myUpchar प्लस+ सदस्य बनें और करें पूरे परिवार के स्वास्थ्य खर्च पर भारी बचत,केवल Rs 99 में -

आंखें ना सिर्फ हमारे जीवन के लिए अनमोल तोहफा हैं बल्कि यह हमारी सुंदरता में भी एक बहुत महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है। लेकिन जब आंखो के नीचे डार्क सर्कल्स हो जाते हैं तो यह हमारी सुंदरता के बीच एक रुकावट बनते हैं। आंखों के नीचे डार्क सर्कल्स होने के कई कारण हो सकते हैं जैसे शरीर में पोषक तत्वों की कमी , नींद न आना, मानसिक तनाव रहना या फिर बहुत ज्यादा देर तक कंप्यूटर पर काम करना आदि।

आंखों के नीचे की त्वचा काफी पतली व संवेदनशील होती है। कोलेजेन के कम होने के कारण कई बार त्वचा पतली होने लगती है और त्वचा अपनी कसावट खो देती है। त्वचा के इस तरह पतले हो जाने से आंखों के नीचे रक्त वाहिनियां दिखने लगती हैं। त्वचा के नीचे की रक्त वाहिनियां ही डार्क सर्कल्स का कारण बनती है। डार्क सर्किल हाइपरपिगमेंटेशन के कारण भी हो सकते हैं। इसके अलावा जिन महिलाओं में हीमोग्‍लोबिन का स्‍तर काफ़ी कम होता है उनमें डार्क सर्कल्स होने की संभावना अधिक होती है।

डार्क सर्कल्स को रोकने के लिए पर्याप्त नींद लेने के अलावा, बहुत सारा पानी पीने और तनाव से दूर रहने और स्वस्थ आहार के सेवन से मदद मिलेगी।

  1. काले घेरे दूर करने के लिए कोलेजन युक्त आहार - Collagen Proteins for Dark Circles in Hindi
  2. डार्क सर्कल्स हटाने के उपाय हैं आयरन पदार्थों का सेवन - Iron Rich Foods for Dark Circles in Hindi
  3. आँखों के काले घेरे का इलाज करें ओमेगा 3 फैटी एसिड से - Omega 3 for Dark Circles in Hindi
  4. डार्क सर्कल्स दूर करने का उपाय है विटामिन सी - Vitamin C Reduces Dark Circles in Hindi
  5. आंखों के नीचे डार्क सर्कल के लिए विटामिन के - Vitamin K for Dark Circles in Hindi
  6. आँखों के काले घेरे हटाने के घरेलू उपाय करें विटामिन ई से - Vitamin E for Dark Circles Under Eyes in Hindi
  7. काले घेरे हटाने का उपाय है डार्क चॉकलेट का सेवन - Dark Chocolate for Dark Circles in Hindi
  8. आंखों के नीचे काले घेरे दूर करने के लिए लें भरपूर नींद - Sleep for Dark Circles in Hindi

कोलेजन हमारे शरीर में सबसे प्रचुर मात्रा में पाए जाने वाला प्रोटीन है। यह हमारी त्वचा को ताकत और लोच प्रदान करता है और मृत त्वचा कोशिकाओं को नई कोशिकाओं के साथ बदलने में मदद करता है। सोया उत्पाद, हरी पत्तेदार सब्जियां और सेम आदि का सेवन आपकी त्वचा में कोलेजन बढ़ा देगा।

शरीर में लोहे की कमी - एनीमिया के रूप में जानी जाती है। आयरन की कमी शरीर के ऊतकों में ऑक्सीजन की आपूर्ति में बाधा उत्पन्न करती है जिससे अंडर-आइ सर्कल का कारण बनते हैं। इसलिए अपने आहार में सोया सेम, रेड मीट, चिया बीज, सूखे खुबानी और पालक जैसे लोहे से समृद्ध पदार्थ शामिल करें। 

(और पढ़ें - एनीमिया के लक्षण)

सूर्य का एक्सपोजर डार्क सर्कल्स को ओर अधिक बढ़ाता है। लेकिन ओमेगा 3 फैटी एसिड द्वारा इसके प्रभाव का सामना किया जा सकता है क्योंकि ओमेगा 3 फैटी एसिड रेडीयेशन से त्वचा की रक्षा करता है। ओमेगा 3 एलर्जी के खिलाफ भी शरीर की सुरक्षा बढ़ाने में मदद करता है, जो कि डार्क सर्कल्स का एक प्रमुख कारण है। फैटी मछली, हरी पत्तेदार सब्जियां, अखरोटअलसी के बीज, ताजे फल आदि ओमेगा -3 के अच्छे स्रोत हैं।

विटामिन सी रक्त वाहिका की दीवारों को मजबूत करता है, मेलेनिन का उत्पादन करने वाले एंजाइम को रोकता है, मुक्त कणों से कोशिकाओं का बचाव करता है और त्वचा के कोलेजन को फिर से जीवंत करता है। ब्रोकोली, फूलगोभी, टमाटर, स्ट्रॉबेरी और अनानास विटामिन सी के अच्छे स्रोत हैं।

विटामिन के रक्त के थक्के को विनियमित और केशिका दीवारों को मजबूत करता है। बैंगन, राजमा, सेम, अजवायन की पत्ती, अजवायन के फूल, अजवाइनखीराअंगूर, नाशपाती और प्लम विटामिन के अच्छे स्रोत हैं। 

(और पढ़े - विटामिन के रिच फूड्स महिलाओं के लिए)

विटामिन ई एक शक्तिशाली एंटीऑक्सीडेंट है। यह पर्यावरण प्रदूषण से सेल ऊतकों की रक्षा करता है और सूरज की पराबैंगनी किरणों से बचाता है। विटामिन ई अखरोट, दूधअंडे, मछली और वनस्पति तेलों में पाया जाता है।

डार्क चॉकलेट में फ्लेवोनोल होता है जो कि एक यौगिक है जो रक्त के प्रवाह के साथ-साथ सेरोटोनिन को बेहतर बनाता है, जिससे नींद की कमी और थकावट का मुकाबला करने में मदद मिलती है। 

(और पढ़े - नींद ना आने के आयुर्वेदिक उपाय)

कुछ खाद्य पदार्थों के सेवन से डार्क सर्कल्स से मुकाबला किया जा सकता है क्योंकि ये खाद्य पदार्थ नींद को बढ़ावा देते हैं। मेलटोनिन दलिया, होल वीट, चेरी, अखरोट और ओट्स में पाया जाता है। ट्रिप्टोफान बादाम में पाया जाता है। शहद और कैमोमाइल और नींबू चाय भी नींद को बढ़ावा देती हैं।

जबकि कई आहार ऐसे होते हैं जिनके अधिक सेवन से आँखों के नीचे काले घेरे हो जाते हैं। डार्क सर्कल्स से छुटकारा पाने के लिए आपको इनके सेवन से बचना चाहिए। कैफीन या कैफीनयुक्त पेय निर्जलीकरण का कारण होते हैं जो डार्क सर्कल्स का कारण बनता है। इसके अलावा अधिक नमक का सेवन और शराब का सेवन भी डार्क सर्कल्स के लिए कारण हो सकते हैं।

और पढ़ें ...
ऐप पर पढ़ें