myUpchar प्लस+ के साथ पूरेे परिवार के हेल्थ खर्च पर भारी बचत

बढ़ती उम्र को रोका नहीं जा सकता। वैसे भी यह प्रकृति का नियम है। इसे हम झुठला नहीं सकते। लेकिन समस्या तब आती है जब समय से पहले बढ़ती उम्र के लक्षण आपके चेहरे पर नजर आने लगते हैं। ऐसा कामकाजी दबाव, अस्वस्थ आहार, असंतुलित जीवनशैली की वजह से होता है। लेकिन वक्त से पहले बढ़ती उम्र के लक्षण को सही खानपान से रोका जा सकता है। जानिए ऐसे आहार के बारे में।

(और पढ़ें - एजिंग के लक्षण कम करने के आयुर्वेदिक टिप्स)

अनार खूब खाएं
अनार के छोटे-छोटे दाने आपके स्वास्थ्य के लिए बेहद लाभकारी हैं। इसमें विटामिन सी, विटामिन डी, विटामिन ई और विटामिन K मौजूद हैं। इसके अलावा अनार सेलेनियम, मैग्नीशियम और प्रोटीन का अच्छा स्रोत है। ये सभी तत्व बढ़ती उम्र के लक्षणों को कम करने में सहायक है। यही नहीं मीठे और स्वादिष्ट अनार कई रोगों से बचाने में भी सहायक है। वैसे तो अनार यूं ही खाने में मजेदार लगते हैं। आप चाहें तो इसे शर्बत, जूस और सलाद के रूप में भी खा सकते हैं।

(और पढ़ें - अनार के जूस के फायदे)

स्ट्राॅबेरी जरूर शामिल करें
स्ट्राॅबेरी को सूक्षम पोषक तत्वों का घर कहा जाए तो गलत नहीं होगा। इसमें फेनोलिक नाम का तत्व होता है जो सूजन को कम करने में सहायक होता है। यह मेटाबाॅलिज्म और कोशिकाओं को बेहतर करता है। यही नहीं नियमित स्ट्राॅबेरी के सेवन से तनाव का स्तर कम होता है और बढ़ती उम्र के लक्षण पर भी इसका प्रभाव पड़ता है। यूं तो ज्यादातर लोगों को स्ट्राॅबेरी खाने में पसंद है। इसे आप सलाद, शर्बत और स्मूदी के रूप में अपनी डाइट में शामिल कर सकते हैं।

पपीता का नियमित सेवन करें
ज्यादातर लोगों को पपीता खाने में कम पसंद आता है। कुछ लोग पपीते के नाम से ही नाक भौं सिकोड़ने लगते हैं। लेकिन पपीता में मौजूद गुणों को जानकर आप हैरान हो जाएंगे और यह पीला फल आपकी पसंदीदा फलों की लिस्ट में शुमार हो जायेगा। रोजाना पपीते का सेवन कर आप न सिर्फ बढ़ती उम्र के लक्षणों को कम कर सकते हैं बल्कि ताउम्र जवां बने रह सकते हैं। पपीता एंटीआक्सीडेंट, विटामिन और खनिज का बेहतरीन स्रोत है। यह त्वचा में लचीलापन बनाए रखने और झुर्रियों को कम करने में भी मदद कर सकता है। इसके अलावा पपीते में विटामिन ए, विटामिन सी, विटामिन K, विटामिन ई, कैल्शियम, पोटैशियम, मैग्नीशियम, फास्फोरस, विटामिन बी भी पाए जाते हैं। इसमें मौजूद पेपेन नामक एंजाइम बढ़ती उम्र के लक्षणों को करने में उपयोगी है। अगर पपीता खाने में पसंद नहीं है तो पपीते का जूस भी पी सकते हैं। पपीता आपकी त्वचा के लिए भी फायदेमंद है।

(और पढ़ें - पपीते के बीज के फायदे)

सलाद के रूप में खाएं ब्रोकली
विटामिन सी, विटामिन K, कई तरह के एंटीऑक्सीडेंट, फाइबर, ल्यूटेन, कैल्शियम। ये सभी तत्व ब्रोकली में भरपूर हैं। विटामिन सी कोलेजन (शरीर में सबसे अधिक पाए जाने वाला प्रोटीन) के निर्माण के लिए यह आवश्यक है। यह त्वचा में लचीलापन बनाए रखता है। इस तरह देखें तो ब्रोकली बढ़ती उम्र के लक्षणों को कम करने के लिए उपयोगी सब्जी है। इसे आप स्नैक के तौर पर खा सकते हैं। लेकिन अगर आपके पास पर्याप्त समय हो तो ब्रोकली को स्टीम करके इसका मजा ले सकते हैं।

अंगूर के रस का मजा लें
जवां दिखने की चाह रखने वालों को अपनी डाइट में अंगूर जरूर शामिल करना चाहिए। अंगूर के छिलकों में रेस्वेराट्रोल नाम का तत्व होता है जो कि सूजन को कम करने में मददगार है। यही तत्व बढ़ती उम्र की प्रक्रिया को धीमा करता है। यह सूरज की किरणों से होने वाले नुकसान को भी कम करता है।

और पढ़ें ...