बायोटिन एक बी-कॉम्प्लेक्स विटामिन है. इसे विटामिन-बी7 के रूप में भी जाना जाता है. यह विटामिन शरीर के लिए भोजन से ऊर्जा को तोड़ने में मदद करता है. इसके साथ ही बायोटिन नर्वस सिस्टम, लिवर, आंखों, बालों और त्वचा के स्वास्थ्य को बेहतर बनाए रखने में भी मदद करता है. बायोटिन कुछ खाद्य पदार्थों, जैसे - अंडे, मछली, नट्स और सीड्स से प्राप्त होता है. वहीं, शरीर में भी बायोटिन का निर्माण होता है, लेकिन जब शरीर में बायोटिन की कमी होती है, तो डॉक्टर बायोटिन कैप्सूल लेने की सलाह दे सकते हैं. बायोटिन कैप्सूल शरीर में बायोटिन की पूर्ति करता है और कई लाभ प्रदान करता है.

आज इस लेख में आप बायोटिन कैप्सूल के फायदों के बारे में विस्तार से जानेंगे -

(और पढ़ें - विटामिन बी के फायदे)

  1. बायोटिन कैप्सूल के फायदे
  2. बायोटिन कैप्सूल के नुकसान
  3. बायोटिन कैप्सूल की मात्रा
  4. सारांश
बायोटिन कैप्सूल के फायदे व नुकसान के डॉक्टर

बायोटिन कैप्सूल स्वास्थ्य को बेहतर बनाए रखने में मदद करता है. विटामिन-बी की तरह, बायोटिन भी शरीर के एंजाइमों को उपयोग करने में मदद करता है. साथ ही पूरे शरीर में पोषक तत्वों को ले जाने का काम भी करता है. ऐसे में जब शरीर में बायोटिन की कमी होती है, तो इन कार्यों में रुकावट आ जाती है. ऐसे में डॉक्टर की सलाह पर बायोटिन कैप्सूल लेना फायदेमंद हो सकता है. बायोटिन कैप्सूल के फायदे इस प्रकार हैं -

डायबिटीज करे कंट्रोल

डायबिटीज में व्यक्ति का ब्लड शुगर लेवल हाई हो जाता है. ऐसे में बायोटिन कैप्सूल लेना फायदमेंद हो सकता है. बायोटिन कैप्सूल डायबिटीज के लक्षणों को कम करने में असरदार हो सकता है. कुछ संक्षिप्त अध्ययनों में बताया गया है कि बायोटिन कैप्सूल डायबिटीज रोगियों में ब्लड शुगर लेवल को कंट्रोल करने में मदद कर सकता है. साथ ही बायोटिन कैप्सूल लेने से मस्तिष्क के कार्य को बढ़ावा मिलता है. इससे डायबिटीज में होने वाले तंत्रिका संबंधी लक्षण कंट्रोल में रहते हैं.

(और पढ़ें - विटामिन बी5 के फायदे)

बालों के लिए फायदेमंद

बायोटिन कैप्सूल स्वास्थ्य के साथ ही बालों के लिए भी लाभकारी होता है. बायोटिन कैप्सूल बालों के स्वास्थ्य में सुधार करता है. बायोटिन कैप्सूल लेने से हेयर फॉल रुक सकता है. साथ ही बालों की ग्रोथ तेज होती है और बालों की चमक बढ़ती है. बायोटिन कैप्सूल बालों और स्कैल्प के रूखेपन को कम करने में भी असरदार साबित हो सकता है.

आपको बता दें कि बायोटिन बालों में केराटिन के उत्पादन को उत्तेजित करता है. केराटिन बालों की हेल्थ के लिए एक जरूरी प्रोटीन होता है. इससे बालों का विकास तेजी से होता है और बालों के रोम को बढ़ावा मिलता है.

(और पढ़ें - विटामिन बी की कमी का इलाज)

त्वचा व नाखून के लिए लाभकारी

बायोटिन कैप्सूल त्वचा के लिए फायदेमंद होता है. कई अध्ययनों से पता चला है कि बायोटिन कैप्सूल त्वचा और नाखूनों के लिए अच्छा होता है. दरअसल, बायोटिन कैप्सूल त्वचा को हाइड्रेट बनाता है, त्वचा को नमी प्रदान करता है और स्किन हेल्थ में सुधार करता है. बायोटिन कैप्सूल लेने से रूखी और बेजान त्वचा से छुटकारा मिल सकता है. साथ ही त्वचा में चमक आती है और त्वचा खूबसूरत बनती है.

इसके साथ ही बायोटिन कैप्सूल नाखूनों के लिए भी अच्छा साबित होता है. बायोटिन कैप्सूल नाखूनों को मजबूत बनाता है. नाखूनों का तेजी से विकास करने में मदद करता है. जो लोग बायोटिन कैप्सूल लेते हैं, उनके नाखून टूटने की आशंका कम होती है.

(और पढ़ें - चेहरे व बालों पर दिखती है विटामिन की कमी)

गर्भवती महिलाओं के लिए

गर्भावस्था में भी बायोटिन कैप्सूल लेना फायदेमंद होता है. दरअसल, गर्भावस्था के समय महिलाओं में बायोटिन की कमी होना आम बात है. बायोटिन की कमी से भ्रूण का विकास बाधित हो सकता है. इस स्थिति में डॉक्टर गर्भवती महिला को बायोटिन कैप्सूल लेने की सलाह दे सकते हैं. इसलिए, गर्भावस्था में नियमित रूप से बायोटिन सप्लीमेंट या कैप्सूल का सेवन किया जा सकता है. इससे भ्रूण का विकास सही होता है और महिला के स्वास्थ्य में भी सुधार होता है. बायोटिन कैप्सूल स्तनपान कराने वाली महिलाओं के लिए भी लाभकारी हो सकता है.

(और पढ़ें - बालों के विकास के लिए जरूरी विटामिन)

बायोटिन कैप्सूल स्वास्थ्य को कई लाभ प्रदान करता है. यह कैप्सूल संपूर्ण स्वास्थ्य के लिए जरूरी होता है. वैसे तो बायोटिन कैप्सूल के नुकसान का कोई प्रमाण नहीं है, लेकिन अगर इसका सेवन अधिक मात्रा में किया जाता है, तो कुछ साइड इफेक्ट्स नजर आ सकते हैं -

  • बायोटिन कैप्सूल घुलनशील होता है. ऐसे में इसके सेवन से बार-बार पेशाब आ सकता है.
  • गर्भवती और स्तनपान कराने वाली महिलाओं को बायोटिन कैप्सूल का सेवन डॉक्टर की सलाह पर ही करना चाहिए.
  • बायोटिन कैप्सूल लेने से अनिद्रा की समस्या हो सकती है.
  • अधिक मात्रा में बायोटिन कैप्सूल लेना त्वचा पर चकत्तेखराब पाचन का कारण भी बन सकता है.
  • बायोटिन कैप्सूल किडनी की समस्या भी पैदा कर सकता है.
  • बायोटिन कैप्सूल मतली व उल्टी जैसे हल्के दुष्प्रभाव भी पैदा कर सकता है.

(और पढ़ें - किस विटामिन की कमी से बाल गिरते हैं)

बायोटिन कैप्सूल की खुराक उम्र, लिंग और चिकित्सा स्थिति के अनुसार ही लेनी चाहिए. इसलिए, इस कैप्सूल को लेने से पहले एक बार हेल्थ चेकअप जरूर करवाएं. इसके बाद डॉक्टर के द्वारा बताए गए अनुसार ही बायोटिन कैप्सूल की डोज लेनी चाहिए. बहुत अधिक मात्रा में बायोटिन कैप्सूल लेने से बचें. 

  • शिशु को बायोटिन कैप्सूल लगभग 5 माइक्रोग्राम दिया जा सकता है.
  • वहीं गर्भवती और स्तनपान कराने वाली महिलाएं प्रतिदिन 35 माइक्रोग्राम बायोटिन का सेवन कर सकती हैं.
  • नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ हेल्थ के अनुसार 19 वर्ष या उससे अधिक उम्र के वयस्कों को प्रतिदिन 30 माइक्रोग्राम बायोटिन कैप्सूल का सेवन करना चाहिए.
  • जिन लोगों के बाल झड़ रहे हैं, वे बालों को मजबूत बनाने के लिए रोजाना 2 से 5 मिलीग्राम बायोटिन कैप्सूल ले सकते हैं.
  • इसके अलावा, त्वचा और नाखूनों की हेल्थ में सुधार करने के लिए भी बायोटिन कैप्सूल की खुराक ली जा सकती है.

(और पढ़ें - बाल किस कमी से झड़ते हैं)

आप माय उपचार के प्राकृतिक बायोटिन को खरीदने के लिए यहां क्लिक (स्प्राउट) कर सकते हैं।

बायोटिन कई खाद्य पदार्थों में पाया जाता है. इसके अलावा हमारा शरीर भी बायोटिन का उत्पादन करता है. बायोटिन की कमी कम ही लोगों में देखने को मिलती है. जब शरीर में बायोटिन की कमी होती है, तो डॉक्टर बायोटिन सप्लीमेंट या कैप्सूल लेने की सलाह दे सकते हैं. बायोटिन कैप्सूल सेहत, त्वचा और बालों के लिए काफी फायदेमंद होता है. बायोटिन कैप्सूल की उचित खुराक लेने से कई स्वास्थ्य समस्याओं को दूर किया जा सकता है, लेकिन गर्भवती व स्तनपान करने वाली महिलाओं और गंभीर बीमारी से परेशान लोगों को डॉक्टर की सलाह पर ही बायोटिन कैप्सूल का सेवन करना चाहिए.

(और पढ़ें - इन्हें खाने से बाल होते हैं घने)

Dt. Surbhi Upadhyay

Dt. Surbhi Upadhyay

पोषणविद्‍
3 वर्षों का अनुभव

Dt. Manjari Purwar

Dt. Manjari Purwar

पोषणविद्‍
11 वर्षों का अनुभव

Dt. Akanksha Mishra

Dt. Akanksha Mishra

पोषणविद्‍
8 वर्षों का अनुभव

Surbhi Singh

Surbhi Singh

पोषणविद्‍
22 वर्षों का अनुभव

ऐप पर पढ़ें