myUpchar प्लस+ के साथ पूरेे परिवार के हेल्थ खर्च पर भारी बचत

नाक से खून आना, चिकित्सीय भाषा में एपिस्टेक्सेस (epistaxes) के नाम से जाना जाता है। नाक में अंदर बहुत सी छोटी-छोटी रक्त वाहिकाएं होती हैं और ये शरीर का सबसे संवेदनशील हिस्सा होता है। जब ये वाहिकाएं तंग हो जाती हैं, तब नाक से रक्त बहना शुरू हो जाता है।

खून कुछ सेकेंड से लेकर दस मिनट तक बह सकता है। और कभी कम या फिर कभी ज़्यादा बह सकता है। नाक से खून बहने के साथ ही कई तरह के लक्षण भी होते हैं जैसे चक्कर, कमज़ोरी और गिर जाना। किसी को भी नकसीर (nosebleed) की समस्या हो सकती है लेकिन ये दो साल से 10 साल के बच्चे और व्यस्क में 50 से 80 साल की उम्र में भी हो सकता है।

नकसीर कई कारणों से आ सकती है जैसे सूखी हवा की वजह से नाक की झिल्ली को सूखना, केमिकल से संक्रमित होना, एलर्जी होना, चोट लगना, बार बार छींक आना, बहुत गर्मी पड़ना, बार बार नाक में ऊँगली डालना या ज़ोर से नाक को कुरेदना, शराब पीना, ज़्यादा धूम्रपान करना और एस्पिरिन की ज़्यादा डोसेज लेना। नाक से खून निकलने की समस्या पोषण की कमी, हार्मोनल में बदलाव, गर्भावस्था के दौरान, ऊपरी श्वसन प्रणाली में संक्रमण, हाई ब्लड प्रेशर, खून का थक्का जमने और कैंसर की वजह से भी होती है।

(और पढ़ें - प्रेग्नेंट होने का तरीका)

लेकिन आपको डरने की ज़रूरत नहीं है, नकसीर कोई गंभीर बिमारी नहीं है। ज़्यादातर लोग इस समस्या का इलाज किसी न किसी घरेलू उपाय की मदद से भी कर लेते हैं।

तो आइये आज हम भी आपको नाक से खून निकलने के कुछ घरेलू उपाय बताते हैं -

  1. नाक में से खून आते समय नाक को दबा लें - Naak se blood rokne ke upay me kare pinch in hindi
  2. नकसीर का उपाय है कोल्ड कंप्रेस - Nak se khun rokne ka upay hai cold compress in Hindi
  3. नकसीर रोकने के उपाय करे सेब के सिरके से - Naksir ka gharelu upay hai apple vinegar in hindi
  4. नकसीर आने पर करें लाल मिर्च का उपयोग - Nakseer aane par kare cayenne ka upyog in Hindi
  5. नाक से खून आने का उपाय है प्याज - Nakseer rokne ke upay hai onion in Hindi
  6. नाक से खून बहने का घरेलू उपाय है नमक का पानी - Naak se khoon bahne ka upay hai salt water in Hindi
  7. नाक से ब्लड आने का उपाय है बिच्छू बूटी - Nakseer ko rokne ka upay hai nettle in Hindi
  8. नाक से खून आने पर करना चाहिए धनिया का उपयोग - Naak se khoon aane par kare coriander ka upyog in Hindi
  9. नाक से खून आने पर करें तुलसी का उपयोग - Naksir band karne ka upay hai basil in Hindi
  10. नकसीर रोकने का उपाय है पेट्रोलियम जेली - Naksir se bachne ka tarika hai petroleum jelly in Hindi
  11. नाक से खून आना रोकने के लिए टिप्स - Naak se blood rokne ke liye tips in Hindi

नकसीर को रोकने का सबसे अच्छा तरीका है नाक को बंद करना। नाक को बंद करने से खून निकलने वाली जगह नसल सेप्टम (nasal septum) पर प्रेशर पड़ता है जिसकी वजह से खोना बहना एकदम बंद हो जाता है।

खून बहना रोकने के लिये नाक को बंद कैसे करें –

  1. सबसे पहले सीधा बैठकर अपने सिर को थोड़ा आगे की तरफ झुकाकर रखें।
  2. अब अपने अंगूठे और तर्जनी ऊँगली का इस्तेमाल करें। फिर उनसे अपनी नथुनों को दबाएं।
  3. इस प्रक्रिया को 5 से 10 मिनट तक करें। सांस आप मुँह से ले।
  4. अब धीरे धीरे उस प्रेशर को छोड़ें और फिर पांच मिनट के लिए आराम से बैठ जाएँ।
  5. जब तक खून बहना खत्म नहीं हो जाता तब तक इस प्रक्रिया को धराते रहें।

नोट - कभी भी सीधा न लेटे, थोड़ा सा अपने सिर को पीछे की तरफ ले जाएँ। अगर नाक से खून आ रहा हो तो नाक को न छिनकेें।  

कोल्ड कंप्रेस एक अन्य उपाय है जो नाक से खून का इलाज करता है। ठंडा तापमान रक्त वाहिकाओं को जल्द से कस देता है और रक्त के प्रवाह को कम कर देता ही। इसकी मदद से नकसीर की समस्या को बंद हो जाती है।

कोल्ड कंप्रेस का इस्तेमाल कैसे करें -

  1. सबसे पहले एक पतली तौलिया में बर्फ रखें।
  2. अब कुर्सी या सोफे पर बेथ जाए और अपने सिर को थोड़ा पीछे की तरफ कर लें।
  3. अब बर्फ के कपड़े को अपनी नाक की हड्डी के दोनों तरफ लगाएं पांच से दस मिनट तक लगाएं।
  4. जब तक ज़रूरत हो इस प्रक्रिया को करें।

(और पढ़ें - बर्फ के फायदे)

नोट - कभी भी अपनी नाक पर सीधा बर्फ का इस्तेमाल न करें।

सेब का सिरका नाक से निकलते खून को बंद करने के लिए बेहद प्रभावी घरेलू उपाय है। ये शरीर को अधिक रक्त रोकने में मदद करता है और टूटी रक्त वाहिकाओं की वाल (wall) को बंद करता है।

सेब के सिरके का इस्तेमाल कैसे करें -

  1. सबसे पहले सेब के सिरके में रूई को डालें और फिर इसे नाक में आराम से रखें।
  2. फिर इस रूई को दस मिनट तक ऐसे ही लगा हुआ रहने दें और इससे खून निकलना बंद हो जाएगा।
  3. आप सेब के सिरके के आलावा सामान्य सिरके का भी इस्तेमाल कर सकते हैं।
  4. सेब का सिरका जल्दी जल्दी आने वाले नाक के खून को भी रोकता है। आप दो चम्मच सेब के सिरके को एक ग्लास गर्म पानी में मिलाकर पूरे दिन में तीन बार इस मिश्रण को पी सकते हैं।

(और पढ़ें - सेब के सिरके के फायदे

नकसीर को रोकने का अन्य प्रभावी उपाय है लाल मिर्च। ये कोशिकाओं को उत्तेजित करता है और रक्त प्रवाह के प्रेशर को नियंत्रित करता है। इसका मतलब ये हिमोररहजिंग (hemorrhaging) क्षेत्र के अत्यधिक प्रेशर को दूर करता है और किसी भी जमाव को हटाता है।

लाल मिर्च का इस्तेमाल कैसे करें -

  1. सबसे पहले एक चम्मच लाल मिर्च पाउडर को एक कप गर्म पानी में डालें और फिर इसे पी जाएँ। जल्दी ही नकसीर की समस्या खत्म हो जाएगी। (और पढ़ें - गर्म पानी के लाभ)
  2. इसके आलावा जो लोग जल्दी जल्दी नाक से खून बहने की समस्या से परेशान रहते हैं वो पूरे दिन में लाल मिर्च से बने कैप्सूल्स को तीन बार खा सकते हैं। लेकिन इसका सेवन करने से अपने डॉक्टर से बात ज़रूर करें।
  3. इसके साथ ही नकसीर को रोकने के लिए रोज़ाना तीखा खाना खाएं।

(और पढ़ें - लाल मिर्च के फायदे

प्याज एक बहुत ही अच्छा क्लॉटिंग एजेंट है। इसके साथ ही इसके प्रभावी गुण नाक से खून बहने के समस्या को रोकते हैं। प्याज के कुछ तत्व रक्त का थक्का जमने में मदद करते हैं।

प्याज का इस्तेमाल दो तरीकों से करें -

पहला तरीका -

  1. सबसे पहले एक प्याज को मोटे टुकड़े में काट लें।
  2. अब उस टुकड़े को अपनी नाक के नीचे रख लें और फिर उसे सूंघे। आपकी नाक से बहता खून कुछ ही मिनट में रुक जाएगा।

(और पढ़ें - प्याज का रस बालों के लिए)

दूसरा तरीका -

  1. इसके अलावा आप प्याज के जूस के दो या तीन बूँद अपनी दोनों नाक में डाल लें।
  2. जब ज़रूरत पड़े तब इस प्रक्रिया को दोहराएं।

(और पढ़ें - प्याज के फायदे

सर्दियों के दौरान नाक की झिल्ली में ड्राइनेस नकसीर की समस्या का एक बहुत ही आम कारण है। इस समस्या को सुलझाने के लिए नमक का पानी नाक की झिल्ली को नमी देने में मदद करता है।

नमक के पानी का इस्तेमाल कैसे करें -

  1. सबसे पहले नमक की चुटकी को आधा कप पानी में डाल लें। अब इस मिश्रण के कुछ बूँद को अपनी नाक में डालें जिससे अंदर की झिल्ली को नमी मिले।
  2. इसके अलावा आप सलाइन नसल स्प्रे का भी इस्तेमाल कर सकते हैं। ये आपको मार्किट में आसानी से उपलब्ध हो जाएगा।
  3. इस उपाय को पूरे दिन में दो या तीन बार सर्दियों में या रूखे मौसम में दोहराएं।

(और पढ़ें - सेंधा नमक खाने के फायदे)

बिच्छू बूटी नकसीर की समस्या के लिए बेहद प्रभावी उपाय है। इसमें एस्ट्रिजेंट के गुण होते हैं जो थक्के को जमने में मदद करते हैं और रक्त के प्रवाह को रोकते हैं। इसके साथ ही ये कोशिकाओं को मजबूत करता है और एलर्जी का इलाज करता है जिसकी वजह से नकसीर की समस्या उतपन्न होती है।

बिच्छू बूटी का इस्तेमाल दो तरीकों से करें -

पहला तरीका -

नकसीर को रोकने के लिए, बिच्छू बूटी के पाउडर को सूंघें।

दूसरा तरीका -

इसके अलावा आप बिच्छू बूटी की पत्तियों का जूस निकालकर अपनी नाक में डाल सकते हैं। इससे आपके खून बहने की समस्या जल्द ही बंद हो जाएगी।

तीसरा तरीका -

अगर आपको रूखे मौसम की वजह से जल्दी जल्दी नकसीर की समस्या हो रही है तो आप रोज़ाना एक या दो कप बिच्छू बूटी की चाय पी सकते हैं।

(और पढ़ें - बिच्छू बूटी के फायदे)

आयुर्वेद में, धनिये को नाक के खून को रोकने के लिए जाना जाता है। इसके ठंडे और आराम देने का प्राकृतिक प्रभाव खून को जल्दी रोकने में मदद करता है। इसके साथ ही इसके प्राकृतिक एंटीहिस्टमीन गुण एलर्जी को रोकने में मदद करते हैं जिनकी वजह से नाक से खून बहने की समस्या बढ़ती है।

(और पढ़ें - एलर्जी से बचने का उपाय)

धनिये का इस्तेमाल दो तरीकों से करें -

पहला तरीका -

धनिये के तेल की कुछ बूँदें या धनिये के जूस की कुछ बूंदों को अपनी नाक में डालें इससे खून जल्दी रुक जाएगा।

दूसरा तरीका -

इसके अलावा आप धनिये के पत्ते का पेस्ट भी बना सकते हैं और उसे फिर अपने माथे पर लगा लें। इसका ठंडा प्रभाव खून को जल्द ही रोक देता है।  

(और पढ़ें - धनिये के फायदे)

इस समस्या के लिए तुलसी एक और अन्य घरेलू उपाय है। तुलसी के बहुत ही बेहतरीन गुण है। जो लोग नकसीर की समस्या पीड़ित होते हैं उनकी ये तंत्रिका को आराम देने में मदद करता है।

तुलसी का इस्तेमाल दो तरीकों से करें -

पहला तरीका -

आप धीरे धीरे तुलसी की पत्तियों को चबा सकते हैं। इससे आपके शरीर को राहत मिलेगी और नाक से खून बहने की समस्या भी खत्म होगी।

दूसरा तरीका -

इसके अलावा आप तुसली के पत्तों का जूस निकालकर अपनी नाक में दो बूँद डाल लें। इससे नकसीर बंद होगा।

(और पढ़ें - तुलसी के फायदे)

रूखे मौसम में नाक से खून निकलने की समस्या को रोकने के लिए ज़रूरी है की नाक अंदर से नमीदार रहे। आप इसे पेट्रोलियम जेली की मदद से नमीयुक्त बना सकते हैं। पेट्रोलियम जेली बहुत ही मॉइस्चराइज़िंग होती है और नसल पैसेज (nasal passages) की समस्या को दूर करता है।

पेट्रोलियम जेली का इस्तेमाल कैसे करें -

  1. सबसे पहले अपनी ऊँगली में जेली को लें और फिर इसे अपनी नाक के अंदर लगाएं।
  2. अपनी नाक को नमीदार रखने के लिए इस प्रक्रिया को पूरे दिन में कई बार करें।

(और पढ़ें - पेट्रोलियम जेली के फायदे)

नोट - जल्दी जल्दी पेट्रोलियम जेली का भी इस्तेमाल न करें इससे आपकी नाक बंद हो सकती है।

  1. नकसीर के दौरान लेटे नहीं। हमेशा अपने सिर का स्तर अपने ह्रदय से ऊपर रखें। अपने मुँह से साँस लेने की कोशिश करें।
  2. जब एक बार खून रुक जाए तो एकदम सीधा बैठ जाएँ और धीरे धीरे अपने सिर को आगे की तरफ लेकर आएं। इसके साथ ही कुछ घंटों तक नाक पर तनाव न डालें और उसे पोछे भी न। 
  3. अपने कमरे में हुमिडिफायर (humidifier) का इस्तेमाल करें जिससे हवा ज़्यादा रूखी न रहे।
  4. म्यूकस (mucous) झिल्ली को नमीदार रखने के लिए ज़्यादा से ज़्यादा पानी पियें।
  5. गर्म पानी से नहाएं और नहाते समय तेज़ तेज़ सांस लें जिससे आपकी नाक में नमी बने।
  6. कभी धूम्रपान न करें इससे आपकी नाक सूखने लगती है। धूम्रपान वाली जगह पर खड़े न हो।
  7. विटामिन k से समृद्ध खाद्य पदार्थ खाएं इससे नाक से खून बहने की समस्या रूकती है।
  8. हमेशा विटामिन सी और बायो फ्लावनोईड युक्त खाद्य पदार्थ खाएं इससे रक्त वाहिकाएं सही रहती है।
  9. अपने आहार में आयरन लें इससे हॉर्मोन का स्तर बढ़ता है।
  10. शरीर में रक्त वाहिकाओं को सही रखने के लिए जिंक युक्त आहार भी शामिल करें जैसे ब्राउन राइस, गेहू के ब्रेड।
  11. मसालेदार और तला हुआ खाना न खाएं।
  12. नकसीर को रोकने के लिए कभी नाक को कठोर तरीके से न कुरेदेें।
  13. ब्लड थिनर को नियंत्रित करें। अगर आप ब्लड थिनर इस्तेमाल कर रहे हैं तो नकसीर की समस्या उन्हें बताएं।

अगर आपको नकसीर की समस्या 20 से 30 मिनट में खत्म नहीं होती तो अपने डॉक्टर को जल्द से जल्द दिखाएं।

और पढ़ें ...

References

  1. HealthLink BC [Internet] British Columbia; Stopping a Nosebleed
  2. National Health Service [Internet]. University Hospitals of Derby and Burton, UK; First aid for nose bleeds
  3. Margaret R. Colyar, Cynthia R. Ehrhardt. Ambulatory Care Procedures. Davis Company, philadelphia
  4. Vijaya Kumar. The Secret Benifits of onion and garlic. Sterling Publishers(P)Ltd. India
  5. Tamsyn SA Thring et al. Antioxidant and potential anti-inflammatory activity of extracts and formulations of white tea, rose, and witch hazel on primary human dermal fibroblast cells. J Inflamm (Lond). 2011; 8: 27 PMID: 21995704
  6. Kerry bone et al. Principal and Practiles of Phytotherapy. Edinburg London New York Oxford Philadelphia st louis sydney toronto 2013
  7. Rabago D, Zgierska A. Saline Nasal Irrigation for Upper Respiratory Conditions. Am Fam Physician. 2009 Nov 15;80(10):1117-9. PMID: 19904896
  8. Department of Family Medicine and Community Health. NASAL IRRIGATION (NASAL WASH) FOR COMMON UPPER RESPIRATORY CONDITIONS. University of Wisconsin; School of Medicine and Public Health
  9. MedlinePlus Medical Encyclopedia: US National Library of Medicine; Humidifiers and health
  10. Susan Curtis, Pat Thomas, Fran Johnson. Essential oils. Mary-Clare Jerram
  11. National Health Service [Internet] NHS inform; Scottish Government; Nosebleed
  12. MedlinePlus Medical Encyclopedia: US National Library of Medicine; Nosebleed
  13. Tabassom A, Cho JJ. Epistaxis (Nose Bleed). StatPearls [Internet]. Treasure Island (FL) StatPearls Publishing 2019 Jan-