myUpchar प्लस+ सदस्य बनें और करें पूरे परिवार के स्वास्थ्य खर्च पर भारी बचत,केवल Rs 99 में -

अगर आपको सीफूड खाना पसंद है तो आपको एक बार क्रैब यानी केकड़े का मीट जरूर ट्राई करना चाहिए। केकड़े के मांस के जरिए आपको कई अतिरिक्त आश्चर्यजनक स्वास्थ्य लाभ मिल सकते हैं। ऐसे में अगर आप समुद्र तट के किनारे रहते हैं, जहां केकड़ा बहुतायत में पाया जाता है तो आप न सिर्फ केकड़े के मांस को टेस्ट कर सकते हैं बल्कि उसे अपनी डाइट में नियमित रूप से शामिल भी कर सकते हैं। 

केकड़ा समुद्र में सबसे अधिक पकड़े जाने वाले जानवरों में से एक है, साथ ही सबसे लोकप्रिय में से एक भी। क्रस्टेशियन यानी कड़े खोल वाले इस जानवर की एक-दो नहीं बल्कि हजारों प्रजातियां पायी जाती हैं, लेकिन इनमें से कुछ ही केकड़ा ऐसा होता है जिसे भोजन के रूप में उपयोग किया जा सकता है। इतना ही नहीं, केकड़ों की बेहद कम प्रजातियां ऐसी हैं जिन्हें नियंत्रित खेती के लिए हैचरी में रखा जा सकता है। 

(और पढ़ें - मेटाबॉलिज्म बढ़ाने के लिए खानपान में करें मामूली बदलाव)

केकड़े का मांस, विशेष रूप से केकड़े से मिलने वाला भूरे रंग का मांस प्रमुख विटामिन और मिनरल्स का एक अच्छा स्रोत है। केकड़े के मांस में विटामिन बी12, सेलेनियम, जिंकआयोडीन और अलग-अलग स्तर के कैडमियम भी पाए जाते हैं। वैसे तो केकड़ा खाने के कुछ नुकसान भी हैं लेकिन इसके फायदे ज्यादा हैं जो इन पोषण संबंधी जोखिमों को दूर कर सकते हैं, जिस कारण केकड़ा आपके स्वस्थ भोजन के प्लान में एक स्मार्ट ऐडिशन की तरह काम कर सकता है।

  1. क्या केकड़े का मांस हेल्दी होता है? - Is crab meat healthy in hindi?
  2. केकड़ा खाने के फायदे - Kekda khane ke fayde
  3. केकड़ा खाने के नुकसान - Kekda khane ke nuksan

केकड़े का स्वादिष्ट और पौष्टिक मांस खाने और इसका आनंद लेने के लिए, सबसे पहले केकड़े के बाहरी कंकाल (एक्सोस्केलेटन) को तोड़कर अलग किया जाता है। आपको आश्चर्य होगा कि यह देखकर कि केकड़े के कठोर खोल के अंदर मांस की कितनी ज्यादा मात्रा होती है और यह कितना गूदेदार और रसीला होता है, खासकर केकड़े की कुछ बड़ी प्रजातियों में। केकड़े का मांस मानव शरीर द्वारा सामान्य कार्य के लिए आवश्यक कई जरूरी पोषक तत्वों, खनिजों और वसा से भरा होता है। 

(और पढ़ें - आप सेहत के लिए खराब समझते हैं लेकिन असल में सुपरफूड हैं ये)

ऐसा कहा जाता है केकड़े के मांस का स्वाद अपेक्षाकृत माइल्ड यानी हल्का होता है। यही कारण है कि अगर आपने पहले कभी सी-फूड का आनंद न लिया हो तो, तो कई लोगों का कहना है कि केकड़े का मांस सीफूड खाना शुरू करने के लिए एकदम सही विकल्प है। 

केकड़ा खाने के फायदे ह्डडियों की सेहत के लिए - Kekda khane ke fayde bone health ke liye

आपकी हड्डियों को स्वस्थ और मजबूत बनाए रखने के लिए कैल्शियम के बाद जिस खनिज की सबसे ज्यादा जरूरत होती है वह है- फॉस्फोरस। केकड़े के मांस में फॉस्फोरस की एक बड़ी मात्रा पायी जाती है, जो हड्डियों और दांतों के स्वास्थ्य के लिए महत्वपूर्ण है। अगर किसी व्यक्ति के परिवार में ऑस्टियोपोरोसिस का पारिवारिक इतिहास है या फिर अगर किसी व्यक्ति को ऑस्टियोपोरोसिस होने का जोखिम अधिक है तो उन्हें अपने आहार में केकड़े के मांस को शामिल करना चाहिए।

(और पढ़ें- हड्डियों को मजबूत बनाने के लिए जूस रेसिपी)

केकड़ा खाने के फायदे प्रोटीन के लिए - Kekda khane ke fayde protein ke liye

प्रोटीन के जितने भी आहार स्त्रोत मौजूद हैं उनमें केकड़े का मांस सबसे बेस्ट माना जाता है। केकड़े के मांस में उतना ही प्रोटीन पाया जाता है जितना 100 ग्राम मीट में लेकिन केकड़े के मांस में संतृप्त वसा नहीं होती जो बाकी के मीट में पाया जाता है। संतृप्त वसा को हृदय रोग के बढ़ते जोखिम से जुड़ा हुआ माना जाता है। केकड़े में पाया जाने वाला प्रोटीन उच्च गुणवत्ता का होता है और संयोजी ऊत्तकों की कमी के कारण, सभी उम्र के लोगों के लिए बेहद सुपाच्य भी होता है।

(और पढ़ें - प्रोटीन की कमी के लक्षण, कारण, इलाज)

मानसिक गतिविधियां बढ़ाने के लिए खाएं केकड़े के मांस - Crab meat benefits for brain activity in hindi

केकड़े के मांस में विटामिन बी 2, सेलेनियम, तांबा और ओमेगा-3 फैटी एसिड जैसे पोषक तत्व भरपूर मात्रा में पाए जाते हैं। ये सभी पोषक तत्व मस्तिष्क के लिए उत्कृष्ट हैं और अनुभूति और आपके तंत्रिका तंत्र के समग्र कार्य में सुधार कर सकते हैं। अगर सप्ताह में सिर्फ एक बार भी केकड़े के मांस का सेवन किया जाए तो मस्तिष्क में इन्फ्लेमेशन यानी सूजन और जलन और प्लाक की समस्या को दूर करने में मदद मिल सकती है।

(और पढ़ें- दिमाग तेज करने के घरेलू उपाय)

केकड़ा खाने के फायदे इम्यून सिस्टम को मजबूत बनाने के लिए - Crab benefits for stronger immune system in hindi

केकड़े का मांस एंटीऑक्सिडेंट से भरा होता है, जो आपकी प्रतिरक्षा प्रणाली (इम्यून सिस्टम) को बेहतर बनाने में मदद कर सकता है। सेलेनियम और राइबोफ्लेविन केकड़े में पाए जाने वाले दो प्रमुख खनिज हैं जो प्रतिरक्षा प्रणाली के कार्य में सुधार कर लंबे समय तक रहने वाली पुरानी बीमारियों से बचाने में भी मदद करते हैं। केकड़े में पाए जाने वाले एंटीऑक्सिडेंट्स, फ्री रैडिकल्स (मुक्त कणों) को भी बेअसर कर सकते हैं जो कोशिकाओं के रूप को परिवर्तित कर सकते हैं।

(और पढ़ें- इम्यूनिटी कमजोर होने के लक्षण, कारण, इलाज)

हृदय को स्वस्थ रखने में मददगार है केकड़े का मांस - Crab meat for healthy heart in hindi

जैसा कि पहले ही बताया जा चुका है कि केकड़े के मांस में ओमेगा-3 फैटी एसिड भरपूर मात्रा में होता है जो आपके कोलेस्ट्रॉल के स्तर को संतुलित रख सकता है और शरीर में इन्फ्लेमेशन को कम कर सकता है। इससे रक्तचाप कम हो सकता है और एथेरोस्क्लेरोसिस जैसी हृदय की समस्याओं को रोका जा सकता है। परिणामस्वरूप आपको दिल का दौरा पड़ने और स्ट्रोक के जोखिम भी कम किया जा सकता है। 100 ग्राम केकड़े के मांस में ओमेगा-3 के साप्ताहिक सेवन की सिफारिश का एक तिहाई हिस्सा पाया जाता है।

(और पढ़ें- हृदय को स्वस्थ रखने के लिए खाएं ये आहार)

शरीर को डीटॉक्स कर सकता है केकड़े का मांस - Crab meat for body detox in hindi

केकड़े के मांस में पाया जाने वाला फॉस्फोरस का स्तर किडनी और लिवर के संपूर्ण कार्यों को बेहतर बनाने में मददगार साबित हो सकता है। फॉस्फोरस शरीर में मौजूद विषाक्त पदार्थों को बेहतर तरीके से और तेजी से शरीर से बाहर रिलीज करने में मदद करता है। इसके अतिरिक्त, आपका शरीर बेहतर मेटाबॉलिज्म की दक्षता का भी लाभ उठा सकता है।

(और पढ़ें- बॉडी को डीटॉक्स (अंदर से साफ) कैसे करें)

  • बहुत से लोगों को केकड़े का मांस खाने पर एलर्जी हो सकती है। अगर किसी व्यक्ति को केकड़े का मांस खाने के बाद मुंह में सिहरन महसूस होने लगे, पेट में दर्द, जी मिचलाना, उल्टी आना, डायरिया, घरघराहट की आवाज, सांस लेने में तकलीफ, त्वचा पर खुजली, चकत्ते या एग्जिमा, चेहरा, होंठ, कान या जीभ में सूजन नजर आए तो ये सभी एलर्जी के लक्षण हो सकते हैं। उस व्यक्ति को तुरंत डॉक्टर के पास ले जाना चाहिए और उन्हें फिर कभी केकड़ा या कोई और सी-फूड भी नहीं खाना चाहिए। (और पढ़ें- एलर्जी के घरेलू उपाय)
  • यदि आपको पहले कभी केकड़ा खाने का मौका नहीं मिला, तो इसे खाना आपके लिए कठिन हो सकता है। पहली बार केकड़े खाने वाले के लिए यह एक मुश्किल काम हो सकता है क्योंकि कुछ मांस केकड़े के कठोर खोल में फंस सकता है या आप खुद को मांस की तुलना में अधिक खोल चबाते हुए पा सकते हैं।
  • आपके लिए यह जानना भी महत्वपूर्ण है कि केकड़े के मांस में सोडियम और कोलेस्ट्रॉल की मात्रा भी अधिक होती है। ऐसे में अगर आपको हाई कोलेस्ट्रॉल की समस्या है या फिर अगर आपको हृदय संबंधी कोई बीमारी हो तो अपने आहार में केकड़े को शामिल करने से पहले अपने डॉक्टर से बात जरूर कर लें।
और पढ़ें ...
ऐप पर पढ़ें