डायबिटिक नेफ्रोपैथी - Diabetic Nephropathy in Hindi

Dr. Anurag Shahi (AIIMS)MBBS,MD

July 13, 2017

October 19, 2021

डायबिटिक नेफ्रोपैथी
डायबिटिक नेफ्रोपैथी

किडनी फेल होने के कई कारणों में से सबसे कॉमन कारण डायबिटिक नेफ्रोपैथी है। किडनी का मुख्य कार्य खून में से अपशिष्ट पदार्थों को हटाना है। यह शरीर में तरल पदार्थ और लवण के स्तर को विनियमित करता है, जो ब्लड प्रेशर को नियंत्रित करने और हृदय स्वास्थ्य की रक्षा के लिए महत्वपूर्ण है। जब किसी व्यक्ति को डायबिटीज की बीमारी होती है, फिर चाहे टाइप 1 डायबिटीज हो, टाइप 2 डायबिटीज या गर्भकालीन डायबिटीज, तो ऐसे में उनका शरीर इंसुलिन का उपयोग या उत्पादन सही से नहीं नहीं कर पाता है। 'गर्भकालीन डायबिटीज' गर्भावस्था के दौरान होने वाली डायबिटीज को ​कहते हैं।

डायबिटीज में ब्लड शुगर का स्तर बढ़ जाता है, जिस वजह से आगे चल कर शरीर के कई अंगों को नुकसान पहुंचने का जोखिम बना रहता है, जिसमें हृदय रोग और किडनी संबंधित समस्या भी शामिल है। इस स्थिति में किडनी को जो नुकसान होता है उसे डायबिटिक नेफ्रोपैथी कहा जाता है।

(और पढ़ें - नॉर्मल शुगर लेवल)

 

डायबिटिक नेफ्रोपैथी का संकेत और लक्षण - Diabetic Nephropathy Symptoms in Hindi

किडनी रोग में तब तक लक्षण पैदा नहीं होते हैं, जब तक कि किडनी को कोई गंभीर नुकसान न पहुंचे या उसके ज्यादातर कार्यों में बाधा न आ जाए। जो लक्षण दिखाई देते भी हैं वे सामान्य से हो सकते हैं। डायबिटिक नेफ्रोपैथी का पहला संकेत या लक्षण फ्लूइड बिल्ड-अप (शरीर के ऊतकों में द्रव जमा होना) है। इसके अन्य लक्षणों में शामिल हैं:

डायबिटिक नेफ्रोपैथी का कारण - Diabetic Nephropathy Causes in Hindi

किडनी में बहुत अधिक मात्रा में कैपिलैरीज (छोटी रक्त वाहिकाएं जो धमनियों को नसों से जोड़ती हैं) होती है। इन कैपिलैरीज में छोटे या सूक्ष्म छेद (फिल्टर) होते हैं, जिसके माध्यम से किडनी अपशिष्ट उत्पादों को पेशाब के रूप में शरीर से बाहर निकालती है। रक्त कोशिकाएं और प्रोटीन का साइज इन छिद्रों से बड़ा होता है यही वजह है कि यह फिल्टर नहीं होते और शरीर से बाहर नहीं निकल पाते हैं। जब ब्लड शुगर का स्तर बढ़ने लगता है तो इन छिद्रों को नुकसान पहुंचता है, जिससे वे बड़े हो जाते हैं। ऐसे में खून भी इन छिद्रों से बाहर निकल सकता है। इस स्थिति में फिल्टर को नुकसान होता है। धीरे-धीरे ये फिल्टर लीक होने लगते हैं और आवश्यक प्रोटीन भी छोटी-छोटी मात्रा में पेशाब के जरिये शरीर से बाहर निकलने लगता है जिसे माइक्रोएल्ब्यूमिनूरिया कहते हैं।

(और पढ़ें- किडनी रोग में क्या खाएं)

यदि इस स्थिति का उपचार नहीं किया गया तो धीरे-धीरे करके ज्यादा मात्रा में माइक्रोएल्ब्यूमिन की कमी हो जाएगी, जो कि ईएसआरडी (एंड स्टेज रीनल डिजीज) का कारण बनता है। इस तरह से किडनी पर बढ़ने वाला दबाव के कारण उसकी फिल्टर करने की क्षमता में कमी आ जाती है और अपशिष्ट उत्पाद फिर से खून में जमा होने लगते हैं और अंत में, किडनी फेल हो जाती है।

डायबिटिक नेफ्रोपैथी का निदान - Diabetic Nephropathy Diagnosis in Hindi

डायबिटिक नेफ्रोपैथी के निदान के लिए डॉक्टर फिजिकल टेस्ट करते हैं और मेडिकल हिस्ट्री भी चेक करते हैं। इसके अलावा कुछ अन्य टेस्ट भी किए जा सकते हैं:

डायबिटिक नेफ्रोपैथी का इलाज - Diabetic Nephropathy Treatment in Hindi

डायबिटिक नेफ्रोपैथी के इलाज की बात करें तो शुरुआती चरणों को नियंत्रित करने के लिए दवा लेना जरूरी होता है:

  • हाई बीपी को नियंत्रित करने के लिए
  • हाई ब्लड शुगर का प्रबंधन करने के लिए (और पढ़ें  - डायबिटीज का होम्योपैथिक इलाज)
  • खून में कोलेस्ट्रॉल को कम करने के लिए
  • पेशाब में प्रोटीन के स्तर को नियंत्रित करने के लिए

बाद के चरणों में, किडनी ट्रांसप्लांट और डायलिसिस कराने की जरूरत भी पड़ सकती है।



संदर्भ

  1. American diabetes association. Diabetic Nephropathy: Diagnosis, Prevention, and Treatment. Virginia, United States. [internet].
  2. Andy KH Lim. Diabetic nephropathy – complications and treatment. Int J Nephrol Renovasc Dis. 2014; 7: 361–381. PMID: 25342915
  3. Foggensteiner L, Mulroy S, Firth J. Management of diabetic nephropathy. J R Soc Med. 2001 May;94(5):210-7. PMID: 11385086
  4. British Medical Journal. Recent advances in diabetic nephropathy . BMJ Publishing Group. [internet].
  5. MedlinePlus Medical Encyclopedia: US National Library of Medicine; Diabetic Kidney Problems

डायबिटिक नेफ्रोपैथी के डॉक्टर

Dr. Alka jha Dr. Alka jha एंडोक्राइन ग्रंथियों और होर्मोनेस सम्बन्धी विज्ञान
15 वर्षों का अनुभव
Dr. Narayanan N K Dr. Narayanan N K एंडोक्राइन ग्रंथियों और होर्मोनेस सम्बन्धी विज्ञान
16 वर्षों का अनुभव
Dr. Tanmay Bharani Dr. Tanmay Bharani एंडोक्राइन ग्रंथियों और होर्मोनेस सम्बन्धी विज्ञान
15 वर्षों का अनुभव
Dr. Sunil Kumar Mishra Dr. Sunil Kumar Mishra एंडोक्राइन ग्रंथियों और होर्मोनेस सम्बन्धी विज्ञान
23 वर्षों का अनुभव
डॉक्टर से सलाह लें

डायबिटिक नेफ्रोपैथी की दवा - Medicines for Diabetic Nephropathy in Hindi

डायबिटिक नेफ्रोपैथी के लिए बहुत दवाइयां उपलब्ध हैं। नीचे यह सारी दवाइयां दी गयी हैं। लेकिन ध्यान रहे कि डॉक्टर से सलाह किये बिना आप कृपया कोई भी दवाई न लें। बिना डॉक्टर की सलाह से दवाई लेने से आपकी सेहत को गंभीर नुक्सान हो सकता है।

डायबिटिक नेफ्रोपैथी की ओटीसी दवा - OTC Medicines for Diabetic Nephropathy in Hindi

डायबिटिक नेफ्रोपैथी के लिए बहुत दवाइयां उपलब्ध हैं। नीचे यह सारी दवाइयां दी गयी हैं। लेकिन ध्यान रहे कि डॉक्टर से सलाह किये बिना आप कृपया कोई भी दवाई न लें। बिना डॉक्टर की सलाह से दवाई लेने से आपकी सेहत को गंभीर नुक्सान हो सकता है।

सम्बंधित लेख

cross
डॉक्टर से अपना सवाल पूछें और 10 मिनट में जवाब पाएँ