myUpchar प्लस+ के साथ पूरेे परिवार के हेल्थ खर्च पर भारी बचत

परिचय

सीए 27.29 (कैंसर एंटीजन 27.2)  एक एंटीजन होता है। यह प्रोटीन का एक प्रकार है, जो कोशिकाओं की सतह पर मौजूद होता है। सीए 27.29 को एक जीन के द्वारा बनाया जाता है सीए 27.29 एक ग्लाइकोप्रोटीन (ग्लाइको का मतलब शुगर होता है) है, जो खासतौर पर एपिथेलियल सेल्स (Epithelial cells) के ऊपर स्थित होता है। ब्रेस्ट कैंसर की कोशिकाएं सीए 27.29 प्रोटीन में और खून में मिल जाती है।

(और पढ़ें - सीए 125 टेस्ट क्या है)

  1. सीए 27.29 टेस्ट क्या होता है? - What is CA 27.29 Test in Hindi?
  2. सीए 27.29 टेस्ट क्यों किया जाता है - What is the purpose of CA 27.29 Test in Hindi
  3. सीए 27.29 टेस्ट से पहले - Before CA 27.29 Test in Hindi
  4. सीए 27.29 टेस्ट के क्या जोखिम होते हैं - What are the risks of CA 27.29 Test in Hindi
  5. सीए 27.29 टेस्ट के रिजल्ट का क्या मतलब होता है - What do the results of CA 27.29 Test mean in Hindi

सीए 27.29 टेस्ट क्या है?

सीए 27.29 को कैंसर एंटीजन 27.29 टेस्ट भी कहा जाता है, इसका उपयोग मुख्य रूप से यह पता लगाने के लिए किया जाता है कि इलाज ठीक रूप से काम कर रहा है या नहीं और कहीं ब्रेस्ट कैंसर फिर से तो नहीं हो रहा है। सीए 27.29 टेस्ट का उपयोग अन्य कई प्रकार की जांच व टेस्ट आदि के साथ भी किया जा सकता है, जैसे एस्ट्रोजन और प्रोजेस्टेरोन रिसेप्टर, एचईआर2/एनईयू और जीन संबंधी टेस्ट आदि। इन सभी टेस्टों का उपयोग भी ब्रेस्ट कैंसर का पता लगने के लिए किया जा सकता है।

(और पढ़ें - स्तन कैंसर की सर्जरी)

सीए 27.29 टेस्ट क्यों किया जाता है?

सीए 27.29 टेस्ट को निम्नलिखित जानकारी के लिए किया जा सकता है:

  • परीक्षण के लिए:
    अक्सर इस टेस्ट का उपयोग ब्रेस्ट कैंसर के लिए नहीं किया जाता है, खासतौर पर अकेले सीए 27.29 टेस्ट की मदद से ब्रेस्ट कैंसर का पता नहीं लगाया जाता है। सीए 27.29 टेस्ट सिर्फ एक प्रकार का ब्लड टेस्ट होता है, जिसकी मदद से ब्रेस्ट कैंसर की कोशिकाओं की उपस्थिति का पता लगाया जाता है। यदि आपको ब्रेस्ट कैंसर है या फिर आपको लगता है कि आपको ब्रेस्ट कैंसर की शुरुआती स्टेज है, तो इसकी पुष्टि करने के लिए सीए 27.29 टेस्ट किया जा सकता है। (और पढ़ें - प्रोलैक्टिन परीक्षण क्या है)
     
  • इलाज पर नजर रखने के लिए:
    सीए 27.29 टेस्ट का इस्तेमाल यह पता लगाने के लिए किया जाता है, कि इलाज कितने प्रभावी रूप से काम कर रहा है। यदि आपके सीए 27.29 का स्तर बढ़ता है, तो यह कैंसर के बढ़ने या फिर से होने का संकेत देता है। सीए 27.29 के स्तर के अनुसार की कैंसर के इलाज में बदलाव किये जाते हैं। यदि सीए 27.29 का स्तर कम हो रहा है, तो यह संकेत देता है कि इलाज कैंसर को प्रभावी रूप से खत्म कर रहा है। (और पढ़ें - एलर्जी टेस्ट कैसे होता है)
     
  • फिर से होने का पता लगाने के लिए:
    यदि आपके ब्रेस्ट कैंसर का इलाज सफल रूप से पूरा हो गया है, तो इस टेस्ट को थोड़े-थोड़े समय बाद नियमित रूप से किया जाता है। ऐसा इसलिए किया जाता है कि अगर इलाज होने के बाद फिर से ब्रेस्ट कैंसर विकसित हो रहा है तो उसका शुरुआती चरणों में ही पता लगा लिया जाए। (और पढ़ें - ईईजी टेस्ट क्या है)
     
  • कैंसर फैलने की स्थिति का पता लगाने लिए:
    जिन मरीजों का ब्रेस्ट कैंसर लगातार बढ़ रहा है, ऐसी स्थिति में भी सीए 27.29 टेस्ट किया जा सकता है ताकि पता लगाया जा सके कि कैंसर कहीं अन्य अंगों में तो नहीं फैल रहा है। ऐसा कहा जाता है कि सीए 27.29 का बढ़ा हुआ स्तर कई बार लंबे समय तक रह सकता है। एक अध्ययन में पाया गया जिन मरीजों के ब्रेस्ट कैंसर का इलाज सफल रूप से हो चुका है, उनके सीए 27.29 का स्तर कुछ महीनों तक बढ़ा रह सकता है। (और पढ़ें - बिलीरुबिन टेस्ट क्या है)

अकेले सीए 27.29 टेस्ट का उपयोग ब्रेस्ट कैंसर का पता लगाने वाले टेस्ट के रूप में या फिर ब्रेस्ट कैंसर का परीक्षण करने वाले टेस्ट के रूप में नहीं किया जाता है। क्योंकि इस टेस्ट की मदद से डॉक्टर पूरी सटीक अनुमान नहीं लगा पाते हैं। 

(और पढ़ें - यूरिन टेस्ट क्या है)

सीए 27.29 टेस्ट से पहले क्या किया जाता है?

सीए 27.29 टेस्ट करवाने से पहले कोई विशेष तैयारी करने की जरूरत नहीं होती है। यदि आप किसी प्रकार की दवाएं खाते हैं, आपको स्वास्थ्य संबंधी कोई समस्या या एलर्जी आदि है तो टेस्ट करवाने से पहले ही डॉक्टर को इस बारे में बता दें। डॉक्टर आपकी स्थिति के अनुसार आपको कुछ खास सुझाव भी दे सकते हैं। 

(और पढ़ें - एलर्जी के घरेलू उपाय)

सीए 27.29 टेस्ट से क्या जोखिम होते हैं?

सीए 27.29 टेस्ट एक सामान्य प्रकार का खून टेस्ट होता है। टेस्ट के परिणाम असामान्य होने या फिर टेस्ट रिजल्ट जब सटीक रूप से कैंसर की स्थिति को ना बता पाए तो इसके कारण टेस्ट करवाने वाले को चिंता हो सकती है।

(और पढ़ें - चिंता के लिए योग)

वैसे तो सीए 27.29 टेस्ट सिर्फ कैंसर पर नजर रखने के लिए है। इसलिए इससे होने वाले जोखिम की ज्यादा चिंता नहीं होती है। सीए 27.29 कोई परफेक्ट टेस्ट नहीं होता है, इसलिए इसको अक्सर इमेजिंग टेस्ट जैसे अन्य टेस्टों के साथ किया जाता है।

(और पढ़ें - चिंता दूर करने के घरेलू उपाय)

सीए 27.29 टेस्ट के रिजल्ट का क्या मतलब होता है?

सीए 27.29 टेस्ट का रिजल्ट कुछ स्थितियों के अनुसार अलग-अलग हो सकता है, जैसे मरीज की उम्र, लिंग, स्वास्थ्य स्थिति और टेस्ट करने का तरीका आदि। सीए 27.29 टेस्ट के रिजल्ट का मतलब हमेशा यही नही होता कि आपको स्वास्थ्य संबंधी किसी प्रकार की समस्या है। आपको टेस्ट के रिजल्ट का मतलब डॉक्टर बताते हैं। 

यह भी जानना जरूरी है कि सीए 27.29 टेस्ट के पॉजिटिव रिजल्ट का मतलब ये नहीं है कि आपको ब्रेस्ट कैंसर है या कैंसर फिर से विकसित हो रहा है। कुछ अन्य प्रकार के कैंसर के कारण भी आपके सीए 27.29 का स्तर बढ़ जाता है। इनमें लिवर, अग्नाशय, गर्भाशय और कोलन आदि से संबंधित कैंसर शामिल हैं। इसके अलावा कुछ ऐसी स्थितियां भी हैं, जो कैंसर से संबंधित नहीं होती है लेकिन फिर भी उनके कारण सीए 27.29 टेस्ट का पॉजिटिव रिजल्ट आ जाता है। 

(और पढ़ें - सीडी 4 टेस्ट क्या है)

डॉक्टर सीए 27.29 को यूनिट प्रति मिलिलिटर (U/mL) के माप से मापते हैं। सीए 27.29 टेस्ट का सामान्य रिजल्ट 38 यू/एमएल होता है। सीए 27.29 टेस्ट के रिजल्ट का मतलब निम्नलिखित हो सकता है:

  • यदि आपके सीए 27.29 टेस्ट का रिजल्ट 38 यू/एमएल से कम है, इसका मतलब हो सकता है कि आपको एक्टिव ब्रेस्ट कैंसर नहीं है। (और पढ़ें - डीएनए टेस्ट क्या है)
  • यदि आपके सीए 27.29 का स्तर 38 यू/एमएल या फिर उससे भी अधिक है, तो यह एक एक्टिव ब्रेस्ट कैंसर का संकेत हो सकता है। इसका मतलब यह भी हो सकता है कि आपको फिर से ब्रेस्ट कैंसर हो गया है या फिर कैंसर फैल रहा है। जब ब्रेस्ट कैंसर शरीर के किसी दूसरे अंग में फैलने लग जाता है, तो इस स्थिति को मेटास्टेसिस कहा जाता है। (और पढ़ें - क्रिएटिनिन टेस्ट क्या है)
  • यदि टेस्ट के रिजल्ट में आपके सीए 27.29 का स्तर 38 यू/एमएल से अधिक आता है, तो आपको ब्रेस्ट कैंसर के अलावा कुछ अन्य स्थिति भी हो सकती है जो सीए 27.29 का स्तर बढ़ा देती है। इस स्थिति में कुछ अन्य प्रकार के कैंसर हो सकते हैं। कैंसर के अलावा स्तनों संबंधी कुछ अन्य समस्याएं, गर्भाशय में गांठ और लिवर रोग के कारण भी इसका स्तर बढ़ जाता है। 

(और पढ़ें - लिवर कैंसर का इलाज)

और पढ़ें ...