लेटरल एंकल लिगामेंट पुनर्निर्माण सर्जरी को टखने के बाहरी हिस्से में मौजूद लिगामेंट की मरम्मत करने के लिए किया जाता है। लिगामेंट फाइबर से बनी एक पट्टी व रस्सी जैसी संरचना होती है। ये शरीर के जोड़ों में मौजूद होते हैं, जिनका मुख्य काम दो हड्डियों को आपस में जोड़कर रखना होता है। बार-बार टखने में मोच या खिंचाव आने से टखने में मौजूद लिगामेंट क्षतिग्रस्त हो सकता है। ऐसी स्थितियों में टखने अस्थिर हो जाते हैं और परिणामस्वरूप गंभीर दर्द व तकलीफ होने लगती है। जब दवाओं व अन्य उपचार प्रक्रियाओं से टखने संबंधी इन समस्याओं में आराम न मिल पाए तो डॉक्टर रिकंस्ट्रक्शन सर्जरी करवाने की सलाह देते हैं। (और पढ़ें - मांसपेशियों में खिंचाव के कारण)

एंकल लिगामेंट रिकंस्ट्रक्शन सर्जरी में सर्जन क्षतिग्रस्त लिगामेंट को ढूंढते हैं और उसे टखने के जोड़ के साथ हड्डी व ऊतकों से जोड़ देते हैं। इस सर्जरी प्रोसीजर को पूरा होने में लगभग दो घंटे का समय लगता है और इसके बाद कुछ हफ्तों तक आपको चलने-फिरने के लिए बैसाखी का इस्तेमाल करना पड़ता है।

(और पढ़ें - टखने में दर्द का इलाज)

  1. लेटरल एंकल लिगामेंट पुनर्निर्माण सर्जरी क्या है - What is Lateral ankle ligament reconstruction in Hindi
  2. लेटरल एंकल लिगामेंट पुनर्निर्माण सर्जरी क्यों की जाती है - Why is Lateral ankle ligament reconstruction done in Hindi
  3. लेटरल एंकल लिगामेंट पुनर्निर्माण सर्जरी से पहले - Before Lateral ankle ligament reconstruction in Hindi
  4. लेटरल एंकल लिगामेंट पुनर्निर्माण सर्जरी के दौरान - During Lateral ankle ligament reconstruction in Hindi
  5. लेटरल एंकल लिगामेंट पुनर्निर्माण सर्जरी के बाद - After Lateral ankle ligament reconstruction in Hindi
  6. लेटरल एंकल लिगामेंट पुनर्निर्माण सर्जरी की जटिलताएं - Complications of Lateral ankle ligament reconstruction in Hindi

लेटरल एंकल लिगामेंट रिकंस्ट्रक्शन सर्जरी किसे कहते हैं?

लेटरल एंकल लिगामेंट पुनर्निर्माण सर्जरी को "ब्रोस्ट्रोम प्रोसीजर" भी कहा जाता है, जो टखने का लिगामेंट क्षतिग्रस्त होने पर उसकी मरम्मत (पुनर्निर्माण) करने के लिए की जाती है। टखने का जोड़ आमतौर पर तीन हड्डियों से मिलकर बनता है, जिनमें टेलस (टखने की हड्डी), टिबिया और फिबुला शामिल है। टखने का जोड़ एक काज (कब्जा) की तरह काम करता है, जो पैर को हिलने-ढुलने में मदद करता है। टखने के जोड़ चारों ओर से विभिन्न लिगामेंट्स से ढके होते हैं। लिगामेंट फाइबर से बना एक प्रकार का नरम ऊतक होता है। लिगामेंट छोटे-छोटे तंतुओं से मिलकर बना होता है, जो मिलकर एक पट्टे या रस्सी जैसी संरचना बनाते हैं।

ये लिगामेंट पैर और टखने की हड्डियों को एक साथ जोड़कर रखता है और चलते समय आपकी टांग को स्थिर रखता है। हालांकि, टखने में मोच आना और चोट लगना जैसी कुछ समस्याएं हैं जिनके कारण टखने के आस-पास लिगामेंट ढीले पड़ जाते हैं और परिणामस्वरूप टखना अस्थिर हो जाता है। ब्रोस्ट्रोम प्रोसीजर को आमतौर पर ऑर्थोपेडिक फुट सर्जन के द्वारा ही किया जाता है।

(और पढ़ें - चोट की सूजन का इलाज)

लेटरल एंकल लिगामेंट रिकंस्ट्रक्शन सर्जरी किसलिए की जाती है?

यदि आपको टखने हिलने-ढुलने संबंधी कोई समस्या हो गई है, जिसे दवाओं, ब्रेसिंग या फिजियोथेरेपी से ठीक नहीं किया जा सकता है, तो ऐसे में डॉक्टर लेटरल एंकल लिगामेंट पुनर्निर्माण सर्जरी करवाने की सलाह देते हैं। टखना अस्थिर होने पर निम्न लक्षण देखे जा सकते हैं -

  • खेलने या असमतल जगह पर चलने के कारण बार-बार टखना मुड़ना
  • टखने में दर्द रहना या छूने पर दर्द होना 
  • टखने में सूजन (और पढ़ें - टखने में फ्रैक्चर का इलाज)
  • टखने में चोट लगना या मोच आना (जो टखना अस्थिर होने के प्रमुख कारण भी हैं)

यदि आपको निम्न में से कोई भी समस्या या दोष है, तो भी आपके टखने की स्थिरता प्रभावित हो सकती है -

  • हिंडफुट वैरस (एड़ी की हड्डी अपनी सामान्य जगह पर न होना)
  • मिडफुट कैवस (पैर के तलवे का बीच वाला हिस्सा अधिक ऊपर होना)
  • पैर के अंगूठे से पिछले वाले हिस्से का नीचे की तरफ झुकाव होना, जिसे प्लांटर फ्लेक्शन कहा जाता है
  • एलर्स डैनलोस सिंड्रोम (एक जन्मजात रोग जो त्वचा, मांसपेशियों और जोड़ों को प्रभावित करता है।

लेटरल एंकल लिगामेंट रिकंस्ट्रक्शन सर्जरी किसे नहीं करवानी चाहिए?

यदि आपको निम्न में से कोई भी समस्या है, तो आपको लेटरल एंकल लिगामेंट पुनर्निर्माण सर्जरी नहीं करवानी चाहिए -

  • मोटापा
  • टखने की हड्डियां असामान्य होने के कारण अस्थिरता
  • टखने वाले हिस्से के नरम ऊतक कमजोर होना
  • पेरोनियस मांसपेशियां कमजोर होना (इनके कमजोर होने पर पैर के पंजे पर खड़ा होने में दिक्कत आने लगती है)
  • टखने के जोड़ के नीचे मौजूद एक जोड़ (आइसोलेटेड सबटालर जॉइंट) में अस्थिरता होना

(और पढ़ें - मांसपेशियों की कमजोरी दूर करने के उपाय)

लेटरल एंकल लिगामेंट रिकंस्ट्रक्शन सर्जरी से पहले क्या तैयारी करें?

डॉक्टर आपको ऑपरेशन से कुछ दिन पहले एक बार अस्पताल आने की सलाह देते हैं, जिस दौरान आपका शारीरिक परीक्षण किया जाएगा और आपके स्वास्थ्य संबंधी पिछली स्थितियों के बारे में पूछा जाएगा। इस दौरान कुछ इमेजिंग टेस्ट भी किए जा सकते हैं, जिनमें मुख्य रूप से एक्स रे और एमआरआई स्कैन आदि शामिल हैं। इसके अलावा लेटरल एंकल लिगामेंट पुनर्निर्माण सर्जरी से पहले निम्न बातों का ध्यान रखना चाहिए -

  • यदि आपको स्वास्थ्य संबंधी कोई रोग या किसी भी प्रकार की एलर्जी है, तो डॉक्टर को इस बारे में बता दें। (और पढ़ें - एलर्जी की आयुर्वेदिक दवा)
  • आपके द्वारा ली जाने वाली सभी दवाओं, हर्बल उत्पाद, विटामिन, मिनरल या किसी भी तरह की अन्य दवा के बारे में डॉक्टर को बता दें।
  • यदि आप गर्भवती हैं, हो सकती हैं या फिर गर्भधारण करने की योजना बना रही हैं, तो डॉक्टर को इस बारे में विशेष रूप से बता दें।
  • अगर आप कोई ऐसी दवा या उत्पाद लेते हैं, जो रक्त को पतला करती हैं तो डॉक्टर सर्जरी से कुछ दिन पहले इन दवाओं का सेवन बंद करवा देते हैं।
  • यदि आप धूम्रपान या शराब पीते हैं, तो डॉक्टर इन्हें भी सर्जरी से कुछ दिन पहले और बाद तक इनका सेवन न करने की सलाह देते हैं। ऐसा इसलिए क्योंकि शराब व धूम्रपान सर्जरी के बाद आपके स्वस्थ होने की प्रक्रिया को प्रभावित करते हैं।
  • यदि आपको सर्जरी से एक दो दिन पहले स्वास्थ्य संबंधी कोई भी समस्या महसूस होती है, तो डॉक्टर को इस बारे में अवश्य बताएं।
  • ऑपरेशन वाले दिन आपको अस्पताल में खाली पेट आने की सलाह दी जाती है। इसके लिए आपको सर्जरी वाले दिन से पहली आधी रात के बाद कुछ भी न खाने व पीने को कहा जाता है। (और पढ़ें - सर्जरी से पहले की तैयारी)
  • आपको ढीले-ढाले कपड़े और बिना फीते वाले जूते पहनकर आने की सलाह दी जाती है।
  • यदि आपने आभूषण या अन्य कोई गैजेट पहना है, तो सर्जरी के लिए जाने से पहले उसे उतार दें।
  • सर्जरी के लिए अपने साथ किसी करीबी रिश्तेदार या मित्र के लेकर जाएं, जो सर्जरी से पहले व बाद के कामों में आपकी मदद कर सके और सर्जरी के बाद आपको घर ला सके।
  • अंत में आपको सहमति पत्र दिया जाता है, जिस पर हस्ताक्षर करके आप सर्जन को सर्जरी करने की अनुमति दे देते हैं। सहमति पत्र पर सर्जरी से जुड़े सभी लाभ व जोखिमों के बारे में बताया गया होता है, इसलिए उसे अच्छे से पढ़कर ही हस्ताक्षर करने चाहिए।

(और पढ़ें - शराब की लत के लक्षण)

लेटरल एंकल लिगामेंट रिकंस्ट्रक्शन सर्जरी कैसे की जाती है?

लेटरल एंकल लिगामेंट रिकंस्ट्रक्शन को जिस सर्जरी प्रोसीजर के तहत किया जाता है, वो कुछ इस प्रकार है -

  • जब आप सर्जरी के लिए अस्पताल पहुंच जाते हैं, तो आपको मेडिकल स्टाफ ऑपरेशन थिएटर में ले जाकर ऑपरेशन टेबल पर लिटा देते हैं।
  • इसके बाद आपकी बांह या हाथ की नस में सुई लगाकर जनरल एनेस्थीसिया का इंजेक्शन दिया जाता है, जिससे आप सर्जरी के दौरान गहरी नींद में सो जाते हैं। कुछ मामलों में रिजनल एनेस्थीसिया का इंजेक्शन भी लगा दिया जाता है, जो कमर से निचले हिस्से को पूरी तरह से सुन्न कर देता है और सर्जरी के दौरान आपको दर्द महसूस नहीं होता है। (और पढ़ें - इंजेक्शन कैसे लगाते हैं)
  • सर्जरी के लिए टखने के जिस हिस्से में चीरा लगाना है, उसे एंटीसेप्टिक दवाओं के साथ साफ किया जाता है।
  • इसके बाद सर्जिकल उपकरणों की मदद से टखने की त्वचा व मांसपेशी में लगभग 6 से 8 इंच का चीरा लगाया जाता है।
  • चीरे की त्वचा और अंदरूनी ऊतकों को एक तरफ हटाकर क्षतिग्रस्त लिगामेंट को ढूंढ लिया जाता है।
  • लिगामेंट के क्षतिग्रस्त हुए हिस्से को हटा दिया जाता है और टखने की हड्डी में छोटे पेच लगाने के लिए छिद्र कर दिए जाते हैं।
  • पेच की मदद से ढीले हुए लिगामेंट को कस कर हड्डी से जोड़ दिया जाता है, ताकि टखना अस्थिर न रहे। टखने के बाहरी हिस्से में मौजूद ऊतकों को भी लिगामेंट के साथ सील दिया जाता है, ताकि अतिरिक्त सहारा मिल सके।
  • इसके बाद सर्जन मांसपेशियों और त्वचा को ऊपर से बंद करके टांके लगा देते हैं। ये टांके आमतौर पर त्वचा में अपने आप अवशोषित होने वाले होते हैं अर्थात उन्हें बाद में निकलवाने की आवश्यकता नहीं पड़ती है।
  • टांके लगाने के बाद पैर और टांग पर प्लास्टर लगा दिया जाता है, ताकि आप टखने को हिला न पाएं और सर्जरी के घाव ठीक होने में कोई रुकावट न हो। (और पढ़ें - घाव की मरहम पट्टी कैसे की जाती है)

लेटरल एंकल लिगामेंट रिकंस्ट्रक्शन सर्जरी को कभी-कभी अन्य सर्जिकल प्रोसीजर की मदद से किया जाता है, जिसे “कीहोल सर्जरी” कहा जाता है। इस सर्जिकल प्रक्रिया में सर्जन एक छोटा कट लगाते हैं, जिसमें एक छोटा सा उपकरण डाला जाता है। इस उपकरण के सिरे पर कैमरा और लाइट भी लगी होती है, जिनकी मदद से अंदरूनी भागों को बाहर स्क्रीन पर देखा जाता है। कीहोल सर्जरी को पूरा होने में लगभग 2 घंटे का समय लगता है और सर्जरी के बाद आपको टखने में कुछ समय के लिए सूजन रह सकती है। हालांकि, दोनों प्रोसीजर होने के बाद स्वस्थ होने की अवधि लगभग बराबर ही है।

(और पढ़ें - पैरों में दर्द की होम्योपैथिक दवा)

सर्जरी के बाद जब आपको होश आता है, तो डॉक्टर आपके शारीरिक संकेतों की जांच करके आपको रिकवरी वार्ड में शिफ्ट कर देते हैं। इसके बाद फीजियोथेरेपिस्ट आपको बैसाखी की मदद से चलना सिखाते हैं, ताकि जब तक आपका टखना पूरी तरह से ठीक नहीं हो जाता तब तक टखने पर अधिक जोर न पड़े। आपको लगभग दो हफ्तों तक बैसाखी के सहारे चलने की सलाह दी जाती है। यदि सर्जरी के बाद आपका ब्लड प्रेशर व हृदय दर ठीक है और आप ठीक से सांस ले पा रहे हैं, तो सर्जरी वाले दिन ही आपको अस्पताल से छुट्टी मिल सकती है। यदि आपके शारीरिक संकेत सामान्य नहीं है या फिर सर्जरी के बाद आपको टखने में दर्द हो रहा है, तो हो सकता है आपको एक रात के लिए भर्ती रखा जाए।

(और पढ़ें - टखने में दर्द के घरेलू उपाय)

लेटरल एंकल लिगामेंट रिकंस्ट्रक्शन सर्जरी के बाद देखभाल कैसे करें?

लेटरल एंकल लिगामेंट पुनर्निर्माण सर्जरी के बाद जब आपको घर जाने के लिए छुट्टी दी जा रही होती है, तो इस दौरान घर पर निम्न बातों का ध्यान रखने की सलाह दी जाती है -

  • सर्जरी के बाद आपको कुछ दिन तक दर्द रह सकता है, जो कि सामान्य स्थिति है। हालांकि, दर्द को कम करने के लिए भी डॉक्टर आपको कुछ दर्द निवारक दवाएं देते हैं।
  • सर्जरी वाले हिस्से व उसके आस-पास सूजन हो सकती है, जिसके लिए डॉक्टर टखने को हृदय के स्तर से ऊपर रखने की सलाह देते हैं। ऐसा करने के लिए आप अपने पैर के नीचे एक या दो तकिए लगा सकते हैं। टखने के आस-पास नील भी पड़ सकता है, जो कि सामान्य स्थिति है। (और पढ़ें - नील पड़ने का कारण)
  • आपको सर्जरी के दो या तीन हफ्तों बाद फिर से अस्पताल आने को कहा जाएगा। इस दौरान आपके प्लास्टर को हटाकर ब्रेसिस लगाए जा सकते हैं।
  • फीजियोथेरेपिस्ट आपको कुछ व्यायाम भी सिखा सकते हैं, जो आपको सर्जरी से जल्दी स्वस्थ होने में मदद करेंगे। (और पढ़ें - व्यायाम करने का सही समय)
  • आपको लगभग आठ हफ्तों बाद ड्राइविंग करने की अनुमति दी जाती है। हालांकि, इतने समय के बाद भी गाड़ी चलाना शुरू करने से पहले एक बार डॉक्टर से बात कर लेनी चाहिए।
  • आपको सर्जरी के कुछ दिनों बाद ही अपनी दिनचर्या के सामान्य कार्य करने की सलाह दी जाती है। हालांकि, इस दौरान आपको दौड़ने, भारी वस्तु उठाने और सीढ़ियां चढ़ने से मना किया जाता है। यदि आप किसी फैक्टरी, कारखाने या ऐसी जगह काम करते हैं, जहां पर मेहनत वाला काम है, तो वह काम शुरू करने के लिए आपको लगभग तीन महीने प्रतीक्षा करने को कहा जाएगा। (और पढ़ें - सीढ़ियां चढ़ने के फायदे)
  • जब आप पूरी तरह से स्वस्थ हो जाते हैं और आपका टखना ठीक से काम करने लग जाता है, तो डॉक्टर आपको खेल-कूद में भाग लेने की अनुमति दे देते हैं। हालांकि, इस दौरान आपको शुरुआत में कम मेहनत वाली गतिविधियां करने को कहा जाएगा और फिर धीरे-धीरे गतिविधियों को बढ़ाने की सलाह दी जाएगी। उदाहरण के रूप में लेटरल एंकल लिगामेंट रिकंस्ट्रक्शन सर्जरी के बाद फुटबॉल जैसे खेल खेलने के लिए आपको लगभग 6 से 8 महीने प्रतीक्षा करने को कहा जा सकता है। लेकिन आपके स्वास्थ्य के अनुसार यह समय कम या ज्यादा भी हो सकता है।

लेटरल एंकल लिगामेंट पुनर्निर्माण सर्जरी की मदद से टखने में अस्थिरता से संबंधित लक्षणों को कम किया जाता है और परिणामस्वरूप आप आराम से चल-फिर पाते हैं।

डॉक्टर को कब दिखाएं?

यदि लेटरल एंकल लिगामेंट रिकंस्ट्रक्शन सर्जरी के बाद आपको निम्न में से कोई भी लक्षण महसूस होता है, तो डॉक्टर से इस बारे में बात कर लेनी चाहिए -

(और पढ़ें - पैर के अंगूठे में दर्द का इलाज)

लेटरल एंकल लिगामेंट रिकंस्ट्रक्शन सर्जरी से क्या जोखिम हो सकते हैं?

लेटरल एंकल लिगामेंट पुनर्निर्माण सर्जरी में वैसे तो बहुत ही कम मामलों में कोई समस्या देखी जाती है। हालांकि, फिर भी अन्य सभी सर्जिकल प्रक्रियाओं की तरह लेटरल एंकल लिगामेंट रिकंस्ट्रक्शन सर्जरी से भी कुछ जोखिम व जटिलताएं हो सकती हैं -

  • सर्जरी के चीरे से अत्यधिक रक्तस्राव होना
  • सूजन होना
  • सर्जरी वाले हिस्से में संक्रमण हो जाना
  • टखने या पैर में दर्द लगातार बढ़ना
  • टांग सुन्न होना या जलन महसूस होना
  • सर्जरी के बाद टांग को हिला न पाना
  • पैर के अंगूठे में सूजन आना व रंग नीला-बैंगनी होना
  • टांग में झुनझुनी महसूस होना

(और पढ़ें - पैर में दर्द के घरेलू उपाय)

और पढ़ें ...

संदर्भ

  1. Johns Hopkins Medicine [Internet]. The Johns Hopkins University, The Johns Hopkins Hospital, and Johns Hopkins Health System; Lateral Ankle Ligament Reconstruction
  2. West Suffolk: NHS Foundation Trust [Internet]. National Health Service. UK; Ankle Instability
  3. Southampton Children's Hospital: University Hospital Southampton [Internet]. NHS Foundation Trust. National Health Service. UK; Broström repair for lateral ankle instability
  4. Foot Health Facts [Internet]. American College of Foot and Ankle Surgeons. Texas. US; Chronic ankle instability
  5. University of Pittsburgh Medical Center [Internet]. Pennsylvania. US; Lateral Ankle Instability - surgical considerations
  6. Hernandez A, Sherwood ER. Anesthesiology principles, pain management, and conscious sedation. In: Townsend CM Jr, Beauchamp RD, Evers BM, Mattox KL, eds. Sabiston Textbook of Surgery. 20th ed. Philadelphia, PA: Elsevier; 2017:chap 14.
  7. Cohen NH. Perioperative management. In: Miller RD, ed. Miller's Anesthesia. 8th ed. Philadelphia, PA: Elsevier Saunders; 2015:chap 3.
  8. National Health Service [Internet]. UK; Before surgery
  9. Guy's and St. Thomas' Hospital: NHS Foundation Trust [Internet]. National Health Service. UK; Brostrom ankle ligament repair
  10. East Sussex Healthcare: NHS Foundation Trust [Internet]. National Health Service. UK; Brostrom operation
ऐप पर पढ़ें
cross
डॉक्टर से अपना सवाल पूछें और 10 मिनट में जवाब पाएँ