myUpchar Call

यह कहना गलत नहीं होगा कि सेक्स जीवन का अहम हिस्सा है. सेक्स करने के कई फायदे होते हैं. इससे न सिर्फ तनाव कम होता है, बल्कि दोनों पार्टनर के बीच भावनात्मक रिश्ता भी बन सकता है. कुछ लोगों का मानना है कि रोज सेक्स करना अच्छा होता है. यह स्वास्थ्य के लिहाज से कई प्रकार से फायदेमंद है. वहीं, इस बात से भी इनकार नहीं किया जा सकता कि रोज सेक्स करने से कुछ नुकसान भी हो सकते हैं.

आज इस लेख में हम यही जानेंगे कि रोज सेक्स करना किस प्रकार फायदेमंद व नुकसानदायक है -

कम कीमत पर ऑनलाइन खरीदें बेस्ट एक्स्ट्रा टाइमिंग स्प्रे.

  1. रोज शारीरिक संबंध बनाने के फायदे
  2. रोज शारीरिक संबंध बनाने के नुकसान
  3. सारांश
यौन रोग के डॉक्टर

अगर कोई कपल रोज शारीरिक संबंध बनाता है, तो ऐसा करने से वो विभिन्न प्रकार के हृदय रोगों से बचा रह सकता है. आइए, इन फायदों के बारे में विस्तार से जानते हैं -

चिंता व तनाव से राहत

आज के इस तेज रफ्तार दिनचर्या में हर कोई व्यस्त है. इसी व्यस्तता के कारण लोग अक्सर तनाव व चिंता से घिरे रहते हैं. खासकर पति-पत्नी काम व परिवार के बीच तालमेल बनाने के चक्कर में अक्सर अपने आप को तनावपूर्ण स्थिति में फंसा हुआ महसूस करते हैं. ऐसे में शारीरिक संबंध बनाना तनाव को काफी हद तक कम कर सकता है.

दरअसल, शोध में इस बात की पुष्टि हुई है कि सेक्स करने से चिंता व तनाव को कम किया जा सकता है. ऐसा इसलिए है, क्योंकि सेक्स तनाव पैदा करने वाले हार्मोन यानी कोर्टिसोल और एड्रेनालाईन को कम कर सकता है. साथ ही इससे एंडोर्फिन और ऑक्सीटोसिन भी रिलीज होता है, जिस कारण तनाव को कम करने और मन को शांत रखने मदद मिल सकती है.

(और पढ़ें - संभोग न करने से होने वाले नुकसान)

Delay Spray For Men
₹349  ₹499  30% छूट
खरीदें

मूड को करे बेहतर

मूड को अच्छा करने के लिए भी शारीरिक संबंध बनाना मददगार हो सकता है. इससे फील गुड हार्मोन की वृद्धि होती है और इसका असर अगले दिन तक बरकरार रहता है. ऐसे में यह माना जा सकता है कि अच्छे मूड के लिए सेक्स करना जरूरी है.

आप यहां दिए लिंक पर क्लिक करके जान सकते हैं कि स्तंभन दोष का आयुर्वेदिक इलाज क्या है.

दर्द से राहत

सेक्स के दौरान निकलने वाले एंडोर्फिन और अन्य रसायन प्राकृतिक दर्द निवारक की तरह काम करते हैं. ऐसे में सेक्स महिलाओं को मासिक धर्म में ऐंठन, माइग्रेन और सिरदर्द की समस्या से राहत दिलाने में मदद कर सकता है.

(और पढ़ें - दिमाग को कैसे प्रभावित करता है सेक्स)

हृदय स्वास्थ्य के लिए

शारीरिक संबंध बनाना हृदय को स्वस्थ रखने में भी मददगार होता है. दरअसल, इससे तनाव कम हो सकता है और नींद भी बेहतर हो सकती है, जो हृदय को स्वस्थ रखने में भी सहायक हो सकता है. इतना ही नहीं इससे ब्लड प्रेशर को भी कंट्रोल करने में मदद मिलती है, जिसका सीधा असर हृदय स्वास्थ्य पर पड़ता है.

रिश्ते में गहराई

पति-पत्नी के बीच रिश्ते को बेहतर करने में भी शारीरिक संबंध बनाना काफी मायने रखता है. यह कपल के बॉन्ड को बेहतर करने में और उनके प्यार को और गहरा करने में मदद कर सकता है. इससे वे न सिर्फ शारीरिक तौर पर जुड़ते हैं, बल्कि भावनात्मक तौर पर भी एक-दूसरे से कनेक्ट हो सकते हैं.

आप यहां दिए ब्लू लिंक पर क्लिक करके जान सकते हैं कि शीघ्रपतन का आयुर्वेदिक इलाज क्या है.

फायदे के बाद अब बारी आती है रोज शारीरिक संबंध बनाने के नुकसान के बारे में बात करने की. ये नुकसान कुछ इस प्रकार से हैं -

त्वचा के लिए नुकसानदायक

रोज शारीरिक संबंध बनाने से असर त्वचा पर पड़ सकता है. त्वचा रूखी होने की समस्या हो सकती है. इतना ही नहीं, त्वचा के फटने से शरीर में बैक्टीरिया भी जा सकता है, जिससे इंफेक्शन का जोखिम बढ़ सकता है.

आप यहां दिए ब्लू लिंक पर क्लिक करके जान सकते हैं कि कामेच्छा की कमी का आयुर्वेदिक इलाज क्या है.

मूत्र पथ संक्रमण

जब संक्रमण की बात हो ही रही है, तो बता दें कि रोज-रोज सेक्स करने से मूत्र पथ के संक्रमण का खतरा भी बढ़ सकता है. दरअसल, शारीरिक संबंध बनाने के दौरान बैक्टीरिया आसानी से मूत्र पथ से अंदर जा सकता है, जो यूटीआई का कारण बन सकता है. इसके अलावा, यौन संचारित संक्रमण का जोखिम भी बढ़ सकता है.

(और पढ़ें - सेक्स पावर बढ़ाने के उपाय)

थकावट

शारीरिक संबंध बनाना किसी व्यायाम से कम नहीं होता है. ऐसे में रोज शारीरिक संबंध बनाने से पार्ट्नर को थकावट की समस्या भी हो सकती है. इससे दिनचर्या व काम पर भी असर हो सकता है. इतना ही नहीं, अधिक शारीरिक संबंध बनाने से पति-पत्नी की पारिवारिक जिम्मेदारियों पर भी इसका असर हो सकता है और अन्य कई चीजें प्रभावित हो सकती हैं.

अभी ऑनलाइन खरीदें मेल सेक्स हार्मोन को बढ़ाने वाला आयुर्वेदिक टेस्टो बूस्टर.

लत लगना

रोज शारीरिक संबंध बनाने से व्यक्ति को सेक्स की लत भी लग सकती है. इसका पति-पत्नी दोनों के ही मानसिक व शारीरिक स्वास्थ्य पर असर पड़ सकता है. इसलिए, इस बात का पूरा ध्यान रखें कि शारीरिक संबंध बनाने को अपनी आदत न बनाएं.

आप यहां दिए ब्लू लिंक पर क्लिक करके जान सकते हैं कि शुक्राणु की कमी का आयुर्वेदिक इलाज क्या है.

हमारी पूरी कोशिश रही है कि अपने पाठकों तक यौन स्वास्थ्य से जुड़ी ज्यादा से ज्यादा जानकारी पहुंचाएं, ताकि उनके मन में इस विषय को लेकर जो भी सवाल हो, उसके जवाब मिल सके. इस लेख के जरिए हमने यह बताने का प्रयास किया है कि रोज सेक्स करने से तनाव दूर होता है व दो पार्टनर के बीच भावनात्मक रिश्ता बनता है. वहीं, इंफेक्शन होने जैसे खतरे भी रहते हैं. उम्मीद है कि यह आर्टिकल आपके लिए उपयोगी रहा होगा. ऐसे ही अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़े रहें हमारे साथ.

(और पढ़ें - एनल सेक्स क्या है)

Dr. Hemant Sharma

Dr. Hemant Sharma

सेक्सोलोजी
11 वर्षों का अनुभव

Dr. Zeeshan Khan

Dr. Zeeshan Khan

सेक्सोलोजी
9 वर्षों का अनुभव

Dr. Nizamuddin

Dr. Nizamuddin

सेक्सोलोजी
5 वर्षों का अनुभव

Dr. Tahir

Dr. Tahir

सेक्सोलोजी
20 वर्षों का अनुभव

ऐप पर पढ़ें