जीभ में बनने वाले सफेद रंग के घाव को जीभ के छाले कहा जाता है। वैसे तो छाले मुंह के अलग-अलग हिस्सों पर हो सकते हैं जैसे कि होठ के अंदर की तरफ, दाढ़ के पास, मुंह की ऊपरी सतह पर और जीभ पर। यह घाव आमतौर पर जीभ के नीचे या किनारों पर उत्पन्न होते हैं। जीभ के छाले 10 से 14 दिन के भीतर स्वयं ठीक हो जाते हैं। लेकिन इस अवधि के दौरान इन छालों से होने वाले दर्द को कम करने के लिए अच्छी देखभाल करने की जरूरत होती है।

जीभ पर छाले अक्सर किसी चोट, अंदरुनी बीमारी या कुछ गर्म चीज खाने से होते हैं। यह छाले शुरू में बहुत छोटे होते हैं और अगर इनका सही समय पर इलाज ना किया जाए तो ये हद से ज्यादा बढ़ सकते हैं। छाले होना कई बार गंभीर बीमारियों का संकेत हो सकता है। इन छालों से कई घरेलू उपायों द्वारा छुटकारा पाया जा सकता है। आज हम आपको उन्हीं उपायों और बचाव के बारे में बताएंगे।

  1. एलोवेरा से रखें जीभ के छालों को दूर - Aloevera se rakhein Jeebh me chale ko dur
  2. बेकिंग सोडा है जीभ के छालों का देसी नुस्खा - Baking Soda hai Jeebh me chale ka desi nuskha
  3. जीभ के छालों को दूर करें नमक के पानी से - Jeebh ke chalon ko door karne ka tarika hai salt water rinse
  4. जीभ के छालों का घरेलू उपाय है सेब का सिरका - Jeebh me chalon ka ghrelu upay hai apple cider vinegar
  5. जीभ के छालों से बचने का तरीका है सेज के पत्ते - Jeebh me chale se bachne ka tarika hai Sage Leaves
  6. नारियल तेल है जीभ के छालों का घरेलू उपाय - Coconut oil hai tongue ulcers ka gharelu upay
  7. जीभ के छालो से छुटकारा दिलाता है फिटकरी का पाउडर - Jeebh me chale se chuthkara dilata hai alum powder
  8. जीभ के छालों का देसी इलाज है शहद और हल्दी - Jeebh me chale ka desi ilaj hai honey and haldi
  9. जीभ के छालों से राहत पाने का तरीका है लौंग का तेल - Tongue ulcers se rahat ka tarika hai laung ka tel
  10. बर्फ है जीभ के छाले का घरेलू उपाय - Ice hai Jeebh ke chale ka gharelu upay
  11. मेथी से करें जीभ के छालों का इलाज - Methi se karein jeebh me chale ka ilaj
  12. जीभ के छालों का घरेलू उपाय है ये होममेड स्प्रे - Homemade Spray se karen Jeebh ke chale ka ilaaj

पहला उपाय है एलोवेरा जो कि एक ऐसी औषधि है जिसे कई घरेलू उपायों में इस्तेमाल किया जाता है। इसमें कई एंटी-इंफ्लेमेटरी (सूजन रोधी) और एंटी-माइक्रोबियल (सूक्ष्म जीवों को दूर करने वाले) गुण होते हैं जो जीभ के छालों को कम करने में मदद करते हैं।

आवश्यक सामग्री

  • 1 चम्मच एलोवेरा जैल
  • थोड़ी सी रूई
  • 1 कप पानी

इस्तेमाल का तरीका

  • एलोवेरा की पत्ती को काट कर उसके अंदर के जैल को निकाल लें
  • इस जैल को रूई की मदद से अपने जीभ के छालों पर लगाएं

इस्तेमाल का दूसरा तरीका

  • 1 चम्मच एलोवेरा जैल लें 
  • अब इसे 1 कप पानी में मिलाए 
  • अच्छे से मिलाकर इससे कुल्ला करें 

कब इस्तेमाल करें

दिन में कम से कम 4 से 5 बार एलोवेरा को जीभ के छालों पर लगाया जा सकता है।

बेकिंग सोडा आमतौर पर किचन में पाई जाने वाली सामान्य चीज है। बेकिंग सोडा हमारे मुंह के पीएच को संतुलन में लाकर जलन को कम कर देता है। इसके उपाय को करना भी काफी आसान होता है, जिसकी विधि कुछ इस प्रकार है:

आवश्यक सामग्री 

  • 1 चम्मच बेकिंग सोडा
  • ½ कप पानी

इस्तेमाल का तरीका

  • एक चम्मच बेकिंग सोडा को ½ कप पानी में मिला लें
  • इस मिश्रण से 15 से 30 सेकेंड तक कुल्ला करें

कब इस्तेमाल करें

जब तक जीभ के छालों से होने वाला दर्द कम ना हो जाए, हर एक घंटे में इस विधि को दोहराते रहें। हालांकि ध्यान रखें कि बेकिंग सोडा आप निगले नहीं, कुल्ला करके उसे बाहर थूक दें।

नमक के पानी से कुल्ला करना भी जीभ के छालों के लिए काफी लाभकारी हो सकता है। नमक के पानी से एक बार को छालों का दर्द बढ़ सकता है, लेकिन यह इन्हें सुखा कर जल्दी ठीक होने में मदद भी करता है।

आवश्यक सामग्री

इस्तेमाल का तरीका

  • एक चम्मच नमक को ½ कप गर्म पानी में मिला लें 
  • इस मिश्रण से अपने मुंह के अंदर 15 से 30 सेकेंड तक कुल्ला करें और फिर थूक दें

कब इस्तेमाल करें

इस प्रक्रिया को दिन में तीन बार इस्तेमाल करें।

मुंह संबंधी समस्याओं के लिए सेब के सिरके को काफी कारगर घरेलू इलाज माना जाता है। यदि जीभ के छाले किसी प्रकार के बैक्टीरिया या फिर अन्य किसी रोगाणु के कारण हुए हैं, तो सेब के सिरके का इस्तेमाल कारगर साबित हो सकता है। ऐसा इसलिए क्योंकि इसमें मौजूद एसिटिक एसिड बैक्टीरिया को खत्म करने में मदद करते हैं।

आवश्यक सामग्री

  • 1 चम्मच सेब का सिरका 
  • 1 कप पानी 

इस्तेमाल का तरीका

  • एक चम्मच सेब के सिरके को 1 कप पानी में मिला लें 
  • इस मिश्रण से कुछ देर के लिए कुल्ला करें

कब इस्तेमाल करें

दिन में सिर्फ दो बार इस उपाय को आजमाएं और ध्यान रखें कि आप सेब के सिरके को निगलें नहीं।

सेज के पत्तों को सालों से कई प्रकार के घरेलू उपायों के रूप में उपयोग किया जा रहा है। जीभ के छालों के लिए भी इन्हें काफी कारगर माना जाता है, क्योंकि ये छाले में मौजूद द्रव को निकाल देते हैं। आइए जानते हैं कि सेज के पत्तों से जीभ के छालों को कैसे ठीक किया जा सकता है:

आवश्यक सामग्री

  • 4 सेज के सूखे पत्ते
  • 2 कप गर्म पानी

इस्तेमाल का तरीका

  • सेज की पत्तियों के ऊपर 2 कप गर्म पानी डालें
  • पानी को पत्तों के गुण सोखने के लिए 10 मिनट तक छोड़ दें
  • अब पानी को छान लें और इससे कुल्ला करें

कब इस्तेमाल करें 

इस मिश्रण से रोजाना 4 से 5 बार कुल्ला करें।

नारियल का तेल और ऑलिव ऑयल दोनों औषधिय तेल हैं, जिनमें फंगस, बैक्टीरिया और वायरस आदि को नष्ट करने के गुण होते हैं। अपने इन्ही गुणों के कारण ये जीभ के छालों को कम करने में मदद करते हैं।

आवश्यक सामग्री

  • 1 चम्मच नारियल तेल
  • थोड़ी सी रूई

इस्तेमाल का तरीका

  • रूई को नारियल तेल में भिगो लें
  • अब रूई की मदद से अपने प्रभावित हिस्से पर इसे लगाएं
  • आप नारियल तेल की जगह ऑलिव ऑयल या सूरजमुखी का तेल का उपयोग भी कर सकते हैं।

कब इस्तेमाल करें

इस प्रक्रिया को दिन में 3 से 4 बार अपनाएं।

फिटकरी को आमतौर पर फर्स्ट ऐड की तरह इस्तेमाल किया जाता है लेकिन यह जीभ के छालों को ठीक करने में भी कारगर साबित होता है। ऐसा इसलिए है क्योंकि फिटकरी एक प्रकार का एस्ट्रिजेंट है जो छालों को सूखा कर उन्हें खत्म करने में मदद करता है।

आवश्यक सामग्री 

  • ½ चम्मच फिटकरी पाउडर 
  • कुछ बूंद पानी

इस्तेमाल का तरीका 

  • आधा चम्मच फिटकरी पाउडर को कुछ बूंद पानी में मिलाकर एक पेस्ट बना लें 
  • अब इस पेस्ट को उंगली से अपने छालों पर लगाकर 1 मिनट के लिए छोड़ दें  और उसके बाद पानी से कुल्ला कर मुंह साफ कर लें

कब इस्तेमाल करें

इस पेस्ट को रोजाना इस्तेमाल करें जब तक छाले पूरी तरह से ठीक ना हो जाए।

शहद और हल्दी दोनों को ही कई घरेलू नुस्खों में दर्द से आराम पाने के लिए इस्तेमाल किया जाता है। शहद में त्वचा को मुलायम बनाने के साथ एंटी-बैक्टीरियल गुण भी होते हैं वहीं दूसरी ओर हल्दी में सूजन और जलन को खत्म करने के गुण पाए जाते हैं। यह दोनों साथ मिलकर एक दर्द निवारक दवा के रूप में काम करते हैं।

आवश्यक सामग्री 

इस्तेमाल का तरीका

  • हल्दी और शहद को मिलाकर उनका पेस्ट बना लें
  • अब इस पेस्ट को छालों के ऊपर और आसपास 10 मिनट के लिए लगाए रखें
  • इसके बाद इसे गुनगुने पानी से साफ कर लें

कब इस्तेमाल करें

इस उपाय को एक दिन में कम से कम 3 बार इस्तेमाल करें और लगातार 10 मिनट तक इस पेस्ट को छालों पर लगा कर रखें।

2014 में किए गए एक अध्ययन में यह पाया गया था कि डेंटिस्ट मरीज के मसूड़ों को सुन्न करने के लिए लौंग के तेल का इस्तेमाल करते हैं और यही तेल जीभ के छालों को भी कम करने के काम आता है।

आवश्यक सामग्री

  • ½ चम्मच नारियल तेल या ½ चम्मच ऑलिव ऑयल
  • 4 बूंद लौंग का तेल
  • 1 गिलास गुनगुना पानी
  • 1 जार
  • थोड़ी सी रूई

इस्तेमाल का तरीका

  • गुनगुने पानी से कुल्ला कर के अपने मुंह और जीभ के छाले को साफ कर लें
  • जार के अंदर तेलों को अच्छे से मिला लें 
  • इस मिश्रण में रूई को भिगोएं और उसे अपने प्रभावित हिस्से पर 10 मिनट तक लगा कर रखें

कैसे काम करता है

लौंग के तेल में एंटी-सेप्टिक और एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण होते हैं और यह छालों को सुन्न करके दर्द से राहत दिलाता है।

कब इस्तेमाल करें

इस प्रक्रिया को दिन में 3 से 4 बार इस्तेमाल किया जा सकता है।

दर्द और सूजन में कुछ भी खाना, पीना और बोलना मुश्किल हो जाता है। इस तकलीफ से बचने के लिए बर्फ सबसे अच्छे उपायों में से एक है। ऐसा इसलिए है क्योंकि बर्फ प्रभावित हिस्से को सुन्न कर देता है जिसके कारण आपको दर्द महसूस होना बंद हो जाता है।

आवश्यक सामग्री

  • 1 छोटा टुकड़ा बर्फ  

इस्तेमाल का तरीका 

  • बर्फ को कुछ समय के लिए अपनी जीभ पर रखें और चूसते रहें
  • जीभ पर रखने से छालों में हो रही जलन व दर्द में तीव्रता से आराम होने लगेगा

कब इस्तेमाल करें 

इस प्रक्रिया का इस्तेमाल दिन में कई बार किया जा सकता है, जब भी आपको जीभ में अधिक जलन या दर्द महूसस हो आप इस उपाय को आजमा सकते हैं।

मेथी भोजन की कई चीजों को स्वादिष्ट बनाने के काम आती है, लेकिन इसकी पत्तियों में कुछ ऐसी खूबियां पाई जाती हैं जो दर्द को कम करने में मदद करती हैं। एक रिसर्च के अनुसार मेथी को दंत चिकित्सा में एक प्राकृतिक दवा के रूप में इस्तेमाल किया जाता है। इसमें प्रतिरक्षा प्रणाली को स्वस्थ बनाने के गुणों के साथ कई विटामिन्स और मिनरल्स भी मौजूद होते हैं।

आवश्यक सामग्री

  • 1 चम्मच मेथी के दाने
  • 1 कप पानी

इस्तेमाल का तरीका

  • एक चम्मच मेथी के दानों को एक कप ठंडे पानी में डालें 
  • अब इस मिश्रण से 30 सेकेंड तक अच्छे से कुल्ला करें

कब इस्तेमाल करें

इस प्रक्रिया को दिन में दो बार इस्तेमाल करने की सलाह दी जाती है।

जब आपकी जीभ या मुंह में कहीं भी छाले हों तो आप बस इनसे छुटकारा पाने के अलावा और कुछ नहीं सोचते। आज हम आपको एक ऐसा नुस्खा बताएंगे जिसे आप घर पर मौजूद अलग-अलग चीजों से तैयार कर सकते हैं और इन छालों से छुटकारा पा सकते हैं। 

आवश्यक सामग्री 

इस्तेमाल का तरीका

  • सभी तेलों को स्प्रे बोतल में डाल कर उन्हें अच्छे से मिला लें 
  • हर इस्तेमाल से पहले बोतल को अच्छे से हिलाएं और प्रभावित हिस्से पर थोड़ा सा स्प्रे करें 
  • अगर आपके पास स्प्रे बोतल नहीं है तो आप किसी छोटे गिलास का इस्तेमाल कर के रूई की मदद से अपने प्रभावित हिस्से पर इस मिश्रण को लगा सकते हैं।

कैसे काम करता है 

इन सभी तेलों में बैक्टीरिया से लड़ने की क्षमता होती है और ये छालों से प्रभावित हिस्से को कस कर  सूजन को कम करने में मदद करते हैं। इसके अलावा इन सभी तेलों में एंटी-इंफ्लेमेटरी (सूजन व जलन को कम करने वाले) गुण भी होते हैं जो जलन को कम करने में मदद करते हैं।

कब इस्तेमाल करें

इस मिश्रण को तब तक इस्तेमाल करें जब तक सूजन और छाले पूरी तरह से गायब ना हो जाए।

अगर आपको भी जीभ पर अक्सर छाले आते रहते हैं तो इन बातों का खास ध्यान रखें जैसे की हल्के हाथों से टूथब्रश करना, छाले ठीक होने के कुछ समय बाद तक ज्यादा गर्म या मिर्ची वाला भोजन न खाना व धूम्रपान बिलकुल ना करना आदि और नींबू व संतरे जैसे खट्टे फल जीभ के छालों को बढ़ा सकते हैं, इसलिए इनसे दूर रहने की सलाह दी जाती है। इन सभी परहेज के साथ ऊपर दिए गए उपायों को ठीक तरह से इस्तेमाल करने पर आप छालों से कुछ ही समय में राहत पा सकेंगे।

जीभ के छाले के घरेलू उपाय से जुड़े सवाल और जवाब

सवाल लगभग 2 साल पहले

मुझे जीभ पर छाले हो गए हैं, इसे ठीक करने के लिए कोई घरेलू उपाय बताएं?

Dr. Ayush Pandey MBBS, PG Diploma , कार्डियोलॉजी

आप जीभ के छालों को ठीक करने के लिए दही का इस्तेमाल कर सकते हैं। दही में नैचुरल प्रोबायोटिक और एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण होते हैं जो सूजन और दर्द को कम कर सकते हैं। इसमें एंटी-बैक्टीरियल और एंटी-ऑक्सीडेंट गुण भी होते हैं जो छालों के साथ किसी भी तरह के संक्रमण को ठीक कर सकते हैं। इसके लिए दिन में कम से कम 3 बार एक कप दही पिएं। इससे छाले जल्दी ठीक हो सकते हैं। इसके अलावा, आप दही को छालों पर लगा भी सकते हैं। 

 

सवाल लगभग 2 साल पहले

क्या टी ट्री ऑयल से जीभ के छालों को ठीक किया जा सकता है?

Dr. Haleema Yezdani MBBS , सामान्य चिकित्सा

टी ट्री ऑयल में टेरापिन-4-ओएल नामक एक यौगिक होता है, जो मुंह में होने वाले इन्फेक्शन कैंडिडिआसिस पर सूजन एवं जलन रोधी असर करता है। इस ऑयल के जीवाणुरोधी और एंटीसेप्टिक गुण जीभ के छालों और उनके लक्षणों को ठीक करने में मदद कर सकते हैं। एक कप गर्म पानी में 3 से 4 बूंदे टी ट्री ऑयल की डालें और इसे एक माउथवाश की तरह इस्तेमाल करें। खाना खाने के बाद 3 से 4 बार इसका इस्तेमाल करने से फायदा होगा।

 

सवाल लगभग 2 साल पहले

मेरी दादी कहती थी कि जीभ पर छाला हो जाए तो उसे तुलसी के पत्तों से ठीक किया जा सकता है, क्या यह सही है? मुझे भी जीभ पर छाले हो गए हैं, क्या मैं अपनी दादी के इस नुस्खे का इस्तेमाल कर सकता हूं? इसे उपयोग कैसे करते हैं?

Dr. Anand Singh MBBS , सामान्य चिकित्सा

तुलसी अपने औषधीय गुणों के लिए काफी लोकप्रिय है। तुलसी के एंटी-इंफ्लेमेटरी, एंटीबैक्टीरियल और एंटीसेप्टिक गुण जीभ के छाले के लिए सबसे अच्छे प्राकृतिक उपचारों में से एक है। इसके लिए आप तुलसी के कुछ पत्ते लें और उसे चबाएं। आप इसे कम से कम दिन में 3 बार करें। जीभ के छालों के लिए यह अच्छा उपचार है।

सवाल लगभग 2 साल पहले

2 दिन पहले मेरी जीभ दांत से कट गई थी जिसके बाद मुझे इसमें बहुत जलन भी होने लगी, लेकिन आज मेरी जीभ पर छाला हो गया है और इसमें मुझे जलन भी हो रही है, इसे ठीक करने के लिए मुझे कोई घरेलू उपाय बताएं?

Dr. Ramraj MBBS , अन्य

अदरक और लहसुन को एंटी-इंफ्लेमेटरी और दर्द कम करने वाले गुणों के लिए जाना जाता है। इनका  इस्तेमाल जीभ के छालों को ठीक करने के लिए किया जा सकता है। इनमे एंटीमाइक्रोबियल गुण भी होते हैं जो छाले पैदा करने वाले मुख्य इन्फेक्शन से लड़ते हैं। इसके लिए आप 2 से 3 लहसुन की कली लें और एक इंच अदरक लें, अब दिन में कई बार अदरक और लहसुन को एक साथ चबाएं। इससे छाले जल्दी ठीक हो सकते हैं। आपको ऐसा 3 दिन तक करना है। आप खाने में लहसुन और अदरक की मात्रा बढ़ाकर भी इनका सेवन कर सकते हैं।

और पढ़ें ...
cross
डॉक्टर से अपना सवाल पूछें और 10 मिनट में जवाब पाएँ