myUpchar प्लस+ के साथ पूरेे परिवार के हेल्थ खर्च पर भारी बचत

मच्छर हर जगह मौजूद होते हैं और आपको भी मच्छर काटते ही होंगे। भारत में लगभग हर जगह पर मच्छर पाए जाते हैं। हालांकि, मच्छरों के काटने को गंभीरता से नहीं लिया जाता लेकिन इनसे खतरनाक और जानलेवा बीमारियां हो सकती हैं। इनके काटने से सूजन, लाली और हाथ लगाने में गर्माहट महसूस होती है।

(और पढ़ें - मच्छर के काटने से बचाव)

दुनिया में हर व्यक्ति को मच्छर के काटने से एलर्जी होती ही है, चाहे थोड़ी सी क्यों न हो। केवल कुछ लोगों को मच्छर के काटने से कोई प्रतिक्रिया नहीं होती और कुछ लोगों को इससे गंभीर एलर्जिक रिएक्शन हो जाता है।

(और पढ़ें - धूल से एलर्जी के लक्षण)

ज़्यादातर मामलों में, घर पर कुछ उपाय करने से मच्छर काटने से होनी वाली एलर्जी या प्रतिक्रिया ठीक हो जाती है, लेकिन कुछ गंभीर मामलों में इसके लिए डॉक्टर के पास जाना अनिवार्य होता है क्योंकि मच्छर जानलेवा बीमारियां फैला सकते हैं।

(और पढ़ें - मच्छर भगाने के घरेलू उपाय)

इस लेख में मच्छर के काटने से कौन-कौन से रोग होते हैं, मच्छर काटने पर क्या लगाएं, क्या करें और मच्छर के काटने पर डॉक्टर के पास कब जाना चाहिए के बारे में बताया गया है।

  1. मच्छर के काटने से होने वाले रोग, बीमारी - Machar ke katne se kon kon si bimari hoti hai
  2. मच्छर काटने पर क्या करें, प्राथमिक उपचार - Machar katne par kya kare
  3. मच्छर के काटने पर क्या लगाएं - Machar ke katne par kya lagaye
  4. मच्छर काटने पर डॉक्टर के पास कब जाएं - Machar katne par doctor ke pas kab jana chahiye

दुनिया भर में एक साल में करोड़ों लोग मच्छर के काटने से हुई किसी जानलेवा बीमारी से मर जाते हैं। कई बार मच्छर के काटने से होने वाली बीमारियों के लक्षण मामूली होते हैं, जिन्हें नज़रअंदाज़ कर दिया जाता है। नीचे ऐसी कुछ बीमारियां दी गई हैं जो मच्छरों के काटने से होती हैं -

  • मलेरिया
    मलेरिया एक ऐसा रोग है जिसमे रोगी को सर्दी और सिरदर्द के साथ बार-बार बुखार आता है। इसमें बुखार कभी कम हो जाता है तो कभी दुबारा आ जाता है। गंभीर मामलों में रोगी कोमा में चला जाता है या उसकी मृत्यु तक हो जाती है। मलेरिया से लाल रक्त कोशिकाएं संक्रमित होती हैं और खत्म होने लगती हैं। मलेरिया मादा एनोफेलीज मच्छर (Anopheles mosquito) के काटने से होता है। (और पढ़ें - मलेरिया के घरेलू उपाय)
     
  • पीला बुखार
    पीला बुखार एक वायरल इन्फेक्शन है जो एक विशेष प्रकार के मच्छर से फैलता है। इसमें मस्तिष्क और रीढ़ की हड्डी की सूजन होती है। मामूली पीले बुखार में सिरदर्द, मतली (जी मिचलाना), बुखार और उल्टी जैसे लक्षण होते हैं, लेकिन ये बीमारी गंभीर होने से ह्रदय, लिवर और किडनी की समस्याएं रक्तस्राव (खून का बहना) के साथ होती हैं। (और पढ़ें - बुखार भगाने के घरेलू उपाय)
     
  • चिकनगुनिया
    चिकनगुनिया संक्रमित मच्छरों द्वारा मनुष्यों को होने वाला एक वायरल रोग है जिसमें बुखार, चकत्ते और जोड़ो में दर्द रहता है। इसके लक्षण लंबे समय तक रहते हैं और आपके शरीर को कमजोर करते हैं। चिकनगुनिया से ग्रस्त व्यक्ति को पूरी तरह से आराम की आवश्यकता होती है। (और पढ़ें - चिकनगुनिया की जांच)
     
  • जीका वायरस
    जीका वायरस एक मच्छरों के काटने से फैलने वाला वायरस है जिसमें बुखार, लाल चकत्ते, जोड़ों में दर्द और मांसपेशियों में दर्द हो सकता है। इसके अन्य लक्षण हैं सिरदर्द, कंजंक्टिवाइटिस के कारण आंख लाल होना और सामान्य रूप से बेचैनी रहना। गर्भावस्था के दौरान जीका वायरस से संक्रमित होने से बच्चे का दिमाग छोटा रह जाता है। (और पढ़ें - वायरल इन्फेक्शन के लक्षण)
     
  • डेंगू
    डेंगू बुखार डेंगू वायरस से संक्रमित मच्छर के काटने के कारण होने वाली बीमारी है। डेंगू बुखार एक दर्दनाक, अक्षम या असमर्थ करने वाली बीमारी है, जिसमें बुखार, चकत्ते, मांसपेशियों में दर्द और जोड़ों में दर्द जैसे लक्षण होते हैं। (और पढ़ें - डेंगू के घरेलू उपाय)

ये ऐसी कुछ बीमारियां मच्छरों के काटने से फैलती हैं और उपचार न मिलने पर जानलेवा भी हो सकती हैं।

(और पढ़ें - बुखार में क्या खाएं)

मच्छर के काटने से होने वाले लक्षण आमतौर पर अपने आप कुछ समय में ठीक हो जाते हैं। हालांकि, खुजली और सूजन असुविधाजनक हो सकते हैं।

(और पढ़ें - खुजली दूर करने के घरेलू उपाय)

मच्छर के काटने पर आप निम्नलिखित प्राथमिक उपचार कर सकते हैं -

  • मच्छर ने जहां काटा है वहां खुजली न करें। खुजली करने से आपको इन्फेक्शन हो सकता है। (और पढ़ें - बैक्टीरियल संक्रमण के लक्षण)
  • मच्छर की काटी हुई जगह को पानी और साबुन से धो लें।
  • खुजली के लिए प्रभावित क्षेत्र पर कोई लोशन लगा लें। नीचे इसके बारे में विस्तार से बताया गया है।
  • सूजन और दर्द को कम करने के लिए प्रभावित क्षेत्र पर आइस पैक लगाएं या ठन्डे पानी से नहा लें।
  • अगर खुजली ठीक नहीं होती है, तो आप एंटीहिस्टामिन दवा भी खा सकते हैं।

(और पढ़ें - सूजन कम करने के घरेलू उपाय)

कुछ स्थितियों में आपको डॉक्टर के पास जाने की आवश्यकता हो सकती है जो नीचे वाले भाग में दी गई हैं।

अगर आपको मच्छर के काटने के बाद असुविधाजनक लक्षण हो रहे हैं, तो आप मच्छर के काटने पर नीचे दी गई चीज़ें लगा सकते हैं -

  1. बर्फ - बर्फ को सीधे त्वचा पर न रखें। बर्फ के टुकड़ों को एक तौलिये में लपेट लें और प्रभावित क्षेत्र पर 10 से 15 मिनटों के लिए रखें। बर्फ से उस क्षेत्र में खून का प्रवाह कम होगा, जिससे सूजन और खुजली में आराम मिलेगा। (और पढ़ें - त्वचा पर बर्फ लगाने के फायदे)
     
  2. कैलामाइन लोशन - कैलामाइन लोशन से कुछ समय के लिए प्रभावित क्षेत्र पर होने वाली जलन और खुजली से राहत मिलती है। आप कैलामाइन लोशन के साथ खुजली दूर करने वाली अन्य क्रीमों का उपयोग भी कर सकते हैं। (और पढ़ें - सीने में जलन के कारण)
     
  3. टी बैग - एक टी बैग को ठन्डे पानी में डुबोएं और बाहर निकाल कर अच्छे से निचोड़ लें ताकि अतिरिक्त पानी निकल जाए। फिर इसे प्रभावित क्षेत्र पर 10-15 मिनट तक रखें। ठन्डे टी बैग से भी बर्फ की तरह प्रभावित क्षेत्र में खून का प्रवाह कम होगा, जिससे सूजन और खुजली में आराम मिलेगा
     
  4. एलोवेरा - एलोवेरा से छोटे घावों को ठीक किया जा सकता है, और ये खुजली व जलन के लिए भी प्रभावी होता है। एलोवेरा के पौधे से एक पत्ती तोड़ें और इसके अंदर का जेल निकालकर अपनी त्वचा पर लगाएं। दोबारा इस्तेमाल करने के लिए आप इसे अपने फ्रिज में भी रख सकते हैं। (और पढ़ें - एलोवेरा से पाएं गोरी त्वचा)
     
  5. हाइड्रोकार्टिसोन क्रीम - अगर ऊपर दिए गए उपायों से आपको राहत नहीं मिलती है, तो किसी मेडिकल स्टोर से हाइड्रोकार्टिसोन युक्त क्रीम लें। इससे सूजन, लाली और खुजली ठीक होंगे। इस क्रीम को दिन में केवल 2 बार ही लगाएं। इसके ज्यादा इस्तेमाल से आपकी त्वचा को नुक्सान हो भी सकता है।

अगर आपको इनसे आराम न मिल रहा हो या आपको किसी संक्रमित मच्छर द्वारा काटे जाने की जरा सी भी आशंका हो तो तुरंत डॉक्टर के पास जाएं।

मच्छर के काटने से होने वाली ज़्यादतर बीमारियों के लक्षण फ्लू जैसे ही होते हैं।

(और पढ़ें - फ्लू के घरेलू उपाय)

अगर आपको पता है कि आपको मच्छर ने काटा है और आपको निम्नलिखित लक्षण अनुभव हो रहे हैं, तो तुरंत अपने डॉक्टर के पास जाएं -

अगर मच्छर के काटने से आपको एलर्जिक शॉक की समस्या होती है, तो आपको आपातकालीन स्थिति में डॉक्टर के पास जाना चाहिए।

 

नोट: प्राथमिक चिकित्सा या फर्स्ट ऐड देने से पहले आपको इसकी ट्रेनिंग लेनी चाहिए। अगर आपको या आपके आस-पास किसी व्यक्ति को किसी भी प्रकार की आपातकालीन स्वास्थ्य समस्या है, तो डॉक्टर या अस्पताल​ से तुरंत संपर्क करें। यह लेख केवल जानकारी के लिए है।

और पढ़ें ...