) Santiago. State of the art report on quinoa around the world, 2014
  3. Ramesh K., Suneetha Devi K.B., Gopinath K.A. and Praveen K. Geographical adaptation of quinoa in India and agrotechniques for higher productivity of quinoa. Journal of Pharmacognosy and Phytochemistry, 2019; 8(3): 2930-2932
  4. Semra Navruz-Varli and Nevin Sanlier. Nutritional and health benefits of quinoa (Chenopodium quinoa Willd.). Journal of Cereal Science, 4 May 2016; 69: 371-376.
  5. Navarro-Perez D., Radcliffe J., Tierney A. and Jois M. Quinoa Seed Lowers Serum Triglycerides in Overweight and Obese Subjects: A Dose-Response Randomized Controlled Clinical Trial. Current Developments in Nutrition, September 2017; 1(9): e001321.
  6. Kizelsztein P. and Govorko D., et al. 20-Hydroxyecdysone decreases weight and hyperglycemia in a diet-induced obesity mice model. American Journal of Physiology Endocrinology and Metabolism,1 March 2009; 296(3): E433-E439
  7. Kurpad A.V., Regan M.M., Raj T., El-Khoury A., Kuriyan R., Vaz M., Chandakudlu D., Venkataswamy V.G., Borgonha S., Young V.R. Lysine requirements of healthy adult Indian subjects receiving long-term feeding, measured with a 24-h indicator amino acid oxidation and balance technique. American Journal of Clinical Nutrition, August 2002; 76(2): 404-12.
  8. Smriga M. and Ghosh S., et. al. Lysine fortification reduces anxiety and lessens stress in family members in economically weak communities in Northwest Syria. Proceedings of the National Academy of Sciences of the United States of America, 24 May 2004; 101(22): 8285–8288.
  9. Vuvor F., Mohammed H., Ndanu T. & Harrison O. Effect of lysine supplementation on hypertensive men and women in selected peri-urban community in Ghana. BMC Nutrition, 27 July 2017; 3, article number: 67.
  10. Pourshahidi L.K., Caballero E. and Osses A. et al. Modest improvement in CVD risk markers in older adults following quinoa (Chenopodium quinoa Willd.) consumption: a randomized-controlled crossover study with a novel food product. European Journal of Nutrition (2020).
  11. Morales D., Marta Miguel & Marta Garcés-Rimón. Pseudocereals: a novel source of biologically active peptides. Critical Reviews in Food Science and Nutrition, published online: 14 May 2020.
  12. Jahaniaval F., Kakuda Y. & Marcone M.F. Fatty acid and triacylglycerol compositions of seed oils of five Amaranthus accessions and their comparison to other oils. Journal of the American Oil Chemists' Society, 8 June 2000; 77, article number: 847.
  13. Yao Tangab, et al. Characterisation of phenolics, betanins and antioxidant activities in seeds of three Chenopodium quinoa Willd. Genotypes. Food Chemistry , 1 January 2015; 166: 380-388.
  14. Shi J., Arunasalam K., Yeung D., Kakuda Y., Mittal G. and Jiang Y. Saponins from edible legumes: chemistry, processing, and health benefits. Journal of Medicinal Food, Spring 2004; 7(1): 67-78. PMID: 15117556.
  15. Graf B.L., Rojas-Silva P., Rojo L.E., Delatorre-Herrera J., Baldeón M.E., Raskin I. Innovations in Health Value and Functional Food Development of Quinoa (Chenopodium quinoa Willd.). Comprehensive Reviews in Food Science and Food Safety, July 2015; 14(4): 431-445. Epub: 10 April 2015. PMID: 27453695.
  16. Graf B.L. et al. Quinoa seeds leach phytoecdysteroids and other compounds with anti-diabetic properties. Food Chemistry, 15 November 2014; 163: 178-185.
  17. Graf B.L. et al. Compounds leached from quinoa seeds inhibit matrix metalloproteinase activity and intracellular reactive oxygen species.. International Journal of Cosmetic Science, April 2015; 37(2): 212-21. Epub 14 January 2015.
  18. Oliver Didzun, Jan-Walter De Neve, Ashish Awasthi, Manisha Dubey, Michaela Theilmann, Till Bärnighausen, et al. Anaemia among men in India: a nationally representative cross-sectional study. The Lancet Global Health, 1 December 2019; 7(12): E1685-E1694.
ऐप पर पढ़ें